पायलट निकम्मा, नकारा, धोखेबाज अब नहीं है

ऑल इंडिया कांग्रेस कमिटी के जनरल सेक्रेट्री केसी वेनुगोपाल ने बताया कि सचिन पायलट की इस मुलाकात के बाद सोनिया गांधी ने फैसला किया है कि पायलट और असंतुष्ट विधायकों की ओर से उठाए गए मुद्दों के समाधान के लिए पार्टी तीन सदस्यीय एक कमिटी का गठन करेगी. इसमें सभी मुद्दों पर विस्तार से चर्चा होगी और मंथन करने के बाद उचित रास्ता निकाला जाएगा. मुख्यमंत्री गहलोत ने सचिन पायलट को क्या क्या नहीं कहा. गहलोत ने सचिन पायलट पर बड़े बड़े आरोप भी लगाए. फिर 10 अगस्त को आखिर क्या हो गया कि अचानक सचिन पायलट ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मिलकर सभी बातों को सुलटा लिया. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या बीजेपी ने सिरे से सचिन पायलट को नज़रंदाज़ करने का मन बना लिया? क्या सचिन पायलट को वसुंधरा राजे की नाराजगी से अवगत करा दिया गया? जिसके बाद सचिन पायलट ने घर वापसी का रास्ता अख्तियार करना अपनी समझदारी समझी.

खाया पिया कुछ नहीं गिलास तोड़ा बारह आन्ना

जयपुर(ब्यूरो):

चाहे राजस्थान प्राकरण में राहुल गांधी अकर्मण्य रहे और इस राजनैतिक संकट से अपनी पार्टी को उबारने के लिए कुछ नहीं कर पाये लेकिन वसुंधरा राजे की हलचल ने पायलट की अक्ल ठिकाने ला दी ऐसा लगता है। अब तक राजस्थान सियासी संकट में आलाकमान से निराश हो चुके कोंग्रेसी भी हतप्रभ हैं ओर कह रहे हैं की रानी साहिबा पहले ही आ जातीं तो इतने दिन न लगते। सच जानते हुए भी अब राहुल की बांछे खिल गईं हैं। सब ओर प्रचार प्रसार हो रहा है की यह राहुल की सूझबूझ ही थी जो राहुल ने इस संकट से कॉंग्रेस को उबार लिया।

सचिन पायलट की राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाक़ात के साथ पिछले एक महीने से चला आ रहा, राजस्थान का राजनीतिक संकट खत्म हो गया. अब सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायक अशोक गहलोत के साथ खड़े हो गए. पिछले एक महीने में कांग्रेस के अंदर खासा उठक पटक देखने को मिली. सचिन पायलट और उनके समर्थक विधायको की अपने ही अशोक गहलोत सरकार के खिलाफ नाराज़गी ने राजस्थान सरकार को संकट में डाल रखी थी. कभी बात थर्ड फ्रंट बनाने की हुई तो कभी सचिन पायलट और उनके समर्थकों की बीजेपी में शामिल होने की चली. सचिन समर्थक विधायकों ने गुरुग्राम के एक होटल में अपनी आवाज़ बुलंद की.

इस पूरे सियासी घटनाक्रम में बीजेपी की पैनी निगाह थी, राज्य बीजेपी इकाई में इस विषय मे लगातार बैठके भी होती रही. यहां तक की केंद्रीय मंत्री गजेंद्र सिंह शेखावत, ओम माथुर जैसे नेताओं ने सचिन पायलट को बीजेपी में आने तक का न्योता तक दे डाला. पार्टी के अंदर सचिन पायलट और उनके समर्थकों के प्रति भले ही सहानभूति के स्वर निकल रहे हो, लेकिन पूर्व मुख्यमंत्री वसुंधरा राजे ने चुप्पी साधे रखी.

सूत्रों के मुताबिक वसुंधरा राजे कभी भी सचिन पायलट और उनके समर्थकों को बीजेपी में लाने के पक्षधर नहीं रहीं. इस सियासी घटना पर वसुंधरा ने राज्य इकाई से अपना विरोध दर्ज करवा दिया. कहा जा रहा है कि प्रदेश अध्यक्ष सतीश पुनिया, गजेंद्र सिंह शेखावत, ओम माथुर और उनके समर्थक नेताओं के सामने उनकी बहुत ज्यादा चली नहीं.

वसुंधरा राजे अचानक 5 अगस्त को दिल्ली पहुंच गईं. फिर बीजेपी के बड़े नेताओं के साथ उनकी मैराथन बैठक शुरू हुई. वसुंधरा राजे 6 अगस्त को पार्टी संगठन महामंत्री बीएल संतोष से मुलाक़ात की. इन दोनों बड़े नेताओं के बीच ये बैठक तकरीबन 2 घंटे से ज्यादा चली. अगले ही दिन यानी 7 अगस्त को वसुंधरा राजे ने पार्टी अध्यक्ष जेपी नड्डा से दिल्ली में उनके आवास में मुलाक़ात की. बैठक तकरीबन डेढ़ घंटे तक चली. वसुंधरा राजे अगले ही दिन पार्टी के वरिष्ठ नेता और रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह से मिली, ये बैठक भी दो घंटे से ज्यादा चली.

सूत्रों की मानें, तो वसुंधरा राजे ने पार्टी के वरिष्ठ नेताओं को राजस्थान राजनीतिक घटनाक्रम पर अपनी राय से अवगत करा दिया. सूत्रों के मुताबिक, सचिन पायलट और उनके समर्थकों के बीजेपी में शामिल और सचिन पायलट के थर्ड फ्रंट को किसी भी तरीके के समर्थन पर वसुंधरा राजे ने अपनी नाराजगी पार्टी के वरिष्ठ नेताओं के सामने रख दी. कहा ये भी जा रहा है कि राजे ने यहां तक कह दिया कि राज्य बीजेपी इकाई का एक बड़ा वर्ग सचिन पायलट और उनके समर्थकों के साथ खड़ा होने को तैयार नहीं हैं. हालांकि, इन बैठकों में वसुंधरा राजे ने राज्य कार्यकारणी में हुए बदलाव और उनके समर्थकों को शामिल नहीं करने पर भी अपनी नाराजगी जता दी.

6 से 8 अगस्त के बैठकों के साथ वसुंधरा राजे ने दिल्ली में अपना मोर्चा बुलंद कर दिया. ठीक दो दिन बाद अचानक सचिन पायलट ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मुलाक़ात की और कहा गया कि पार्टी के अंदर सब कुछ ठीक ठाक है. ये ठीक ठाक कितना ठीक ठाक था, ये इस बात से अंदाज़ा लगाया जा सकता है कि सचिन पायलट को अशोक गहलोत से उपमुख्यमंत्री पद से हटा दिया था. साथ प्रदेश अध्यक्ष पद से उनकी छुट्टी कर दी गयी थी.

आलम ये था कि इस दौरान राजस्थान के मुख्यमंत्री गहलोत ने सचिन पायलट को क्या क्या नहीं कहा. गहलोत ने सचिन पायलट पर बड़े बड़े आरोप भी लगाए. फिर 10 अगस्त को आखिर क्या हो गया कि अचानक सचिन पायलट ने राहुल गांधी और प्रियंका गांधी से मिलकर सभी बातों को सुलटा लिया.

ऐसे में सवाल उठता है कि क्या बीजेपी ने सिरे से सचिन पायलट को नज़रंदाज़ करने का मन बना लिया? क्या सचिन पायलट को वसुंधरा राजे की नाराजगी से अवगत करा दिया गया? जिसके बाद सचिन पायलट ने घर वापसी का रास्ता अख्तियार करना अपनी समझदारी समझी.

राशिफल 11 अगस्त 2020

Aries

11 अगस्त 2020: ख़ुशनुमा दिन के लिए मानसिक तनाव और झंझटों से बचें. समूहों में शिरकत दिलचस्प, लेकिन ख़र्चीली रहेगी, ख़ास तौर पर अगर आप दूसरों पर ख़र्च करना नहीं बंद करेंगे तो. आप महसूस करेंगे कि आपके दोस्त सहयोगी स्वभाव के हैं, लेकिन बोलने में सावधानी बरतें. एक-तरफ़ा इश्क़ के चक्कर में अपना Rashifalवक़्त बर्बाद न करें. दफ़्तर में आज आप अपना आपा खो सकते हैं. इसलिए तैयार रहें. आपको ऐसी जगहों से महत्वपूर्ण बुलावा आएगा, जहां से आपने इसकी कभी कल्पना भी न की हो. आज का दिन उन्माद में घिर जाने का है, क्योंकि आप अपने जीवनसाथी के साथ प्रेम के चरम का अनुभव करेंगे. अपने साथी के लिए कोई बेहतरीन पकवान बनाना आपके फीके पड़े रिश्तों में गर्मजोशी भर सकता है.

Taurus

11 अगस्त 2020: अपने वज़न पर नज़र रखें और ज़रूरत से ज़्यादा खाने से बचें. कोई बेहतरीन नया विचार आपको आर्थिक तौर पर फ़ायदा दिलाएगा. आज आप अपने चारों तरफ़ के लोगों के बर्ताव के चलते खीज महसूस करेंगे. विवादित मुद्दों को उठाने से बचें, अगर आप आज डेट पर जा रहे हैं तो. कामकाज के दौरान आप पूरे दिन काफ़ी हतोत्साहित महसूस कर सकते हैं. अगर आप यात्रा कर रहें है तो सभी ज़रूरी दस्तावेज़ साथ रखना न भूलें. जीवनसाथी के कारण कुछ नुक़सान हो सकता है. विचारों से ही मनुष्य की दुनिया बनती है. कोई बेहतरीन किताब पढ़कर आप अपनी विचारधारा को और सशक्त कर सकते हैं.

Gemini

11 अगस्त 2020: भावनात्मक तौर पर बहुत अच्छा दिन नहीं होगा. ख़र्चों में हुई अप्रत्याशित बढ़ोतरी आपके मन की शांति को भंग करेगी. परिवार के सदस्यों के साथ कुछ आराम के पल बिताएं. आज आपके दिल की धड़कनें अपने प्रिय के साथ ताल-से-ताल मिलाती मालूम होंगी. जी हां, यह प्यार का ही ख़ुमार है. व्यवसाय में नए विचारों का स्वागत खुले दिमाग़ और तेज़ी के साथ करें. ऐसा करना आपके पक्ष में रहेगा. आपको उन्हें अपनी मेहनत से हक़ीक़त में बदलने की ज़रूरत है, जो व्यवसाय में बने रहने का मूल मंत्र है. काम में दिलचस्पी बनाए रखने के लिए ख़ुद को शांत रखें. आज के दिन आपकी योजनाओं में आख़िरी पल में बदलाव हो सकते हैं. जीवनसाथी की वजह से आपकी कोई योजना या कार्य गड़बड़ हो सकता है, लेकिन धैर्य बनाए रखें. आज का दिन थोड़ा उबाऊ सकता है, इसलिए कोई रचनात्मक कार्य करके दिन को रोचक बना सकते हैं. 

Cancer

11 अगस्त 2020: ऊर्जा और उत्साह का अतिरेक आपको घेर लेगा और आप सामने आने वाले सभी मौक़ों का भरपूर फ़ायदा उठाएंगे. आर्थिक परेशानियों के चलते आपको आलोचना और वाद-विवाद का सामना करना पड़ सकता है. ऐसे लोगों से न कहने के लिए तैयार रहें, जो आपसे ज़रूरत से ज़्यादा उम्मीदें लगाए हों. एक ख़ुशनुमा और बढ़िया शाम के लिए आपका घर मेहमानों से भर सकता है. प्यार-मोहब्बत की नज़रिये से बेहतरीन दिन है. प्यार का मज़ा चखते रहें. दफ़्तर में हर कोई आपको चुनौती देने को आमादा है, हिम्मत रखें. अचानक यात्रा के कारण आप आपाधापी और तनाव का शिकार हो सकते हैं. आपका जीवनसाथी आपसे कुछ दूरी बनाने की कोशिश कर सकता है. दिन के पहले भाग में ख़ुद को थोड़ा अलसाहट भरा महसूस कर सकते हैं, लेकिन अगर आप घर से बाहर निकलने की हिम्मत जुटाएं तो काफ़ी काम किया जा सकता है.

Leo

11 अगस्त 2020: आप ख़ुद को बीमार महसूस कर सकते हैं. मालूम होता है कि पिछले कुछ दिनों के बोझिल कामकाज ने आपको थका दिया है. रियल एस्टेट संबंधी निवेश आपको अच्छा-ख़ासा मुनाफ़ा देंगे. सही समय पर आपकी सहायता किसी को बड़ी परेशानी से बचा सकती है. आपके ज़हन में काम का दबाव होने के बावजूद आपका प्रिय आपके लिए ख़ुशी के पलों को लाएगा. नई चीज़ों को सीखने की आपकी ललक क़ाबिल-ए-तारीफ़ है. आज सोच-समझकर क़दम बढ़ाने की ज़रूरत है, जहां दिल की बजाय दिमाग़ का ज़्यादा इस्तेमाल करना चाहिए. आपके जीवनसाथी की सुस्ती आपके कई कामों पर पानी फेर सकती है. अगर आज ज़्यादा कुछ करने को नहीं है तो कोई अच्छे पकवान बनाकर उसका लुत्फ़ उठाना आपको शाही एहसास दिला सकता है.

Virgo

11 अगस्त 2020: आज का दिन उन दिनों की तरह नहीं है जब आप भाग्यशाली साबित होते हैं, इसलिए आज जो कुछ बोलें ज़रा सोच-समझ कर बोलें, क्योंकि ज़रा-सी बातचीत दिनभर खिंचकर बड़े विवाद का रूप ले सकती है और आपको तनाव के पल भी दे सकती है. आप उन योजनाओं में निवेश करने से पहले दो बार सोचें जो आज आपके सामने आई हैं. अपने नज़रिये को दूसरों पर न थोपें. विवाद से बचने के लिए दूसरों की बातें भी ग़ौर से सुनें. आपकी थकी और उदास ज़िंदगी आपके जीवन-साथी को तनाव दे सकती है. अपनी नौकरी से चिपके रहिए और दूसरों से उम्मीद मत कीजिए कि वे आकर आपकी मदद करेंगे. सड़क पर बेक़ाबू गाड़ी न चलाएं और बेजा ख़तरा मोल लेने से बचें. जब आप किसी के साथ रहते हैं, तो थोड़े-बहुत झगड़े होते ही हैं. आपका अपने जीवनसाथी से वाद-विवाद हो सकता है. आप बहुत कुछ करना चाहते हैं, फिर भी मुमकिन है कि आप आज चीज़ों को बाद के लिए टाल दें. दिन ख़त्म होने से पहले उठें और काम में लग जाएं, नहीं तो आपको महसूस होगा कि पूरा दिन बर्बाद हो गया है. 

Libra

11 अगस्त 2020: आपका आकर्षक बर्ताव दूसरों का ध्यान आपकी तरफ़ खींचेगा. किसी बड़े समूह में भागीदारी आपके लिए दिलचस्प साबित होगी, हालांकि आपके ख़र्चे बढ़ सकते हैं. परिवार के सदस्यों के साथ कुछ आराम के पल बिताएं. आपके प्रिय के साथ कुछ मतभेद उभर सकते हैं. साथ ही अपने साथी को अपना नज़रिया समझाने में भी तकलीफ़ महसूस होगी. अपनी नौकरी से चिपके रहिए और दूसरों से उम्मीद मत कीजिए कि वे आकर आपकी मदद करेंगे. आज लोग आपकी वह प्रशंसा करेंगे, जिसे आप हमेशा से सुनना चाहते थे. आज के दिन आपका जीवनसाथी आपके बारे में या आपकी शादीशुदा ज़िंदगी के बारे में सारी ख़राब बातें जता सकता है. किसी अनचाहे मेहमान के आने से आपका दिन बेकार गुज़रने की सम्भावना है.

Scorpio

11 अगस्त 2020: जब आप कोई फ़ैसला लें, तो दूसरों की भावनाओं का ख़ास ख़याल रखें. आपका कोई भी ग़लत निर्णय न केवल उनपर ख़राब असर डालेगा, बल्कि आपको भी मानसिक तनाव देगा. आपके ख़र्चों में बढ़ोतरी होगी, जो आपके लिए परेशानी का सबब साबित हो सकती है. घर में और आस-पास छोटे-मोटे बदलाव घर की सजावट में चार चांद लगा देंगे. सारी दुनिया की मदहोशी उन ख़ुशनसीबों के बीच सिमट जाती है, जो प्यार में हों. जी हां, आप वही ख़ुशनसीब हैं. दफ़्तर में आज आप अपना आपा खो सकते हैं, इसलिए तैयार रहें. जल्दबाज़ी में फ़ैसले न करें, ताकि ज़िंदगी में आगे आपको पछताना न पड़े. अगर आपके जीवनसाथी की सेहत कर चलते किसी से मिलने की योजना रद्द हो जाए तो चिंता न करें, आप साथ में अधिक समय व्यतीत कर सकेंगे. परिवार के साथ आज शॉपिंग पर जाना संभव हैं, लेकिन थकान का अनुभव भी हो सकता है.

Sagittarius

11 अगस्त 2020: आपका व्यक्तित्व आज इत्र की तरह महकेगा और सबको आकर्षित करेगा. अगर आप सूझ-बूझ से काम लें, तो आज अतिरिक्त धन कमा सकते हैं. घर में रस्म-रिवाज़ आदि होगा. प्रेम हमेशा आत्मीय होता है और यही बात आप आज अनुभव करेंगे. चीज़ें कार्यक्षेत्र में बेहतर नज़र आती हैं. पूरे दिन आपका मिज़ाज बढ़िया रहेगा. ऐसी जानकारियों को उजागर न करें जो व्यक्तिगत और गोपनीय हों. दिन वाक़ई रोमानी है. बढ़िया खाने, महक और ख़ुशी के साथ आप अपने हमदम के साथ बेहतरीन समय बिता सकते हैं. आज परिवार या मित्रों के साथ समय व्यतीत होगा. मुमकिन है कि आप झुंझलाहट या ख़ुद को फंसा हुआ महसूस करें, क्योंकि दूसरे ख़रीदारी में पूरी तरह मशगूल रह सकते हैं.

Capricorn

11 अगस्त 2020: ख़ुश हो जाएं क्योंकि अच्छा समय आने वाला है और आप स्वयं में अतिरिक्त ऊर्जा का अनुभव करेंगे. आपके घर से जुड़ा निवेश फ़ायदेमंद रहेगा. बच्चे उम्मीदों पर खरे न उतरकर आपको निराश कर सकते हैं. सपनों को साकार करने के लिए उन्हें प्रोत्साहन देने की ज़रूरत है. ख़ुशी के लिए नए संबंध की प्रतीक्षा करें. लगता है कि आपके विरष्ठ आज देवदूतों जैसा व्यवहार करने वाले हैं. चीज़ों और लोगों को तेज़ी-से परखने की क्षमता आपको दूसरों से आगे बनाए रखेगी. वैवाहिक जीवन में स्नेह को दिखलाने का अपना महत्व है और इस चीज़ का अनुभव आज आप करेंगे. अगर बहुत ज़्यादा न हो, तो आज देर रात स्मार्टफ़ोन पर गप्पें मारने में भी कोई बुराई नहीं है. हालांकि किसी भी चीज़ की अति नुक़सानदेह है.

Aquarius

11 अगस्त 2020: ज़्यादा पेट भरकर खाने से और मदिरा-सेवन से बचें. कुछ ख़रीदने से पहले उन चीज़ों का इस्तेमाल करें, जो पहले से आपके पास हैं. अगर आप पार्टी करने की सोच रहे हैं, तो अपने अपने अच्छे दोस्तों को बुलाएं. ऐसे कई लोग होंगे, जो आपका उत्साह बढ़ाएंगे. आप क़ामयाबी ज़रूर हासिल करेंगे. बस एक-एक करके महत्वपूर्ण क़दम उठाने की ज़रूरत है. दिक़्क़तों का तेज़ी से मुक़ाबला करने की आपकी क्षमता आपको ख़ास पहचान दिलाएगी. आज आपका वैवाहिक जीवन हंसी-ख़ुशी, प्यार और उल्लास का केंद्र बन सकता है. आज वह दिन है जब आप पूरी तरह से आराम करना चाहते हैं, लेकिन लगता है कि आपके परिजनों की कुछ और ही योजना है. इसलिए तैयार रहें और खीझें नहीं, नहीं तो पूरा सप्ताहांत ख़राब हो सकता है.

Pisces

11 अगस्त 2020: लंबी यात्रा के लिहाज़ से आपने सेहत और ऊर्जा-स्तर में जो सुधार किए हैं, वे काफ़ी फ़ायदेमंद रहेंगे. व्यस्त दिनचर्या के बावजूद आप थकान के चंगुल में फंसने से बचे रहेंगे. आज निवेश के जो नए अवसर आपकी ओर आएं, उनपर विचार करें, लेकिन धन तभी लगाएं जब आप उन योजनाओं का भली-भांति अध्ययन कर लें. आज आप यह जानकर बहुत उदास महसूस करेंगे कि कोई ऐसा जिसपर आपने हमेशा विश्वास किया, दरअसल उतना भरोसेमंद नहीं है. अपने प्रिय से कुछ भी तल्ख़ कहने से बचें, नहीं तो बाद में आपको पछताना पड़ सकता है. चीज़ों के होने का इंतज़ार मत कीजिए. बाहर निकलें और नए मौक़ों की तलाश करें. ऐसी जानकारियों को उजागर न करें जो व्यक्तिगत और गोपनीय हों. जीवनसाथी की वजह से आपको महसूस होगा कि उनके लिए दुनिया में आप ही सबसे महत्वपूर्ण हैं. आज आप फ़ोटोग्राफ़ी करके आने वाले कल के लिए कुछ बेहतरीन यादें संजो सकते हैं. अपने कैमरे का सदुपयोग करना बिलकुल न भूलें. 

panchang1

पंचांग 11 अगस्त 2020

आज 11 अगस्त को भाद्रपद के कृष्ण पक्ष की सप्तमीतिथि है. आज भादो का मंगलवार है. हिंदू धर्म में मंगलवार का दिन बजरंगबली को समर्पित माना जाता है. इसलिए लोग आज राम भक्त हनुमान जी की पूजा कर रहे हैं.

विक्रमी संवत्ः 2077, 

शक संवत्ः 1942, 

मासः भाद्रपद़़, 

पक्षः कृष्ण पक्ष, 

तिथिः सप्तमी तिथि प्रातः 09.07 तक है, 

वारः मंगलवार, 

नक्षत्रः भरणी रात्रि 12.57 तक, 

योगः अतिगण्ड प्रातः 08.39 तक, 

करणः बव, 

सूर्य राशिः कर्क, 

चंद्र राशिः मेष, 

राहु कालः अपराहन् 3.00 से 4.30 बजे तक, 

सूर्योदयः 05.52, 

सूर्यास्तः 07.01 बजे।

नोटः आज श्री कृष्ण जन्माष्टमी व्रत (स्मार्त) गृहस्थियों के लिए है।

विशेषः आज उत्तर दिशा की यात्रा न करें। अति आवश्यक होने पर मंगलवार को धनिया खाकर, लाल चंदन, मलयागिरि चंदन का दानकर यात्रा करें।

कोरोना महामारी ने तोड़ी किसानों की कमर : राजेन्द्र आर्य


 मनोज त्यागी करनाल – 10 जुलाई

आज अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति के आहवान् पर राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के तत्त्वाधान में किसानों ने सेक्टर-12 स्थित फव्वारा पार्क में किसान पंचायत का आयोजन किया। पंचायत में करनाल के डेयरी फार्मर भी डेयरी सिलिंग का मुद्दा लेकर पहुंचे। राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के प्रदेशाध्यक्ष राजेन्द्र आर्य दादुपुर  के नेतृत्व में किसानों ने फव्वारा चौंक से सचिवालय तक मार्च निकाला। धरना प्रदर्शन व नारेबाजी के बाद जिला सचिवालय में अपनी मांगों को लेकर तहसीलदार राज बख्श अरोड़ा को ज्ञापन सौंपा। किसान नेता राजेन्द्र आर्य दादूपुर ने प्रधानमंत्री के नाम ज्ञापन को सभी के समक्ष तहसीलदार की उपस्थिति में पढक़र सुनाया और कहा कि आज दिनाक 09 अगस्त 2020 हम भारत के किसान, अपने संगठन ’अखिल भारतीय किसान संघर्ष समन्वय समिति, एआईकेएससीसी’, जिसके 250 से अधिक किसान तथा कृषि मजदूर संगठन घटक हैं, आपको यह पत्र लिखकर यह उम्मीद कर रहे हैं कि भारत की सरकार हमारी समस्याओं को सम्बोधित करेगी और और इन्हें हल करने के लिए तुरंत कदम उठाएगी।

                        अब कई सालों से हम इन समस्याओं को उठाते रहे हैं और आपके समक्ष रखते रहे हैं। इस बीच हमने कड़ी मेहनत करके यह सुनिश्चित किया है कि देश के खाद्यान्न भंडार भरे रहें तथा इतना पर्याप्त अनाज देश में मौजूद है कि किसी भी नागरिक को भूखा रहने की जरूरत नहीं पड़ेगी।

                        जैसे-जैसे कोविड-19 महामारी आगे बढ़ती गयी है, हमने अपना काम जारी रखा है और यह सुनिश्चित किया है कि ऐसे संकट के समय पर भी खाने के भंडार भरे रहें। यही वह आधार है जिसपर हम खड़े होकर उम्मीद करते हैं कि आपकी सरकार ऐसे उचित कदम जरूर उठाएगी, जो सुनिश्चित करेंगे कि देश के कड़ी मेहनत करने वाले किसान व मजदूर, जो देश की कुल श्रमशक्ति का आधे से ज्यादा हिस्सा हैं, इस वजह से संकट का सामना ना करें कि उनकी समस्याओं को किसी ने सुना ही नहीं।

                        पर हमें इस बात से बहुत निराशा हुई कि जब आपकी सरकार ने अपने कृषि सुधार पैकेज की घोषणा की तो उसमें ना केवल हमारी समस्याओं को सम्बोधित नहीं किया गया, बल्कि उन्हें बढ़ा दिया गया है। इस वजह से हम आपके समक्ष अपनी समस्याओं को प्रस्तुत कर रहे हैं, ताकि ये वास्तविक समाधान तुरंत अमल किये जा सकें।

  1. अमल किये गये किसान विरोधी अध्यादेश वापस लिये जाएं’ दिनांक 05-06-2020 को जारी तीनो अध्यादेशों ( क) कृषि उपज वाणिज्य एवं व्यापार (संवर्धन और सुविधा) अध्यादेश 2020( ख) मूल्य आश्वासन पर (बंदोबस्ती और सुरक्षा) समझौता कृषि सेवा अध्यादेश 2020( ग) आवश्यक वस्तु अधिनियम (संशोधन) 2020 को वापस लिया जाना चाहिए। ये अध्यादेश अलोकतांत्रिक हैं और कोविड-19 तथा राष्ट्रीय लॉकडाउन के आवरण में अमल किये जा रहे हैं। ये किसान विरोधी हैं। इनसे फसल के दाम घट जाएंगे और बीज सुरक्षा समाप्त हो जाएगी। इससे उपभोक्ताओं के खाने के दाम बढ़ जाएंगे। खाद्य सुरक्षा तथा सरकारी हस्तक्षेप की सम्भावना समाप्त हो जाएगी। ये अध्यादेश पूरी तरह भारत में खाने तथा खेती व्यवस्था में कॉरपोरेट नियंत्रण को बढ़ावा देते हैं और उनके जमाखोरी व कालाबाजारी को बढ़ावा देंगे तथा किसानों का शोषण बढ़ाएंगे। किसानों को वन नेशन वन मार्केट नहीं वन नेशन वन एमएसपी चाहिए।
  2. सभी किसानों के लिए कर्जदारी से मुक्ति की गारंटी सुनिश्चित करो आपकी सरकार को एआईकेएससीसी द्वारा प्रस्तावित कर्जदारी से मुक्ति कानून जो सभी किसानों को इसके लिए अधिकृत करेगा, पारित करना चाहिए, हम यह भी आग्रह करते हैं कि सरकार इस साल कोरोना दौर के लिए सभी किसानों का रबी 2019-20 फसल का कर्ज माफ करे और खरीफ फसल 2020 के लिए ब्याज मुक्त केसीसी जारी करे। समूहों के तथा माइक्रोफाइनेन्स संस्थाओं से लिये गये कर्ज का ब्याज माफ कर उनकी वसूली पर रोक लगाए।
  3. यह सुनिश्चित करो कि पूरा, लाभकारी मूल्य हर किसान का कानूनी अधिकार बने: आपकी सरकार को एआईकेएससीसी द्वारा प्रस्तुत सभी किसानों के लिए लाभकारी न्यूनतम समर्थन मूल्य गारंटी कानून पारित करना चाहिए,   इसके लिए आवश्यक है कि सभी कृषि उत्पादों सब्जी, फल और दूध समेत का एमएसपी कम से कम सी-2 लागत और उस पर 50 फीसदी अधिक घोषित हो। आपकी सरकार को इस दाम पर फसल खरीद की गारंटी देनी चाहिए और सभी किसानों को विभिन्न तरीके से कानूनी अधिकारी भी। एमएसपी से कम रेट पर खरीद करना फौजदारी जुर्म घोषित हो।
  4. बिजली बिल 2020 वापस लो: आपकी सरकार को यह बिल वापस लेना चाहिए कोरोना दौर का किसानों, छोटे दुकानदारों, छोटे व सूक्ष्म उद्यमियों तथा आमजन का बिजली का बिल माफ करना चाहिए। डीबीटी योजना को नहीं अमल करना चाहिए।
  5. इस साल हुए फसल के नुकसान का किसानों को मुआवजा: फरवरी से जून 2020 के बीच ओलावृष्टि, बिन मौसम बरसात और लॉक डाउन के कारण किसानों की सब्जी, फल, फसल एवं दूध के नुकसान का आपकी सरकार को पूरा मुआवजा देना चाहिए।
  6. डीजल का दाम तुरंत कम करो, डीजल का दाम तुरंत आधा किया जाए, अंतरराष्ट्रीय रेट 2014 से 60 फीसदी घटा है लेकिन भारत सरकार का टैक्स दो गुना बढ़ा है।
  7. मनरेगा में काम के दिन बढाया जाय, मनरेगा में कम से कम 200 दिन काम की गारंटी की जाय और न्यूनतम मजदूरी की दर से भुगतान किया जाय ताकि खेतिहर मजदूर, छोटे किसान, मजदूरी छोड़ गाँव वापिस आये प्रवासी किसान को इस संकट में काम मिल सके।
  8. हर व्यक्ति को राशन में पूरा खाना दिया जाए और परिवारों को अतिरिक्त नकद समर्थन दिया जाए: किसानों द्वारा पैदा किये गये अनाज का लाभ लोगों को खाना देने और यह सुनिश्चित करने कि कोई भूखा ना रहे के लिए किया जाना चाहिए। कोरोना संकट के पूरे दौर में सरकार को हर व्यक्ति को पूरा राशन उपलब्ध कराना चाहिए – राशन में हर महीने प्रति यूनिट, 15 किलो अनाज, 1 किलो तेल, 1 किलो दाल, 1 किलो चीनी सरकार को देना चाहिए। इसके अतिरिक्त परिवारों की मौलिक जरूरतों को पूरा करने के लिए नकद हस्तांतरण किया जाना चाहिए।
  9. आदिवासियों व अन्य किसानों की जमीन व वन संसाधन की रक्षा करो – कम्पनियों द्वारा जमीन अधिग्रहण करने पर रोक लगाओ, सरकार को एक पीढ़ी से ज्यादा खेती कर रहे किसानों को नहीं उजाडऩा चाहिए। कैम्पा कानून के नाम पर जंगल की जमीन पर जबरन प्लान्टेशन लगाना बंद किया जाना चाहिए।

राष्ट्रीय स्तरीय 9 मांगों के अलावा करनाल की स्थानीय ज्वलंत समस्या जो कि जबरदस्ती डेयरी शिफटिंग है। इसको लेकर भी ज्ञापन सौंपा व किसानों ने जिला व नगरनिगम प्रशासन को चेताया कि अगर जल्द ही प्रशासन ने जबरदस्ती डेयरी शिफटिंग के अपने कार्यक्रम को रद्द नहीं किया तो करनाल के सभी डेयरी संचालक राष्ट्रीय किसान मजदूर संगठन के नेतृत्व में जिला सचिवालय पर अनिश्चित कालीन धरना प्रदर्शन शुरु कर देंगे। किसान नेता राजेन्द्र आर्य ने आरोप लगाया कि  डेयरियों में निगम प्रशासन पुलिस बल लेकर जबरदस्ती घुस रहा है। करनाल से सैंकड़ो मवेशियों को जब्त कर डेयरी संचालकों पर भारी जुर्माना लगाया गया है। जिन डेयरीयों में पशु नहीं थे उनको भी जबरन सील किया गया है। डेयरी प्रधान महेन्द्र गुर्जर व पप्पु प्रधान ने आरोप लगाते हुए कहा कि नगर निगम ज्वांइट कमीशनर गगनदीप सिंह की कार्य प्रणाली संदेहास्पद है। किसान नेता राजेन्द्र आर्य ने कहा कि पिंगली डेयरी कम्पलैक्स में मूलभूत सुविधाओं का अभाव व कोरोना महामारी के चलते डेयरी संचालकों को 31 मार्च तक का समय दें। मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर को मामले का संज्ञान लेते हुए प्रायोजित पिंगली डेयरी क म्पलैक्स को औचक निरिक्षण करके वहां मौजूद सुविधाओं का जायजा लेना चाहिए।

                        हम आपको सूचित करना चाहते हैं कि जिस तरह से 9 अगस्त 1942 का उद्घोष ‘अंग्रेजों भारत छोड़ो’ था उसी तरह से 9 अगस्त 2020 को देश के किसान ‘कॉरपोरेट भगाओ किसानी बचाओ’ के नारे के तहत गोलबंद होंगे।

                        इस बीच हम उम्मीद करते हैं के आपकी सरकार उपरोक्त समस्याओं को हल करने के लिए प्रभावी कदम उठाएगी।

मदद के बहाने लोगों से छीनाछपटी करने वाले 02 आरोपी चढे़ पुलिस के हत्थे

मनोज त्यागी, करनाल – 10 अगस्त:

       दिनांक 06अगस्त  को बाईक सवार दो अज्ञात युवकों ने दिन के समय बाईक सवार युवक विजय विश्वकर्मा पुत्र कुमार विश्वकर्मा वासी नौकर अग्रवाल मुर्गी फार्म रावर से मदद के बहाने नियर कम्यूनिटी सेंटर सेक्टर-4/5 करनाल पर बाईक रूकवाकर विजय विश्वकर्मा की बाजू में सुआ घोंपकर उससे 2000 रूपये, 1 मोबाईल फोन, मोटरसाईकिल की चाबी लेकर फरार हो गये। जिस संबंध में विजय विश्वकर्मा के ब्यान पर थाना शहर करनाल में धारा 379बी,34,473,420 भा.द.स. के तहत मामला दर्ज किया गया।

          मुकदमें की तपतीश उप निरिक्षक अनिल कुमार इंचार्ज चौकी सैक्टर-04 करनाल को सौंपी गई। दौराने तपतीश उप निरिक्षक अनिल कुमार व उनकी टीम को बडी कामयाबी मिली की दिनांक 08.08.2020 को गुप्त सूचना के आधार पर आरोपियान…

  • 1. धम्मी पुत्र प्यारे लाल वासी गली न0.-3 चांद सराय नियर धोबी घाट करनाल
  • 2. अकरम पुत्र अकबर वासी म.न.714 चांद सराय नियर धोबी घाट करनाल को नियर हैरीटेज मैरिज हॉल सेक्टर-4/5 करनाल से गिरफतार किया गया।

दौराने पूछताछ आरोपियान ने बताया कि उन्होने उपरोक्त बाईक सवार की बाजू में बर्फ तोडने वाला सुआ घोंपकर उसको घायल कर उससे 2000 रूपये, मोटरसाईकिल की चाबी, एक मोबाईल फोन छीनकर फरार हो गये। आरोपियान ने बताया कि वे सुनसान जगह पर गरीब, मजदूर, अनपढ़ व वृद्व जैसे लोगों को निषाना बनाते थे। और उनके मोबाईल, पैसे व अन्य सामान लेकर फरार हो जाते थे। आरोपियान नशा करने के आदि हैं। और आरोपी नशे की पूर्ति करने के लिये लोगों से छीनाछपटी करने के लिये मरने मारने पर भी उतारू हो जाते थे। आरोपियान को दिनांक 08.08.2020 को पेश अदालत किया जाकर 01 दिन का रिमाण्ड हासिल किया गया। दौराने रिमाण्ड आरोपियान से वारदात में इस्तेमाल मोटरसाईकिल, 1050 रूपये, एक बर्फ तोडने वाला सुआ, एक मोबाईल फोन, मोटरसाईकिल की एक चाबी बरामद की गई। आरोपियान को आज पेश अदालत किया जाकर जेल भेजा गया।

मुख्यमंत्री मनोहर लाल के नेतृत्व में करनाल विकास के पथ पर बढ़ रहा आगे

मनोज त्यागी, करनाल – 10 अगस्त:

        शहर के पुराने व घनी आबादी वाले क्षेत्रों में बरसाती पानी की निकासी के स्थाई समाधान को लेकर नगर निगम करनाल लगातार कार्य कर रहा है। इसी कड़ी में सोमवार को महापौर करनाल रेणु बाला गुप्ता ने वार्ड नम्बर 19 के राम नगर क्षेत्र में बरसाती पानी की निकासी की पाईप लाईन डालने के कार्य की शुरूआत की। इस अवसर पर मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि संजय बठला, वार्ड पार्षद राजेश अग्घी, पूर्व पार्षद एवं समाजसेवी भगवान दास अग्घी, एम.ई. सुनील भल्ला व जे.ई. सुख्खा सिंह उपस्थित रहे।

           महापौर रेणु बाला गुप्ता ने बताया कि इस कार्य में वार्ड की तीन जगहों पर पाईप लाईन डाली जाएंगी, जिसमें मेन बाजार चार खम्बा चौक के पास, गुरू तेग बहादुर सिंह गुरूद्वारा के पास तथा कश्मीरा सिंह पार्क के पास की गलियां को लिया गया है। उन्होंने बताया कि कार्य में डी.डब्ल्यू.सी. एस.एन.-8 की पाईप लाईन डाली जाएगी, जिसकी 400 एम.एम. मौटाई में करीब 2600 फुट लम्बाई रहेगी। इस पर अनुमानित 24 लाख 25 हजार रूपये की लागत आएगी। उन्होंने बताया कि अगले करीब 2 माह में यह कार्य पूरे कर लिए जाएंगे।

             मेयर ने बताया कि गुरू तेग बहादुर सिंह गुरूद्वारा व कश्मीरा सिंह पार्क क्षेत्र में छोटी नालियां थी, जिसके कारण बारिश के समय में पानी की निकासी होने में थोड़ा समय लग जाता था। पानी जमा होने के कारण यहां गंदगी को बढ़ावा मिलता था, जिससे यहां रह रहे नागरिकों को परेशानी होती थी। परंतु अब यहां अच्छी मौटाई की स्टोरम वाटर की पाईप लाईन डाली जाएगी, जिससे कम समय में ही बरसाती पानी की निकासी सम्भव होगी। उन्होंने डी.डब्ल्यू.सी. पाईप की खूबी बताते हुए कहा कि इस पाईप में पानी का बेहतर फ्लो है और इसमें दूसरे पाईपो की अपेक्षा कचरा भी कम रूकता है।

           महापौर ने कहा कि यह कार्य नागरिकों की मांग को देखते हुए एवं उन्हें मूल सुविधाएं मुहैया करवाने के मकसद से ही करवाए जा रहे हैं। उन्होंने कहा कि इन कामो के पूरा होने से तीन क्षेत्रों की गलियों में बरसाती पानी जमा नही होगा, जिससे नागरिकों की परेशानी दूर होने के साथ-साथ स्वच्छता को बरकरार रखने में मदद मिलेगी।

            मेयर ने मौके पर मौजूद निवासियों को इन कार्यों की बधाई दी और कहा कि मुख्यमंत्री हरियाणा मनोहर लाल के मार्गदर्शन एवं नेतृत्व में करनाल शहर निरंतर विकास के पथ पर आगे बढ़ रहा है। उन्होंने नागरिकों से  कहा कि वे स्वयं भी कार्य की देखरेख करें, ताकि गुणवत्ता को लेकर कोई कमी ना हो। उन्होंने कहा कि पाईप लाईनो का लेवल भी चैक करें, ताकि कार्य पूर्ण होने के बाद उन्हें किसी प्रकार की दिक्कत का सामना ना करना पड़े। उन्होंने नागरिकों से कहा कि यदि उन्हें कार्य में किसी प्रकार की दिक्कत मिले, तो वह मेरे संज्ञान में लाएं, उसे अवश्य ठीक करवाया जाएगा। मेयर ने मौके पर मौजूद निगम इंजीनियरो को निर्देश दिए कि कार्य इस तरह से किया जाए, जिससे नागरिको को कम से कम परेशानी हो। उन्होंने कहा कि सारा काम तय समय में पूरा करें और क्वालिटी से किसी भी प्रकार का समझौता नही होना चाहिए।

               इस अवसर पर पार्षद राजेश अग्घी व वार्ड वासियों ने महापौर रेणु बाला गुप्ता व मुख्यमंत्री के प्रतिनिधि संजय बठला का फूल-मालाओं से स्वागत किया। पार्षद ने कहा कि उनके वार्ड में महापौर के प्रयासों से अनेक विकास कार्य सम्पन्न हुए हैं।

                   इस मौके पर दर्शन सिंह सहगल, जगदीश सबरवाल, अमर ठक्कर, राजेश नारंग, शंकर लाल वधवा, अरीश अरोड़ा, राधे शाम सलूजा, शाम छाबड़ा, शाम सिंह चौहाण, अशोक गुप्ता एवं अनेक गणमान्य व्यक्ति उपस्थित रहे।  

प्रदेश को हरा-भरा बनाने के लिए हर व्यक्ति को पौंधे बांटें गए

बरवाला/पंचकूला  10 अगस्त:

हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि प्रदेश को हरा-भरा बनाने के लिए हर व्यक्ति को पौंधे बांटें जा रहे हैं ताकि वातावरण को सुखमय, खुशहाल एवं जीवन के अनुकूल बनाया जा सके।  

हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष बरवाला बस स्टैण्ड पर हरा-भरा हरियाणा कार्यक्रम के तहत नागरिकों को पौंधे बांट रहे थे। उन्होंने कहा कि इस कार्यक्रम के तहत पौधे बांटने के साथ साथ उन्हें लगाकर उनकी सुरक्षा भी की जा रही है ताकि पौधों की भली भांति परवरिश की जा सके। उन्होंने कहा कि इसके लिए हर व्यक्ति पौधा लगाने के बाद उसे रक्षा सूत्र बांधेगा और उसकी नियमित रूप से देखरेख की जिम्मेवारी लेगा।

उन्होंने कहा कि यह म्हारा हरियाणा-हरा भरा हरियाणा कार्यक्रम बहुत ही कारगर हो रहा है ओर प्रदेश पूर्ण रूप से हरियाली की ओर अग्र्रसर हो रहा है। इस प्रकार पौधारोपण से वन क्षेत्र भी बढेगा और मनुष्यों ही नहीं बल्कि वन्य जीवों के लिए भी वातावरण बेहतर बनेगा। उन्होंने नागरिकों से अनुरोध किया कि अपने घरों व खाली प्लाटों के साथ साथ सार्वजनिक स्थलों एवं खाली निगम व पंचायती भूमि पर अधिक से अधिक पौधारोपण करें और इस अभियान से जुड़कर प्रदेश के वातावरण को स्वच्छ एवं शुद्व बनाने में सहयोग करें।  

गुप्ता ने कहा कि मण्डल स्तर पर 1500 से अधिक पौधे बांटने का कार्य किया जा रहा है। इस प्रकार जिला में 10 हजार से अधिक पौधे बांटे जाएगें। इस अवसर पर भाजपा के जिलाध्यक्ष दीपक शर्मा, उपाध्यक्ष सोनू सूद, पूर्व चेयरमैन अशोक शर्मा, बलसिंह राणा, गौतम राणा, सरपंच बलजिन्द्र सिंह सहित कई गणमान्य नागरिक मौजूद रहे।

पंचकुला के गांवों को बेहतरीन स्तर की सुविधाओं से लैस सामुदायिक केंद्र बनवाए गए

बरवाला/पंचकूला 10 अगस्त:

हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि पंचकूला हलके के हर गांवों में बेहतरीन स्तर के सामुदायिक भवनों का निर्माण करवाया गया है। बड़े गांवों में कई साम ुदायिक भवन बनाए गए हैं ताकि लोगों को विवाह आदि बडे़ आयोजन करने में किसी प्रकार की दिक्कतें न उठानी पडे।

हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष जिला के कई गांवों में ग्रामीणों को विकास कार्यो की सौगात दे रहे थे। उन्होंने गांव भानू में लगभग 42 लाख रुपए की लागत से नदी पर पुल का लोकार्पण किया। इसके अलावा गांव बिल्ला व बतौड में लगभग 52 लाख रुपए की लागत से सामुदायिक भवन जनता को समर्पित किए। उन्होंने गांव आसरेवाली में लगभग 88 लाख रुपए की लागत से नदी पर बने पुल का उदघाटन किया और गांव अलीपुर में एनएस-73 से गांव तक सम्पर्क मार्ग का शिलान्यास किया। इस सम्पर्क मार्ग पर लगभग 11.50 लाख रुपए की लागत आएगी।

गुप्ता ने अधिकारियों को निर्देश दिए अलीपुर के इस सम्पर्क मार्ग के साथ दिवार का भी निर्माण किया जाए ताकि इसके किनारे मजबूत रह सके। इस प्रकार उन्होंने लगभग दो करोड़ रुपए की विकास परियोजनाएं जनता को सौंपी। उन्होंने कहा कि गांव बतौड में चार सामुदायिक भवन पहले बनाए गए हैं तथा 5वां सामुदायिक केन्द्र अब बनाकर नागरिकों के सुपर्द किया गया है। उन्होंने कहा कि विकास के मामले में हलको का पूर्ण रूप से चहुंमुखी विकास करवाया जाएगा ओर पंचकूला में इतना विकास करवाया जा रहा है कि पूर्ववर्ती सरकारों के कार्यकाल में उपेक्षित हलके के लोगों में खुशी की लहर छाई हुई है।

हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष ने एक सवाल के जवाब में कहा कि बरवाला में पुराने एन एच को शीघ्र ही सीसी का बनाया जाएगा। इसके लिए सभी औपचारिकताएं पूरी कर ली गई हैं। आगामी माह मेें इसे शुरू किया जाएगा।  उन्होंने कहा कि इसके आसपास जलभराव की समस्या आती थी जिसके लिए लगभग 2 किलोमीटर लम्बी ड्रैनेज का निर्माण करवाया गया है। अब इस क्षेत्र की  जलभराव की समस्या का भी समाधान कर दिया गया है।

उन्होंने गांवों में लोगों की समस्याएं भी सुनी और उनका समाधान करने के लिए अधिकारियों को आवश्यक दिशा निर्देश दिए। उन्होंने गांव अलीपुर में खिलाड़ियों को खेलों का सामान मुहैया करवाने, सम्पर्क मार्ग के बीच में आने वाले बिजली के पोल हटाने, शमशन घाट का रास्ता बनाने के भी निर्देश दिए।

इस अवसर पर उनके साथ भाजपा जिला अध्यक्ष दीपक शर्मा, उपाध्यक्ष सोनू सूद, पूर्व चेयरमैन अशोक शर्मा, बलसिंह राणा, गौतम राणा, सरपंच बलजिन्द्र, लक्ष्मणदास हसंराज, राहूल राणा, राजबीर, स्वर्ण सिंह, सोहनलाल, पवन कुमार, विक्की सैनी, मामराज, बहादुर सैनी, सुशील सिंगला, अमरीक, बलबीर शर्मा, सरावर अली सहित गणमान्य नागरिक, सिंचाई, नगर निगम व कई विभागों के अधिकारी मौजूद रहे।

Hockey player Mandeep Singh has tested positive for coronavirus : SAI

New Delhi(Bureau) , August 10:

Indian Hockey team’s Mandeep Singh has tested positive for coronavirus, said the Sports Authority of India (SAI) on Monday.

“Mandeep Singh, a member of the Indian Men’s Hockey team, who was given the COVID test (RT PCR) along with 20 other players at the National Camp at SAI’s National Centre of Excellence in Bengaluru, has tested COVID positive but is asymptomatic. He is being administered treatment by doctors, along with the other five players who have tested positive,” SAI said in a statement. Mandeep becomes the sixth player to have tested positive for the infection. Earlier on Friday, SAI said India hockey captain Manpreet Singh, Surender Kumar, Jaskaran Singh, Varun Kumar, and Krishan B Pathak have contracted the virus.

SAI on Saturday confirmed that all five hockey players who had tested positive for coronavirus are doing well and are being attended by their in-house doctor as well as one doctor from the state government.

The doctor from the state government has been deputed on the request of SAI.

“The five hockey players housed in NCOE Bengaluru, who tested COVID positive on August 7, are doing well. They are being attended to by SAI’s in-house doctor as well as one doctor from the state government, who has been deputed on SAI’s request,” SAI had said in an official statement.

SAI has also got on board a few expert doctors from Manipal Hospital, who have also attended to the players.

“The vitals of the players like temperature, oxygen levels have been monitored and all five players have been found to be mild symptomatic cases. Except for one the other four players did not have a fever. They are doing fine and we have put them on immunity boosters and other support medicines,” Dr. Avinash HR, who has been deputed by the state government and diagnosed the players today, had said in a statement released by SAI.

Former President Pranab Mukherjee tested positive for coronavirus

New Delhi( Bureau), August 10:

Former President Pranab Mukherjee on Monday informed that he has tested positive for coronavirus and requested people who recently came in his contact to get tested for the virus.

“On a visit to the hospital for a separate procedure, I have tested positive for COVID19 today. I request the people who came in contact with me in the last week, to please self isolate and get tested for COVID-19,” Mukherjee tweeted.

The octogenarian leader is not the first political figure in India to have been tested positive for coronavirus.

Several Union Ministers including Home Minister Amit Shah, Minister of State Arjun Ram Meghwal, MoS for Agriculture Kailash Choudhary have tested positive for the virus.

Tamil Nadu Governor Banwarilal Purohit, Chief Minister BS Yediyurappa, Karnataka health minister B Sriramulu are among those high-profile personalities who got infected.

India registered 62,064 new coronavirus cases in the last 24 hours while the total recoveries crossed 15 lakh mark.

According to the Union Ministry of Health and Family Welfare (MOHFW), 1,007 new deaths were reported in the country and the cumulative toll reached 44,386.

The country’s COVID-19 count has risen to 22,15,075 including 6,34,945 active cases, 15,35,744 cured/discharged/migrated.