कांग्रेस ने तेलंगाना में सरकार बनते ही अडानी से किया ₹12400 करोड़ करार

राहुल गाँधी और कांग्रेस के अन्य नेता गौतम अडानी को भला-बुरा कहते रहते हैं फिर भी तेलंगाना मैं कंग्रेस पार्टी के नवनिर्वाचित मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी और अडाणी समूह के चेयरमैन गौतम अडाणी ने दावोस में चल रहे वर्ल्ड इकोनॉमिक फोरम के दौरान यह समझौता किया। समझौते के एक हिस्से के रूप में, अदानी एंटरप्राइजेज राज्य में 100 मेगावाट डेटा सेंटर में 5,000 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश करेगा जो 5-7 वर्षों में नवीकरणीय ऊर्जा द्वारा संचालित होगा। कंपनी का कहना है कि इससे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से करीब 600 लोगों को रोजगार मिल सकता है।

 दावोस में मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी के साथ अडाणी ग्रुप के चेयरमैन गौतम अडाणी
  • अडाणी ने 32 हजार करोड़ का घोटाला किया: राहुल गांधी
  • राहुल गांधी ने अडानी ग्रुप पर खुलासे पर प्रेस कॉन्फ्रेंस की और अडानी मामले को लेकर जेपीसी जांच कराने की मांग भी की
  • तेलंगाना के मुख्यमंत्री रेवंत रेड्‌डी ने दावोस में गौतम अडानी से की मुलाकात
  • अडानी ग्रुप तेलंगाना में कुछ सालों में 12,400 करोड़ रुपये का करेगा निवेश
  • अडानी समूह और तेलंगाना सरकार के साथ साइन हुए कुल चार एमओयू
  • दावोस की मीटिंग में गौतम अडानी ने तेलंगाना की रेवंत सरकार की तारीफ की

सारिका तिवारी, डेमोक्रेटिक फ्रंट, चंडीगढ़ – 17 जनवरी :

राहुल गाँधी और कॉन्ग्रेस के अन्य नेता गौतम अडानी को भला-बुरा कहते रहते हैं और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ उनका नाम गलत तरीके से पेश करते हैं। वहीं अब उनकी ही पार्टी की सरकार अडानी के साथ डील कर रही है, निवेश के लिए अडानी के साथ हाथ मिला रही है। तेलंगाना के मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी की अडानी समूह के चेयरमैन गौतम अडानी के साथ तस्वीर भी सामने आई है। अडानी समूह और तेलंगाना की कॉन्ग्रेस सरकार के बीच 4 MoU पर हस्ताक्षर किए गए हैं।

अदाणी समूह की ओर से जारी बयान में कहा गया है कि स्विट्जरलैंड के दावोस में विश्व आर्थिक मंच (डब्ल्यूईएफ)-2024 में मुख्यमंत्री रेवंत रेड्डी और अडाणी समूह के चेयरमैन गौतम अदाणी की उपस्थिति में इन एमओयू पर हस्ताक्षर किए गए।

एमओयू के तहत अदाणी एंटरप्राइजेज लिमिटेड (एईएल) अगले पांच से सात साल में 100 मेगावाट के डेटा सेंटर में 5,000 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश करेगी। यह डेटा सेंटर नवीकरणीय ऊर्जा द्वारा संचालित होगा।

एईएल इस परियोजना के लिए वैश्विक स्तर पर सक्षम आपूर्तिकर्ताओं का आधार बनाने के लिए स्थानीय सूक्ष्म, लघु एवं मझोले उपक्रमों (एमएसएमई) और स्टार्टअप के साथ काम करेगी।

  • ₹12,000 करोड़ के इस इन्वेस्टमेंट में से अडाणी ग्रीन एनर्जी ₹5000 करोड़ का निवेश करेगी। इससे राज्य में 1350 MW कैपेसिटी के दो पंप स्टोरेज प्रोजेक्ट्स लगाए जाएंगे
  • अडाणी कॉनेक्स चंदनवैली में 100MW कैपेसिटी का डेटा सेंटर कैंपस बनाने के लिए ₹5,000 करोड़ इन्वेस्ट करेगी
  • अडाणी एयरोस्पेस एंड डिफेंस पार्क में काउंटर ड्रोन सिस्टम और मिसाइल डेवलपमेंट एंड मैन्युफैक्चरिंग सेंटर बनाने के लिए ‘अडाणी एयरोस्पेस एंड डिफेंस’ ₹1,000 करोड़ का इन्वेस्टमेंट करेगी
  • अंबुजा सीमेंट 6.0 MTPA (मिलियन टन पर-एनम) कैपेसिटी की सीमेंट ग्रेडिएंट यूनिट लगाने के लिए ₹1,400 करोड़ खर्च करेगी

बयान में कहा गया है कि इससे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से 600 लोगों को रोजगार मिलेगा। अदाणी ग्रीन एनर्जी लिमिटेड (एजीईएल) भी दो पंप भंडारण परियोजनाएं स्थापित करने के लिए 5,000 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश करेगी। ये कोयाबेस्टगुडेम में 850 मेगावाट और नाचराम में 500 मेगावाट की परियोजनाएं होंगी।

वहीं अंबुजा सीमेंट्स यहां 60 लाख टन सालाना क्षमता के सीमेंट संयंत्र पर अगले पांच साल में 1,400 करोड़ रुपये का निवेश करेगी। इससे प्रत्यक्ष और अप्रत्यक्ष रूप से 4,000 लोगों को रोजगार मिलेगा।

बयान में कहा गया है कि अडाणी डिफेंस सिस्टम्स एंड टेक्नोलॉजीज लिमिटेड अडाणी एयरोस्पेस पार्क में काउंटर ड्रोन और मिसाइल प्रणाली के अनुसंधान, विकास, डिजाइन, विनिर्माण और एकीकरण के लिए एक व्यापक पारिस्थितिकी तंत्र स्थापित करने को 10 साल में 1,000 करोड़ रुपये से अधिक का निवेश करेगी।

बयान में कहा गया है कि इन परियोजनाओं के माध्यम से विकसित पारिस्थितिकी तंत्र भारत की रक्षा क्षमता में उल्लेखनीय वृद्धि करेगा और 1,000 से अधिक लोगों को रोजगार प्रदान करेगा।

वहीं जब पूर्व केंद्रीय मंत्री P चिदंबरम से इस सम्बन्ध में सवाल पूछा गया तो उन्होंने माइक सुप्रिया श्रीनेत की तरफ खिसका दिया। पी चिदंबरम से पूछा गया कि कॉन्ग्रेस नेता अडानी पर सवाल उठा रहे हैं और तेलंगाना की सरकार अडानी के साथ MoU साइन कर रही है। चिदंबरम द्वारा माइक खिसकाने के बाद सुप्रिया श्रीनेत कहने लगीं कि ये मैनिफेस्टो लॉन्च को लेकर प्रेस कॉन्फ्रेंस है और सवाल इसी पर केंद्रित रखे जाने चाहिए, ये एक बड़ी चीज है।

1 केस, 3 महीने और 4 समन, अब आगे क्या होगा?

अरविंद केजरीवाल तीसरे समन के जवाब में ईडी को बता चुके हैं कि वह जांच में सहयोग को तैयार हैं लेकिन उन्हें एजेंसी की मंशा पर संदेह है। ऐसे में चौथे समन पर हो सकता है कि 18 जनवरी को वह ईडी के सामने पेश होंगे। वह एजेंसी से पेश होने के लिए मोहलत भी मांग सकते हैं। लेकिन अगर वह चौथी बार भी पेश नहीं होने का फैसला करते हैं तो उनकी गिरफ्तारी भी मुमकिन है। इसे रोकने के लिए वह अग्रिम जमानत के लिए अदालत का रुख कर सकते हैं।

  • दिल्ली एक्साइज पॉलिसी केस से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में केजरीवाल को ईडी का चौथा समन
  • ईडी ने दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल को पूछताछ के लिए 18 जनवरी को बुलाया है
  • अब तक ईडी के तीनों समन पर उसके सामने पेश नहीं हुए हैं दिल्ली सीएम अरविंद केजरीवाल

सारिका तिवारी, डेमोक्रेटिक फ्रंट, चंडीगढ़ – 13 जनवरी :

दिल्ली शराब घोटाला से जुड़े मनी लॉन्ड्रिंग मामले में पूछताछ के लिए ईडी लगातार मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को समन जारी कर रही है। ईडी यानी प्रवर्तन निदेशालय ने दिल्ली आबकारी नीति मामले में पूछताछ के लिए मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल को चौथी बार समन जारी किया है। ईडी ने आम आदमी पार्टी (आआपा) के राष्ट्रीय संयोजक केजरीवाल को 18 जनवरी को एजेंसी के सामने पेश होने के लिए कहा है।

रिपोर्ट्स के अनुसार, 18 जनवरी के आसपास ही सीएम अरविंद केजरीवाल लोकसभा चुनाव के मद्देनज़र गोवा दौरे पर भी जाने वाले हैं। गोवा में उनका तीन दिनों का दौरा हो सकता है। यानि 18, 19 और 20 जनवरी को केजरीवाल गोवा में रहेंगे। जहां CM अरविंद केजरीवाल का गोवा दौरा भी ईडी के सामने पेश न होने की वजह बनेगा। वैसे भी केजरीवाल कह चुके हैं कि ठीक लोकसभा चुनाव से पहले उन्हें रोकने की कोशिश की जा रही है। केजरीवाल का कहना है कि, ईडी के जरिये उन्हें चुनाव प्रचार करने से रोकने के लिए साजिश रची जा है। उन्हें पूछताक्ष के बहाने गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

ईडी ने केजरीवाल को 3 जनवरी के लिए तीसरा समन भेजा

मालूम रहे कि, इससे पहले ईडी ने केजरीवाल को 3 जनवरी के लिए तीसरा समन जारी किया था और पूक्षताक्ष में शामिल होने के लिए बुलाया था लेकिन केजरीवाल जाने से मना कर गए। केजरीवाल ने ईडी के इस समन को भी अवैध बता दिया। केजरीवाल का कहना था कि, वह ED की जांच में सहयोग करने को तैयार हैं लेकिन ईडी ने उन्हें जिस तरह से समन भेज रही है वो गैरकानूनी है। केजरीवाल ने सवाल उठाया कि, लोकसभा चुनाव के पहले ही ईडी क्यों उन्हें समन भेज रही है? केजरीवाल का कहना था कि, केंद्र सरकार के इशारे पर ईडी उन्हें चुनाव प्रचार करने से रोकना चाहती है।

2 नवंबर और 21 दिसंबर को भी पेश नहीं हुए केजरीवाल

ईडी ने इससे पहले 2 नवंबर और 21 दिसंबर के लिए केजरीवाल को समन भेजा था और पूछताछ के लिए बुलाया था। लेकिन केजरीवाल दोनों ही बार ईडी के सामने नहीं गए। 21 दिसंबर वाले समन को लेकर केजरीवाल ने कहा था- ED का यह समन भी एजेंसी द्वारा जारी किए गए पिछले समन की तरह अवैध और गैरकानूनी है। ED को इस समन को वापस लेना चाहिए क्योंकि यह राजनीति से प्रेरित है। मैंने अपना जीवन ईमानदारी और पारदर्शिता के साथ जिया है। मेरे पास छिपाने के लिए कुछ भी नहीं है। केजरीवाल का कहना था कि, मैं हर क़ानूनी समन मनाने को तैयार हूं। वहीं इस बीच अरविंद केजरीवाल 20 दिसंबर को 10 दिन की छुट्‌टी लेकर विपश्यना ध्यान केंद्र के लिए निकल गए थे। जहां से वह 30 दिसम्बर को वापस लौटे।

वहीं इससे पहले जब ईडी ने अरविंद केजरीवाल को पूछताक्ष के लिए 2 नवंबर को तलब किया था लेकिन तब भी केजरीवाल नहीं गए थे। उस वक्त केजरीवाल ने चुनाव प्रचार के लिए व्यस्त होने की बात कही थी। साथ ही केजरीवाल ने ED के समन पर उस समय भी हमला बोलते हुए कहा था कि, उन्हें भेजा गया समन अवैध और राजनीति से प्रेरित है। नोटिस भाजपा के इशारे पर भेजा गया है। नोटिस यह सुनिश्चित करने के लिए भेजा गया है कि मैं चार राज्यों में चुनाव प्रचार के लिए जाने में असमर्थ रहूं। ED को तुरंत नोटिस वापस लेना चाहिए। इसके बाद केजरीवाल ने एक लेटर भेजकर ईडी से यह भी पूछा था कि मैं संदिग्ध हूं या गवाह।

2 साल से जांच चल रही, कुछ नहीं मिला

केजरीवाल का कहना है कि पिछले 2 साल से दिल्ली शराब घोटाले को लेकर बीजेपी की जांच चल रही है। बीजेपी की सारी एजेंसी शराब घोटाले में कई बार छापेमारी कर चुकी हैं और कई लोगों को गिरफ्तार कर चुकी हैं, लेकिन अभी तक एक भी पैसे का हेरफेर नहीं मिला।…. मगर फिर भी फर्जी आरोप लगाकर आम आदमी पार्टी के नेताओं को जेल में रखा हुआ है और वहीं अब बीजेपी मुझे गिरफ्तार करवाना चाहती है। ईडी द्वारा मुझे फर्जी समन भेजे जा रहे हैं। केजरीवाल ने कहा कि ठीक लोकसभा चुनाव से पहले ही ऐसा क्यों किया जा रहा है? इसका मतलब मुझे चुनाव प्रचार करने से रोकने के लिए यह साजिश है। पूछताक्ष के बहाने मुझे गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

क्या सारा पैसा हवा में गायब हो गया?

केजरीवाल का कहना है कि अगर वाकई भ्रष्टाचार हुआ है तो करोड़ों रूपय गए कहां, क्या सारा पैसा हवा में गायब हो गया, सच्चाई यह है कि किसी तरह का कोई भ्रष्टाचार हुआ ही नहीं, अगर होता तो पैसा भी मिलता। लेकिन फिर भी फर्जी आरोपों में आम आदमी पार्टी के कई नेताओं को जेल में रखा हुआ है। किसी के खिलाफ भी कोई सबूत नहीं है, कुछ साबित नहीं हो रहा, खुलेआम गुंडा गर्दी चल रही है, किसी को भी जेल में डाल दो, अब बीजेपी मुझे ईडी से गिरफ्तार करवाना चाहती है।

केजरीवाल ने कहा कि मेरी सबसे बड़ी संपत्ति मेरी ईमानदारी है और बीजेपी झूठे आरोप लगाकर और ईडी से फर्जी समन भिजवाकर मुझे बदनाम करना चाहती है, मेरी ईमानदारी पर चोट करना चाहती है, लेकिन ईडी ने अबतक मुझे जो समन भेजे हैं वो सभी गैर कानूनी हैं, मेरे वकीलों ने मुझे बताया है, और क्यों गैरकानूनी हैं? ये मैंने ईडी को विस्तार से बताया है। लेकिन ईडी से कोई जवाब नहीं आया। इसका मतलब है ईडी को भी पता है कि समन गैरकानूनी हैं। इसलिए क्या मुझे गैरकानूनी समन का पालन करना चाहिए। हाँ अगर कानूनी रूप से सही समन आयेगा तो मैं पूरा सहयोग करूंगा.

जांच करना मकसद नहीं, चुनाव प्रचार से रोकना

केजरीवाल का कहना है कि बीजेपी का मकसद जांच करना तो है ही नहीं, बीजेपी तो मुझे लोकसभा चुनाव में प्रचार करने से रोकना चाहती है, ठीक लोकसभा चुनाव से पहले ही मुझे क्यों समन भेजा जा रहा है? जबकि इस जांच को चलते हुए 2 साल हो गए। मुझे पहले क्यों नहीं बुलाया? सीबीआई ने मुझे 8 महीने पहले बुलाया था और मैं गया था और वहां सारे जवाब भी दिये थे लेकिन बीजेपी ईडी द्वारा मुझे लोकसभा चुनाव से ठीक पहले बुलवा रही है यानि बीजेपी का मकसद है कि पूछताक्ष के बहाने केजरीवाल को बुलाकर गिरफ्तार करना।

बीजेपी भ्रष्टाचारियों को नहीं पकड़ रही

केजरीवाल ने कहा कि, आज बीजेपी भ्रष्टाचारियों को नहीं पकड़ रही बल्कि उन नेताओं को पकड़ रही है जो उसकी पार्टी का हिस्सा नहीं हैं। जो नेता दूसरी पार्टियों से बीजेपी में चले जाते हैं, ईडी और सीबीआई में उनके सारे केस बंद हो जाते हैं और जो नहीं जाते हैं उनके पीछे बीजेपी ईडी सीबीआई लगा देती है। केजरीवाल ने कहा कि, आज कई सारे एसे नेता है जो बीजेपी में न जाने के चलते जेल में हैं, उनपर केस चल रहे हैं। आज मनीष सिसोदिया और संजय सिंह इसलिए जेल में नहीं हैं कि उन्होने भ्रष्टाचार किया है बल्कि इसलिए जेल में हैं क्योंकि वो बीजेपी में शामिल नहीं हुए।

बीजेपी का सामना कर रही आप

केजरीवाल ने कहा कि, आज हम इसीलिए बीजेपी का सामना कर पा रहे हैं क्योंकि हम भ्रष्टाचारी नहीं हैं अगर हमने भ्रष्टाचार किया होता तो कब के और नेताओं की तरह बीजेपी में शामिल हो चुके होते। केजरीवाल ने कहा कि, बीजेपी ईमानदार नेताओं को जेल में डलवाकर भ्रष्टाचार नेताओं को पार्टी में शामिल कर रही है, ऐसे तो देश आगे नहीं बढ़ सकता। यह लोकतन्त्र के लिए भी खतरनाक है। केजरीवाल ने कहा कि, मेरा तन-मन-धन सब देश के लिए है, मेरी एक-एक सांस देश के लिए है, मेरे खून की एक-एक बूंद देश के लिए है, मेरा एक-एक कतरा देश के लिए है। हमें मिलकर देश बचाना होगा।

BJP ने कहा- विक्टिम कार्ड खेलने से कुछ नहीं होगा

ईडी के समन पर केजरीवाल और आम आदमी पार्टी की बयानबाजी को लेकर बीजेपी ने भी निशाना साधा है। बीजेपी नेता शहज़ाद पूनावाला ने कहा कि पेश होने से अरविंद केजरीवाल क्यों कतरा रहे हैं। इसका मतलब है कि चोर की मूंछ में तिनका जरूर है… अब विक्टिम कार्ड खेलने से कुछ नहीं होगा… आपकी चहीती कांग्रेस ने खुद कहा है कि शराब घोटाला हुआ है और हमने शिकायत दर्ज़ करवाई है… ये वो ही अरविंद केजरीवाल हैं जो अन्ना हजारे की उंगली पकड़कर कहते थे पहले इस्तीफा फिर जांच।

मनीष सिसोदिया जेल में बंद

मालूम रहे कि, दिल्ली शराब घोटाले में संजय सिंह से पहले दिल्ली के पूर्व डिप्टी सीएम और आप के सीनियर नेता मनीष सिसोदिया की गिरफ्तारी की गई थी। सीबीआई ने मनीष सिसोदिया को 26 फरवरी को करीब 8 घंटे की पूछताक्ष के बाद गिरफ्तार किया था। इसके बाद ईडी ने सिसोदिया को इस मामले में नौ मार्च को गिरफ्तार किया। सिसोदिया को अब तक जमानत नहीं मिल पाई है। मनीष सिसोदिया तिहाड़ जेल में बंद हैं। हाल ही में सुप्रीम कोर्ट ने उनकी जमानत याचिका भी खारिज कर दी थी। वहीं सिसोदिया के अलावा इसी मामले में आप सांसद संजय सिंह को भी ईडी ने 4 अक्टूबर को गिरफ्तार किया था। संजय सिंह इस समय न्यायिक हिरासत में हैं।

हरियाणा बेरोजगारी में नंबर वन, युवा अपनी जमीन बेचकर विदेशों की तरफ पलायन को मजबूर : चित्रा सरवारा

कोशिक खान, डेमोक्रेटिक फ्रंट, छछरौली – 18 दिसम्बर  :

आम आदमी पार्टी(आआपा) की 10 दिवसीय प्रदेश स्तरीय बदलाव यात्रा के चौथे दिन आआपा प्रदेश उपाध्यक्ष चित्रा सरवारा ने प्रेसवार्ता कर बेरोजगारी के मुद्दे पर हरियाणा सरकार को घेरा है। इस दौरान उनके अंबाला लोकसभा अध्यक्ष आदर्शपाल सिंह मौजूद रहे। उन्होंने कहा कि आम आदमी पार्टी की बदलाव यात्रा एक मुहिम है, इसके जरिए आम आदमी पार्टी के राष्ट्रीय संयोजक और दिल्ली के सीएम अरविंद केजरीवाल के विजन को प्रदेश के हर घर तक पहुंचाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि प्रदेश की जनता भाजपा सरकार से संतुष्ट नहीं है, इसलिए जनता बदलाव के लिए तैयार है।

उन्होंने कहा कि वर्तमान में हरियाणा बहुत बुरी स्थिति से गुजर रहा है। हरियाणा बेरोजगारी में नंबर वन है, 33% युवा काम नहीं कर रहा या पढ़ ही नहीं रहा, हर तीन में से एक युवा दिशाहिन है और युवा अपनी जमीन को बेचकर विदेशों की तरफ पलायन करने को मजबूर हैं। इसके अलावा डोंकी की रास्ते अपनी जान को जोखिम में डाल रहे हैं। जिसकी जिम्मेदार हरियाणा सरकार है।

उन्होंने कहा हाल ही में हाईकोर्ट ने हरियाणा सरकार को फटकार लगाई है कि आंकड़ों को खेल खेलना बंद करें और बताएं कि हरियाणा में रोजगार के लिए क्या किया जा रहा है। सरकारी आंकड़े बताते हैं कि करीब 2 लाख सरकारी पद खाली पड़े हैं। लेकिन लोगों को रोजगार नहीं दे रही। भाजपा सरकार के राज में लगातार पेपर लीक हो रहे हैं, पिछले 10 सालों में न जाने कितने युवाओं के मौके चले गए, परीक्षा देकर रिजल्ट का इंतजार कर रहे हैं और आज उनकी क्वालीफिकेशन की उम्र ही निकल गई है।

उन्होंने कहा कि हरियाणा में 71,000 पद शिक्षा विभाग में खाली पड़े हैं, प्रारंभिक शिक्षा विभाग में 42,000 और माध्यमिक शिक्षा विभाग में 29,000 पद खाली पड़े हैं। इसके अलावा पुलिस विभाग में 21500, परिवहन विभाग में 10000, पशुपालन विभाग में 5500, सार्वजनिक स्वास्थ्य इंजीनियरिंग विभाग में 5000, अग्निशमन विभाग में 3320 और चिकित्सा शिक्षा एवं अनुसंधान में 3000 पद रिक्त पड़े हैं। हरियाणा सरकार युवाओं को रोजगार देने में नाकाम साबित हुई है। वहीं पंजाब की आम आदमी पार्टी की सरकार ने मात्र डेढ़ साल में 37000 युवाओं को नौकरी दे दी है।

उन्होंने कहा दुर्भाग्यपुर्ण बात यह है कि खट्टर सरकार प्रदेश के 10,000 युवाओं को रोजगार देने के लिए इजराइल भेजने का ऑफर दे रही है। जिसके लिए सरकार ने विज्ञापन निकाला है, जोकि हरियाणा सरकार की विफलता का प्रतीक है। हरियाणा सरकार प्रदेश के युवाओं को युद्ध में झोंकना चाहती है। इजराइल और हमास में युद्ध जारी है और खट्टर सरकार को वहां रोजगार के अवसर नजर आ रहे हैं। इससे साबित होता है कि प्रदेश सरकार को हरियाणा के युवाओं के भविष्य और जीवन की कोई फिक्र नहीं है। 

वहीं, अंबाला लोकसभा अध्यक्ष आदर्शपाल सिंह ने कहा कि बेरोजगारी की कारण हरियाणा का युवा नशा और अपराध की तरफ जा रहा है। महिलाओं की सबसे असुरक्षित वाली सूची में हरियाणा दूसरे नंबर पर है, रेप के मामलों में हरियाणा पूरे देश में दूसरे नंबर पर है, हत्याओं की बात करें तो दूसरे नंबर पर है, किडनैपिंग में नंबर तीन पर है और यूपी भी हरियाणा से पीछे है। उन्होंने कहा कि हरियाणा से बरोजगारी, भ्रष्टाचार और अपराध को खत्म करने की लिए बदलाव जरुरी है। हरियाणा में 2024 में बदलाव सुनिश्चि है, जिसके लिए प्रदेश की जनता तैयार है।

इस अवसर पर जिला अध्यक्ष गगनदीप सिंह,लक्ष्मण विनायक,योगेंद्र चौहान,राहुल भान,रणधीर चौधरी मौजूद रहै

रेवंत रेड्डी ने सांसद दीपेन्द्र हुड्डा को शपथ ग्रहण समारोह का दिया न्योता

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के रूप में चयनित रेवंत रेड्डी सांसद दीपेन्द्र हुड्डा से मिलने उनके आवास पहुंचे और शपथ ग्रहण समारोह का दिया न्योता

डेमोक्रेटिक फ्रंट, चण्डीगढ़- 06 दिसम्बर  :

तेलंगाना के मुख्यमंत्री के रूप में चयनित होने के बाद अनुमूला रेवंत रेड्डी आज शिष्टाचार भेंट के लिये अपने मित्र सांसद दीपेन्द्र हुड्डा के दिल्ली स्थित निवास पर पहुँचे और उन्हें अपने शपथ ग्रहण समारोह में सम्मिलित होने का न्योता दिया। दीपेन्द्र हुड्डा ने उन्हें गुलदस्ता भेंट कर गले लगा लिया। इसके बाद दोनो एक साथ संसद भवन गए और रेवंत रेड्डी वहाँ पार्टी सांसदों से मुलाकात कर हैदराबाद के लिए रवाना हो गए।  

रेवंत रेड्डी और सांसद दीपेन्द्र हुड्डा की दोस्ती काफी पुरानी है। दीपेन्द्र हुड्डा ने तेलंगाना की प्रचंड जीत पर हरियाणावासियों की तरफ से रेवंत रेड्डी को बधाई दी। उन्होंने अपने एक्स- पोस्ट पर लिखा कि रेवंत ने एक सच्चे मित्र होने का फर्ज निभाया। उनके व्यवहार में पहले से भी ज्यादा विनम्रता नजर आई। दीपेन्द्र हुड्डा ने विश्वास जताया कि रेवंत रेड्डी के नेतृत्व वाली कांग्रेस सरकार तेलंगाना की जनता की उम्मीदों पर खरी उतरेगी।

“सनातन का श्राप ले डूबा…” :  आचार्य प्रमोद कृष्णम

छत्तीसगढ़, मध्य प्रदेश, राजस्थान और तेलंगाना राज्यों के विधानसभा चुनाव परिणाम अब सामने आने लगे है। ये चुनाव परिणाम जहां बीजेपी के लिए खुशी लेकर आए है। तो वहीं, 3 राज्यों में कांग्रेस के हाथ निराशा लगी है। कांग्रेस पार्टी की इस हार पर पार्टी के ही दिग्गज नेता ने खरी-खरी सुनाई। यदि आचार्य कि बात माने तो तेलंगाना मैं कोंग्रेस् इस लिये जीती क्योंकि वहाँ पर सनातन विरोधि ही मतदाता हैं ।

डेमोक्रेटिक फ्रंट, पंचकुला – 03 दिसम्बर  :

मध्यप्रदेश, राजस्थान, छतीसगढ़ और तेलंगाना चुनाव का रिजल्ट धीरे-धीरे सामने आने लगे हैं। रुझानों के अनुसार इन चारों राज्यों में से 3 में बीजेपी को बड़ी बढ़त मिलती दिख रही है और तीनों राज्यों में बीजेपी सरकार बनाने की ओर बढ़ रही है। हालांकि तेलंगाना में कांग्रेस ने बढ़त ले रखी है। वहीं चुनाव में बीजेपी को मिलती जीत और कांग्रेस को 3 राज्यों में मिली हार के बाद अलग – अलग नेताओं की प्रतिक्रिया भी सामने आने लगी है। कांग्रेसी नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने चुनाव परिणाम पर प्रतिक्रिया देते हुए हार के लिए अपनी ही पार्टी को जिम्मेदार ठहराया है। आचार्य प्रमोद कृष्णम ने सोशल साइट X पर एक पोस्ट किया है। आचार्य प्रमोद कृष्णम ने पोस्ट कर लिखा – सनातन का “श्राप” ले डूबा।

कांग्रेसी नेता आचार्य प्रमोद कृष्णम ने कहा है कि सनातन का विरोध देश में किसी को स्वीकार नहीं है। कांग्रेस यदि सनातन का विरोध करती रहेगी तो वह हारती रहेगी। उन्होंने कहा“ कांग्रेस सनातन धर्म का लगातार विरोध कर रही है।वह हिंदू धर्म के खिलाफ चुनावी मैदानमें है। जातीय राजनीति को मुद्दा बनाया जा रहा है, जो देश के लोगों को स्वीकार नहीं है।“

इतना ही नहीं, उन्होंने कह कि जब तक कांग्रेस पार्टी सनातन का विरोध करती रहेगी, तब तक हारती रहेगी। कांग्रेस को देश में चुनाव जीतने के लिए महात्मा गांधी के रास्ते पर चलना होगा, जबकि कांग्रेस काल मार्क्‍स के रास्ते पर चल रही है। उसे अपनी परिपाटी बदली होगी।

वहीं पूर्व क्रिकेटर वेंकटेंश प्रसाद ने भी सनातन धर्म का विरोध करने वालों पर कॉन्ग्रेस को आड़े हाथों लिया है। उन्होंने अपने एक्स हैंडल पर ट्वीट किया, “सनातन धर्म को गालियाँ देने वालों का बुरा नतीजा भुगतना पक्का था। प्रचंड जीत के लिए भाजपा को बहुत-बहुत बधाई। प्रधानमंत्री के अद्भुत नेतृत्व का एक और प्रमाण नरेंद्र मोदी जी और अमित शाह और जमीनी स्तर पर पार्टी कैडर के शानदार काम का नतीजा है ये चुनाव परिणाम।”

चुनाव आयोग ने 5 राज्यों में चुनाव की तारीखों का ऐलान किया

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि कुल 16.14 करोड़ मतदाता इन चुनावों में अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे। इनमें 8.2 करोड़ पुरुष मतदाता, 7.8 करोड़ महिला मतदाता होंगे। इस बार 60.2 लाख नए मतदाता पहली बार वोट डालेंगे। खास बात यह भी है कि 60.2 लाख नए मतदाता पहली बार वोट डालेंगे। इनकी उम्र 18 से 19 साल के बीच है। 15.39 लाख वोटर ऐसे हैं, जो 18 साल पूरे करने जा रहे हैं और जिनकी एडवांस एप्लीकेशन प्राप्त हो चुकी हैं।

चुनाव आयोग ने 5 राज्यों में चुनाव की तारीखों का ऐलान किया

  1. चुनाव आयोग ने विधानसभा चुनाव की तारीखों का एलान कर दिया है
  2. छत्तीसगढ़ में दो चरणों में चुनाव होंगे
  3. 03 दिसंबर को एक साथ सभी राज्यों के नतीजे सामने आएंगे

सारिका तिवारी, डेमोक्रेटिक फ्रंट, चण्डीगढ़ – 09अक्टूबर :

निर्वाचन आयोग ने मध्य प्रदेश, छत्तीसगढ़, राजस्थान, तेलंगाना और मिजोरम में विधानसभा चुनाव की तारीखें का ऐलान कर दिया। चुनाव आयोग ने सोमवार दोपहर प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया कि मध्य प्रदेश में 17 नंवबर, राजस्थान में 23 नवंबर, छत्तीसगढ़ में 7 और 17 नवंबर और मिजोरम 7 नवंबर और तेलंगाना में 30 नवंबर को मतदान होगा। वहीं 3 दिसबंर को इन सभी 5 राज्यों में वोटरों की गिनती के साथ नतीजे साफ हो जाएंगे।

मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि इन चुनावों में कुल 16.14 करोड़ मतदाता अपने मताधिकार का उपयोग करेंगे, जिनमें 8.2 करोड़ पुरुष मतदाता और 7.8 करोड़ महिला मतदाता होंगे। इस बार 60.2 लाख नए मतदाता पहली बार वोट डालेंगे।

मिजोरम में 7 नवंबर को चुनाव होंगे। छत्तीसगढ़ में 7 नवंबर और 17 नवंबर को 2 चरण में चुनाव होंगे। वहीं मध्य प्रदेश में 17 नवंबर को ही सभी सीटों पर चुनाव करा लिए जाएँगे। जहाँ तक राजस्थान की बात है, वहाँ 23 नवंबर को एक ही चरण में चुनाव संपन्न कराया जाएगा। वहीं तेलंगाना में सबसे अंत में 30 नवंबर को चुनाव होंगे। सभी राज्यों में 3 दिसंबर को मतगणना होगी।

इस दौरान चुनाव आयोग ने बताया कि जिन 5 राज्यों में विधानसभा चुनाव होने हैं, वो एक तरह से इस देश का छठा भाग है। 8.2 करोड़ पुरुष और 7.8 करोड़ महिला वोटर वोट डालने वाले हैं। सबसे ज़्यादा मध्य प्रदेश में 5.60 करोड़ वोटर हैं। दिव्यांग वोटरों और 80 वर्ष से ज़्यादा उम्र के बुजुर्गों के लिए न सिर्फ बूथों पर विशेष व्यवस्था की जाएगी, बल्कि वो घर से भी वोट कर पाएँगे। मुख्य चुनाव आयुक्त राजीव कुमार ने बताया कि महिलाओं, समलैंगिकों, युवा वोटरों, जनजातीय समाज और दिव्यांगों – इन सबके मताधिकार की जागरूकता के लिए विशेष अभियान चलाया गया।

चुनाव आयोग ने 75 जनजातीय समाजों की बात करते हुए बताया कि अंतिम व्यक्ति तक वोट डालने की सुविधा पहुँचाई जाएगी, उन्हें पोलिंग स्टेशन पर लाया जाएगा। इस बार 60 लाख ऐसे वोटर होंगे, जो पहली बार वोट डालेंगे। 15.39 लाख वोटर ऐसे हैं जो जनवरी 2023 के बाद 18 वर्ष की उम्र को पूरा कर रहे हैं और नए संशोधन के तहत वो मताधिकार का इस्तेमाल करने के योग्य हैं। 2900 से अधिक पोलिंग स्टेशनों पर युवा कर्मचारियों को तैनात किया जाएगा।

चुनाव आयोग ने बताया कि पूरे देश में वोटरों को जोड़ने के लिए अभियान चलाया जा रहा है। 5 राज्यों में 57.89 लाख नए वोटर जोड़े गए हैं। पाँचों राज्यों में 1.77 लाख पोलिंग बूथ हैं। हाउस टू हाउस सर्वे चल रहे है, किसी को वोटर लिस्ट में नाम जोड़वाना हो या कोई बदलाव कराना हो तो 17 अक्टूबर, 2023 से लेकर 30 नवंबर, 2023 तक वोटर लिस्ट में वो ऐसा करने में सक्षम होंगे। इनमें से 1.01 लाख वेब कास्टिंग की सुविधा से लैस होंगे। 17,734 मॉडल पोलिंग स्टेशन होंगे। 8192 को महिलाओं द्वारा मैनेज किया जाएगा और 621 दिव्यांग कर्मचारियों द्वारा प्रबंधित किए जाएँगे।

कई राज्यों में ऐसे पोलिंग स्टेशन बनाए गए हैं, जो सुदूर इलाकों में हैं और लोगों को ज़्यादा दूर चलना नहीं पड़ेगा। cVIGIL मोबाइल एप के जरिए 100 मिनट में शिकायतों पर प्रतिक्रिया देने का वादा भी किया गया है। किसी उम्मीदवार की आपराधिक पृष्ठभूमि है तो उनकी पार्टी को बताना पड़ेगा कि उसे क्यों चुना गया, साथ ही प्रत्याशी को भी 3 बार अख़बार और टीवी के जरिए अपने बारे में सब कुछ बताना होगा। राजनीतिक दलों के खर्चों, आय और ऑडिट के लिए डिजिटल टूल विकसित किया गया है।

जो पोलिंग कर्मचारी हैं, जो पोस्टल बैलेट घर ले जा सकते थे और मतगणना तक कभी भी अपना वोट भेज सकते थे, लेकिन अब वोटर फैसिलिटेशन सेंटर पर वोट डालेंगे और फिजिकल रूप से उनके वोट कलेक्ट किए जाएँगे।

असदुद्दीन ओवैसी के सरकारी आवास का शीशा टूटा मिला, दिल्ली पुलिस जांच में जुटी

एक वरिष्ठ पुलिस अधिकारी ने बताया के सांसद ओवैसी के घर के दरवाजे के टूटे शीशे के आसपास कोई पत्थर या ऐसी कोई अन्य चीज नहीं मिली। अधिकारी ने कहा इलाके की जांच कर रही है सीसीटीवी फुटेज की भी जांच चल रही है। जल्द ही मामले में आरोपियों की पहचान कर ली जाएगी। इस मामले पर ओवैसी ने आरोप लगाया है राष्ट्रीय राजधानी में उनके आवास पर अज्ञात बदमाशों ने हमला किया। फरवरी में एक घटना को लेकर ओवैसी ने दावा किया कि 14:00 के बाद से इस तरह की यह चौथी घटना है।

Asaduddin Owaisi: लोकसभा में सरकार पर औवेसी का हमला, बोले- कुर्सी है ये  तुम्हारा जनाजा तो नहीं, कुछ कर नहीं...

नई दिल्‍ली ब्युरो, डेमोक्रेटिक फ्रंट – 14 अगस्त :  

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के राष्ट्रीय अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी  ने दिल्ली स्थित अपने सरकारी आवास पर हमले की खबर है। इस बारे में रविवार शाम शिकायत दी गई, जिसमें कहा गया कि ओवैसी के सरकारी आवास के अंदर शीशे टूटे हुए हैं।

केअर टेकर रोहित की तरफ से बताया गया कि कुत्तों के भौंकने के बाद जब उन्होंने देखा तो आवास के पिछले दरवाजे पर लगे दो लैंप को नुकसान हुआ है। इसमें से एक लैंप टूटकर लटका हुआ दिखाई दे रहा है तो वहीं दूसरे लैंप के शीशे टूटे हुए हैं। इसके बाद वो मुख्य दरवाज़े की तरफ गए तो देखा ड्राइंग रूम के दरवाज़े के शीशे टूटे हुए हैं।

असदुद्दीन ओवैसी के सरकारी आवास का शीशा टूटा मिला, हमले की आशंका, जांच में जुटी दिल्ली पुलिस। असदुद्दीन ओवैसी के दिल्ली स्थित सरकारी आवास पर हमले की आशंका जताई गई है। उनके घर के दरवाजे में लगे दो शीशे टूटे मिले हैं। पुलिस को इसकी सूचना रविवार को दी गई। इस घटना के बाद उनके आवास की सुरक्षा बढ़ा दी गई है।

केजरीवाल ने BRS को भिजवाए ₹15 करोड़, कोड वर्ड ‘15 किलो घी’ था : महाठग सुकेश का नया दावा

                      भ्रष्टाचार के कई आरोपों का सामना कर रहे हैं और मनी लॉन्ड्रिंग के एक मामले में आरोपी कथित ठग सुकेश चंद्रशेखर ने दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर गंभीर आरोप लगाए हैं। सुकेश ने केजरीवाल पर दक्षिण समूह और बीआरएस पार्टी के साथ सांठगांठ का आरोप लगाया है। सुकेश ने दावा किया कि उनके और आम आदमी पार्टी (आप) प्रमुख केजरीवाल के बीच चैट के स्क्रीनशॉट हैं और ये उक्त चैट टीआरएस कार्यालय को 15 करोड़ रुपये की डिलीवरी के संबंध में केजरीवाल के निर्देशों को दिखाते हैं। सुकेश ने दावा किया कि चैट स्पष्ट रूप से आपके (केजरीवाल) सांठगांठ को ‘साउथ ग्रुप’ और टीआरएस के नेता के साथ पुष्टि करेगा, जो शराब घोटाले में जांच के दायरे में है। साथ ही, चैट में यह भी है कि कैसे टीआरएस के नेता के सहयोगी अरुण पिल्लई को 15 करोड़ रुपए 15 किलो घी की डिलीवरी का निर्देश दिया। 

BRS दफ्तर में केजरीवाल ने भिजवाए थे ₹15 करोड़' : महाठग सुकेश चंद्रशेखर
₹15 करोड़, कोड वर्ड ‘15 किलो घी’

सारिका तिवारी, डेमोक्रेटिक फ्रन्ट, चंडीगढ़/ नई दिल्ली – 07 अप्रैल :

दिल्ली की मंडोली जेल में बंद महाठग सुकेश चंद्रशेखर ने एक बार फिर अपने लेटर के जरिए बड़ा खुलासा किया है और दिल्ली के मुख्यमंत्री अरविंद केजरीवाल पर बड़ा आरोप लगाया है। उसने अपनी और टीआरएस के एक नेता की वाट्सएप चैट की बात की है और दावा किया है कि इस चैट से साफ पता चल सकता है कि कैसे अरविंद केजरीवाल ने 15 करोड़ रुपए टीआरएस ऑफिस में भिजवाने के लिए कहा था। इतना ही नहीं टीआरएस के नेता ने सीएम केजरीवाल और सत्येंद्र जैन के कहने पर ही इस रकम को स्वीकार करने की पुष्टि की थी।

सुकेश ने हाल ही के दिनों में ऐसे कई आरोप लगाए हैं, हालांकि इन दावों की कोई पुष्टि नहीं हुई है। सुकेश ने यह पत्र अधिवक्ता अनंत मलिक के माध्यम से जारी किया है। जारी किये गए बयान में कहा गया है। केजरीवाल जी मैं 2020 से जुड़ी एक चैट का ट्रेलर जारी करने जा रहा हूं जिसमें 15 किलो घी करोड़ के लिए आपके और मिस्टर जैन (जेल में बंद दिल्ली के पूर्व स्वास्थ्य मंत्री सत्येंद्र जैन) की ओर से तय किया गया कोड वर्ड जिसे मैंने व्यक्तिगत तौर पर भेजा था यानी आपकी ओर से राजनीतिक पार्टी टीआरएस के दफ्तर में आबकारी मामले में आरोपी एक शख्स को 15 करोड़ रुपये दिए गए थे

इस चैट से केजरीवाल और दक्षिण भारतीय ग्रुप के बीच के संबंधों पर मुहर लगती है। खत में सुकेश का दावा है कि चैट में 15 करोड़ रुपए को कोड वर्ड में 15 किलो घी कहा गया है। उसका दावा है कि केजरीवाल और बीआरएस के नेता लंबे समय से एक दूसरे के संपर्क में हैं। केजरीवाल और बीआरएस नेताओं के बीच कई बार पैसों का लेनदेन हो चुका है।

इतना ही नहीं सुकेश ने कहा है कि यदि उसकी बातों पर किसी को भरोसा नहीं है तो वो नार्को या पॉलीग्राफ टेस्ट या किसी भी तरह का परीक्षण कराने को तैयार है। उसने कहा, “मैं सिर्फ बातें ही नहीं कर रहा बल्कि हर बात के सबूत पेश करने वाला हूँ। सुकेश का दावा है कि उसके पास अरविंद केजरीवाल के साथ व्हाट्सएप और टेलीग्राम चैट के कुल 700 पेज सुरक्षित हैं। उसने कथित तौर पर साल 2020 में बीआरएस कार्यालय को 75 करोड़ रुपए देने की भी बात कही है।

वीरेश शांडिल्य ने तेलंगाना राज्य में की एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के अध्यक्ष की घोषणा,मोदी होंगे तेलंगाना के प्रदेश अध्यक्ष

  • हैदराबाद निवासी एव हिन्दू सेवा संघ के अध्यक्ष प्रमोद मोदी तेलंगाना राज्य के एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के प्रदेश अध्यक्ष एव डेंटल सर्जन डॉ किरण प्रदेश महासचिव नियुक्त
  • नवनियुक्त अध्य्क्ष प्रमोद मोदी को महाराष्ट्र का भी फ्रंट सुप्रीमो शांडिल्य ने प्रभारी नियुक्त किया
  • वीरेश शांडिल्य का नारा,न डरेंगे, न झुकेंगे,तिरँगे की तरफ बुरी नजर से देखने वाले की आंख फोड़ देंगे

डेमोक्रेटिक फ्रन्ट, अम्बाला  – 07  अप्रैल :

एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेश शांडिल्य ने हैदराबाद के उधोगपति एव हिन्दू सेवा संघ के अध्यक्ष प्रमोद मोदी को तेलंगाना राज्य का प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किया और वहीं डेंटल सर्जन डॉ किरण को फ्रंट का तेलंगाना राज्य का महासचिव नियुक्त किया। वही शांडिल्य ने तेलंगाना में सनातन धर्म को मजबूत करने वाले एव हिंदुस्तान को आतंकवाद मुक्त सोच रखने वाले तेलंगाना के नवनियुक्त प्रदेश अध्यक्ष प्रमोद मोदी को महाराष्ट्र का प्रभारी भी नियुक्त किया है और उन्हें तेलंगाना की ग्राम स्तर से शहरी व जिला व राज्य स्तर पर पदाधिकारी बनाने का अधिकार भी दिया है।

वीरेश शांडिल्य ने आज पत्रकारों से बातचीत करते हुए बताया कि पिछले डेढ़ महीने से एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया की राष्ट्रीय व प्रदेश इकाईयों को भंग किया हुआ था आज फ्रंट की पहली नियुक्ति तेलंगाना राज्य की हुई और प्रमोद मोदी प्रदेश अध्यक्ष नियुक्त किये गए। शांडिल्य ने बताया कि वह अब आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र , कर्नाटक,तमिलनाडू ,ओडिशा में एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया की प्रदेश इकाइयों को गठित करेंगे। उन्होंने कहा कि अगस्त 2023 तक उत्तर भारत व साउथ में फ्रंट को मजबूत किया जाएगा और 25 जून 2023 तक हरियाणा, पंजाब, चंडीगढ़ हिमाचल, दिल्ली, उत्तर प्रदेश, उत्तराखंड , बिहार, राजस्थान,के इकाइयों का गठन कर दिया जाएगा।

एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेश शांडिल्य ने कहा कि 10 अगस्त तक एक लाख फ्रंट के एक्टिव सदस्यों को जोड़ा जाएगा और एक फ्रंट की ऐसी फोर्स तैयार की जाएगी जो आतंकवाद, खालिस्तानी ताकतों, सहित देश विरोधी लोगो के खिलाफ अभियान शुरू करेगी। उन्होंने कहा कि 15 अगस्त 2023 के बाद देश की राजधानी दिल्ली में एक राष्ट्रीय स्तर का म्यूजियम बनाने की मांग करेंगे जिन शहीदों की बदौलत आज देश के 132 करोड़ लोग आजादी की हवा में सांस ले रहे हैं। और उनका संगठन सिर्फ उन लोगो को जोड़ेंगे जो अपनी भारत माता व मातृभूमि के लिए सीने पर गोली खाने को तैयार रहें।

साथ ही वीरेश शांडिल्य ने कहा कि उनका अब रास्ट्रीय स्तर पर अभियान शुरू करेंगे कि शहीद-ए-आजम भगत सिंह,राजगुरु व सुखदेव को शहीद का दर्जा दिया जाए इसके लिए देश की संसद के बाहर एक मार्च निकालेंगे क्योंकि आज भी इस देश मे सिमरनजीत सिंह जैसे सांसद सदस्य होते हुए भी भगत सिंह को आतकवादी बताते हैं। शांडिल्य ने कहा कि एन्टी टेरोरिस्ट 15 अगस्त 2023 को खलिस्तान विरोधी रथ यात्रा निकालेंगे क्योंकि खालिस्तानी मुहिम सीधा देश के संविधान, तिरंगे व कानून पर हमला बोल रहे ऐसी मांग करने वाले पाकिस्तानी आतंकवादी है और उनका जिंदा रहना राष्ट्र के लिए बड़ा खतरा है।

एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया प्रमुख शांडिल्य ने कहा अमृतपाल सिंह का जिंदा रहना देश के लिए करोना से ज्यादा खतरनाक है इसलिए सरकार उसे देखते ही गोली मारने के आदेश दें । शांडिल्य ने मोदी ,अमित शाह व भगवंत मान से मांग की है कि आई एस आई के एजेंट अमृतपाल सिंह को जिंदा गिरफ्तार न किया जाए इसे मौत के घाट उतार किया जाए अमृतपाल सिंह हिन्दू सिख भाईचारे के लिए कोरोना से भी खतरनाक है।

हनुमान जन्मोत्सव पर वीरेश शांडिल्य ने किए भगवा झंडे, टी शर्ट व टोपियां लॉंच

  • हनुमान जन्मोत्सव विशाल बाइक रैली शोभा यात्रा में बतौर मुख्यातिथि शिरकत करेंगे शांडिल्य , तीन दिवसीय तेलंगाना दौरे पर शांडिल्य
  • हैदराबाद पहुंचने पर एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया के राष्ट्रीय अध्यक्ष वीरेश शांडिल्य का जोरदार स्वागत

डेमोक्रेटिक फ्रन्ट, अम्बाला/ हैदराबाद  – 05 अप्रैल :

एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया  के रास्ट्रीय अध्यक्ष वीरेश शांडिल्य का बुधवार को तेलंगाना की राजधानी हैदराबाद पहुंचने पर राजीव गांधी अंतरराष्ट्रीय हवाई अड्डे पर जोरदार स्वागत किया गया । इस अवसर पर हिन्दू सेवा संघ के अध्यक्ष प्रमोद कुमार मोदी व हिन्दू संघ के सदस्यों ने शांडिल्य का फूलमालाएं पहनाकर व भारत माता की जय के नारों के साथ हार्दिक अभिनंदन किया गया । बता दें शांडिल्य तीन दिवसीय हैदराबाद दौरे पर है और वह इस दौरान हनुमान जन्मोत्सव पर विशाल मोटर साईकल शोभा यात्रा को हरी झंडी दिखाएंगे और हनुमान जन्मोत्सव कार्यक्रम में बतौर मुख्यातिथि शामिल होंगे ।

शांडिल्य इस दौरान हनुमान जन्मोत्सव पर हैदराबाद में स्तिथ श्री सालासर धाम में भी शीश नवाएँगे और शोभा यात्रा से पहले हैदराबाद में भगवा झंडे , टी-शर्ट समेत अन्य सामग्री लांच की । इस दौरान शांडिल्य हैदराबाद के कई उद्योगपतियों, धार्मिक एवं सामाजिक संगठनों के गणमान्यों से मुलाकात करेंगे और एंटी टेरोरिस्ट कॉउंसिल व एंटी टेरोरिस्ट फ्रंट इंडिया की राज्य इकाई का भी गठन करेंगे ।

हिन्दू सेवा संघ के अध्यक्ष प्रमोद कुमार मोदी ने शांडिल्य का हैदराबाद की धरती पर पधारने पर जहां स्वागत किया और शांडिल्य को सनातन की प्रखंड एवं मजबूत आवाज बताया और कहा कि आज सनातन धर्म को शांडिल्य जैसे वीर योद्धाओं की जरूरत है तो आतंकवाद को चुनौती देने के साथ-साथ सनातन धर्म व आदि शंकराचार्य की सोच को जन-जन तक पहुंचा रहे है ।

इस अवसर पर वासु रंजन शाण्डिल्य, विष्णु अग्रवाल, संतोष, पवन जांगिड़, विनोद, संजीव कुमार, गोवर्धन सिंह, जीतू जोशी, रवि बंजारी, उत्तम, अजय, शुशीला, यादम्मा, सुमन,गीता,रीना, प्रिया, गीता एवम अन्य मौजूद रहे ।