1 मार्च से शुरू होगा , जन सम्पर्क अभियान : चन्द्रमोहन

डेमोक्रेटिक फ्रंट, पंचकुला – 29 फरवरी    :

अखिल भारतीय कांग्रेस कमेटी की महासचिव एवं  उत्तराखंड की प्रभारी व पूर्व केंद्रीय मंत्री व भावी मुख्यमंत्री आदरणीय कुमारी सैलजा जी, के निर्देशानुसार 1 मार्च से ज़िला पंचकूला में जन सम्पर्क अभियान की शुरुआत होगी। इस दौरान कांग्रेस नेता जनता से सीधे संवाद करेंगे। वहीं महंगाई, बेरोजगारी और अपराध जैसे मुद्दे जनता के सामने पार्टी नेता उठाएंगे। 

, जन सम्पर्क अभियान की शुरुआत होने जा रही है। इस दौरान कांग्रेस की नीतियों और भाजपा-जजपा सरकार की नाकामियों का जन जन तक प्रचार किया जाएगा।

पूर्व उपमुख्यमंत्री भाई चन्द्रमोहन ने कहा कल 1 मार्च से ब्राह्मणों के गाँव रिहोड से दोपहर 2 बजे ब्राह्मणों का आशीर्वाद ले कर , जन सम्पर्क  अभियान की शुरुआत की जाएगी एक दिन में एक ही गाँव किया जाएगा व हर गाँव में तिन कार्यक्रम रखे जाएगै व साथ ही पंचकूला के सभी सेक्टरों में भी जन सम्पर्क अभियान हर सेक्टर में कम से कम 10 कार्यक्रम किये जाएँगे सभी कांग्रेस जन से अनुरोध इस
जन सम्पर्क अभियान के कार्यक्रमों में बड़ चड  कर हिस्सा लें

भाई चन्द्रमोहन ने कहा कि कांग्रेस के शासनकाल में गरीब, किसान, व्यापारी व मजदूर वर्ग को बराबर का मान सम्मान दिया गया था। लेकिन भाजपा सरकार ने प्रदेश में बेरोजगारी महंगाई व भ्रष्टाचार को बढ़ावा दिया है। आगामी चुनाव में भाजपा को मुंह तोड़ जवाब देने को तैयार है। भाजपा शासन में कोई सुरक्षित नहीं है। उन्होंने दावा किया कि आने वाल समय कांग्रेस पार्टी का होगा देश व प्रदेश में कांग्रेस पार्टी की सरकार बनेगी। भाजपा सरकार ने लोगों को परिवार पहचान पत्र, प्रॉपर्टी आईडी, मेरी फसल मेरी ब्यूरो के झंझट में फंसा दिया है। खाद कीटनाशक का भाव बढ़ा दिया और तो और खाद का रेट भी बढ़ा दिया वजन भी घटा दिया।

इस कार्यक्रम में जिसमें हरियाणा व पंचकुला  ज़िला के तमाम नेताओं एवं कांग्रेस कार्यकर्ताओं सहित  महिला कांग्रेस,युथ कांग्रेस,एनएसयूआई,इंटक,  कांग्रेस सेवा दल,लीगल विभाग,ओबीसी विभाग,कांग्रेस पार्टी के सभी प्रकोष्ठों के पदाधिकारियों व सदस्य कार्यकर्ता व सभी कांग्रेस पार्षद, व सभी पूर्व पार्षद व सभी कांग्रेस पार्षद पद के उम्मीदवार रहै
सरपंच,पूर्व सरपंच,ज़िला परिषद मेंबर व पूर्व ज़िला परिषद मेंबर,बि डी एस मेंबर व पूर्व बि डी एस मेंबर,पंच व पूर्व पंच सभी
एवं समस्त कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता आमन्त्रित हैं

बसपा की सविधान बचाओ सत्ता प्राप्ति संकल्प रथ यात्रा 7 मार्च को पहुंचेगी यमुनानगर : विशाल गुर्जर

कोशिक खान, डेमोक्रेटिक फ्रंट, छछरौली – 28 फरवरी    :

लोकसभा अंबाला के जिला यमुनानगर में 7 मार्च 2024 दिन वीरवार को दोपहर 2 बजे मान्यवर कांशीराम के सम्मान में संविधान बचाओ सत्ता प्राप्ति संकल्प यात्रा पहुंचेगी। यात्रा का 7मार्च को जगाधरी ठहराव होगा एवं अगले दिन 8 मार्च को फिर यात्रा शुरू होगी।

 जिला प्रभारी विशाल गुर्जर ने बताया कि इस यात्रा में मुख्य रूप से नेशनल कॉर्डिनेटर बसपा आकाश आनंद होंगे और रणधीर बेनीवाल केंद्रीय प्रभारी हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ एवं कुलदीप बाल्यान केंद्रीय प्रभारी हरियाणा,और राजबीर सोरखी प्रदेश अध्यक्ष हरियाणा शामिल होंगे। गुर्जर ने कहा कि जिला यमुनानगर की प्रत्येक विधानसभा से यह यात्रा गुजरेगी। यह यात्रा जिला अंबाला के बाद यमुनानगर में प्रवेश करेगी।यह यात्रा 7 मार्च को पहाड़ीपुर नाक्का,बस स्टैंड सदोरा, मछरोली,कपाल मोचन बिलासपुर, गनौली,छछरौली, पंजेटो, मानकपुर,बुडिया चौक जगाधरी मे रात्रि रुकेगी।अगले दिन 8 मार्च को फिर यात्रा सुबह 9 बजे अग्रसेन चौक से शुरू होगी और पहले कमानी चौक,निर्मल हॉस्पिटल, हरनोली, तोपरा,लक्खासिंह खेड़ी,बस स्टैंड रादौर पहुंचेगी।यमुनानगर में यात्रा यहां से निकलेगी इन सभी जगह सभी बहुजन समाज पार्टी के तमाम कार्यकर्ता जोश के साथ अपने नैशनल कॉर्डिनेटर आकाश आनंद और अपने केंद्रीय प्रभारी एवं प्रदेश लीडरशिप का जोर दार स्वागत करेंगे।मान्य आकाश आनंद जी के विचारों को सुनने और देखने को लेकर युवाओं में काफी जोश है। इन सभी कार्यक्रमों में पार्टी के पदाधिकारी,कार्यकर्ता,एवं क्षेत्र वासियों से बढ़-चढ़कर भाग लेने की अपील की।

हिमाचल राज्यसभा चुनाव में बीजेपी ने कर दिया खेला!

राज्यसभा चुनाव को लेकर सूत्र बताते हैं कि कांग्रेस के विधायकों ने क्रॉस वोटिंग की है। इसे लेकर सीएम सुक्खू ने कहा कि “हमारे 40 विधायक हैं, अगर कोई बिका नहीं होगा तो निश्चित तौर पर हमें पूरे 40 वोट मिलेंगे। मेरा मानना है कि कांग्रेस की विचारधारा पर जो लोग चुन कर आए हैं उन्होंने पार्टी के समर्थन में वोट डाला होगा।” वहीं, भाजपा नेता और नेता विपक्ष पूर्व सीएम जय राम ठाकुर ने दावा किया कि सरकार अल्पमत में है। उन्होंने कहा कि सीएम को इस्तीफा देना चाहिए. वहीं, भाजपा प्रत्याशी हर्ष महाजन ने भी दावा किया कि कांग्रेस के विधायक सरकार से नाराज हैं और क्रॉस वोटिंग हुई है।

हिमाचल में बीजेपी की जीत पक्की!
  • हिमाचल राज्यसभा चुनाव में बीजेपी ने कर दिया खेला!
  • सूत्रो का कहना है कि कांग्रेस को पहले ही आशंका थी इस कारण सोनिया गांधी को हिमाचल नहीं रजस्थान से राज्य सभा चुनाव लड्वाया गया
  • कांग्रेस के 9 विधायकों के क्रॉस वोटिंग की आशंका
  • कांग्रेस को पहले से ही सता रहा था क्रॉस वोटिंग का डर

सारिका तिवारी, डेमोक्रेटिक फ्रंट, चंडीगढ़, 27फरवरी     :

राज्यसभा की 15 सीटों पर वोटों की गिनती शुरू हो गई है। सुबह 9 बजे से जारी वोटिंग 4 बजे खत्म हो गई थी। 3 राज्यों उत्तर प्रदेश, हिमाचल प्रदेश और कर्नाटक में मतदान हुआ था। देर शाम तक नतीजे आने की उम्मीद है।

 हिमाचल प्रदेश में राज्यसभा की एकमात्र सीट पर चुनाव के लिए मंगलवार को मतदान समाप्त हो गया है। मतदान सुबह नौ बजे शुरू हुआ था। सबसे आखिर में चिंतपूर्णी से कांग्रेस विधायक सुदर्शन बबलू ने वोट डाला. सभी 68 विधायकों ने मतदान किया है। कांग्रेस के पास 68 में से 40 विधायक हैं। यह भी सूचना थी कि पार्टी को तीन निर्दलीय विधायकों का भी समर्थन है, जिससे पार्टी को स्पष्ट बहुमत है और कांग्रेस के राज्यसभा उम्मीदवार अभिषेक मनु सिंघवी आसानी से जीत हासिल कर लेंगे।

राज्यसभा चुनाव में कांग्रेस से अभिषेक मनु सिंघवी और बीजेपी से हर्ष महाजन के बीच सीधा मुकाबला है. दरअसल, हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री सुखविंदर सिंह सुक्खू से नाराज चल रहे विधायकों के धड़े से बीजेपी को समर्थन की उम्मीद है. इसी के चलते बीजेपी ने कम नंबर होने के बावजूद हर्ष महाजन को उतारा. वोटिंग के दौरान जिस तरह से कांग्रेस विधायकों के क्रॉस वोटिंग की खबरें आ रही हैं, उसके चलते अगर 9 विधायक बीजेपी के पक्ष में वोटिंग करते हैं तो फिर सिंघवी के जीतने की उम्मीदों पर पानी फिर सकता है. कांग्रेस सूबे की सत्ता में होने के बाद भी अगर राज्यसभा चुनाव हार जाती है तो फिर सुखविंदर सिंह सुक्खू सरकार के लिए भी सियासी संकट गहरा सकता है.

आपको बता दें कि 15 राज्यों की 56 सीटों के लिए राज्यसभा चुनाव जारी है। जहां 50 सदस्य 2 अप्रैल को रिटायर होंगे, वहीं छह सदस्य 3 अप्रैल को रिटायर होंगे। उत्तर प्रदेश की 10, कर्नाटक की चार और हिमाचल प्रदेश की एक सीट के लिए मतदान जारी है, जो शाम 4 बजे समाप्त होगा। शाम 5 बजे से मतगणना होगी। बीजेपी ने सबसे अधिक 20 सीटें जीतीं, उसके बाद कांग्रेस (6), तृणमूल कांग्रेस (4), वाईएसआर कांग्रेस (3), राजद (2), बीजेडी (2) और एनसीपी, शिव सेना, बीआरएस और जेडी (यू) रहीं। ) प्रत्येक में एक। चूंकि इन 41 सीटों पर कोई अन्य उम्मीदवार मैदान में नहीं थे, इसलिए संबंधित रिटर्निंग अधिकारियों ने नामांकन वापस लेने की आखिरी तारीख पर उन्हें विजेता घोषित कर दिया।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बजट में सभी वर्गों का विशेष ध्यान रखा : घनश्याम दास अरोड़ा 

सुशील पण्डित, डेमोक्रेटिक फ्रंट, यमुनानगर -27 फरवरी :

यमुनानगर विधानसभा क्षेत्र से भाजपा विधायक घनश्याम दास अरोड़ा ने हरियाणा विधानसभा में मुख्यमंत्री मनोहर लाल द्वारा पेश किया बजट का समर्थन करते हुए कहा कि हरियाणा सरकार ने 189876 करोड रुपए का बजट पेश किया है जो कि पिछले साल के मुकाबले काफी अधिक है, इसमें शिक्षा के क्षेत्र के बजट में भी काफी वृद्धि की गई है, हरियाणा सरकार मेरी फसल मेरा ब्यौरा पोर्टल के अंतर्गत 14 फसलों को न्यूनतम समर्थन मूल्य पर खरीद कर रही है और भावांतर भरपाई योजना के तहत किसानों को करोड़ों रुपए की भरपाई कर रही है, सामाजिक सुरक्षा योजना के अंतर्गत वृद्धावस्था सम्मान पेंशन योजना पेंशन ₹3000 मासिक करके हरियाणा के वृद्ध जनों को नायब तोहफा दिया गया है, किसानों के जन कल्याण के लिए वर्तमान मुख्यमंत्री मनोहर लाल पूरी तरह से कृत संकल्पित है, विधायक घनश्याम दास अरोड़ा ने कहा कि मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बजट में सभी वर्गों का विशेष ख्याल रखा है। भाजपा सरकार सबका साथ, सबका विकास के पथ पर आगे बढ़ रही है। अंग्रेजों के समय से जो आबियाना कर किसान दे रहे थे, वह मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने एक ही झटके में खत्म कर दिया है।प्रदेश के मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने बजट में ऐतिहासिक फैसले लिए हैं। बजट में मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हरियाणा में फसली ऋण पर ब्याज और जुर्माना माफ करने का फैसला लिया है। इससे 5 लाख 47 हजार किसानों को 1700 करोड़ रुपये का लाभ होगा। इसी कड़ी में 4299 गांवों का किसानों का आबियाना माफ हुआ है, इससे 140 करोड़ रुपये का एक मुश्त लाभ हुआ है। शहीद परिवारों के लिए भी 50 लाख रुपये बढ़ाकर एक करोड़ रुपये कर दिए। अंत्योदय के तहत जिसकी आय एक लाख रुपये तक है, उसको एक हजार किलोमीटर तक रोडवेज में फ्री सफर मिलेगा। इससे 84 लाख लोगों को लाभ होगा। विधायक घनश्याम दास अरोड़ा ने बजट का समर्थन करते हुए कहा कि ग्रामीणों की सहुलियत के लिए आठ राजकीय पशु अस्पताल, 18 औषद्यालय खोले जाएंगे। इतिहास में पहली बार बिना किसी प्रकार का बोझ डाले एक लाख 89 हजार 876 करोड़ का बजट पेश किया है, विधायक घनश्याम दास अरोड़ा ने कहा कि हरियाणा भाजपा सरकार पूरी तरह से सबका ख्याल रखने वाली है। सभी के हित मुख्यमंत्री मनोहरलाल और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी में निहित हैं, विधायक घनश्याम दास रोड ने कहा यमुनानगर विधानसभा क्षेत्र में टापू माजरी तथा घोड़ों पीपली में ट्यूबवेल बिजली के कनेक्शन जारी किए जाएं ,यमुनानगर में मेडिकल कॉलेज के पास मार्ग को चार मार्गीय किया जाए यमुनानगर में कंटेनर डिपो व ट्रांसपोर्ट नगर का जल्द निर्माण हो, घनी आबादी वाले क्षेत्र से बिजली की तारों को हटाया जाए, यमुनानगर जगाधरी में इलेक्ट्रिक बस सेवा शुरू की गई जिससे गलोकल निवासियों को अत्यधिक लाभ हो रहा है, मुख्यमंत्री मनोहर लाल ने हरियाणा में आठ स्थानों पर हेलीपैड तथा तीन स्थानों पर हवाई पट्टी विकसित करने का निर्णय लिया है जिसमें से एक हवाई पट्टी जिला यमुनानगर में प्रस्तावित है वह  इसका स्वागत करते हैं, विधायक घनश्याम दास सरोना ने मुख्यमंत्री मनोहर लाल का धन्यवाद करते हुए का हरियाणा के निवासियों के लिए यह एक मनोहर बजट है जिसकी ज्यादा से ज्यादा प्रशंसा की जानी चाहिए।

पूर्व विधायक नरेश कौशिक की तरह असीम गोयल पर भी हो 120b में F.I.R. दर्ज : वीरेश शांडिल्य

  • नफे सिंह राठी की तरह मेरी भी हत्या की साजिश 4 फरवरी 2023 को विधायक असीम गोयल के इशारे पर हुई थी : वीरेश शांडिल्य 
  •  वीरेश शांडिल्य बोले पूर्व विधायक नरेश कौशिक की तरह असीम गोयल पर भी हो 120बी में एफआईआर दर्ज 

कोरल ‘पुरनूर’, डेमोक्रेटिक फ्रंट, पंचकुला – 27 फरवरी :

एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया व विश्व हिन्दू तख्त प्रमुख वीरेश शांडिल्य ने आज अंबाला शहर के विधायक असीम गोयल को उनके दफ्तर पर 4 फरवरी 2023 को उनकी हत्या की साजिश के लिए नकाबपोश हमलावर भेजने पर 120बी में गिरफ्तार करने की मांग की है। शांडिल्य आज पालिका विहार अपने निवास पर पत्रकारों से बातचीत कर रहे थे। शांडिल्य ने कहा कि 4 फरवरी 2023 को असीम गोयल के पार्टनर व एमडीएसडी गर्ल्ज कॉलेज के प्रधान अरविंद अग्रवाल लक्की व सीनियर डिप्टी मेयर मीना ढींगरा के पति व प्रतिनिधि सुंदर ढींगरा ने उनकी हत्या के लिए सुपारी देकर नकाब पोश हमलावर भेज उनकी हत्या पूर्व विधायक नफे सिंह राठी की तरह करवाने की साजिश रची थी जिसपर पुलिस ने 4 फरवरी 2023 को 69/23 विभिन्न अपराधिक धाराओं में दर्ज की थी जिसमें मास्टर माइंड सतपाल उर्फ सत्ता जिसने नकाबपोश हमलावर हत्या करवाने की मंशा से अरविंद अग्रवाल लक्की व सुंदर ढींगरा से सुपारी लेकर भेजे थे और अरविंद अग्रवाल लक्की विधायक असीम गोयल का पार्टनर है और सुंदर ढींगरा की पत्नी असीम गोयल के आशीर्वाद से सीनियर डिप्टी मेयर है इसलिए असीम गोयल इन दोनों अपराधियों को बचा रहा है। और उनकी हत्या की साजिश भी असीम गोयल के घर बैठ कर रची गई थी। वीरेश शांडिल्य ने आज असीम गोयल, अरविंद अग्रवाल व सुंदर ढींगरा को 120बी में गिरफ्तार करने को लेकर हरियाणा के सीएम, गृह मंत्री, डीजीपी, आईजी व एसपी अंबाला को पुन: शिकायत भेजी।

 एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेश शांडिल्य ने अरविंद अग्रवाल लक्की व सुंदर ढींगरा को गैंगस्टर का साथी बताया और बताया कि असीम गोयल अभी भी उनकी हत्या की साजिश नफे सिंह राठी की तरह करवाना चाहता है क्यांकि असीम गोयल का गुर्गां सुंदर ढीगरा के घर गैंगस्टर आते हैं और सुपारी लेकर नकाबपोश भेजने वाला व गैंगस्टरों के इशारे पर काम करने वाला सतपाल उर्फ सत्ता आज भी असीम गोयल, अरविंद अग्रवाल लक्की व सुंदर ढींगरा के संपर्क में हैं और पुलिस साइंटिफिकली जांच के नाम पर पिछले एक साल से उन्हें इंसाफ नहीं दे रही क्योंकि इस साजिश में असीम गोयल भी हैं। शांडिल्य ने कहा वह पुलिस को अरविंद अग्रवाल लक्की, सुंदर ढींगरा व सतपाल उर्फ सत्ता की कॉल डिटेल दे चुके हैं जिसमें हमले से पहले व हमले वाले दिन आपस में बातचीत कर रहे हैं। ज्ञात रहे 4 फरवरी 2023 को वीरेश शांडिल्य की हत्या की मंशा से नकाबपोश हमलावरों ने उनकेदफ्तर पर डंडों से हमला किया लेकिन पुलिस ने असीम गोयल के दबाव में जांच की।

कांग्रेस को महाराष्ट्र में झटका, बसवराज पाटिल ने दिया इस्तीफा

पार्टी के पूर्व प्रदेश कार्याध्यक्ष और पूर्व मंत्री रहे बसवराज पाटिल लिंगायत समुदाय के नेता हैं और मराठवाड़ा में कांग्रेस के बड़े चेहरे रहे हैं. उनका इस्तीफा कांग्रेस के लिए बड़ा नुकसान माना जा रहा है। ऐसा होने पर कांग्रेस मराठवाड़ा में और कमजोर हो जाएगी। फिलहाल उन्होंने अपने अगले कदम की चर्चा नहीं की है लेकिन ऐसी चर्चाएं हैं कि बीजेपी में शामिल हो सकते हैं। 

महाराष्ट्र के पूर्व मंत्री व प्रदेश कार्याध्यक्ष बसवराज पाटिल
  • मराठवाड़ा के बड़े चेहरे हैं बसवराज पाटिल, BJP में शामिल हो सकते हैं : सूत्र
  • सपा खेमे की बैठक से 6 विधायक रहे गायब, हो न जाए खेला

सारिका तिवारी, डेमोक्रेटिक फ्रंट, चंडीगढ़, 26फरवरी     :

 लोकसभा चुनाव की रणभेरी बजने में अब बस कुछ ही दिन बचे हैं लेकिन देश के प्रमुख दल कांग्रेस में भगदड़ मची है. उसके नेता एक- एक करके कांग्रेस पार्टी को अलविदा कह रहे हैं।  उसे सोमवार को तब एक और झटका लगा, जब उसके महाराष्ट्र के बड़े नेता बसवराज पाटिल ने भी पार्टी छोड़ने का ऐलान कर दिया। 

इससे पहले, फरवरी मध्य में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री अशोक चव्हाण (65) भी पार्टी छोड़कर सत्तारूढ़ भाजपा में शामिल हो गए थे, जिसके बाद भाजपा ने उन्हें महाराष्ट्र से राज्यसभा चुनाव में उम्मीदवार बनाया और 20 फरवरी को उन्हें निर्विरोध निर्वाचित घोषित किया गया। 

लिंगायत समुदाय के नेता बसवराज पाटिल मूल रूप से उस्मानाबाद तालुक के उमरग्या के मुरूम के रहने वाले हैं।  राजनीतिक हलकों में बसवराज पाटिल को पूर्व केंद्रीय गृह मंत्री शिवराज पाटिल चाकुरकर के बेटे के रूप में जाना जाता है। वह कांग्रेस के वफादार रहे हैं और औसा निर्वाचन क्षेत्र से विधानसभा के लिए चुने गए थे। उन्होंने 2009 और 2014 में औसा से दो बार चुनावी जीती हासिल की थी। 

राज्यसभा के लिए कल होने वाली वोटिंग में सपा के साथ खेला हो सकता है।  सूत्रों के मुताबिक आज लखनऊ में हुई सपा की बैठक में 6 विधायक गैर-हाजिर रहे।  इनमें अमेठी विधायक महाराजी देवी, पल्लवी पटेल, कालपी विधायक विनोद चतुर्वेदी और कौशाम्बी विधायक पूजा पाल नहीं पहुंचीं।  माना जा रहा है कि अगर इन विधायकों ने पाला बदला तो कल सपा को बड़ा नुकसान हो सकता है।  

विधायक के पहले ही कार्यकाल में कांग्रेस ने उन्हें राज्य मंत्री का पद दिया था। हालांकि, 2019 विधानसभा चुनाव में अभिमन्यु पवार से हार के बाद ऐसी चर्चा थी कि बसवराज पाटिल को कांग्रेस में कुछ हद तक दरकिनार कर दिया गया था।  ऐसे में अब कहा जा रहा है कि बसवराज पाटिल बीजेपी से बुलावे का इंतजार कर रहे हैं और बहुत संभव है कि वे मंगलवार को भाजपा में जाने की घोषणा भी कर दें। 

बसवराज पाटिल लंबे समय से लोकसभा चुनाव लड़ने के इच्छुक रहे हैं। इसके लिए उन्होंने काफी पहले से ही प्रचार शुरू कर दिया है।  बताया जा रहा है कि बसवराज पाटिल धाराशिव लोकसभा क्षेत्र से चुनाव लड़ना चाहते हैं। हालांकि ऐसी संभावना है कि महाविकास अघाड़ी (एमवीए) के सीट बंटवारे में धाराशिव की सीट शरद पवार गुट के पास चली जाएगी। महागठबंधन में शिंदे गुट को यह सीट मिल सकती है। 

पाकिस्तान नहीं जाएगा रावी नदी का पानी

रावी नदी पर शाहपुर कंडी बैराज बनने से अब जल पाकिस्तान की ओर नहीं बहेगा। इस बांध के जरिए जम्मूकश्मीर के सांबा और कठुआ जिलों को सिंचाई के लिए पानी मिलेगा। इसके अलावा बिजली भी बनाई जा सकेगी। पंजाब की 5 बड़ी नदियों में से एक रावी का जल अब पूरी तरह से भारत में ही इस्तेमाल हो सकेगा।

सारिका तिवारी, डेमोक्रेटिक फ्रंट, चंडीगढ़, 26फरवरी     :

भारत ने पाकिस्‍तान की ओर जाने वाले रावी नदी के पानी को रोक दिया है। 45 साल से पूरा होने का इंतजार कर रहे बांध का निर्माण कर रावी नदी से पाकिस्तान की ओर जाने वाले पानी को रोका है। वर्ल्ड बैंक की देखरेख में 1960 में हुई ‘सिंधु जल संधि’ के तहत रावी के पानी पर भारत का विशेष अधिकार है। पंजाब के पठानकोट जिले में स्थित शाहपुर कंडी बैराज जम्मू-कश्मीर और पंजाब के बीच विवाद के कारण रुका हुआ था, लेकिन इसके कारण बीते कई वर्षों से भारत के पानी का एक बड़ा हिस्सा पाकिस्तान में जा रहा था। इसका सबसे ज्यादा फायदा जम्मू के कठुआ और सांबा जिले में मौजूद 32,000 हेक्टेयर से अधिक भूमि को लाभ होगा।

जम्मू-कश्मीर ने यह पानी लेने के लिए करीब 60 किलोमीटर लंबी रावी-तवी नहर का निर्माण भी वर्ष 1996 में कर लिया था। वर्ष 2014 में प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी के नेतृत्व में नई सरकार बनने के बाद केंद्रीय राज्यमंत्री जितेंद्र सिंह ने इस मुद्दे को लगातार उठाया और केंद्र ने इस परियोजना के लिए केंद्रीय सहायता उपलब्ध कराई।

पाकिस्तान जा रहे पानी को रोकने के लिए रावी नदी पर शाहपुर कंडी बांध बनाया जा रहा था। वर्षों से बन रहे इस बांध निर्माण का काम अब पूरा हो चुका है। बांध में जल भंडारण की क्षमता 4.23 ट्रिलियन घन मीटर फुट है। वहीं, बिजली निर्माण के लिए पावर हाउस तैयार किए जा रहे हैं। रणजीत सागर बांध से छोड़े गए पानी का उपयोग इस परियोजना के लिए बिजली पैदा करने के लिए किया जाना है।

पाकिस्तान नहीं जाएगा रावी नदी का पानी

दरअसल, सिंधु जल बंटवारे के लिए भारत और पाकिस्तान के बीच 1960 में सिंधु जल संधि पर हस्ताक्षर किए गए थे। संधि के अनुसार, भारत को तीन पूर्वी नदियों यानी रावी, ब्यास और सतलुज के जल के उपयोग का पूर्ण अधिकार मिला। सरकार के अनुसार, रावी नदी का कुछ पानी माधोपुर हेडवर्क्स के जरिए पाकिस्तान में बर्बाद हो रहा था। पानी की ऐसी बर्बादी कम करने के लिए शाहपुर कंडी बांध परियोजना की कल्पना की गई।

अब शाहपुर कंडी बांध की कहानी समझने के लिए 1979 में हुए समझौते को जानना होगा। दरअसल, जनवरी 1979 में पंजाब और जम्मू-कश्मीर के बीच एक द्विपक्षीय समझौता हुआ था। समझौते के अनुसार, रणजीत सागर बांध और शाहपुर कंडी बांध का निर्माण पंजाब सरकार द्वारा किया जाना था। रणजीत सागर बांध अगस्त 2000 में चालू किया गया था। शाहपुर कंडी बांध परियोजना को रावी नदी पर रणजीत सागर बांध के आठ किमी अप स्ट्रीम पर बनाया जाना था।

योजना आयोग ने नवंबर 2001 के दौरान परियोजना को अनुमोदित किया। परियोजना के सिंचाई घटक के वित्तपोषण के लिए इसे त्वरित सिंचाई लाभ योजना (एआईबीपी) के तहत शामिल किया गया।

शाहपुर कंडी बांध राष्ट्रीय परियोजना की 2285.81 करोड़ रुपये की संशोधित लागत को अगस्त 2009 में अनुमोदित किया गया। वहीं 2009-10 से 2010-11 की अवधि के दौरान 26.04 करोड़ रुपये केंद्रीय सहायता के रूप में जारी किए गए। हालांकि, पंजाब और जम्मू-कश्मीर में कुछ मुद्दों के कारण काम में ज्यादा प्रगति नहीं हो सकी।

द्विपक्षीय और भारत सरकार के स्तर पर कई बैठकें आयोजित की गईं। अंततः 8 सितंबर 2018 को नई दिल्ली में पंजाब और जम्मू-कश्मीर राज्यों के बीच एक समझौता हुआ। इसके बाद दिसंबर 2018 में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अध्यक्षता में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने रावी नदी पर पंजाब में शाहपुरकंडी बांध परियोजना के कार्यान्वयन को मंजूरी दे दी। इसके साथ ही परियोजना के लिए 2018-19 से 2022-23 तक पांच वर्षों में 485.38 करोड़ रुपये की (सिंचाई घटक के लिए) केंद्रीय सहायता देने का निर्णय लिया गया। 

भारत ने पाकिस्तान पर कर दी जल ‘स्ट्राइक’

रावी नदी पर बना शाहपुरकंडी बांध 55.5 मीटर ऊंचा है। इसके साथ दो पावर हाउस भी बन रहे हैं। यह परियोजना एक चालू बहुउद्देशीय नदी घाटी परियोजना है जिसमें पंजाब और जम्मू-कश्मीर में सिंचाई और बिजली उत्पादन शामिल है। परियोजना से 37,173 हेक्टेयर (पंजाब में 5000 और जम्मू-कश्मीर में 32173) की सिंचाई क्षमता निर्धारित की गई है। यह रणजीत सागर बांध परियोजना के लिए एक संतुलन जलाशय के रूप में भी कार्य करेगा। 

अभी तक रावी नदी का कुछ पानी माधोपुर हेडवर्क्स से पाकिस्तान की ओर बह जाता था जबकि पंजाब और जम्मू-कश्मीर में उपयोग के लिए इसकी आवश्यकता है। परियोजना के कार्यान्वयन से पानी की ऐसी बर्बादी कम होगी।

परियोजना पूरी होने से पंजाब में 5,000 हेक्टेयर और जम्मू-कश्मीर में 32,173 हेक्टेयर की अतिरिक्त सिंचाई क्षमता पैदा होगी। इसके अलावा पंजाब में 1.18 लाख हेक्टेयर क्षेत्र में सिंचाई के लिए छोड़े जाने वाले पानी को इस परियोजना के जरिए प्रबंधित किया जाएगा। क्षेत्र में सिंचाई को लाभ होगा। परियोजना पूरी होने से पंजाब 206 मेगावाट जल विद्युत उत्पादन भी कर सकेगा।

खेल और खिलाड़ियों हमेशा बढ़ाया देश का मान : श्याम सुन्दर बतरा 

पूरे विश्व मे हरियाणा के खिलाड़ियों ने बजाया भारत का डंका – बतरा 

सुशील पण्डित, डेमोक्रेटिक फ्रंट, यमुनानगर – 26 फरवरी :

हल्का यमुनानगर के गाँव साबेपुर में  संजू पहलवान और पहलवान लाडी बाबा द्वारा आयोजित विराट कुश्ती दंगल में बतौर मुख्यातिथि पहुँचे कोर्डिनेटर जिला काँग्रेस एवं पूर्व चेयरमैन जिला परिषद श्याम सुन्दर बतरा ने कहा काँग्रेस पार्टी हमेशा खिलाड़ियों को सपोर्ट करती है पदक लाओ पद पाओ की नीति काँग्रेस सरकार ने खेल को बढ़ावा देने और खिलाड़ियों का सम्मान करने के लिए बनाई थी। जिससे सभी खिलाड़ियों को सम्मान के रूप में नौकरी व अन्य सुविधाएं दी गयी। श्याम सुन्दर बतरा ने कहा खिलाड़ियों ने ये सब कुछ अपनी प्रतिभा के दम पर हासिल किया है। पूर्व राष्ट्रीय अध्यक्ष राहुल गाँधी व राष्ट्रीय महासचिव एवं पूर्व केंद्रीय मंत्री कुमारी सैलजा ने खिलाड़ियों का समर्थन किया और उनकी आवाज को देश व प्रदेश में उठाया है। दंगल में अन्य राज्यों  के से कई पहलवानों ने हिस्सा लिया 

सबसे बड़ी कुश्ती बाबा लाडी और गुल्ला पहलवान के बीच हुई जिसको देखकर दर्शक रोमांचित हुए । आयोजन इतना भव्य था कि साबेपुर स्कूल का विशाल ग्राउण्ड बहुत छोटा पड़ गया था। इस मौके पर मुख्यातिथि बतरा के साथ गाँव के सरपंच नीरज काम्बोज , भोला राम काम्बोज , अशोक कुमार पूर्व जिला पार्षद , डायरेक्टर बुडिया पैक्स विरेंदर (बिंदर )काम्बोज ,युवा काँग्रेस नेता एवं प्रतिनिधि सदस्य जिला परिषद आकाश बतरा , विपिन काम्बोज नयागांव , रिंकू मालिमजरा ,दीप सुघ , रवि , सचिन , नवाब पहलवान , बबलू पहलवान , सतनाम सिंह सन्धु आदि मौजूद रहे।

चयनित सभी 1.5 लाख युवाओं की तत्काल ज्वाइनिंग दे सरकार : दीपेन्द्र हुड्डा

  • अग्निपथ योजना लागू होने से पहले सेना में चयनित सभी 1.5 लाख युवाओं की तत्काल ज्वाइनिंग दे सरकार – दीपेन्द्र हुड्डा
  • अग्निपथ योजना वापस ली जाए और सेना में रेगुलर भर्ती शुरू करे सरकार – दीपेन्द्र हुड्डा
  • कांग्रेस सरकार बनने पर भर्ती अग्निवीरों को रेगुलर सैनिक के तौर पर बदल देंगे और फौज में पहले की तरह रेगुलर भर्ती शुरू करेंगे – दीपेन्द्र हुड्डा
  • सरकार बताए किसकी मांग पर अग्निपथ योजना लाई गई, कान्ट्रैक्चुअल फौज की मांग किसने की – दीपेन्द्र हुड्डा
  • अग्निपथ योजना के दुष्परिणाम अब एक-एक कर सामने आ रहे हैं, एक तिहाई अग्निवीर ट्रैनिंग बीच में ही छोड़कर वापस लौट रहे – दीपेन्द्र हुड्डा  
  • फौज में भर्ती होकर जो नौजवान देश की सीमाओं की रक्षा करते थे, वो आज डंकी के रास्ते दूसरे देशों की सीमाओं पर अवैध तरीके से जाकर मजदूरी करने को मजबूर – दीपेन्द्र हुड्डा

डेमोक्रेटिक फ्रंट, पंचकुला – 26 फरवरी    :

सांसद दीपेन्द्र हुड्डा ने आज अखिल भारतीय कॉंग्रेस कमेटी मुख्यालय पर प्रेस वार्ता को संबोधित करते हुए सरकार से अग्निपथ योजना वापस लेकर सेना में रेगुलर भर्ती शुरू करने के साथ ही अग्निपथ योजना लागू होने से पहले सेना में चयनित सभी 1.5 लाख युवाओं की तत्काल ज्वाइनिंग देने की मांग की। उन्होंने कहा कि कांग्रेस सरकार बनने पर सेना में भर्ती अग्निवीरों को रेगुलर सैनिक के तौर पर पक्का करेंगे और फौज में पहले की तरह रेगुलर भर्ती शुरू करेंगे। उन्होंने सरकार से सवाल किया कि आखिर किसकी मांग पर अग्निपथ योजना लायी गयी? कान्ट्रैक्चुअल फौज की मांग किसने की? क्योंकि न तो देश की फौज की तरफ से ये मांग आई, न देश के नौजवान ने इसकी मांग की और न ही किसी राजनीतिक दल ने ऐसी मांग की। जबकि, पूर्व सेना प्रमुख जनरल नरवणे ने तो कहा कि अग्निपथ योजना की घोषणा थल सेना के लिए तो हैरान करने वाली थी, लेकिन नौसेना और वायु सेना के लिए ये एक झटके की तरह आई। दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि हम देश भर में अग्निपथ योजना को समाप्त करने की लड़ाई लड़ेंगे। कांग्रेस पार्टी का ‘जय जवान अभियान’ देश के युवाओं के साथ हुए अन्याय के खिलाफ न्याय की लड़ाई है, जिसकी गूंज आज पूरे देश में सुनाई दे रही है।

दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि 2014 में प्रधानमंत्री जी ने रेवाड़ी में वन रैंक वन पेंशन की घोषणा की लेकिन सरकार बनने के बाद नो रैंक नो पेंशन वाली अग्निपथ योजना ले आये। सरकार के इस फैसले के दुष्परिणाम एक एक करके सामने आ रहे हैं। इस योजना के जरिए सरकार ने शहीद – शहीद में फर्क कर दिया। अग्निपथ स्कीम के जरिए बीजेपी सरकार ने देश की सेना को 2 हिस्‍सों में बांटने का काम किया है – नियमित सैनिक और अग्निवीर सैनिक। एक अग्निवीर सैनिक व एक नियमित सैनिक की शहादत होने पर शहीद के परिवार को मिलने वाली अनुग्रह राशि में भारी अंतर है और अग्निवीर शहीद को सरकार शहीद का दर्जा भी नहीं दे रही है। शहादत होने पर उनके परिवार को पेंशन या सैन्य सेवा से जुड़ी कोई और सुविधा भी नहीं मिल रही है। अग्निवीर सैनिक को ड्यूटी के दौरान ग्रेच्युटी व अन्य सैन्य सुविधाएं और पूर्व सैनिक का दर्जा व पूर्व सैनिक को मिलने वाली सुविधाएं मिलने का भी कोई प्रावधान नहीं है। यही कारण है कि भर्ती हुए अग्निवीरों में इतनी निराशा, हताशा और रोष है कि एक तिहाई अग्निवीर ट्रेनिंग बीच में ही छोड़कर वापस घर लौट रहे हैं। 4 साल बाद बिना पेंशन घर वापस लौटने वाले अग्निवीरों के लिए भाजपा नेता कैलाश विजयवर्गीय का बयान आया कि उन नौजवानों को भाजपा कार्यालय के बाहर चौकीदार लगा देंगे। दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि भाजपा नेताओं ने सेना पर राजनीति तो बहुत की, लेकिन देशभक्ति की उस पवित्र भावना को कभी नही समझ सके जो उस युवा के रक्त में बह रही है जो फ़ौज में भर्ती होने के लिए सुबह 4 बजे दौड़-कसरत पर निकलता है।

उन्होंने कहा कि फौज में भर्ती होकर जो नौजवान देश की सीमाओं की रक्षा करता था वो आज डंकी के रास्ते दूसरे देशों की सीमाओं पर अवैध तरीके से जाकर मजदूरी करने को मजबूर है। दीपेन्द्र हुड्डा ने कहा कि अभी तक हर साल फ़ौज में 60 से 80 हज़ार पक्की भर्तियाँ होती थीं, अग्निपथ योजना लागू होने के बाद ये भर्ती घटकर करीब 40-50 हज़ार रह जाएगी, जिसमें से 75% अग्निवीरों को 4 साल बाद निकाल दिया जायेगा इस हिसाब से अगले 15 साल में हिन्दुस्तान की करीब 14 लाख की फ़ौज का संख्याबल घटकर आधे से भी कम रह जायेगा। वहीं, हरियाणा में हर साल करीब 5500 पक्की भर्ती होती थी, जो घटकर सिर्फ 964 रह जायेगी, इसमें भी 4 साल बाद सिर्फ 210 पक्के होंगे। ऐसा करने से दुनिया की सबसे ताकतवर फौज में से एक भारतीय फौज न सिर्फ कमजोर होगी बल्कि बेरोजगारी और ज्यादा बढ़ेगी। ऐसी हालत में जहां देश के चारों तरफ दुश्मन बैठे हों वहाँ फौज का कमजोर होना राष्ट्र हित में नहीं है।

भाजपा पंचकूला महिला मोर्चा ने जारी की नए ज़िला पदाधिकारियों की सूची

पंचकूला 26 फ़रवरी:

लोकसभा चुनाव से पहले भाजपा पंचकूला महिला मोर्चा ने जारी की नए ज़िला पदाधिकारियों की सूची। भाजपा महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष अनुराधा वर्मा ने सोमवार को मोर्चा प्रदेश अध्यक्ष ऊषा प्रियदर्शनी, प्रदेश नेतृत्व व भाजपा जिलाध्यक्ष दीपक शर्मा से विचार विमर्श कर अपनी नई जिला टीम की घोषणा कर दी। नई सूची में पुराने चेहरों के साथ कुछ नए चेहरे शामिल किए गए हैं। सूची जारी होने के बाद से लोगों ने पदाधिकारियों को बधाई देनी शुरू कर दी।

मीडिया प्रमुख नवीन गर्ग ने बताया कि महिला मोर्चा जिलाध्यक्ष ने अपनी जिला टीम में वंदना जिंदल, सुनीता सिंह, अनुराधा पूरी, निरुपमा शर्मा और प्रिया मित्तल को जिला उपाध्यक्ष प्रीति जस्सल, सरु डिमरी को महामंत्री की ज़िम्मेवारी दी है।इसी निमित सुमन बंसल, शालू बिष्ट, रोमा, लक्ष्मी और गीता को जिला सचिव सरोज पहाल को कोषाध्यक्ष बनाया गया है। शेवता उपाध्याय को आईटी प्रमुख एवम सोशल मीडिया के लिए बर्षा राणा को नियुक्त किया है।