पुलवामा शहीदों के श्रद्धांजलि समारोह में कांग्रेसियों ने लगाए ठुमके और वीरेंदर रावत पर बरसाए नोट

अभी हाल ही में ज़ी न्यूज़ ने दिखाया की 14 फरवरी को सैनिकों पर हमला होने की खबर के प्रसारण के ठीक डेढ़ घने के पश्चात राहुल गांधी ठुमके लगा रहे थे। 3:14 पर कांग्रेस प्रवक्ताओं को हमले की जानकारी मिल चुकी थी, परंतु 4:40 पर राहुल गांधी के नाच की विडियो कांग्रेस के ही टिवीटर हैंडल पर पोस्ट की गयी थी(जो अब हटा दी गयी है)। यह माना जाना मुश्किल है की कांग्रेस अध्यक्ष को इस जाधन्य हमले की जानकारी नहीं थी। तो जब कांग्रेस अध्यक्ष ही हत्याकांड वाले दिन नाच गा रहे थे तो श्रद्धांजलि समारोह पर कांग्रेसी ठुमके क्यों न लगाएंगे और नोट क्यों न बरसाएँ।\

नई दिल्ली/रुड़की:पुलवामा हमले में शहीद हुए 40 जवानों को एक साथ खो देना का दुख देश के हर नागरिक है. देशभर में अलग-अलग तरह से लोग शहीदों को श्रद्धांजलि दे रहे हैं. देश में कई जगह शहीदों को श्रद्धांजलि देने के कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे हैं. इसी कड़ी में हरिद्वार के रुड़की में कांग्रेसियों द्वारा आयोजित एक कार्यक्रम में शहीदों को श्रद्धांजलि का मखौल बना दिया गया. 

दरउसल, उत्तराखंड के रुड़की में शहीदों के लिए एक कार्यक्रम में गाने के दौरान जमकर नोट उड़ाए गए. कार्यक्रम में बतौर मुख्य अतिथि पूर्व मुख्यमंत्री हरीश रावत के बेटे वीरेंद्र रावत भी शामिल हुए थे. सीआरपीएफ जवानों को श्रद्धांजलि देने के कार्यक्रम में शरीक होने आए वीरेंद्र रावत पर कांग्रेस कार्यकर्ताओं ने जमकर नोट उड़ाए. इस बेहद ही शर्मनाक हरकत का एक वीडियो सामने आया है.

साभार ANI

इतना ही कांग्रेस नेताओं से देशभक्ति से इतर दूसरे गाने भी गाने की फरमाइश की, जिसपर मदस्त होकर होकर कांग्रेसी भी झूमते नजर आए और ठुमके लगाए. इस कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में उत्तराखंड के पूर्व मुख्यमंत्री के पुत्र वीरेंद्र रावत व कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सुशील राठी भी शामिल हुए थे. 

हैरानी की बात ये है कि अपने कार्यकर्ताओं को रोकने के बजाय वीरेंद्र रावत हंसते हुए नजर आए. कार्यक्रम का आयोजन शुक्रवार 22 फरवरी को किया गया था. इसके बाद पत्रकारों से बातचीत में वीरेंद्र रावत ने कहा कि यह पुलवामा आतंकवादी हमले में जान गंवाने वाले सीआरपीएफ सैनिकों को श्रद्धांजलि देने के लिए आयोजित एक कार्यक्रम था. यह 56 इंच की छाती वाले शेर को जगाने की एक कोशिश थी. उन्होंने कहा कि दुश्मन को चुप कराने के लिए पीएम मोदी को कार्रवाई करनी चाहिए. 

PS Note
ठुमके लगाना और वीरेंद्र रावत पर नोट बरसाना मात्र प्रधानमंत्री को झकझोरने के लिए था

कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर भ्रम की स्थिति फैला रहे केजरीवाल:

कांग्रेस का कहना है कि लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन को लेकर आम आदमी पार्टी (आप) के नेता, लोगों में भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहे हैं जिससे बीजेपी को फायदा हो सके
अगर मुझे ये भरोसा हो जाए कि दिल्ली में बीजेपी को कांग्रेस हरा देगी तो मैं सातों सीटें छोड़ दूंगा:

दिल्ली कांग्रेस ने सीएम केजरीवाल पर निशाना साधा है. पार्टी ने शुक्रवार को कहा, लोकसभा चुनाव के लिए गठबंधन को लेकर आम आदमी पार्टी (आप) के नेता, लोगों में भ्रम फैलाने की कोशिश कर रहे हैं जिससे बीजेपी को फायदा हो सके.

दिल्ली प्रदेश कांग्रेस कमेटी के प्रवक्ताओं रमाकांत गोस्वामी और जितेंद्र कोचर ने एक संयुक्त बयान में कहा, ‘लोकसभा चुनाव में बीजेपी को फायदा पहुंचाने के लिए केजरीवाल बीजेपी विरोधी वोटों को बांटने की कोशिश कर रहे हैं. सच्चाई यह है कि राष्ट्रीय राजनीति में आम आदमी पार्टी का कुछ मतलब नहीं है और सीधा मुकाबला बीजेपी और कांग्रेस के बीच होने वाला है.’

उन्होंने दावा किया, ‘कांग्रेस के साथ गठबंधन को लेकर केजरीवाल बार-बार झूठ बोल रहे हैं और भ्रम फैला रहे हैं.’ दरअसल, दिल्ली के चांदनी चौक में एक जनसभा में केजरीवाल ने बुधवार रात कहा था, ‘गठबंधन के लिए हम कांग्रेस से बात कर-कर के थक गए, लेकिन कांग्रेस ने हमारे साथ गठबंधन नहीं किया. कांग्रेस दिल्ली और उत्तर प्रदेश में बीजेपी को जिताना चाहती है.’

इसके साथ ही उन्होंने कहा कि अगर मुझे ये भरोसा हो जाए कि दिल्ली में बीजेपी को कांग्रेस हरा देगी तो मैं सातों सीटें छोड़ दूंगा.

वीरभद्र की बढ़ीं मुश्किलें, आपराधिक कदाचार के आरोप तय

दिल्ली की एक अदालत ने हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के खिलाफ 10 करोड़ रुपए से ज्यादा की अघोषित संपत्ति रखने और आपराधिक कदाचार के आरोप तय किए. इसके बाद मामले में उनके खिलाफ मुकदमा शुरू होने का रास्ता साफ हो गया है. सिंह ने बेगुनाह होने का दावा किया और कहा कि वह दोष कबूल करने के बजाय इस मामले में मुकदमे का सामना करेंगे.

अदालत ने मामले में सीबीआई के जरिए गवाहों के बयान दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू करने के लिए 3, 4 अप्रैल की तारीख तय की. सुनवाई के दौरान वीरभद्र और उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह ने मामले की सुनवाई के दौरान अदालत में पेश होने से स्थाई रूप से छूट की मांग करते हुए याचिका दाखिल की. दोनों अदालत में उपस्थित थे. अदालत ने सीबीआई से उनकी याचिका पर अगली सुनवाई के वक्त जवाब देने को कहा.

एक अलग मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने वीरभद्र सिंह के खिलाफ धनशोधन के एक प्रकरण में तीसरा पूरक आरोपपत्र दायर किया. अदालत ने कहा कि वह मामले को 18 मार्च को लेगी. ईडी का पूरक आरोपपत्र विशेष लोक अभियोजक नितेश राणा और एन के मट्टा के मार्फत दायर किया गया.

आज का राशिफल

23 फरवरी 2019: आज विरोधी पक्ष साजिश के तहत आपके बढ़ते हुए प्रभाव को कम करने की साजिश रच सकते है। जिससे आप कुछ विचलित होकर अपने कामों को पीछे छोड़ सकते है। हालांकि आप कुछ धन व समय लगाकर उन्हे सबक सिखाने के मूड़ में होगे। आज का दिन सेहत के लिए प्रतिकूल होगा। जिससे कुछ दवा खानी होगी।

Taurus

23 फरवरी 2019:  आज आप अपने अध्ययन व तकनीक सहित, कला व संगीत के संबंधित क्षेत्रों में तेजी से बढ़त बनाने के लिए तत्पर होगे। आज का दिन आपको अर्थ लाभ के मार्ग निर्मित करने वाला होगा। जिससे आप प्रसन्न होगे। निजी संबंधो में साथी को कुछ उपहार देने की बात सोचंगे। जिससे संबंधों में मधुरता होगी।

Gemini

23 फरवरी 2019:  आज आप किसी ऐसी जानकारी को हासिल कर लेगे। जहाँ से लाभ की स्थिति और मज़बूत होगी। हालांकि आज अपने उत्पादन व विक्रय लक्ष्य को भेदने के लिए तेजी से अमल मे लेगे। आप देखेंगे कि भौतिक सुख के साधनों का लाभ हो रहा है। सेहत के लिहाज से आज का दिन अनुकूल होगा। जिससे आप प्रसन्न होगे।

Cancer

23 फरवरी 2019:  आज आप अपने आजीविका के साधनों को न केवल विस्तारित करने मे मूड़ में होगे। बल्कि पिछड़ रहे कामों को पुनः गति देने की मंशा तेजी से बढ़ी हुई होगी। आज का दिन आपके भाग्य को प्रबल बनाने वाला होगा। किन्तु सेहत के लिहाज से आज का दिन प्रतिकूल होगा। जिससे आप परेशान होगे।

Leo

23 फरवरी 2019:  आज आप अपने घर परिवार के लागों से कुछ बातों को साझा करते हुए अपने बोझ को कुछ कम करने के प्रयास में होगे। आप देखेंगे कि कुछ निर्णय ऐसे हैं। जिनमें परिवार के लोगों की सहमति जरूरी है। वैसे सेहत के लिहाज से आज का दिन ज्यादा अनुकूल नहीं होगा। निजी रिश्तों में उतार-चढ़ाव का क्रम होगा।

Virgo

23 फरवरी 2019: आज आप वैवाहिक जीवन की खुशियों को और समृद्ध करने के लिए सोचेंगे। जिससे आने वाले समय में एक तो आमदनी हो। दूसरा परिवार के लोगों के आकांक्षा के अनुरूप कामों को पूरा किया जाएं। आज का दिन आपके सेहत को सुन्दर करने वाला होगा। जिससे आप प्रसन्न होगे। भौतिक सुख के साधनों में प्रगति होगी।

23 फरवरी 2019: आज आप अपने अध्ययन के साथ विषयों में पकड़ की समीक्षा करने में लगे होगे। जिससे निर्धारित समय में पाठ्यक्रमों में सफलता अर्जित हो। आज का दिन आपके लिए कई मायनों में लाभकारी होगा। निजी संबंधों मे साथी के साथ आप अपने मन की बातों को कह देंगे। हालांकि उन पर इसका विपरीत असर नहीं होगा। 

Scorpio

23 फरवरी 2019:  आज आप अपने सेहत के प्रति अधिक सोचेंगे जिससे आज कुछ और प्रगति प्राप्त होगी। आप बढ़ते हुए काम के दवाब को एक अवसर की तरह लेने में लगे होगे। हालांकि आज का दिन कुछ तनाव देने वाला होगा। व्यवस्थाओं को संभालने में पसीना निकल सकता है। कुछ मामलों में धनाभाव लगातार बना हुआ होगा।

Sagittarius

23 फरवरी 2019: आज आपके कई ऐसे प्रयास सफल होगे। जो पराक्रम व साहस के द्वारा सिद्ध होने है। इसके लिए आपको कुछ एक जरूरी उपायों को करना होगा। आज का दिन सेहत के लिहाज से अच्छा होगा। जिससे आप अपने कामों में मन लगाकर लगे होगे। निजी रिश्तों में आप साथी की बातों को भी तब्वजों देगे। जिससे उन्हे परेशानी न हो।

Capricorn

23 फरवरी 2019:  आज आप अपने बल व पौरूष का प्रयोग करते हुए तीव्र गति से आगे बढ़ने में लगे होगे। आप देखेंगे कि भौतिक सुख के साधनों का प्रयोग करना जरूरी है। आज कुछ साहस भरे निर्णय लेगे। जिससे कामों में तेजी का रूख होगा। हालांकि आपके लिए यह उपलब्धि से कम नहीं होगा। नौकरी के क्षेत्रों में तनाव होगे।

Aquarius

23 फरवरी 2019:  आज की ग्रह स्थिति आपके लिए अच्छी बनी हुई है। जिससे आप अपने कामों में बड़ी तत्परा के साथ लगे होगे। आप देखेंगे कि आज समाजिक जीवन में कुछ लागों से सम्पर्क का लाभ हो रहा है। आप किसी अनुभवी व्यक्ति के साथ धर्म लाभ की यात्रा में जाने के लिए तैयार होगे। किन्तु धन अधिक व्यय होगा। सेहत में उतार-चढ़ाव होगा।

Pisces

23 फरवरी 2019: आज आपके ग्रह शुभ व सकारात्मक हो चले है। जिसका असर आपके मन मतिष्क पर सकारात्मक होगा। आज आप जहाँ कामों में अधिक सक्रिय होगे। वहीं स्वास्थ्य भी अनुकूल बना होगा। जिससे आप कई प्रभावशाली निर्णय लेने में कामयाब होगे। धन निवेश में लाभ होगा। दाम्पत्य जीवन अनुकूल होगा।

आज का पांचांग

पंचांग 23 फरवरी 2019

विक्रमी संवत्ः 2075, 

शक संवत्ः 1940, 

मासः फाल्गुऩ, 

पक्षःकृष्ण पक्ष, 

तिथिः चतुर्थी प्रातः 08.11 तक, 

वारः शनिवार, 

नक्षत्रः चित्रा, रात्रि 10.47 तक, 

योगः अतिगण्ड सांय 04.24 तक, 

करणः बालव, 

सूर्य राशिः कुम्भ, 

चंद्र राशिः कन्या, 

राहु कालः प्रातः 9.00 बजे से प्रातः 10.30 तक, 

सूर्योदयः 06.57, 

सूर्यास्तः 06.13 बजे।

नोटः पंचमी तिथि का क्षय है।

विशेषः आज पूर्व दिशा की यात्रा न करें। शनिवार को देशी घी,गुड़, सरसों का तेल का दान देकर यात्रा करें।

पुलवामा हमले के डेढ़ घंटे बाद राहुल ने लगाए ठुमके, सुरजेवाला ने प्रधान मंत्री पर बोला तीखा हमला

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि जिस वक्त देश शहीदों के शव के टुकड़े चुन रहा था. उस वक्त पीएम मोदी अपने नाम के नारे लगवा रहे थे.( जिस वक्त देश शहीदों के शव के टुकड़े चुन रहा था. उसके ठीक डेढ़ घंटे बाद राहुल गांधी ठुमके लगा रहे थे, पुलवामा हत्याकांड के शहीदों की पीड़ा उनके चेहरे पर साफ झलकती है। कांग्रेस के पास इस आचरण के लिए कोई शब्द नहीं बचा है) इस विडियो का ब्योरा आपको ताल ठोक के के इस अंक में देखें

कांग्रेस की सिर्फ एक ही चाहत है ‘सत्ता’, इसके लिए कुछ भी? क्या झूठ फैलाना ठीक है,? क्या सत्ता के लिए किसी भी निम्न स्तर पर गिर जाना यही कांग्रेस की नीति है?

संबित पात्र ने बताया की एक प्र्वकता का कर्तव्य है जब उसे कोई अति महत्वपूर्ण घटना का पता चले तो वह तुरंत अपने पार्टी अध्यक्ष को सूचित करे। सुरजेवाला स्वयं यह मान रहे हैं की उनको पुलवामा हमले का 3: 14 दोपहर को पता चल गया था, फिर उन्होने क्या इस बात को राहुल गांधी के साथ सांझा नहीं किया? यदि नहीं तो वह कैसे प्रवक्ता हैं, और यदि किया तो फिर डेढ़ घंटे बाद राहुल को नाचने की क्या सूझी?

संबित जानते हैं की उनके इन प्रश्नों का उत्तर उन्हे कभी नहीं मिलेगा, परंतु सत्ता पक्ष भी विपक्ष से प्रश्न पूछ सकता है।

सुरजेवाला ने क्या कहा वह तो इस विडियो के बाद आप सब पढ़ ही लेंगे परंतु वह क्या छुपा रहे थे वह इस एपिसोड में आपको ज़रूर जानना चाहिए।

साभार ज़ी न्यूज़

अब आगे

पुलवामा अटैक पर कांग्रेस ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके भारतीय जनता पार्टी पर पुलवामा हमले को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाया है. कांग्रेस ने कहा कि ‘पीएम मोदी और अमित शाह बस इसका राजनीतिक फायदा उठा रहे हैं. उन्होंने राष्ट्रीय शोक की घोषणा भी नहीं की.’

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि जिस वक्त देश शहीदों के शव के टुकड़े चुन रहा था. उस वक्त पीएम मोदी अपने नाम के नारे लगवा रहे थे और अमित शाह रैली में कांग्रेस पर हमला कर रहे थे.

सुरजेवाला ने कहा, ‘जब देश दोपहर में हुए पुलवामा अटैक पर शहीदों की जान जाने पर रो रहा था, तब पीएम मोदी शाम तक जिम कॉर्बेट पार्क में शाम तक फोटो शूट कराते रहे. पूरी दुनिया में कोई ऐसा पीएम है क्या? मेरे पास इस आचरण के लिए कोई शब्द नहीं बचे हैं.’

सुरजेवाला ने कहा कि हमले के बाद मोदी और शाह ने राष्ट्रीय शोक की भी घोषणा नहीं की, ताकि उनकी रैलियां और राजनीतिक कार्यक्रम रुक न जाएं.

कांग्रेस ने पीएम मोदी के दक्षिण कोरिया के दौरे पर भी सवाल उठाए. साथ ही सुरजेवाला ने ये भी कहा कि पीएम मोदी शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए उनके परिवार वालों को इंतजार करवा रहे थे.

सुरजेवाला ने कश्मीर में बढ़ी अस्थिरता पर तो सवाल उठाया ही, पुलवामा अटैक पर सरकार के सामने सवाल रखे. उन्होंने कहा कि आतंकियों को इतनी बड़ी मात्रा में आरडीएक्स और रॉकेट लॉन्चर कैसे मिले? उन्होंने सवाल किया कि जब सीआरपीएफ जवानों की तैनाती में देरी हुई थी, तो उन्हें एयरलिफ्ट क्यों नहीं किया गया? जैश-ए-मुहम्मद की ओर से चलाए गए धमकी भरे वीडियो को नजरअंदाज क्यों किया गया?

PS Note: सुरजेवाला क्या प्रश्न ही पूछेंगे या फिर उपरोक्त प्रश्नों यानि राहुल के नाचने का कारण भी समझा पाएंगे

देवबंद से जैश ए मोहम्मद के 2 आतंकी गिरफ्तार

उत्तर प्रदेश एटीएस ने जैश ए मोहम्मद के दो आतंकी पकड़े हैं. डीजीपी ओपी सिंह ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि रात में यूपी एटीएस को संदिग्ध आतंकियों की जानकारी मिली थी. कुछ कश्मीरी देवबंद में बगैर एडमिशन के रह रहे हैं. रात में यूपी एटीएस के आईजी ने देवबंद में ऑपरेशन चलाया. एटीएस ने शाहनवाज़ और आकिब अहमद मलिक को गिरफ्तार किया. दोनों को रिमांड पर लेकर विस्तृत पूछताछ की जाएगी.

डीजीपी ओपी सिंह ने बताया कि गिरफ्तार किया गया जैश का आतंकी शाहनवाज कुलगाम और आकिब पुलवामा का रहने वाला है. शाहनवाज़ जैश ए मोहम्मद का सक्रिय आतंकी है. दोनों लोग जैश ए मोहम्मद के लिए भर्ती का काम करते हैं. ओपी सिंह ने बताया कि आरोपियों के पास से 32 बोर की 2 पिस्टल और 30 जिंदा कारतूस मिले हैं. दोनों के मोबाइल से जेहादी चैट्स मिले हैं. शाहनवाज़ ग्रेनेड्स का एक्सपर्ट है.

इससे पहले यूपी एटीएस ने एक दुकानदार सहित लगभग 10 से 12 छात्रों को हिरासत में लिया था. जिनमें 2 कश्मीर के छात्र, 5 ओडिशा और अन्य अलग-अलग जगह थे. यह छापेमारी देर रात करीब 2 बजे की गई थी.

बता दें कि पुलवामा में हुए आतंकी हमले के बाद खुफिया एजेंसियों की ओर से आतंकी हमले की संभावना जताई गई थी. हाल ही में कानपुर ट्रेन धमाका भी हुआ. साथ ही महाराष्‍ट्र के रायगढ़ में भी बस में आईईडी बम मिलने से हड़कंप मच गया. हालांकि आशंकाओं को लेकर सक्रिय हुई एजेंसियां संदिग्‍धों पर कड़ी नजर रख रही हैं. वहीं पुलिस भी सतर्कता बरत रही है.

भाजपा के नेताओं का अगर गला भी खराब हो जाता है तो वे नेहरू को जिम्मेदार ठहराने लगते हैं: मनीष

मनीष ने यह भी आरोप लगाया कि कश्मीर की मौजूदा हालात के लिए बीजेपी जिम्मेदार है

बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के जरिए पूर्व प्रधानमंत्री पंडित जवाहरलाल नेहरू को कश्मीर समस्या का जनक कहे जाने पर कांग्रेस ने पलटवार किया है. साथ ही दावा किया कि सत्तारूढ़ पार्टी के नेताओं का अगर गला भी खराब हो जाता है तो वे नेहरू को जिम्मेदार ठहराने लगते हैं.

पार्टी ने यह भी आरोप लगाया कि कश्मीर की मौजूदा हालात के लिए बीजेपी जिम्मेदार है. जिसने पीडीपी के साथ अवसरवादी गठबंधन किया था. कांग्रेस प्रवक्ता मनीष तिवारी ने कहा, ‘अगर भारतीय जनता पार्टी के नेताओं का गला खराब हो जाता है या गले में खराश भी शुरू होती है तो उसके लिए पंडित नेहरू जिम्मेदार हो जाते हैं.’ उन्होंने दावा किया, ‘अगर कश्मीर की परिस्थिति खराब हुई है तो उसके लिए बीजेपी पूरी तरह से जिम्मेदार है. जो अवसरवाद का गठबंधन इन्होंने पीडीपी के साथ बनाया था, उसने जम्मू-कश्मीर को इस मोड़ पर लाकर खड़ा कर दिया है.’

तिवारी ने कहा, ‘जब 2015 में चुनाव हुए थे तब 64 प्रतिशत लोगों ने वोट डाले थे. जब श्रीनगर में लोकसभा का उपचुनाव हुआ तब सात प्रतिशत लोगों ने वोट डाले. ये जो बड़े तुर्रम खान बनते हैं, जो सरकार में बैठे हैं, वो अनंतनाग की लोकसभा सीट का उपचुनाव आज तक नहीं करवा पाए हैं. ऐसे में अगर जम्मू-कश्मीर के हालात बिगड़े हैं तो उसके लिए सीधा-सीधा प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी जी, उनकी सरकार और पीडीपी के साथ अवसरवादी गठबंधन जिम्मेदार है.’’ दरअसल, अमित शाह ने पुलवामा आतंकी हमले की पृष्ठभूमि में बृहस्पतिवार को एक जनसभा में दावा किया था कि पाकिस्तान जिस कश्मीर के कारण आतंकवादी घटनाएं करवा रहा है उस समस्या के जनक जवाहर लाल नेहरू हैं. अगर उस समय सरदार पटेल देश के प्रधानमंत्री होते तो आज ये समस्या ही नहीं होती.

PS note:
मनीष तिवारी की मानें तो 2014 से पहले घाटी के हालात बहुत ही सर्वांगीण विकास की ओर जा रहे थे, और कभी घाटी में कोई बड़ी वारदात नहीं हुई। मनीष को तो यह भी याद नहीं होगा कि काशमीर कि इकलौती पहचान काश्मीरी पंडित हैं, जो अब घाटी में नहीं, बल्कि अपने ही देश में रेफूजी हैं। और मनीष कि मानें तो यह सब 2014 के बाद हुआ है।

मनीष भूलते हैं कि विभाजन के समय पर ही कश्मीर मुद्दे का समाधान कर पाने में नेहरू की असफलता की देश भारी कीमत चुका रहा है और नेहरू की इस भूल की उपेक्षा नहीं की जा सकती। गौर करने वाली बात यह है कि गृहमंत्री सरदार वल्लभ भाई पटेल सभी दूसरी राजशाही वाली सियासतों का भारत संघ में एकीकरण करने में सफल रहे। जब उनमें से किसी ने दुविधा दिखाई या पाकिस्तान में शामिल होने की इच्छा जाहिर की, तो पटेल ने उन्हें उनकी जगह दिखा दी। उदाहरण के लिए, हैदराबाद के निजाम के सशस्त्र विद्रोह को कुचल दिया गया।

 जम्मू-कश्मीर राजशाही वाला एकमात्र ऐसा राज्य था, जिसे भारत से जोड़े जाने की प्रक्रिया सीधे प्रधानमंत्री नेहरू की देखरेख में हो रही थी। कश्मीर को पाने के लिए भारत के खिलाफ पाकिस्तान की 1947 की पहली जंग ने भी नेहरू सरकार को इस बात का बेहतरीन मौका दिया था कि वह न केवल हमला करने वालों को खदेड़ देती, बल्कि पाकिस्तान के साथ हमेशा के लिए कश्मीर मुद्दे को सुलझा देती।

‘ये दुख की बात है, संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि तमाम देश आतंकवाद के खिलाफ भारत के साथ खड़े है, वहीं यहां कुछ दल देश के साथ नहीं हैं.’ संबित

नई दिल्ली: पुलवामा आतंकी हमले के मुद्दे पर कांग्रेस पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए बीजेपी ने शुक्रवार को कहा कि कुछ दल देश के साथ नहीं हैं और उनके ट्वीट पाकिस्तानी चैनल में दिखाए जा रहे हैं.

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने से कहा कि कल ट्वीट करके हमारी सरकार की तरफ से ये जानकारी दी गई कि भारत का पानी पाकिस्तान में नहीं जाएगा, वो पानी भारत में डाइवर्ट होगा. उन्होंने कहा कि जो कभी नहीं हुआ, उसे कल स्पष्ट किया गया . इस कदम के बाद भारत की वाहवाही हो रही है. लेकिन सरकार की इस कार्रवाई से कुछ लोग परेशान हैं.

बीजेपी ने साधा कांग्रेस पर निशाना 
बीजेपी प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि उसके बाद मनीष तिवारी और शशि थरूर ने ट्वीट करके हिन्दुस्तान के विरोध में बात की है. उनके बयान पाकिस्तान के चैनल में दिख रहे हैं.

उन्होंने दावा किया कि पुलवामा हमले के बाद एक कांग्रेस प्रायोजित लेख छपता है जो हमारे जवानों की जाति विवेचना करता है. उन्होंने सवाल किया कि क्या सेना की कोई जाति होती है? 

पात्रा ने कहा, ‘ये दुख की बात है. संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि तमाम देश आतंकवाद के खिलाफ भारत के साथ खड़े है. वहीं यहां कुछ दल देश के साथ नहीं हैं . ’ उन्होंने जोर दिया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की डिप्लोमेसी के कारण ही आज विश्व के कई देश भारत के साथ खड़े हैं. कांग्रेस पर निशाना साधते हुए बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि आपने अगर 70 सालों में विश्व को गले लगा लिया होता तो आज ऐसी नौबत नहीं आती .

पात्रा ने कहा कि अभी कुछ देर पहले पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि भारत में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले ये हमला कैसे हुआ? वो तो दुश्मन देश है, लेकिन हमारे ही देश में ममता बनर्जी सहित कुछ नेताओं ने भी इस तरह की बातें कही हैं जो वाकई दुःखद है .

‘देश के कुछ दुश्मन देश के अंदर हैं’ 
उन्होंने कहा कि हम पाकिस्तान से पहले भी लड़े हैं, उसे नाकों चने चबाये हैं. मगर देश के कुछ दुश्मन देश के अंदर हैं, जिनके दिए साक्ष्यों को पाकिस्तान इस्तेमाल कर रहा है .

पुलवामा आतंकी हमले के बाद सरकार की कार्रवाई का जिक्र करते हुए संबित पात्रा ने कहा कि जो कायराना हमला पाकिस्तान ने करवाया था, उसके बाद भारत सरकार ने सभी अलगाववादी नेताओं के सुरक्षा चक्र को खत्म किया. 

उन्होंने जोर दिया कि जो बहुत सालों में नहीं हुआ था, वो हमने एक झटके में किया. इससे देश में कई सारे लोग परेशान हैं . कुछ लोगों को ये बात हजम नहीं हो रही है .बीजेपी प्रवक्ता ने जोर दिया कि जब संयुक्त राष्ट्र समेत तमाम देश आतंकवाद के खिलाफ भारत के साथ खड़े है, वहीं इस मुद्दे पर देश में एक स्वर निकलना चाहिए .

द्देश आपके झूठे प्रचार से आजिज़ आ चुका है राहुल जी: बीजेपी

नई दिल्लीः पुलवामा आतंकी हमले वाले दिन प्रधानमंत्री पर फिल्म की शूटिंग में व्यस्त रहने के राहुल गांधी के आरोपों पर पलटवार करते हुए बीजेपी ने शुक्रवार को कहा कि कांग्रेस अध्यक्ष उस दिन सुबह के समय का फोटो जारी करके देश को गुमराह करना बंद करें, देश आपके फेक न्यूज से तंग आ चुका है.  राहुल गांधी के ट्वीट के बाद बीजेपी ने अपने आधिकारिक ट्विटर हैंडल पर कहा, ‘‘ राहुल जी, भारत आपके फेक न्यूज से तंग आ चुका है . उस दिन सुबह के समय की फोटो निर्लज्जता से जारी करके देश को गुमराह करना बंद करें .’’ 

कांग्रेस अध्यक्ष पर निशाना साधते हुए बीजेपी के ट्विटर हैंडल पर कहा गया है कि ऐसा लगता है कि आपको पहले पता चल गया होगा, लेकिन भारत के लोगों को शाम में ही जानकारी मिली. बीजेपी ने कहा कि अगली बार इससे बेहतर स्टंट करें जहां जवानों की शहादत नहीं जुड़ी हुई हो.

उल्लेखनीय है कि कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पुलवामा आतंकी हमले वाले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक चैनल के लिए फिल्म की शूटिंग करने संबंधी खबरों को लेकर शुक्रवार को उन पर हमला बोला और आरोप लगाया कि जब शहीदों के घर ‘दर्द का दरिया’ उमड़ा था तो ‘प्राइम टाइम मिनिस्टर’ हंसते हुए दरिया में शूटिंग कर रहे थे. 

शहीदों के घर ‘दर्द का दरिया’ उमड़ा था और ‘प्राइम टाइम मिनिस्टर’ दरिया में शूटिंग कर रहे थे: राहुल
कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने पुलवामा आतंकी हमले वाले दिन प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के एक चैनल के लिए फिल्म की शूटिंग करने संबंधी खबरों को लेकर शुक्रवार को उन पर हमला बोला और आरोप लगाया कि जब शहीदों के घर ‘दर्द का दरिया’ उमड़ा था तो ‘प्राइम टाइम मिनिस्टर’ हंसते हुए दरिया में शूटिंग कर रहे थे.

गांधी ने प्रधानमंत्री की शूटिंग से जुड़ी तस्वीर ट्विटर पर शेयर करते हुए कहा, ‘‘पुलवामा में 40 जवानों की शहादत की खबर के तीन घंटे बाद भी ‘प्राइम टाइम मिनिस्टर’ फिल्म शूटिंग करते रहे. देश के दिल व शहीदों के घरों में दर्द का दरिया उमड़ा था और वे हंसते हुए दरिया में फोटोशूट पर थे.’’ 

इससे पहले बृहस्पतिवार को कांग्रेस के मुख्य प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने आरोप लगाया कि जब देश इस जघन्य हमले के कारण सदमे में था तो उस वक्त मोदी कार्बेट पार्क में एक चैनल के लिए फिल्म की शूटिंग और नौकायन कर रहे थे. उन्होंने यह भी दावा किया कि प्रधानमंत्री अपनी सत्ता बचाने के लिए जवानों की शहादत और ‘राजधर्म’ भूल गए. सुरजेवाला ने कहा, ‘‘हमला 14 फरवरी दिन में करीब तीन बजे हुए और प्रधानमंत्री करीब सात बजे तक शूटिंग और चाय नाश्ते में व्यस्त थे. प्रधानमंत्री के इस आचरण को लेकर गंभीर सवाल खड़े होते हैं.’’ 

उधर, बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह ने कांग्रेस पर निशाना साधते हुए कहा कि देश की सुरक्षा पर प्रधानमंत्री की प्रतिबद्धता को लेकर आरोप लगाने का देश की जनता पर कोई असर नहीं होने वाला है. गौरतलब है कि गत 14 फरवरी को हुए पुलवामा आत्मघाती आतंकी हमले में सीआरपीएफ के कम से कम 40 जवान शहीद हो गए थे.