वीरभद्र की बढ़ीं मुश्किलें, आपराधिक कदाचार के आरोप तय

दिल्ली की एक अदालत ने हिमाचल प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह के खिलाफ 10 करोड़ रुपए से ज्यादा की अघोषित संपत्ति रखने और आपराधिक कदाचार के आरोप तय किए. इसके बाद मामले में उनके खिलाफ मुकदमा शुरू होने का रास्ता साफ हो गया है. सिंह ने बेगुनाह होने का दावा किया और कहा कि वह दोष कबूल करने के बजाय इस मामले में मुकदमे का सामना करेंगे.

अदालत ने मामले में सीबीआई के जरिए गवाहों के बयान दर्ज करने की प्रक्रिया शुरू करने के लिए 3, 4 अप्रैल की तारीख तय की. सुनवाई के दौरान वीरभद्र और उनकी पत्नी प्रतिभा सिंह ने मामले की सुनवाई के दौरान अदालत में पेश होने से स्थाई रूप से छूट की मांग करते हुए याचिका दाखिल की. दोनों अदालत में उपस्थित थे. अदालत ने सीबीआई से उनकी याचिका पर अगली सुनवाई के वक्त जवाब देने को कहा.

एक अलग मामले में प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने वीरभद्र सिंह के खिलाफ धनशोधन के एक प्रकरण में तीसरा पूरक आरोपपत्र दायर किया. अदालत ने कहा कि वह मामले को 18 मार्च को लेगी. ईडी का पूरक आरोपपत्र विशेष लोक अभियोजक नितेश राणा और एन के मट्टा के मार्फत दायर किया गया.

पुलवामा हमले के डेढ़ घंटे बाद राहुल ने लगाए ठुमके, सुरजेवाला ने प्रधान मंत्री पर बोला तीखा हमला

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि जिस वक्त देश शहीदों के शव के टुकड़े चुन रहा था. उस वक्त पीएम मोदी अपने नाम के नारे लगवा रहे थे.( जिस वक्त देश शहीदों के शव के टुकड़े चुन रहा था. उसके ठीक डेढ़ घंटे बाद राहुल गांधी ठुमके लगा रहे थे, पुलवामा हत्याकांड के शहीदों की पीड़ा उनके चेहरे पर साफ झलकती है। कांग्रेस के पास इस आचरण के लिए कोई शब्द नहीं बचा है) इस विडियो का ब्योरा आपको ताल ठोक के के इस अंक में देखें

कांग्रेस की सिर्फ एक ही चाहत है ‘सत्ता’, इसके लिए कुछ भी? क्या झूठ फैलाना ठीक है,? क्या सत्ता के लिए किसी भी निम्न स्तर पर गिर जाना यही कांग्रेस की नीति है?

संबित पात्र ने बताया की एक प्र्वकता का कर्तव्य है जब उसे कोई अति महत्वपूर्ण घटना का पता चले तो वह तुरंत अपने पार्टी अध्यक्ष को सूचित करे। सुरजेवाला स्वयं यह मान रहे हैं की उनको पुलवामा हमले का 3: 14 दोपहर को पता चल गया था, फिर उन्होने क्या इस बात को राहुल गांधी के साथ सांझा नहीं किया? यदि नहीं तो वह कैसे प्रवक्ता हैं, और यदि किया तो फिर डेढ़ घंटे बाद राहुल को नाचने की क्या सूझी?

संबित जानते हैं की उनके इन प्रश्नों का उत्तर उन्हे कभी नहीं मिलेगा, परंतु सत्ता पक्ष भी विपक्ष से प्रश्न पूछ सकता है।

सुरजेवाला ने क्या कहा वह तो इस विडियो के बाद आप सब पढ़ ही लेंगे परंतु वह क्या छुपा रहे थे वह इस एपिसोड में आपको ज़रूर जानना चाहिए।

साभार ज़ी न्यूज़

अब आगे

पुलवामा अटैक पर कांग्रेस ने गुरुवार को एक प्रेस कॉन्फ्रेंस करके भारतीय जनता पार्टी पर पुलवामा हमले को लेकर राजनीति करने का आरोप लगाया है. कांग्रेस ने कहा कि ‘पीएम मोदी और अमित शाह बस इसका राजनीतिक फायदा उठा रहे हैं. उन्होंने राष्ट्रीय शोक की घोषणा भी नहीं की.’

कांग्रेस प्रवक्ता रणदीप सुरजेवाला ने कहा कि जिस वक्त देश शहीदों के शव के टुकड़े चुन रहा था. उस वक्त पीएम मोदी अपने नाम के नारे लगवा रहे थे और अमित शाह रैली में कांग्रेस पर हमला कर रहे थे.

सुरजेवाला ने कहा, ‘जब देश दोपहर में हुए पुलवामा अटैक पर शहीदों की जान जाने पर रो रहा था, तब पीएम मोदी शाम तक जिम कॉर्बेट पार्क में शाम तक फोटो शूट कराते रहे. पूरी दुनिया में कोई ऐसा पीएम है क्या? मेरे पास इस आचरण के लिए कोई शब्द नहीं बचे हैं.’

सुरजेवाला ने कहा कि हमले के बाद मोदी और शाह ने राष्ट्रीय शोक की भी घोषणा नहीं की, ताकि उनकी रैलियां और राजनीतिक कार्यक्रम रुक न जाएं.

कांग्रेस ने पीएम मोदी के दक्षिण कोरिया के दौरे पर भी सवाल उठाए. साथ ही सुरजेवाला ने ये भी कहा कि पीएम मोदी शहीदों को श्रद्धांजलि देने के लिए उनके परिवार वालों को इंतजार करवा रहे थे.

सुरजेवाला ने कश्मीर में बढ़ी अस्थिरता पर तो सवाल उठाया ही, पुलवामा अटैक पर सरकार के सामने सवाल रखे. उन्होंने कहा कि आतंकियों को इतनी बड़ी मात्रा में आरडीएक्स और रॉकेट लॉन्चर कैसे मिले? उन्होंने सवाल किया कि जब सीआरपीएफ जवानों की तैनाती में देरी हुई थी, तो उन्हें एयरलिफ्ट क्यों नहीं किया गया? जैश-ए-मुहम्मद की ओर से चलाए गए धमकी भरे वीडियो को नजरअंदाज क्यों किया गया?

PS Note: सुरजेवाला क्या प्रश्न ही पूछेंगे या फिर उपरोक्त प्रश्नों यानि राहुल के नाचने का कारण भी समझा पाएंगे

‘ये दुख की बात है, संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि तमाम देश आतंकवाद के खिलाफ भारत के साथ खड़े है, वहीं यहां कुछ दल देश के साथ नहीं हैं.’ संबित

नई दिल्ली: पुलवामा आतंकी हमले के मुद्दे पर कांग्रेस पर राजनीति करने का आरोप लगाते हुए बीजेपी ने शुक्रवार को कहा कि कुछ दल देश के साथ नहीं हैं और उनके ट्वीट पाकिस्तानी चैनल में दिखाए जा रहे हैं.

बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने से कहा कि कल ट्वीट करके हमारी सरकार की तरफ से ये जानकारी दी गई कि भारत का पानी पाकिस्तान में नहीं जाएगा, वो पानी भारत में डाइवर्ट होगा. उन्होंने कहा कि जो कभी नहीं हुआ, उसे कल स्पष्ट किया गया . इस कदम के बाद भारत की वाहवाही हो रही है. लेकिन सरकार की इस कार्रवाई से कुछ लोग परेशान हैं.

बीजेपी ने साधा कांग्रेस पर निशाना 
बीजेपी प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि उसके बाद मनीष तिवारी और शशि थरूर ने ट्वीट करके हिन्दुस्तान के विरोध में बात की है. उनके बयान पाकिस्तान के चैनल में दिख रहे हैं.

उन्होंने दावा किया कि पुलवामा हमले के बाद एक कांग्रेस प्रायोजित लेख छपता है जो हमारे जवानों की जाति विवेचना करता है. उन्होंने सवाल किया कि क्या सेना की कोई जाति होती है? 

पात्रा ने कहा, ‘ये दुख की बात है. संयुक्त राष्ट्र ने कहा है कि तमाम देश आतंकवाद के खिलाफ भारत के साथ खड़े है. वहीं यहां कुछ दल देश के साथ नहीं हैं . ’ उन्होंने जोर दिया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की डिप्लोमेसी के कारण ही आज विश्व के कई देश भारत के साथ खड़े हैं. कांग्रेस पर निशाना साधते हुए बीजेपी प्रवक्ता ने कहा कि आपने अगर 70 सालों में विश्व को गले लगा लिया होता तो आज ऐसी नौबत नहीं आती .

पात्रा ने कहा कि अभी कुछ देर पहले पाकिस्तानी सेना के प्रवक्ता ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में कहा कि भारत में होने वाले लोकसभा चुनाव से पहले ये हमला कैसे हुआ? वो तो दुश्मन देश है, लेकिन हमारे ही देश में ममता बनर्जी सहित कुछ नेताओं ने भी इस तरह की बातें कही हैं जो वाकई दुःखद है .

‘देश के कुछ दुश्मन देश के अंदर हैं’ 
उन्होंने कहा कि हम पाकिस्तान से पहले भी लड़े हैं, उसे नाकों चने चबाये हैं. मगर देश के कुछ दुश्मन देश के अंदर हैं, जिनके दिए साक्ष्यों को पाकिस्तान इस्तेमाल कर रहा है .

पुलवामा आतंकी हमले के बाद सरकार की कार्रवाई का जिक्र करते हुए संबित पात्रा ने कहा कि जो कायराना हमला पाकिस्तान ने करवाया था, उसके बाद भारत सरकार ने सभी अलगाववादी नेताओं के सुरक्षा चक्र को खत्म किया. 

उन्होंने जोर दिया कि जो बहुत सालों में नहीं हुआ था, वो हमने एक झटके में किया. इससे देश में कई सारे लोग परेशान हैं . कुछ लोगों को ये बात हजम नहीं हो रही है .बीजेपी प्रवक्ता ने जोर दिया कि जब संयुक्त राष्ट्र समेत तमाम देश आतंकवाद के खिलाफ भारत के साथ खड़े है, वहीं इस मुद्दे पर देश में एक स्वर निकलना चाहिए .

मध्य प्रदेश कांग्रेस कर्णाटक की तर्ज़ पर

भोपाल: मध्य प्रदेश में कांग्रेस सरकार के मंत्रियों के रवैए से नाराज सत्ता पक्ष के ही विधायक लामबंद हो रहे हैं. ऐसे 25 से अधिक विधायकों ने तो एक क्लब ही बना लिया है. इन विधायकों में से कई मुख्यमंत्री कमलनाथ के सामने अपनी नाराजगी भी जाहिर कर चुके हैं.

सूत्रों का कहना है कि कई मंत्रियों के रवैए से विधायकों में नाराजगी है. इस क्लब में अधिकांश विधायक वे हैं जो पहली बार विधानसभा का चुनाव जीत कर आए हैं. इस क्लब में सत्ताधारी दल के अलावा निर्दलीय और कांग्रेस सरकार को समर्थन देने वाले दलों के विधायक भी बताए जा रहे हैं.

बसपा की विधायक रामबाई ने संवाददाताओं से चर्चा करते हुए स्वीकार किया कि 28 से 30 विधायक इस क्लब में हैं. इसी तरह विधायक डॉ. हीरालाल अलावा ने भी विधायकों की नाराजगी का जिक्र किया. सूत्रों का कहना है कि विधायकों में इस बात को लेकर नाराजगी है कि उनके क्षेत्रों में अफसरों के तबादले उनकी सलाह के बगैर व उन्हें भरोसे में लिए बगैर किए जा रहे है और मंत्री लगातार उनकी उपेक्षा कर रहे हैं. 

आई.टी.आई में शहीद के नाम से शुरू होगा नया ट्रेड-माणूंके

राकेश शाह, चंडीगढ़, 21 फरवरी 2019
जगराओ से विधायक सरबजीत कौर माणूंके के सवाल पर तकनीकी शिक्षा मंत्री चरनजीत सिंह चन्नी ने बताया कि सरकार आई.टी.आई माणूंके में नया ट्रेड शुरू करने पर विचार कर रही है। माणूंके की मांग पर चन्नी ने भरोसा दिया कि माणूंके आई.टी.आई में नया ट्रेड माणूंके निवासी कामागाटामारू के शहीद बाबा ईशर सिंह के नाम पर शुरू किया जाएगा।
पहल के आधार पर सुधारेंगे धनौला वैटरनरी अस्पताल, बलबीर सिद्धू का मीत हेयर को भरोसा -बरनाला से ‘आप’ विधायक मीत हेयर के सवाल के जवाब में पशु पालन मंत्री बलबीर सिंह सिद्धू ने भरोसा दिया कि 31 मार्च के बाद सबसे पहले धनौला के पशु अस्पताल की हालत सुधारी जाएगी। मीत हेयर ने 1936 में बने इस पशु अस्पताल की हालत खस्ता होने के बारे में बताया था, जिस को अपने जवाब में मंत्री ने भी माना।
विधायक सन्दोआ ने उठाए सडक़ों के मसले – इसी तरह रोपड़ से ‘आप’ विधायक अमरजीत सिंह सन्दोआ पपराला गांव की फिरनी सडक़ के बारे में मुख्य मंत्री की मार्फत जवाब देते तृप्त रजिन्दर सिंह बाजवा ने बताया कि इस को जून 2020 तक फिर से बना दिया जाएगा। सन्दोआ की तरफ से सप्लीमंैटरी सवाल के द्वारा जल्दी बनाने पर जोर देने पर मंत्री ने भरोसा दिया कि 12 लाख रुपए का एस्टीमेट पास हो चुका है और जल्दी ही बना दिया जाएगा। सन्दोआ ने सप्लीमैंटरी सवाल द्वारा रोपड़ से बेला, रोपड़ से नूरपुर बेदी, घनौली से नालागढ़, श्री आनन्दपुर साहिब से बंगा और पुरखाली से हिमाचल प्रदेश को जाती सडक़ों की दयनीय हालत के बारे में बताया और जल्दी बनाने की मांग की।

पुलिस फ़ाइल पंचकुला

पंचकूला, 20 फरवरी :-

1. पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बतलाया कि खुफिया विभाग सैक्टर-12, पंचकुला की टीम द्वारा अभियोगांक संख्या 47 दिनांक 17.02.2019 धारा 392 भा.द.सं. तथा 25-54-59 आर्मस एक्ट थाना चण्डीमंदिर, पंचकुला मे आरोपी संदीप शर्मा पुत्र सुदर्शन शर्मा वासी # 518, न्यु इंदिरा कालॉनी, मनीमाजरा, चण्डीगढ़ हाल # 289/1, पिपली वाला टाऊन, नजदीक फौजी ढाबा, मनीमाजरा को MDC मार्किट के पास से विधि-पूर्वक गिरफ्तार किया गया । आरोपी से एक ई-रिक्शा बरामद किया गया ।

संत शिरोमणि गुरू रविदास का संदेश सभ्य समाज के निर्माण मे सहायक-नायब सिंह सैनी

पंचकूला 20 फरवरी।

          हरियाणा के श्रम एवं रोजगार मंत्री नायब सिंह सैनी ने कहा कि संत शिरोमणि गुरू रविदास के दिखाए मार्ग पर चलते हुए केन्द्र व हरियाणा सरकार समाज के अंतिम पंक्ति में खड़े व्यक्ति को सशक्त बनाने के साथ बिना भेदभाव के आर्थिक व सामाजिक विकास की दिशा में कार्य कर रही है।     श्री सैनी जिला सैक्टर 1 स्थित जिला सचिवालय के सभागार में अनुसूचित जाति एवं पिछडे वर्ग कल्याण विभाग एवं जिला प्रशासन के सहयोग से संत गुरू रविदास जयंती के उपलक्ष्य में आयोजित कार्यक्रम में मुख्य अतिथि के रूप में बोल रहे थे। उन्होंने कहा कि हरियाणा के मुख्यमंत्री ने निर्णय लेकर सराहनीय प्रयास किया है कि प्रदेश में संत महापुरूषों की जंयतियों को सरकारी स्तर पर मनाया जाए और यह कार्य प्रदेश में भली भांति किया जा रहा है ताकि अपने पूर्वजों के द्वारा दी गई शिक्षाओं का संदेश आम नागरिकों तक पहंुच सकें। इन्हीं महापुरूषों के प्रकाश उत्सव एवं जयंतियों के माध्यम से हमारे समाज में अच्छा संदेश जा रहा है।

     श्रम एवं रोजगार मंत्री ने कहा कि जो समाज अपने पूर्वजों को सदैव याद रखता है वह समाज प्रगतिशील बनकर आगे बढता है। इसके साथ साथ जो समाज अपने पूर्वजों को भूला देता है वह तरक्की कर कभी आगे नहंी बढ सकता। उन्होंने कहा कि इस प्रकार हमारी संस्कृति एवं धरोहर को दिवसों का याद करने से भावि पीढियों को उनके इतिहास के बारे में जानकारी मिलती है। उन्होंने कहा कि संत शिरोमणि रविदास ने जो संदेश लगभग 600 साल पहले दिया वह आज भी प्रासांगिक है तथा पूरा समाज उसका अनुसरण कर रहा है।

     उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेन्द्र मोदी भी महान संतो के प्रशस्त मार्ग का अनुसरण करते हुए देश में गरीबों के लिए आयुष्मान भारत योजना को लेकर आए है। इस योजना के तहत गरीब परिवारों के गोल्डन कार्ड बनाए जा रहे हैं और वे अपनी बीमारी का ईलाज सरकारी अस्पतालों के साथ साथ पैनल पर रखे गए किसी भी प्राईवेट अस्पतालों में भी करवा सकतंे है। यह योजना क्रियान्वित करके प्रधानमंत्री ने पं0 दीनदयाल उपाध्याय की सोच को मूर्तरूप दिया है। उन्होंने जिलावासियों व प्र्रदेशवासियों से आग्रह करते हुए कहा कि वे संत रविदास के अपनाए हुए मार्ग को अपनाकर एक आदर्श समाज एवं राष्ट्र के नवनिर्माण में अपना सहयोग दें।

     समारोह को सम्बोधित करते हुए अम्बाला लोकसभा क्षेत्र के संासद रतन लाल कटारिया ने कहा कि संत गुरू रविदास का संदेश समस्त मानव जाति के लिए था और उन्होंने अपने जीवन में कड़ी मेहनत कर समाज को नई दिशा देने एवं बराबरी का दर्जा देने की दिशा में शिक्षा एवं संदेश दिया। उन्होंने कहा कि मनुष्य जन्म लेता है तो उसकी कोई धर्म एवं जाति नहीं होती। संत रविदास ने अपना समस्त जीवन समाज को समतामूलक समाज में बांधने का कार्य किया। उन्होंने डा. भीमराव अम्बेडकर पर प्रकाश डालते हुए कहा कि उन्होंने संविधान में सभी को बराबर का हक दिया। संविधान में जो गरीब लोगों केा हक दिए गए हैं वे उन्हें अवश्य मिलने चाहिए। उन्होंने जिला प्रशासन का विशेषतौर पर आभार प्रकट करते हुए खुशी जाहिर कि उन्होनें संत रविदास जंयती पर शानदार कार्यक्रम आयोजित किया है। इसके माध्यम से संत गुरू रविदास का संदेश भी बेहतर ढंग से जाएगा।

     इस मौके पर पंचकूला के विधायक एवं मुख्य सचेतक ज्ञानचंद गुप्ता ने प्रदेश एवं देशवासियों को संत गुरू रविदास जंयती की बधाई एवं शुभकामनाएं देते हुए कहा कि हमें गुरू रविदास जी के बताए हुए रास्ते पर चलकर जाति पाति से उपर उठकर समानता लाने का कार्य करना चाहिए। ऐसा करके उस महान आत्मा के सपने को साकार करने में कारगर सिद्ध होंगें। उन्होंने कहा कि पूरे प्रदेश में सरकारी स्तर पर संत गुरू रविदास जंयती के उपलक्ष्य में कार्यक्रम आयोजित किए जा रहे है। यह कार्यक्रम भी इसी कड़ी का हिस्सा है। उन्होंने कहा कि पिछली सरकारों ने महापुरूषों की जंयती मनाने की दिशा में कोई ध्यान नहीं दिया। मुख्यमंत्री मनोहरलाल ने यह निर्णय लेकर समाज के लोगों को महापुरूषों के जन्म दिन मनाने की सौगात देकर बड़ा अनुकरणीय कार्य किया।     समारोह में अपने स्वागतीय भाषण में उपायुक्त मुकुल कुमार ने कहा कि संत रविदास की शिक्षाएं एवं संदेश को जीवन में अपनाना चाहिए ताकि समाज व राष्ट्र का सामरिक दृष्टि से बिना भेदभाव के निर्माण किया जा सके।

     कार्यक्रम में श्रम एवं रोजगार मंत्री ने सैक्टर 15 स्थित गुरू रविदास सभा को 5 लाख रुपए की राशि देने की घोषणा की। इससे  पूर्व उन्होंने गुरू रविदास के चित्र पर पुष्प अर्पित कर उन्हें याद किया। इसके साथ सांसद रतनलाल कटारिया व विधायक गुप्ता ने भी संत रविदास के चित्र पर पुष्प अर्पित किए। श्रम एंव रोजगार मंत्री ने दीप प्रज्जवलित कर कार्यक्रम का शुभारम्भ किया। सैक्टर 19 के वरिष्ठ माध्यमिक विद्यालय के बच्चों ने संत रविदास के जीवन पर आधारित सांस्कृतिक कार्यक्रमों की शानदार प्रस्तुति दी।

     इस अवसर पर भाजपा उपाध्यक्ष बंतो कटारिया, जिला भाजपा प्रधान दीपक शर्मा, महामंत्री हरेन्द्र मलिक, अतिरिक्त उपायुक्त उतम सिंह, एसडीएम पंकज सेतिया, नगराधीश ममता शर्मा, तहसीलदार वीरेन्द्र गिल, जिला कल्याण अधिकारी विनोद चावला, जिला शिक्षा अधिकारी एच एस सैनी, डीईईओ उर्मिल बांगड, के एस कटारिया, बी एस रंगा, वीपी चैधरी, अशोक रंगा, डी पी पुनिया सहित कई गणमान्य नागरिक, अधिकारी व स्कूली छात्र मौजूद रहे।

महंगाई भत्ता बढ्ने से 1.1 करोड़ कर्मचारियों और पेंशन धारकों को होगा लाभ

नई दिल्ली: केन्द्रीय मंत्रिमंडल ने मंगलवार को सरकारी कर्मचारियों का महंगाई भत्ता और महंगाई क्षतिपूर्ति में तीन प्रतिशत बढ़ाने के प्रस्ताव को मंजूरी दे दी. बढ़ा भत्ता एक जनवरी 2019 से लागू माना जाएगा. इससे केन्द्र सरकार के 1.1 करोड़ कर्मचारियों और पेंशनभोगियों को फायदा होगा. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की अध्यक्षता में मंगलवार को यहां हुई बैठक में यह निर्णय लिया गया. इस वृद्धि के बाद महंगाई भत्ता 12 प्रतिशत हो जायेगा. मंत्रिमंडल की बैठक के बाद फैसले की जानकारी देते हुये वित्त मंत्री अरुण जेटली ने संवाददाताओं को बताया कि मंत्रिमंडल ने सरकारी कर्मचारियों का महंगाई भत्ता तीन प्रतिशत बढ़ाने का फैसला किया है.

महंगाई भत्ता बढ़ने से केन्द्र सरकार के 48.41 लाख कर्मचारियों को फायदा मिलेगा
इस समय कर्मचारियों का महंगाई भत्ता नौ प्रतिशत है. बढ़ा हुआ भत्ता एक जनवरी 2019 से लागू होगा. महंगाई भत्ता बढ़ने से केन्द्र सरकार के 48.41 लाख कर्मचारियों और 62.03 लाख पेंशनभोगियों को फायदा होगा. महंगाई भत्ते की यह वृद्धि 7वें केन्द्रीय वेतन आयोग की सिफारिशों के अनुरूप है. भत्ते में स्वीकार्य फार्मूले के अनुरूप वृद्धि हुई है. 

इससे पहले 29 अगस्त 2018 को महंगाई भत्ता बढ़ाया गया था
इससे पहले 29 अगस्त 2018 को आर्थिक मामलों की केंद्रीय कैबिनेट की बैठक में मोदी सरकार ने केंद्रीय कर्मचारियों को सौगात देते हुए महंगाई भत्‍ता (DA) दो फीसदी बढ़ा दिया था. उस समय केंद्रीय कर्मचारियों को महंगाई भत्ता 7 फीसदी मिलता था. जिसे बढ़ाने के बाद 9 फीसदी कर दिया गया था. बता दें, महंगाई भत्ता की गणना कर्मचारी की बेसिक सैलरी के आधार पर होती है. उससे पहले मार्च 2018 में सरकार ने दो फीसदी डीए बढ़ाया था. इसे 5 से बढ़ाकर 7 फीसदी कर दिया गया था. 

Chandigarh Police is committed to ensuring the security & safety of all citizens of the country residing in or moving through the City

            Today, Senior Officers of Chandigarh Police led by DGP, Chandigarh Sh. Sanjay Baniwal, DIG Dr. O.P. Mishra and SSP/Security Sh. Shashank Anand held a meeting with a delegation of persons belonging to the state of Jammu & Kashmir (J&K) who are residing in Chandigarh to reassure them about their safety and security in the city. The persons who attended the meeting appreciated the sensitive and caring nature of the residents of Chandigarh towards them. A minute of silence as a mark of homage and respect to the martyrs of the recent Pulwama terror attack was also observed by all present in the meeting.

            The SDPOs and SHOs have also been directed to hold similar confidence building meetings in their area. Chandigarh Police appeals to all to maintain peace and harmony. Under no circumstances shall anyone be allowed to disturb public order and peace. 

            Chandigarh Police is committed to ensuring the security & safety of all citizens of the country residing in or moving through the City Beautiful Chandigarh.

राजनाथ सिंह और एनएसए सहित अन्य अधिकारियों की शिखरवार्ता

जम्मू-कश्मीर के पुलवामा में बीते गुरुवार को सीआरपीएफ (CRPF) के कॉन्वॉय पर हुए फिदायीन हमले में 40 से अधिक जवान शहीद हो गए थे. उनकी इस शहादत से देशभर में गुस्सा फैला हुआ है. हर चरफ यही मांग की जा रही है कि जवानों की शहादत का जल्द से जल्द बदला लिया जाए. वहीं सूत्रों की मानें तो मोदी सरकार इसके लिए एक्शन में भी नजर आ रही है. सूत्रों के अनुसार मोदी सरकार ने आतंकवाद के खिलाफ बड़ी लड़ाई लड़ने के लिए कमर कस ली है. बता दें कि शनिवार को सर्वदलीय बैठक के बाद गृहमंत्री राजनाथ सिंह के घर पर भी एक अहम मीटिंग हुई.

पुलवामा हमले का बदला लेने को लेकर कई अहम फैसले लिए गए

सूत्रों से मिली जानकारी के मुताबिक, नेशनल सिक्योरिटी एडवाइजर (NSA) अजीत डोभाल, रिसर्च एंड एनालिसिस विंग (RAW) चीफ अनिल धस्माना और इंटेलीजेंस ब्यूरो (IB) के एडिशनल डायरेक्टर इस मीटिंग में मौजूद थे. सूत्रों की मानें तो इस मीटिंग में पुलवामा हमले का बदला लेने और पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कदम उठाने को लेकर कई अहम फैसले लिए गए हैं. इस अहम मीटिंग से पहले ही महाराष्ट्र के यवतमाल में बीजेपी की एक रैली को संबोधित करते हुए प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने एक बार फिर से पुलवामा हमले का जिक्र कर करते हुए देशवासियों को आश्वस्त किया था.

आतंक के सरपरस्तों को कठोर सजा जरूर दी जाएगी

पीएम ने रैली में कहा- ‘मैंने कल यानी बीते शुक्रवार को भी कहा था और आज भी दोहरा रहा हूं कि पुलवामा के शहीदों का बलिदान व्यर्थ नहीं जाएगा. आतंकी संगठनों ने, आतंक के सरपरस्तों ने जो गुनाह किया है, वह चाहे जितना छिपने की कोशिश करें उन्हें कठोर सजा जरूर दी जाएगी. पीएम का ये बयान आने के कुछ देर बाद ही गृहमंत्री राजनाथ सिंह के घर पर उच्च स्तरीय मीटिंग बुलाई गई जिसमें कई तरह के बड़े फैसले लिए गए. वहीं केंद्र सरकार ने आज दिल्ली में हमले की कार्रवाई पर एकराय बनाने के लिए सर्वदलीय बैठक बुलाई थी. इसमें सभी नेताओं ने शहीदों को श्रद्धांजलि दी और आतंकवाद पर सख्त कार्रवाई करने का प्रस्ताव रखा.

भारत की एकता-अखंडता की हर कीमत पर सुरक्षा की जाएगी

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने भी कहा कि आंतकवाद की लड़ाई में विपक्ष सरकार के साथ खड़ी है. केंद्र सरकार जो भी कदम उठाएगी विपक्ष उसका पूरा समर्थन करेगा. प्राप्त जानकारी के अनुसार सर्वदलीय बैठक में पारित प्रस्ताव में कहा गया- आतंकवाद को सीमा पार से समर्थन मिलता है लेकिन भारतीय सुरक्षा बल इससे निपटने के लिए दृढ़ निश्चयी हैं. आतंकवाद के खिलाफ सुरक्षा बलों की लड़ाई में देश अपने सैनिकों के साथ खड़ा है. भारत की एकता-अखंडता की हर कीमत पर सुरक्षा की जाएगी. दूसरी तरफ हमले के विरोध में देशभर में प्रदर्शन हो रहे हैं. महाराष्ट्र के नालासोपारा स्टेशन पर में प्रदर्शनकारियों ने ट्रेन रोक दी. जम्मू के कई इलाकों में बीते शुक्रवार को कर्फ्यू लगाया गया था. यह शनिवार को भी जारी रहा. वहीं जम्मू-कश्मीर में हमले की जांच के लिए राष्ट्रीय जांच एजेंसी (एनआईए) की टीम पुलवामा पहुंच चुकी है.