आज का पंचांग

पंचांग 19 सितंबर 2019   

विक्रमी संवत्ः 2076, शक संवत्ः 1941, 

मासः आश्विनी़, 

पक्षः कृष्ण पक्ष, 

तिथिः पंचमी सांय 07.27 तक, 

वारः गुरूवार, 

नक्षत्रः भरणी प्रातः 8.45 तक, 

योगः हर्ष रात्रि 11.26 तक, 

करणः कौलव, 

सूर्य राशिः कन्या, 

चंद्र राशिः मेष, 

राहु कालः दोपहर 1.30 से 3.00 बजे तक, 

सूर्योदयः 06.11, 

सूर्यास्तः 06.17 बजे।

नोटः आज पंचमी का श्राद्ध है।

विशेषः आज दक्षिण दिशा की यात्रा न करें। अति आवश्यक होने पर गुरूवार को दही पूरी खाकर और माथे में पीला चंदन केसर के साथ लगाये और इन्हीं वस्तुओं का दान योग्य ब्रह्मण को देकर यात्रा करें।

भू माफिया आजम खान पर अब सरारी इमारत कबजाने का आरोप

सीओ सिटी सत्यजीत गुप्ता ने बताया कि कोतवाली सिविल लाइंस का ये मामला है। इसमें पीड़ित गगन लाल ने एक मामला 4 लोगों के खिलाफ दर्ज कराया है। इसमें पूर्व सीओ आले हसन, पूर्व मंत्री आजम खान, जिला सहकारी संघ के सचिव कामिल खान, जिला सहकारी संघ के चेयरमैन मास्टर जाफर आरोपित हैं।

समाजवादी पार्टी सांसद भूमाफिया आजम खान की मुश्किलें और मुकदमें कम होने का नाम नहीं ले रहे हैं। उन पर अब तक 82 केस पहले से ही दर्ज है लेकिन अब आजम खान पर एक और मुकदमा दर्ज हो चुका है। इस बार आजम खान पर एक और सरकारी बिल्डिंग पर कब्जा करने के आरोप में उनके 3 सहयोगी समेत चार लोगों पर FIR दर्ज किया गया है।

मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सीओ सिटी सत्यजीत गुप्ता ने बताया कि कोतवाली सिविल लाइंस का ये मामला है। इसमें पीड़ित गगन लाल ने एक मामला 4 लोगों के खिलाफ दर्ज कराया है। इसमें पूर्व सीओ आले हसन, पूर्व मंत्री आजम खान, जिला सहकारी संघ के सचिव कामिल खान, जिला सहकारी संघ के चेयरमैन मास्टर जाफर आरोपित हैं।

रिपोर्ट्स के अनुसार यह कहा जा रहा है कि पीड़ित के मुताबिक उसके क्वालिटी बार पर सन 2013 में यह लोग लूटपाट और तोड़फोड़ किए थे। उनके मुताबिक जो उनकी जगह थी उसको पूर्व मंत्री आजम खान की पत्नी तंजीम फातिमा के नाम आवंटित कर दिया गया था। उन पर 16500 रुपए लूटने का भी आरोप है।

बता दें एक तरफ जहाँ लगातार आज़म खान पर एक के बाद एक मुकदमें दर्ज हो रहे हैं वहीं सपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष अखिलेश यादव आजम खान के समर्थन में दो दिवसीय दौरे पर रामपुर पहुँचे थे, लेकिन उनके समर्थन का भी कोई असर नहीं दिख रहा है। अखिलेश यादव ने आजम खान पर दर्ज हुए सभी मुकदमों की फाइल लेकर राज्यपाल से मिलने का भी भरोसा दिलाया था। इसके बावजूद भी आजम खान पर मुकदमे दर्ज होने का सिलसिला रुक नहीं रहा है। यहाँ तक कि उन पर बकरी चोरी से लेकर बिजली चोरी के मामले में भी FIR दर्ज है।

भारत में आतंकी चांद से नहीं पाकिस्तान से आते हैं : रिसजार्ड

पोलैंड ने सख्त तेवर अपनाते हुए कहा है कि भारत में आतंकी चांद से नहीं पाकिस्तान से आते हैं. पोलैंड ने यह बात EU की संसद में कही है. वहीं इटली ने कहा कि पाकिस्तानी आतंकी यूरोप में हमले की योजना बना रहे हैं.  कश्मीर मुद्दे का अंतरराष्ट्रीयकरण करने के पाकिस्तान के सपने को एक बार फिर झटका लगा है। बुधवार को यूरोपीय यूनियन की संसद ने इस मुद्दे पर भारत का साथ दिया। जानकारी के अनुसार संसद के ज्यादातर सदस्य भारत के साथ खड़े दिखाई दिए और पाकिस्तान को संदिग्ध देश करार दिया। यह बयान ऐसे समय पर आया है जब संयुक्त राष्ट्र मानवाधिकार परिषद में पाकिस्तान मुंह की खा चुका है और इसके बावजूद कश्मीर मसले को किसी भी हाल में छोड़ने को तैयार नहीं है।

नई दिल्ली:

जम्मू-कश्मीर पर भारतीय कूटनीति की बहुत बड़ी जीत हुई है. यूरोपीय यूनियन ने पाकिस्तान को कड़ी फटकार लगाई है. पोलैंड ने सख्त तेवर अपनाते हुए कहा है कि भारत में आतंकी चांद से नहीं पाकिस्तान से आते हैं. पोलैंड ने यह बात EU की संसद में कही है. वहीं इटली ने कहा कि पाकिस्ता आतंकी यूरोप में हमले की योजना बना रहे हैं. फ्रांस के स्‍ट्रॉसबर्ग में यूरोपीय संघ की संसद ने बुधवार को पिछले 11 सालों में पहली बार कश्‍मीर मुद्दे पर चर्चा की और भारत को अपना समर्थन दिया. यहां जम्मू कश्मीर में अनुच्छेद 370 के हटाए जाने मसले पर चर्चा हुई. इससे पहले 2008 में यहां कश्‍मीर का मुद्दा उठा था.

यहां आपको बता दें कि जम्मू कश्मीर को लेकर पाकिस्तान लगातार अंतरराष्ट्रीय मंच पर भारत की छवि करने की कोशिश में जुटा है, लेकिन उसे लगातार मुंह की खानी पड़ रही है. अमेरिका, रूस, फ्रांस, इजराइल जैसे देशों के अलावा संयुक्त राष्ट्र से भी पाकिस्तान को फटकार लगाई जा चुकी है. अब यूरोपीय यूनियन ने पाकिस्तान को जम्मू कश्मीर को लेकर फटकार लगाई है. चर्चा है कि पाकिस्तान इस पर जेनेवा में 9 सितंबर से 27 सितंबर तक चलने वाले संयुक्‍त राष्‍ट्र मानवाधिकार परिषद की 42वीं बैठक में पाकिस्‍तान एक बार फिर से जम्मू कश्मीर का प्रस्‍ताव ला सकता है.

यूरोपीय यूनियन ने कश्‍मीर मुद्दे पर शांतिपूर्ण हल निकालने के लिए भारत-पाकिस्‍तान को बातचीत करने की नसीहत दी है. इटली के यूरोपीयन पीपुल्‍स पार्टी के फुल्‍वियो मार्तुसाइल्‍लो ने कहा, ‘पाकिस्‍तान परमाणु हथियारों के प्रयोग करने की धमकी दी है. यह देश आतंकी भेजकर यूरोप में अशांति फैलाने की योजना बना रहा है.’

पोलैंड के यूरोपीयन कंजर्वेटिव्‍स एंड रिफार्मिस्‍ट ग्रुप के रिसजार्ड ने कहा, ‘भारत दुनिया का सबसे बड़ा लोकतांत्रिक देश है. हमें भारत के जम्‍मू कश्‍मीर में होने वाले आतंकी घटनाओं की जांच करने की जरूरत है. ये आतंकी चांद से नहीं आते. वह पड़ोसी देश से आते हैं. हम भारत का समर्थन करते हैं.’

मालूम हो कि भारतीय संसद ने जम्मू कश्मीर में अनुच्छे 370 को निष्क्रिय करते हुए विशेष राज्य का दर्जा खत्म कर दिया है. साथ ही इस राज्य को केंद्रशासित प्रदेश बना दिया है. कड़ी सुरक्षा के चलते पाकिस्तान से भेज हुए आतंकी जम्मू कश्मीर में कोई भी वारदात को अंजाम नहीं दे पा रहे हैं. इस बात से पाकिस्तान बौखलाया हुआ है. वह लगातर अंतरराष्ट्रीय मंच ये भारत को बदनाम करने की कोशिश कर रहा है, लेकिन उसे हर जगह मुंह की खानी पड़ रही है.

रेलवे कर्मचारियों को बोनस और ई-सिगरेट प्रतिबंधित

कैबिनेट की बैठक में 11 लाख रेलवे कर्मचारियों को 78 दिन का वेतन बोनस देने का फैसला किया गया है. साथ ही ई-सिगरेट का आयात-निर्यात, बिक्री वितरण पूरी तरह प्रतिबंधित किया गया है.
उधर, ई-सिगरेट का समर्थन करने वालों की दलील है कि यह धूम्रपान करने वाले तंबाकू की तुलना में कम हानिकारक है.

  • रेलवे कर्मचारियों को मिलेगा 78 दिन का बोनस
  • मोदी कैबिनेट ने ई-सिगरेट पर भी लगाया बैन
  • ई-सिगरेट का आयात-निर्यात, बिक्री वितरण प्रतिबंधित

नई दिल्ली: 

ई-सिगरेट पर प्रतिबंध:  

केंद्रीय कैबिनेट की बैठक के बाद पर्यावरण मंत्री प्रकाश जावड़ेकर ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करके बताया कि 11 लाख रेलवे कर्मचारियों को उत्पादकता बोनस के तौर पर 78 दिन का वेतन दिया जाएगा. मीडिया से बात करते वक्त यहां मौजूद वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने बताया कि ई-सिगरेट को पूरी तरह से बैन करने का कैबिनेट ने फैसला लिया है. वित्‍त मंत्री ने कहा कि यह समाज में एक नई समस्‍या को जन्‍म दे रहा है और बच्‍चे इससे अपना रहे हैं. वित्त मंत्री निर्मला सीतारमण ने कहा कि ई-सिगरेट को बनाना, आयात/निर्यात, बिक्री, वितरण, स्‍टोर करना और विज्ञापन करना सब पर प्रतिबंध होगा. वित्‍त मंत्री ने प्रेस कांफ्रेस के दौरान कहा कि ‘ई-सिगरेट ऑर्डिनेंस 2019’ को मंत्रियों के समूह ने कुछ समय पहले ही इस पर विमर्श किया था. ऑर्डिनेंस के ड्रॉफ्ट में स्‍वास्‍थ मंत्रालय ने प्रस्‍ताव दिया था कि पहली बार कानून का उल्‍लंघन करने वालों पर एक लाख रुपये का जुर्माना और एक साल की सजा का प्रावधान हो.

साभार ANI

इससे पहले बीते अगस्त में ई-सिगरेट निषेध अध्यादेश, 2019 प्रधानमंत्री कार्यालय के निर्देश के बाद एक जीओएम को भेजा गया था. अध्यादेश के मसौदे में स्वास्थ्य मंत्रालय ने पहली बार उल्लंघन करने वालों पर एक लाख रुपये के जुर्माने के साथ एक साल कैद की अधिकतम सजा का प्रस्ताव था. मंत्रालय ने बार-बार अपराध करने वालों के लिए पांच लाख रुपये का जुर्माना और अधिकतम तीन साल की जेल की सिफारिश की थी. मोदी सरकार के पहले 100 दिन के एजेंडे में ई-सिगरेट सहित अन्य वैकल्पिक धूम्रपान उपकरणों पर प्रतिबंध लगाना शामिल था. 

उधर, ई-सिगरेट का समर्थन करने वालों की दलील है कि यह धूम्रपान करने वाले तंबाकू की तुलना में कम हानिकारक है. हालांकि सरकार यह कहते हुए प्रतिबंध लगाने पर जोर दे रही है कि उसमें पारंपरिक सिगरेट के समान ही जोखिम है. शीर्ष मेडिकल शोध निकाय भारतीय चिकित्सा अनुसंधान परिषद ने ऐसे उपकरणों पर पूर्ण प्रतिबंध की सिफारिश की थी

क्या है ई-सिगरेट :

ई-सिगरेट या इलेक्ट्रॉनिक सिगरेट एक बैटरी-चालित डिवाइस होती है, जो तम्बाकू या गैर-तम्बाकू पदार्थों की भाप को सांस के साथ भीतर ले जाती है. आमतौर पर सिगरेट, बीड़ी या सिगार जैसे धूम्रपान के लिए प्रयोग किए जाने वाले तम्बाकू उत्पादों के विकल्प के रूप में इस्तेमाल की जाने वाली ई-सिगरेट तम्बाकू जैसा स्वाद और एहसास देती है, जबकि वास्तव में इसमें कोई धुआं नहीं होता है. ई-सिगरेट एक ट्यूब के आकार में होती है, और इनका बाहरी रूप सिगरेट और सिगार जैसा ही बनाया जाता है.

न्यूयॉर्क में भी ई-सिगरेट बैन

आज ही न्यूयॉर्क में भी ई-सिगरेट को प्रतिबंधित किया गया है. ई-सिगरेट के कारण हुई कई मौत के बाद यह कदम उठाया गया. इन मौत के साथ ही इस उत्पाद को लेकर डर बढ़ गया है जिसे लंबे समय से धूम्रपान से कम नुकसानदेह माना जाता रहा है. सुगंधित ई-सिगरेट के प्रयोग को गैरकानूनी घोषित करने के गवर्नर एंड्रु क्योमो के प्रस्ताव पर एक स्वास्थ्य परिषद ने आपात कानून पारित किया. फेफड़ों से संबंधित गंभीर बीमारी के अचानक बढ़ते प्रकोप के बाद यह प्रस्ताव पेश किया गया. इस बीमारी के चलते सात लोगों की मौत हो गई थी और सैकड़ों बीमार हो गए. यह प्रतिबंध तत्काल प्रभाव से लागू होगा. इस प्रतिबंध की घोषणा करने वाला मिशिगन पहला राज्य था, लेकिन कानून लागू होना अब भी बाकी है. बता दें कि अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप के प्रशासन ने पिछले हफ्ते घोषणा की थी कि वह बहुत जल्द ई-सिगरेट उत्पादों को प्रतिबंधित करने वाला है.

Students from NTU – PU visit the Government Museum and Art Gallery

Korel, Chandigarh September 18, 2019

            The student delegation from Nottingham Trent University(UK) and Panjab University today visited the Government Musuem and Art Gallery and witnessed the rich heritage of Indian art and culture through a vibrant display of artefacts.  Ms. Seema Gera, Curator, gave a demonstration of the art and culture of the region and took the students around to the various sections of the museum.

            This was followed by a presentation on exploring Indian Culture through different dance forms of India and a special performance of Kathak dance by Ms. Saumya Shukla. The highlights of the presentation were the introduction to nine Indian classical dance forms and the deep relationship between these dance forms and Yoga. Students from NTU appreciated the rich display of artefacts and the enriching performance.

Kavita Chakraborty to conduct 5 days workshop of Instrumental Music

Korel, Chandigarh September 18, 2019

5 days workshop (from 16-20 September 2019) of Instrumental Music being conducted by visiting Professor Kavita Chakraborty in the Department of Music, Panjab University.

हरियाणा पुलिस ने जैश-ए-मोहम्मद से धमकी भरा पत्र मिलने के बाद रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा कड़ी कर दी

चंडीगढ़ ( सारिका तिवारी)

रोहतक रेलवे पुलिस को जेएम की ओर से धमकी भरा पत्र मिलने के कुछ दिनों बाद पुलिस ने पूरे हरियाणा में और आसपास के रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा व्यवस्था तेज कर दी है

आतंकी संगठन जैश का ख़त

पुलिस ने मंगलवार को कहा कि राज्य में रेलवे स्टेशनों से गुजरने वाली ट्रेनों में सघन चेकिंग की जा रही है

कराची से जेएम आतंकवादी मसूद अहमद द्वारा भेजे गए कथित पत्र में आतंकवादी समूह ने 12 पुलिस स्टेशनों को उड़ाने की धमकी दी है

रोहतक जीआरपी के सब इंस्पेक्टर नरेंद्र सिंह ने बताया कि अधीक्षक यशपाल मीना को डाक द्वारा यह पत्र मिला है। इसमें लिखा है कि जैश ए मोहम्मद के जेहादियों को मारे जाने का वे बदला लेंगे। उनका बदला देश के विभिन्न रेलवे स्टेशनों मुंबई, चेन्नै, बेंगलुरु, राजस्थान, रोहतक, रेवाड़ी और हिसार को बम से उड़ाने के बाद पूरा होगा। एसआई ने बताया कि इस पत्र की सूचना मिलने के बाद उन लोगों ने जांच शुरू कर दी है। एफआईआर दर्ज कर ली गई है। रेलवे स्टेशन के परिसर में चप्पे-चप्पे पर चेकिंग की जा रही है। सुरक्षा व्यवस्था और सख्त कर दी गई है। सारे जरूरी सुरक्षा के इंतजाम अपनाए जा रहे हैं। लोगों को डरने की जरूरत नहीं है।

रोहतक रेलवे पुलिस को कथित तौर पर पाकिस्तान स्थित आतंकी संगठन जैश-ए-मोहम्मद (JeM) द्वारा धमकी भरा पत्र मिलने के कुछ दिनों बाद पुलिस ने पूरे हरियाणा में और आसपास के रेलवे स्टेशनों पर सुरक्षा व्यवस्था तेज कर दी है।

‘जेहादियों की मौत का लेंगे बदला’

इस धमकी भरे पत्र में लिखा है, ‘हम अपने जेहादियों की मौत का बदला लेंगे। हम भारत को बम धमाकों से दहला देंगे। दशहरे के दिन, आठ अक्टूबर को रेवाड़ी, रोहतक, हिसार, कुरुक्षेत्र, मुंबई सिटी, चेन्नै, बेंगलुरु, भोपाल, जयपुर, कोटा, इटारसी, राजस्थान, गुजरात, तमिलनाडु, मध्य प्रदेश, यूपी, हरियाणा के रेलवे स्टेशनों और मंदिरों को बम से उड़ा देंगे। जेहादी हिंदुस्तान को तबाह कर देंगे। हर तरफ खून ही खून नजर आएगा।’ धमकी के बाद इस पत्र के अंत में लिखा है खुदा हाफिज।

राजकीय रेलवे पुलिस और रेलवे सुरक्षा बल रेलवे स्टेशनों के परिसर के भीतर किसी भी संदिग्ध तत्वों की तलाश के लिए संयुक्त अभियान चला रहे हैं।

पुलिस ने मंगलवार को कहा कि राज्य में रेलवे स्टेशनों से गुजरने वाली ट्रेनों में सघन चेकिंग की जा रही है। पुलिस ने कहा, “रेलवे स्टेशनों और उसके आसपास उचित निगरानी सुनिश्चित करने के लिए विस्तृत जनशक्ति की प्रतिनियुक्ति की गई है।”

आज का राशिफल

Aries

18 सितंबर 2019: परिवार और दोस्तों के साथ अच्छा समय बीतेगा. आप अपने मौलिक विचारों और तरीकों का इस्तेमाल करेंगे, तो ज्यादा सफल रहेंगे. ज्यादातर समस्याओं का समाधान भी नए तरीके से निकल सकता है. अपने निजी नियम और सिद्धांतों को मुद्दा बनाकर किसी बात पर न अड़ें. पैसों की स्थिति को लेकर फालतू टेंशन हो सकती है.

Taurus

18 सितंबर 2019: आपको मौजूदा काम की तुलना में ज्यादा मेहनत करनी पड़ सकती है. पैसों के लेन-देन या उससे जुड़ी किसी भी तरह की बात जीवनसाथी के साथ करने से बचना होगा. नई योजना आपके सामने आ सकती है. महत्वपूर्ण मामलों पर आपको कोई योजना बनानी पड़ सकती है. आपके लिए दिन ठीक-ठीक ही रहेगा. सोचे हुए कुछ काम भी पूरे हो सकते हैं.

Gemini

18 सितंबर 2019: आज आप सोच-समझकर ही आगे बढ़ें. पैसा बचाने की कोशिश करें. घर या वाहन भी खरीद सकते हैं. परिवार या आपसे कोई नया सदस्य भी जुड़ सकता है. लोगों का ध्यान आपकी तरफ ज्यादा होगा. तैश में आकर बात करना और फैसला लेना भी आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है. कोई भी काम बहस में पड़े बिना करें, लेकिन हो सकता है कोई आपकी मदद न करे. कामकाज भी ज्यादा रहेगा.

Cancer

18 सितंबर 2019: आपको कुछ अच्छे मौके मिलने के योग बन रहे हैं. सही स्थिति और अपने लिए सही ऑप्शन को समझने की पूरी कोशिश करें. धैर्य रखना होगाऑफिस या किसी और जगह पैसों से जुड़ा नुकसान भी हो सकता है. मन की बात या कोई योजना आप किसी से शेयर न करें. कोई पर्सनल बात भी सबके सामने आ सकती है. कोई नया काम शुरू न करें. किसी भी बड़े काम के लिए समय ठीक नहीं है. थोड़ा रुके और विचार कर के काम करें.

Leo

18 सितंबर 2019: जरूरी कामों और बचने वाले समय के बारे में अच्छी तरह विचार कर के आगे बढ़ेंगे और बहुत हद तक सफल हो जाएंगे. जितने काम आपको आज निपटाने हैं, उन सबके लिए समय निकाल लेंगे और कामकाज मैनेज करने में आप सफल हो जाएंगे. कोई बड़ा फैसला लेने में भी परेशानी हो सकती है. आसपास और साथ के कुछ लोगों से भी आप परेशान रहेंगे. दाम्पत्य जीवन में खुशहाली रखने के लिए

Virgo

18 सितंबर 2019:
आप चाहें तो अपने विचारों को ठीक ढंग से पेश करके स्थितियों को बदल सकते हैं. स्थिरता, सुरक्षा और सहजता महसूस होगी. कामकाज को ज्यादा समय देना होगा. बातचीत में सहजता रहेगी. जिम्मेदारी के काम ध्यान से और सावधानी से करने की कोशिश करें. आपके कुछ कामों मे कमी भी हो सकती है. असफलता का भी डर बना रहेगा. सिर्फ व्यावहारिक योजनाएं ही न बनाएं. कमजोर सेहत के कारण भी आप अनमने हो सकते हैं.

Libra

18 सितंबर 2019: एकाग्रता में बार-बार कमी महसूस हो सकती है. किसी से भी बिना बात बहस, अनबन या गलतफहमी भी होने के योग बन रहे हैं. आज आपकी महत्वाकांक्षा और जोश भी चरम पर रहेगा. चतुराई और समझदारी से आप सफल हो सकते हैं. आप सिर्फ जरूरी कामों पर ध्यान दें. धैर्य और सोच समझकर अपनी बात किसी के सामने रखें.

Scorpio

18 सितंबर 2019: कोई अच्छी खबर आपको मिल सकती है. आने वाले दिनों में बड़ा फायदा भी होने के योग बन रहे हैं. खुद के लिए समय निकालें. आपके लिए अच्छा रहेगा. पुरानी बातों पर सोचना बंद करें. पुरानी चिंता के साथ आने वाले दिनों की भी टेंशन रहेगी. हालांकि, आपके मन में रह-रहकर पुरानी बाते ही चलेंगी. किसी से बेवजह न उलझें. बिजनेस में कोई जोखिम न लें.

Sagittarius

18 सितंबर 2019: आप अपनी इच्छानुसार ही काम करेंगे. खास काम निपटाने पर ही आपका ध्यान रहेगा. निवेश या पैसा बढ़ाने के कई तरीके आपके दिमाग में चलते रहेंगे. बिजनेस की प्लानिंग हो सकती है. आपको एक कदम आगे बढ़ाने पर उलटा नुकसान हो सकता है. आपके कुछ मामले टल भी सकते हैं और कुछ मामलों में आप फंस सकते हैं. करियर से लेकर शिक्षा और निवेश तक के मामलों पर फैसला लेने के लिए समय ठीक नहीं है.

Capricorn

18 सितंबर 2019: नौकरी या करियर में बदलाव के बारे में भी विचार कर सकते हैं. इससे आपकी इमेज और बढ़ सकती है. कुछ अलग और हट कर काम करने का मन हो सकता है. दोस्तों के साथ समय बीत सकता है. ज्यादातर समय अकेले ही बीत सकता है. कुछ दोस्त या संबंध आपके कामकाज में रुकावट बन सकते हैं. दोस्त के साथ विवाद हो सकता है. कुछ संबंधों पर आपको शुरू से विचार करना होगा.

Aquarius

18 सितंबर 2019: आपके लिए गए फैसले सही हो सकते हैं. अपने काम करने के तौर-तरीकों में बदलाव लाने का भी मन बना सकते हैं. जो काम करने की सोचेंगे वह पूरा कर ही लेंगे. ऑफिस में किसी से बहस हो सकती है. किसी से अनबन होने की भी संभावना है. जहां तक हो सके, ऐसे कामों से दूर ही रहें. काम में मन कम ही लगेगा. कुछ काम निपटाने के लिए आपको सामान्य से ज्यादा समय भी लग सकता है.

Pisces

18 सितंबर 2019: आपने जो काम हाथ में लिया है, उस पर बारीकी से विचार करें. दोस्त मददगार रहेंगे. दोस्तों और परिवार के लोगों के साथ भी समय बीतेगा. आपको अचानक छोटा-मोटा फायदा हो सकता है. आपकी आकर्षण शक्ति बढ़ सकती है. खुद पर कंट्रोल नहीं हो पाएगा. न चाहते हुए भी कोई राज की बात लोगों को बता सकते हैं. पैसों की स्थिति को लेकर भी तनाव हो सकता है. कुछ खास काम अधूरे रह सकते हैं या रुकावटें आने के योग बन रहे हैं.

आज का पंचांग

पंचांग 18 सितंबर 2019   

विक्रमी संवत्ः 2076, 

शक संवत्ः 1941, 

मासः आश्विनी़, 

पक्षः कृष्ण पक्ष, 

तिथिः चतुर्थी सांय 06.12 तक, 

वारः बुधवार, 

नक्षत्रः अश्विनी (की वृद्धि है जो बुधवार को प्रातः 6.44 तक है), 

योगः व्यातिपात रात्रि 11.33 तक, 

करणः बालव, 

सूर्य राशिः कन्या, 

चंद्र राशिः मेष, 

राहु कालः दोपहर 12.00 बजे से 1.30 बजे तक, 

सूर्योदयः 06.11, 

सूर्यास्तः 06.19 बजे।

नोटः आज अंगारकी श्रीगणेश चतुर्थी व्रत है।

विशेषः आज उत्तर दिशा की यात्रा न करें। अति आवश्यक होने पर बुधवार को राई का दान, लाल सरसों का दान देकर यात्रा करें।

अमेठी में भारत का पहला विमानन विषविद्यालय आज से कार्यशील

उत्तर प्रदेश के रायबरेली जिले के फुर्सतगंज में स्थापित देश के पहले विमानन विश्वविद्यालय का उद्घाटन आज हुआ। राजीव गांधी राष्ट्रीय एविएशन विश्वविद्यालय (आरजीएनएयू) के अपना नाम नहीं बताने के इच्छुक अधिकारियों ने बताया कि विश्वविद्यालय फुर्सतगंज स्थित अपने परिसर में अगले सत्र से अपने प्रमुख पाठ्यक्रम को शुरू करने की योजना बना रहा है। आने वाले समय में प्रबंधन से जुड़े पाठ्यक्रम भी शुरू करने की योजना है।

अमेठी: केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी के संसदीय क्षेत्र के फुर्सतगंज में विश्व का पांचवा और देश का पहला विमानन यूनिवर्सिटी शुरू हो गया है. यूनिवर्सिटी के पहले सत्र में देश के विभिन्न हिस्सों से आए 30 बच्चों को दाखिला मिला है और सब कुछ ठीक-ठाक रहा तो अगले सत्र में यहां सभी पाठ्यक्रमों की पढ़ाई शुरू हो जाएगी.

केंद्र की कांग्रेस सरकार के अंतिम साल 2013 में देश के पहले विमानन की स्थापना को मंजूरी मिली थी. उत्तर प्रदेश सरकार से जमीन न मिलने पर तत्कालीन सांसद राहुल गांधी की पहल पर इंदिरा गांधी उड़ान अकादमी अपनी 26.36 एकड़ भूमि 8 जुलाई 2016 को उपलब्ध कराई थी. हांलाकि निर्माण 15 महीने बाद शुरू हुआ.

इंदिरा गांधी उड़ान अकादमी फुर्सतगंज के सिल्वर जुबली कार्यक्रम के दौरान 2011 में राहुल गांधी ने यहां विमानन यूनिवर्सिटी बनाने की बात कही थी और 2013 में 13 सितंबर को शिलान्यास हुआ था.

नागर विमानन मंत्रालय के प्रशासनिक नियंत्रण में स्थापित यह केन्द्रीय विश्वविद्यालय एक स्वायत संस्था हैं जिसका लक्ष्य विमानन के क्षेत्र में अध्ययन, शिक्षा, प्रशिक्षण और अनुसंधान को बढ़ावा देना है। एयर वाइस मार्शल ‘अवकाश प्राप्त’ नलिन टंडन को विश्वविद्यालय का कुलपति नियुक्त किया गया है।

अपना नाम नहीं बताने के इच्छुक अधिकारियों ने बताया कि विश्वविद्यालय फुर्सतगंज स्थित अपने परिसर में अगले सत्र से अपने प्रमुख पाठ्यक्रम को शुरू करने की योजना बना रहा है। आने वाले समय में प्रबंधन से जुड़े पाठ्यक्रम भी शुरू करने की योजना है।