Teachers’ Day 2019: 5 Sept.

Why Teachers’ Day is so special and why do we celebrate Teachers’ Day in India?  In India, Teachers’ day is celebrated on September 5 to honour Dr. Sarvepalli Radhakrishnan on his birth anniversary. 

Teacher’s Day 2019 will commemorate the 131st birth anniversary of Dr. Sarvepalli Radhakrishnan. Dr. Radhakrishnan highly believed that teachers should be the best minds in the country. Teachers’ Day began being celebrated on his  birthday since 1962, the year he became the second President of India.

Teachers’ Day 2019: Teacher’s Day is celebrated every year on September 5 to honour Dr. Sarvepalli Radhakrishnan on his birth anniversary. Dr. Sarvepalli Radhakrishnan was India’s first Vice President and second President. Dr. Radhakrishnan was born on September 5, 1888.

Teachers’ Day 2019: Significance

Teachers’ Day aims to value and acknowledge the contribution of all the teachers in shaping one’s lives. Though it is not a holiday and students are required to report to school, normal classes are replaced by activities of celebration in school, honouring the teachers for their hard work and endless contribution to a student’s educational life.

Teachers’ Day is dedicated to all the teachers, gurus and mentors who guide their successors to become better human beings, just like Dr Sarvepalli Radhakrishnan did in his time.

Teachers’ Day 2019: Dr. Sarvepalli Radhakrishnan

Dr. Sarvepalli Radhakrishnan served as India’s first Vice President from 1952-1962 and as India’s second President from 1962-1967.

Dr. Sarvepalli Radhakrishnan was one of India’s most distinguished scholars of the 20th century. His book, ‘The Philosophy of Rabindranath Tagore’ attracted global attention to Indian philosophy.

Dr. Radhakrishnan taught in several distinguished educational institutions including Oxford University, University of Chicago, Calcutta University, Mysore University and Madras Presidency College.

Dr. Radhakrishnan’s philosophy was grounded in Advaita Vedanta. He defended Hinduism against “uninformed Western criticism” and played a major role in the formation of contemporary Hindu identity. He earned the reputation of being the bridge-builder between India and the West.

Dr. Radhakrishnan was one of the founders of Helpage India, a renowned NGO for elderly underprivileged in India.

Dr. Sarvepalli Radhakrishnan Awards

Dr. Radhakrishnan was awarded the Bharat Ratna, India’s highest civilian award, in 1954.

He was awarded several other distinguished awards as well such as a knighthood in 1931 and honorary membership of the British Royal Order of Merit in 1963.

Dr. Sarvepalli Radhakrishnan was nominated for the Nobel Prize 27 times, 16 times for the Nobel Prize in literature and 11 times for the Nobel Peace Prize.

आज का राशिफल

Aries

02 सितंबर 2019: नया ऑफिस या दुकान खरीदने का मन बन सकता है. कारोबार के लिए यात्रा होगी. प्रॉपर्टी खरीदने की प्लानिंग हो सकती है. नौकरीपेशा और बिजनेस वाले लोग सही दिशा में आगे बढ़ने के लिए किसी अनुभवी की सलाह लें तो ही अच्छा है. बिजनेस या नौकरी के किसी काम सेयात्रा हो सकती है. कामकाज में सुधार होगा. जीवनसाथी या लवर आपको कोई गिफ्ट दे सकता है. आपके प्रेम संबंध भी मजबूत होंगे. आप किसी भी मामले में भावुक न हों.

Taurus

02 सितंबर 2019: आज आप आलस और थकान भी महसूस कर सकते हैं. विपरीत लिंग के कुछ लोगों से बहस हो सकती है. मतभेद के भी योग हैं. काम को लेकर किसी तरह का डर मन में न रखें. आज आप पुराने कामों का फॉलोअप जरूर लें. अपने प्रेजेंटेशन या प्लान एक बार चेक करें. किसीखास व्यक्ति के बारे में आपको नई बात पता चल सकती है. जरूरत के मुताबिक पैसों की व्यवस्था हो सकती है. साथी का रवैया आपको परेशान कर सकता है, लेकिन शादीशुदा लोगों के लिए दिन अच्छा है.

Gemini

02 सितंबर 2019: बिजनेस में दोस्तों से मदद मिल सकती है. रोजमर्रा के मामलों में दिन बहुत अच्छा हो सकता है. अपने पेशे में पूरी तरह सफल हो सकते हैं. अधूरे काम निपट सकते हैं. पुरानी चीजों में सुधार या बदलाव की संभावना है. संपत्ति के कामों में रुचि बढ़ने के योग हैं. फायदा होसकता है. अविवाहित प्रेमियों के लिए दिन अच्छा हो सकता है, लेकिन कुछ पुरानी बातों को भूलना होगा तो सब ठीक हो जाएगा. छोटी-सी बात पर गुस्सा कर के आप अपनी बनी-बनाई बात बिगाड़ भी सकते हैं.

Cancer

02 सितंबर 2019: आज रोजमर्रा के कामों में मन नहीं लगेगा. मन में आती कुछ बातें आपको दुखी कर सकती हैं. भावनाओं और गुस्से पर कंट्रोल करें. आप अति उत्साह और जल्दबाजी में कोई काम बिगाड़ भी सकते हैं. ऑफिस में आपको ज्यादा मेहनत करनी पड़ सकती है. भोजन के मामले मेंआप थोड़े लापरवाह हो सकते हैं. आगे बढ़ने के लिए लगातार कोशिश करते रहें. आप किसी काम को पूरा करने के लिए जितनी कोशिशें करेंगे उतने ही सफल हो सकते हैं. प्रेमियों के लिए दिन अच्छा है.

Leo

02 सितंबर 2019: आप ऑफिस के फालतू विवादों से दूर रहने की कोशिश करें. अधिकारी आपसे खुश हो सकते हैं. साथ काम करने वाले लोगों से सहयोग मिल सकता है. पैसों से जुड़े कुछ वादे या बड़े प्लान आप बना सकते हैं. कामकाज या बिजनेस के सिलसिले में किसी यात्रा का कार्यक्रम बनसकता है. बिजनेस में फायदेमंद सौदे होने की संभावना है. आपको कुछ समझौते करने पड़ सकते हैं. महत्वपूर्ण कामों पर ध्यान दें. सोचे हुए काम पूरे हो सकते हैं. नए प्लान बन सकते हैं.

Virgo

02 सितंबर 2019: नौकरी में बेकार के कामों में आप उलझ सकते हैं. अच्छे नतीजों के लिए जरूरत से ज्यादा मेहनत करनी पड़ सकती है. नौकरी बदलने का मूड है तो संभलकर रहें. आज ऐसी कोशिश न करें. छोटी-मोटी बहस से मूड खराब होने के योग हैं. अपने मन की बात किसी से शेयर नकरें. आज आप जरूरी कामों पर ध्यान दें. वैवाहिक जीवन सुखमय रहेगा. प्रेम संबंधों में सफलता के योग हैं. सरदर्द और कफ रोग की संभावना है. आज अपनी सेहत का ध्यान रखें.

Libra

02 सितंबर 2019: बिजनेस में फायदे के योग हैं. कार्यस्थल पर वातावरण भी आपके फेवर में हो सकता है. ज्यादा मेहनत करनी पड़ सकती है, लेकिन दिन भी अच्छा रहेगा. आप दूसरों की जितनी मदद करेंगे, खुद भी उतने ही फायदे में हो सकते हैं. नई योजनाएं आज बन सकती हैं. कामकाज मेंसुधार होने के योग हैं. प्रेम संबंधों में उतार-चढ़ाव आ सकते हैं. लवर की किसी बात से आप दुखी हो सकते हैं. शादीशुदा लोगों को जीवनसाथी की मदद मिल सकती है. सेहत के मामले में लापरवाही न करें.

Scorpio

02 सितंबर 2019: मेहनत ज्यादा करनी पड़ेगी. कामकाज का टेंशन भी बढ़ सकता है. पुराने मुद्दे न उठाएं. प्रेम जताने में संकोच न करें. वाहन चलाते वक्त सावधानी जरूरी है. नौकरी और बिजनेस के मामले में तनाव और फालतू खर्चे के योग हैं. ऑफिस में कुछ लोग आपके काम को नोटिसकरेंगे. करियर में गंभीरता से विचार करें. आपके कामकाज में बदलाव हो सकता है. नए काम की प्लानिंग आपके दिमाग में चलती रहेगी. पार्टनर आपकी भावनाओं का सम्मान करेगा.

Sagittarius

02 सितंबर 2019: दिनभर व्यस्त हो सकते हैं. अधिकारी आपकी बातों को महत्व देंगे. कार्यक्षेत्र में सम्मान मिलेगा. ज्यादा मेहनत करने से ही सफलता मिल पाएगी. रुका हुआ पैसा मिल सकता है. बिजनेस अच्छा चलेगा. इनकम बढ़ने के योग हैं. आज महत्वपूर्ण लोगों से कॉन्टैक्ट के योग बन रहे हैं.आपकी कार्यक्षमता बढ़ सकती है. आपकी सेहत में भी सुधार होने के योग हैं. पति-पत्नी की लव लाइफ अच्छी हो सकती है.

Capricorn

02 सितंबर 2019: आज आपका कारोबार बढ़ सकता है. जूनियर भी आपकी मदद करेंगे. कोई टेंशन भी आज खत्म हो सकती है.  समझदारी से काम लें. मकान की समस्या सुलझ जाएगी. बिजनेस में कोई फायदेमंद एग्रीमेंट होने के योग बन रहे हैं. पैसों की स्थिति में सुधार के लिए आप पूरीकोशिश करेंगे. कोई पार्टटाइम काम भी शुरू कर सकते हैं. व्यस्तता के कारण थकान हो सकती है. पूरा आराम भी जरूर करें.

Aquarius

02 सितंबर 2019: समय आपके फेवर में रहेगा. बिजनेस में प्रगति के योग बन रहे हैं. नौकरी के इंटरव्यू आपके फेवर में होने की संभावना बन रही है. जॉब या बिजनेस में आगे बढ़ने के अच्छे ऑफर्स मिल सकते है. अधिकारियों से संबंध सुधरेंगे. नौकरी-धंधे में फायदा देने वाले एग्रीमेंट हो सकते हैं.  नए लोगों से मुलाकात हो सकती है. आपसे कुछ लोग इम्प्रेस भी हो सकते हैं. उन पर आपका पॉजिटिव असर पड़ेगा. आज आप लोगों से अपनी बातें मनवाने में भी सफल हो सकते हैं.

Pisces

02 सितंबर 2019: बिजनेस में फायदा कुछ कम होगा. ट्रांसफर की स्थिति बन सकती है या ऐसी कोई खबर भी आपको मिल सकती है. नौकरी और कारोबार में पैसों का मामला उलझ सकता है. टेंशन बना रह सकता है. कोई खास काम निपटाना भी भूल सकते हैं. पुराने दोस्त अचानक सामने आसकते हैं और उनसे मदद मिल सकती है. जहां जरूरत लगे, वहां समझौता करने के लिए तैयार रहें.

आज का राशिफल

Aries

29 अगस्त 2019: किसी की मदद करने के लिए आप पहल कर सकते हैं. कुछ लोगों की उदारता से आपके काम पूरे होने के योग हैं. ऐसे लोगों से आज आप प्रभावित हो सकते हैं. आपको नया अनुभव मिल सकता है. नई जगहों की यात्रा हो सकती है. आपके कामकाज में कुछ बदलाव के भी योग हैं. सामाजिक दायरे में थोड़ाबदलाव हो सकता है.

Taurus

29 अगस्त 2019: किस्मत का साथ मिल सकता है. कहीं से पैसे भी मिल सकते हैं. प्रेमी या जीवनसाथी के साथ कुछ समय जरूर बिताएं. अविवाहित लोगों का विवाह तय हो सकता है. लव मैरिज करने वाले लोगों को परिवार से मदद मिल सकती है. बिजनेस पार्टनर से धन लाभ के योग हैं. बिजनेस में फायदा हो सकता है. नई योजनाएं बनेंगी. नौकरी की जगह में बदलाव के योग बन रहे हैं.

Gemini

29 अगस्त 2019: पैसों के मामलों में समय पर मदद मिल सकती है. नौकरी में पदोन्नति के लिए कोशिश कर रहे हैं तो उसका पॉजिटिव नतीजा मिल सकता है. कुछ नए लोगों से मुलाकात के योग बन रहे हैं. नौकरी का कोई नया मौका भी मिल सकता है. प्रेम संबंध और गहरे हो सकते हैं. किसी की मदद करने का मौका मिल सकता है. आप जिसकी जितनी मदद करेंगे, भविष्य में भी उतनी ही मदद आपको मिलेगी. बुजुर्ग से हुई बातचीत आपके लिए बहुत हद तक कारगर साबित हो सकती है.

Cancer

29 अगस्त 2019: अच्छे लोगों से मुलाकात होने की संभावना है. बड़ी योजनाओं और विचारों पर बात होगी. किसी भी मौके का फायदा उठाने में देर न करें. खासतौर पर नौकरी का जो नया ऑफर आपको मिले, उस पर ध्यान दें. नई प्लानिंग पर भी काम शुरू हो सकता है. इसमें आपको सफलता मिलने के योग हैं. रिश्तों के मामले में कुछ खास सवालों के जवाब मिल सकते हैं. सभी के साथ सहयोग का रवैया रखें. वैवाहिक जीवन भी ठीक रहेगा.

Leo

29 अगस्त 2019: आज आप सकारात्मक तरीके से ज्यादा सोच-विचार करेंगे. चुनौतियों का एक दौर भी खत्म हो सकता है. धर्म-कर्म में रुचि और बढ़ सकती है. पैसों के किसी खास मामले में भी आप किसी से सलाह करें. परिवार के साथ रहने का समय मिलेगा. कई तरह के रचनात्मक विचार मन में आ सकते हैं. जीवनसाथी के साथ अच्छा समय बीत सकता है.

Virgo

29 अगस्त 2019: करियर में आगे बढ़ने और पैसे कमाने के लिए कोई योजना बन सकती है. ऑफिस में काम भी ज्यादा रहेगा, लेकिन आप काम बांट देंगे, तो आसानी से निपट सकता है. पैसों से जुड़े कुछ अच्छे मौके मिलने के योग हैं. परिवार में कोई खुशी का कार्यक्रम बन सकता है, जिसमें आप शामिल हो सकते हैं. आप खुश रहेंगे. कारोबार बढ़ाने वाले काम हो सकते हैं. बिजनेस में संतान से भी आपको मदद मिल सकती है. वैवाहिक जीवन सुखमय हो सकता है.

Libra

29 अगस्त 2019: नई जिम्मेदारी आपको मिल सकती है. चतुराई से काम पूरा हो जाएगा. अच्छे कामों के लिए आपको सम्मान भी मिल सकता है. खरीददारी करते समय खुद पर कंट्रोल करें. इससे आपको ही फायदा होगा. कई तरह की जिम्मेदारियां के कारण आप व्यस्त हो सकते हैं. उनसे आपको फायदा हो सकता है. परिवार में शांति रहेगी. पैसों की स्थिति थोड़ी बेहतर हो सकती है. मांगलिक कामों में शामिल होने के मौके मिल सकते हैं.

Scorpio

29 अगस्त 2019: दोस्तों से मुलाकात होगी और मदद मिल सकती है. पैसों की स्थिति में सुधार लाने की कोशिश भी सफल हो सकती है. नौकरी या बिजनेस में कुछ ऐसे काम होने के योग हैं जिनका फायदा आपको आने वाले दिनों में मिलेगा. रुका हुआ पैसा भी आपको मिल सकता है. खुद को समय देने की कोशिश करेंगे. जिम्मेदारियों पर ध्यान दें. किसी अच्छी आदत से आपको धन लाभ या फायदा हो सकता है. दोस्तों से मुलाकात होगी.

Sagittarius

29 अगस्त 2019: आप अपने काम पर बहुत बारीकी से ध्यान देंगे. नौकरी या बिजनेस में फायदे वाले काम का ऑफर मिल सकता है. नई योजना पर विचार करने और उस पर काम करने के लिहाज से दिन अच्छा है. जीवनसाथी से भी मदद मिल सकती है. आपका सकारात्मक रवैया लोगों को पसंद आएगा. पैसा कमाने के लिए कोई नई तरकीब आज आप लगा सकते हैं. दूसरों की मदद से कोई बड़ा काम भी समय से पहले हो सकता है. शैक्षणिक और कानूनी कामों में सफलता मिल सकती है.

Capricorn

29 अगस्त 2019: ऑफिस और बिजनेस में आपकी इमेज बढ़ सकती है. किसी प्रोजेक्ट, निवेश या आपकी नौकरी को लेकर बड़ा फैसला हो सकता है. जो भी फैसला होगा आपके फेवर में ही रहेगा. अचानक करियर से जुड़े कुछ अच्छे ऑफर मिल सकते हैं. ऑफिस का खास काम आप किसी नए तरीके से निपटा सकते हैं. अपने काम के दम पर आज आप साथ के लोगों को इम्प्रेस कर सकते हैं. दूसरों के अनुभवों के कारण दिमाग में कई तरह की प्लानिंग चल सकती हैं.

Aquarius

29 अगस्त 2019: आप सपनों को पूरा करने की दिशा में कदम बढ़ा सकते हैं. साथ लेकर चलने वाले विचार नौकरी में आपके लिए मददगार हो सकते हैं. बिजनेस में आसपास के लोगों से मदद मिल सकती है. कोई बड़ा ऑफर भी आपको मिल सकता है. पैसों का कोई मामला उठे, तो उसे सुलझा लें. आज आप कारोबार में कोई बड़ी योजना बना सकते हैं. दाम्पत्य जीवन में मधुरता आ सकती है.

Pisces

29 अगस्त 2019: ज्यादातर मामलों में दिन अच्छा कहा जा सकता है. कठिन काम भी आसानी से होने की संभावना है. करियर में आगे बढ़ने के मौके आज आपको मिल सकते हैं. जिन लोगों से आपकी मुलाकात होगी वे आपके लिए मददगार रहेंगे पैसों की स्थिति में भी सुधार लाने के मौके मिलेंगे. इनकम बढ़ने की संभावना है. आपके कामकाज की तारीफ होगी. बिजनेस में फायदे के योग हैं. अच्छी स्थितियां बन सकती हैं. पदोन्नति के मौके मिलेंगे. यात्रा के बारे में विचार कर सकते हैं. दोस्तों के साथ अच्छा समय बीतेगा.

Rashtriya POSHAN Maah from 1st September 2019

28August 2019.Chandigarh.

POSHAN Abhiyaan “PM’s Overarching Scheme for Holistic Nourishment”, formally launched by Hon’ble Prime Minister from Jhunjhunu, Rajasthan on 08th March 2018.  Hon’ble Prime Minster has desired that the Mission should be converted into a JAN ANDOLAN for effective implementation and desired reach.

Last year, Rashtriya POSHAN Maah was celebrated in the month of September, 2018 followed by POSHAN Pakhwada from 08th to 22nd March, 2019. Ministry of Women and Child Development now decided to further intensify its efforts and celebrate POSHAN Maah during September, 2019.

As per guidelines of Ministry of Women & Child Development, Govt. of India, New Delhi, the month of September is to be celebrated as the Rashtriya POSHAN Maah across the country and U.T. Chandigarh will also celebrate Rashtriya POSHAN Maah from 1st September 2019 to 30th September 2019 to combat the challenge of malnutrition in convergence with line departments.

A meeting in convergence with all the line departments was held under the Chairmanship of Worthy Secretary Social Welfare, Chandigarh Administration on 28th August, 2019 to prepare and review the Action Plan for the celebration of POSHAN Maah to be held from 1st September, 2019 to 30th September, 2019. Ms. Navjot Kaur, Director Social Welfare, Dr. M.L. Dewan, DHS, Ms. Sudha Katyal, Principal Home Science College, Sh. Mahinder Singh, Joint Director Sports, Dr. Bhavneet, PGIMER and officers/officials from the department of Social Welfare, Health & Family Welfare, Sports, Public Health, School Education, Higher Education, Municipal Corporation, Housing and Urban Affairs, AYUSH, Information and Broadcasting attended the meeting.

POSHAN Maah 2019 intends to increase visibility of nutrition among mothers of young children, adolescent girls, pregnant and lactating women, family members (husbands, father, mothers-in-law), and service providers. Apart from organizing Jan Andolan activities across the month of September, State/UTs will adopt innovative approaches like “POSHAN Bhagidari” (enhance the community ownership) and promote “POSHAN Par Charcha ” and POSHAN Choupal (talks, panel discussion, debates etc.) to promote nutrition at State/district/Block level. 

During POSHAN Maah, the main focus will be on the Themes of “First 1000 Days of the Child, Anaemia, Diarrhoea, Hand Washing & Sanitation, Poshtik Aahar (wholesome Meal with diet diversity)”. Special emphases will be given to promote Exclusive Breastfeeding, Complementary Feeding, Antenatal and Postnatal Care, Dietary Diversity of Mothers & Children, Anemia Prevention, Sanitation and Hygiene, Diarrhea Management.

To make the POSHAN Maah a success, Anganwadi Workers, Auxiliary Nursing Midwifery (ANM), Lady Supervisors, Self Help Groups, Teachers, NYKs, NSS, NCC, Scouts & Guide, Brand Ambassadors, NGOs, Social Media Team, Local Leaders will act as Enablers.

The Secretary Social Welfare, Chandigarh Administration encouraged all the departments to show full enthusiasm and conduct activities based on all themes in accordance with the Ministry’s guidelines during POSHAN Maah. He also asked the department to take the innovative initiatives like  “POSHAN Bhagidari” (enhance the community ownership) and promoting “POSHAN Par Charcha ” and POSHAN Choupal (talks, panel discussion, debates etc.). 

At the end, Secretary Social Welfare also directed all the departments to prepare Action Plan for the celebration of POSHAN Maah and submit the same to the Department of Social Welfare.

अरुण जेटली नहीं रहे, वह 66 वर्ष के थे

नई दिल्‍ली : बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व वित्‍त मंत्री अरुण जेटली का शनिवार को निधन हो गया है. वह 9 अगस्‍त से दिल्‍ली स्थित एम्‍स में भर्ती थे. एम्‍स  की ओर से जारी की गई प्रेस रिलीज के अनुसार अरुण जेटली का निधन शनिवार को दोपहर 12:07 बजे हुआ है. पिछले दिनों अरुण जेटली को एक्‍स्‍ट्राकारपोरल मेंब्रेन ऑक्‍सीजनेशन (ECMO) और इंट्रा ऐरोटिक बैलून (IABP) सपोर्ट पर रखा गया था. अरुण जेटली को सांस लेने में तकलीफ के चलते 9 अगस्‍त को एम्‍स में भर्ती कराया गया था. 

बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता अरुण जेटली के निधन की खबर सुनकर गृह मंत्री और बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह अपने हैदराबाद दौरे को बीच में खत्‍म करके दिल्‍ली लौट रहे हैं. बीजेपी अध्‍यक्ष अमित शाह ने कहा कि अरुण जेटली जी के निधन से मुझे गहरा आघात लगा है. मैंने एक वरिष्‍ठ पार्टी नेता ही नहीं खोया, बल्कि एक ऐसा महत्‍वपूर्ण पारिवारिक सदस्‍य खोया है जो हमेशा मेरे लिए मार्गदर्शक रहेंगे.

रक्षा मंत्री राजनाथ सिंह और स्‍मृति ईरानी समेत अन्‍य नेताओं ने अरुण जेटली के निधन पर शोक जताया है. कांग्रेस की ओर से भी शोक जताया गया है. उप राष्‍ट्रपति वेंकैया नायडू भी आंध्र प्रदेश के दौरे को बीच में रद्द करके दिल्‍ली आ रहे हैं.

ऐसा रहा है अरुण जेटली का सफर :

1. अरुण जेटली का जन्‍म 28 दिसंबर, 1952 को दिल्‍ली में हुआ था. उनके पिता पेशे से वकील थे. 
2. अरुण जेटली ने नई दिल्ली के सेंट जेवियर्स स्कूल से 1957-69 तक पढ़ाई की. इसके बाद उन्होंने श्री राम कॉलेज ऑफ कॉमर्स से बीकॉम किया. उन्‍होंने दिल्‍ली यूनिवर्सिटी से 1977 में लॉ की पढ़ाई पूरी की. 
3. अरुण जेटली लॉ की पढ़ाई के दौर में अखिल भारतीय विद्यार्थी परिषद (एबीवीपी) के छात्र नेता भी थे. डीयू में पढ़ाई के दौरान ही वह 1974 में डीयू स्टूडेंट यूनियन के अध्यक्ष बने.

सोनिया गांधी काँग्रेस की अन्तरिम अध्यक्ष नियुक्त

कितना भी गिन लो ढाक के 3 पात। जग हँसाई का पात्र बनी कॉंग्रेस ने फिर से अपनी नीति और नीयत साफ कर दी है। पिछले ढाई महीने से कांग्रेस को अपने अध्‍यक्ष पद के लि‍ए चेहरे की तलाश थी, लेकिन श‍न‍िवार को हुई कांग्रेस वर्क‍िंग कमेटी की बैठक में फैसला लिया गया. इसके बाद सोनिया गांधी को कांग्रेस का अंतरिम अध्‍यक्ष न‍ियुक्‍त कर दिया गया है. मज़ेदार बात यह है की सोनिया राहुल ने इस बैठक में भाग तक नहीं लिया था। बस इस बैठा में प्रियंका वाड्रा रहीं थीं जो अपनी बात रख रहीं थीं। गांधी परिवार से इतर कॉंग्रेस अध्यक्ष की खोज के लिए पिछले कई दिनों से जद्द-ओ-जहद चल रही थी। कांग्रेस ने फैसला लिया है कि जब तक पार्टी को नया अध्‍यक्ष नहीं मिल जाता, तब तक वह इस पद पर बनी रहेंगी. या यूं कहें कि जब तक राहुल गांधी नहीं मान जाते तब तक सोनिया पुन: कॉंग्रेस कि कमान संभालेंगी

नई दिल्‍ली: आखि‍रकार लंबी जद्दोजहद के बाद कांग्रेस ने अपने अंतरिम अध्‍यक्ष की खोज पूरी कर ली. सोन‍िया गांधी को कांग्रेस का नया अंतरिम अध्‍यक्ष चुना गया है. पिछले ढाई महीने से कांग्रेस को अपने अध्‍यक्ष पद के लि‍ए चेहरे की तलाश थी, लेकिन श‍न‍िवार को हुई कांग्रेस वर्क‍िंग कमेटी की बैठक में फैसला लिया गया. इसके बाद सोनिया गांधी को कांग्रेस का अंतरिम अध्‍यक्ष न‍ियुक्‍त कर दिया गया है.

कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा, सोनि‍या गांधी हमारी नई अध्‍यक्ष होंगी. इससे पहले राहुल गांधी का इस्‍तीफा कांग्रेस ने स्‍वीकार कर लि‍या. इसके बाद सर्व सम्‍मत‍ि से सोन‍िया गांधी को अध्‍यक्ष चुन लिया गया. कांग्रेस ने फैसला लिया है कि जब तक पार्टी को नया अध्‍यक्ष नहीं मिल जाता, तब तक वह इस पद पर बनी रहेंगी.

कांग्रेस कार्यकारिणी (सीडब्ल्यूसी) की शनिवार की शाम दोबारा हुई बैठक में पार्टी ने सोनिया गांधी को अंतरिम कांग्रेस अध्यक्ष नियुक्त किया. इसके बाद निवर्तमान कांग्रेस प्रमुख राहुल गांधी के इस्तीफे पर प्रस्ताव पारित हुआ. इससे पहले सोनिया गांधी ने 1998 से लेकर 2017 तक कांग्रेस की कमान संभाली थी, जिसके बाद राहुल गांधी को कांग्रेस अध्यक्ष बनाया गया था.

राहुल गांधी ने कहा था गांधी पर‍िवार से नहीं होगा अध्‍यक्ष
राहुल गांधी ने अध्‍यक्ष पद से इस्‍तीफा देते हुए कहा था कि इस बार पार्टी का अध्‍यक्ष नेहरू गांधी पर‍िवार से  नहीं होगा. उन्‍होंने इस रेस से प्रियंका गांधी को भी बाहर कर दिया था. इसके बाद करीब ढाई महीने तक लगातार कांग्रेस अध्‍यक्ष पद की खोज होती रही, लेकिन अंत में ये खोज सोन‍िया गांधी पर खत्‍म हुई.

कांग्रेस ने सर्वसम्‍म‍ति‍ से 3 प्रस्‍ताव पार‍ित किए. कांग्रेस मीट‍िंग में राहुल गांधी ने पार्टी का पक्ष रखा. राहुल गांधी ने गरीब, किसान, अल्‍पसंख्‍यकों की आवाज उठाई. वह उनकी आवाज बने. राहुल ने कांग्रेस को नई दिशा दी. वह समाज के हर गरीब के लिए आवाज बने. उम्‍मीद की नई क‍िरण बनकर उभरे.

इससे पहले जब कांग्रेस की मीट‍िंग चल रही थी, तभी राहुल गांधी मीट‍िंग छोड़कर आए और उन्‍होंने मीड‍िया को संबोध‍ित करते हुए कहा, जम्‍मू-कश्‍मीर में हालात खराब हैं. वहां पर लोग मारे जा रहे हैं. हमें CWC की मीटिंग रोककर यहां आना पड़ा. इस मामले में प्रधानमंत्री को सामने आकर साफ साफ जवाब देना चाह‍िए.

राहुल गांधी ने कहा, कश्‍मीर में हालात बहुत खराब हैं. किसी को कोई आजादी नहीं है. ऐसे में खुद प्रधानमंत्री को सामने आकर पूरी सच्‍चाई रखनी चाहि‍ए.

सुबह हुई CWC की बैठक में नेताओं के पांच समूह बनाए गए थे, जिन्होंने देश भर के नेताओं की राय जानी. अब इन पांच समूहों की रिपोर्ट CWC में रखी जाएगी. ये भी कहा जा रहा है कि सभी समि‍तियों ने अपनी रिपोर्ट में राहुल गांधी का ही नाम लिया है.

राहुल से की थी इस्‍तीफा वापस लेने की अपील
इससे पहले राहुल गांधी के उत्तराधिकारी का फैसला करने के लिए शनिवार को हुई कांग्रेस कार्यकारिणी (सीडब्ल्यूसी) की बैठक के दौरान राहुल गांधी से इस्तीफे के उनके फैसले पर फिर से विचार करने की अपील की गई. सीडब्ल्यूसी की ओर से कहा गया कि उनके इस्तीफे पर अंतिम फैसला होना अभी बाकी है. बैठक के बाद कांग्रेस के मीडिया प्रभारी रणदीप सिंह सुरजेवाला ने मीडियाकर्मियों से कहा, “सीडब्ल्यूसी ने सर्वसम्मति से राहुल गांधी से पार्टी का नेतृत्व करने की अपील की है. क्योंकि वह इस समय शीर्ष पद के लिए सबसे बेहतर व्यक्ति हैं. क्योंकि भाजपा की सरकार लोगों के अधिकारों को कमजोर करते हुए लोकतंत्र पर हमले कर रही है.”

special-lectures-at-pu

Korel, Chandigarh July 31, 2019

                        The Department of Ancient Indian History, Culture & Archaeology, Panjab University, Chandigarh organized two special lectures in the Department.  Prof. Neeta Das, Former Professor of Architecture, Lucknow University & presently visiting faculty at the School of Architecture, CEPT University, Ahmedabad delivered a talk on the Conservation of Monuments. In her illustrated talk she highlighted that conservation is a continuous process.  In her view, the monumentalizing  a  monument does not help  so the monument should remain in use always. 

            The second lecture on Technical Aspects of Conservation and Application of Lime Mortar was delivered by Mr. Tapan Bhattacharya, Former Deputy Superintending Archaeological Engineer. He dwelt on the aims of conservation.  In his view authenticity, originality durability and structural strength of a monument should be kept in mind always while conserving it.  He stressed that there should not be any physical intervention in the monument while conserving it.

            The lectures were attended by faculty and students from the allied Departments also.

Advisor to the Administrator held a meeting on Jal Shakti Abhiyan

Chandigarh, 29th July 2019:

The Govt. of India has launched the Jal Shakti Abhiyan (JSA) for intensive water conservation measures in identified water stressed blocks and districts across the country. Chandigarh is a part of the phase 1 of this abhiyan from 1st July 2019 to 15th September 2019. The campaign will be a collaborative effort with the State Governments involving officers, groundwater experts and scientists who would be visiting the identified Blocks and Districts.  

Accordingly, Sh. Manoj Parida, IAS, Advisor to the Administrator, U.T, Chandigarh held a meeting on Jal Shakti Abhiyan today at UT Secretariat. The following points were discussed in order to conserve water:  

1. Water conservation and rainwater harvesting
2. Renovation of traditional and other water bodies
3. Reuse, bore well recharge structures
4. Watershed Development
5. Intensive afforestation

Jal Shakti Abhiyan will be collaborative effort between various departments like Municipal Corporation, Engineering Department, Forest Department etc. A Jal Shakti Andolan has already been launched to sensitize the public and to ensure people’s participation in water conservation. Schools, colleges, RWAs and market associations have been roped in to take active part in this andolan. Various tree plantation drives have been conducted to increase awareness and enhance green cover of the city.

The meeting was attended by the Sh. Arun Kumar Gupta, Home Secretary, Sh. KK Yadav, Commissioner Municipal Corporation, Sh. Sachin Rana, Additional Deputy Commissioner, Smt. Nazuk Kumar, Sub Divisional Magistrate (Central), Sh. Sudhanshu Gautam, Sub Divisional Magistrate (East), Sh. Manish Lohan, Assistant Estate Officer UT Chandigarh,  Sh. Mukesh Anand, Chief Engineer, UT Chandigarh and other officials of Chandigarh Administration.

मारपीट व झपटमारी के आरोपियो को किया गिरफ्तार

पंचकुला, 05 जुलाई :-

पुलिस उपायुक्त श्री कमलदीप गोयल जी के दिशा निर्देश पर जिला पुलिस द्वारा चलाई गयी अपराध विरोधी मुहिम मे पुलिस चौकी अमरावती की टीम द्वारा एक बड़ी कामयाबी हासिल की है।

पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते हूए बतलाया कि गत कुछ समय से शहर मे बढ़ रही स्नैचिंग की वारदातो पर अंकुश लगाने के लिए पुलिस उपायुक्त श्री कमलदीप गोयल जी ने जिला पुलिस को सख्त कार्यवाही करने के दिये हुए निर्देशो के अनुसार इंचार्ज अमरावती श्री जसविन्द्र सिंह के नेतृत्व मे उनकी टीम द्वारा त्वरित कार्यवाही करते हुए अभियोगांक संख्या 248 दिनांक 03.07.2019 धारा 323, 379-ए, 384, 506 भा0द0सं0 थाना पिंजौर मे छ: आरोपियों

1. रवि पुत्र कुलदीप वासी गांव नोलटा
2. गौरव उर्फ गोरी पुत्र धर्मपाल वासी गांव खरकाउ
3. रोहित पुत्र हरपाल वासी गांव डेहरा गुरू
4. मूकेश पुत्र प्रकाश वासी गांव नोलटा
5. विक्रम उर्फ विक्की पुत्र विष्णु वासी गांव कजियाणा
6. गौरव ठाकुर पुत्र प्रदीप वासी गांव मल्लाह

को द्वारा विधी पूर्वक गिरफ्तार किया गया है ।

ज्ञात हो कि दिनांक 03.07.2019 को मंजीत पुत्र प्रेम सिंह वासी सोनीपत द्वारा थाना पिंजौर मे एक अभियोग अंकित करवाया था कि उसकी श्री गणेश रोयल्टी नाम से एक कम्पनी है जिसमे पवन कुमार, जसवंत सिंह व नवीन उसकी कम्पनी मे बतौर मुंशी काम करते है । दिनांक 03.07.2019 को उपरोक्त सभी की ड्यूटी गांव बुर्ज कोटिया मे थी । तभी अचानक उपरोक्त सभी आरोपियान ने इन पर जानलेवा हमला कर दिया व इनके पास रूपयो से भरा एक बैग छीनकर फरार हो गये जिसमे 150000 रूपये थे व जाते-जाते जान से मारने की धमकी भी देकर गये । इस पर थाना पिंजौर द्वारा अभियोग अंकित करके कार्यवाही करते हुए उपरोक्त आरोपियान को गिरफ्तार कर लिया गया है । सभी आरोपियान को पेश माननीय न्यायालय किया गया जहां से माननीय न्यायालय द्वारा सभी को न्यायिक हिरासत मे भेजा गया । 

राहुल ने ट्विट्टर पर डाला 4 पन्नों का शिकायत पत्र

राहुल गांधी ने ट्विट्टर पर 4 पन्नों का शिकायति पत्र डाला है जिसकी शुरुआत उन्होने अपने इस्तीफे को दोहराते हुए की है। शेष पत्र में उन्होने भाजपा आरएसएस को कोसा है। एक बात और जो राहुल ने नहीं लिखी कि वह जनता के फैसले को स्वीकार नहीं कर पा रहे। राहुल की नज़र में भाजपा की जीत जनादेश नहीं अपितु वोटों की लूट खसूट है।

नई दिल्ली: कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी ने बुधवार को घोषणा की कि उन्होंने कांग्रेस अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे दिया है और उन्हें लोकसभा चुनाव में पार्टी के प्रदर्शन के लिए दोषी ठहराया जाना चाहिए, क्योंकि पार्टी 542 में से केवल 52 सीटों पर ही जीत दर्ज कर पाई. राहुल ने ट्विटर पर एक खुले पत्र में सार्वजनिक रूप से कहा कि भाजपा की व्यापक जीत ने यह साबित कर दिया है कि देश के संस्थागत ढांचे पर कब्जा करने का आरएसएस का लक्ष्य अब पूरा हो गया है.

राहुल ने अपने ट्विटर अकाउंट के जरिए कहा, “‘कांग्रेस पार्टी के अध्यक्ष के तौर पर मैं 2019 के चुनाव के नुकसान के लिए जिम्मेदार हूं. हमारी पार्टी के भविष्य के विकास के लिए जवाबदेही महत्वपूर्ण है. यही कारण है कि मैं कांग्रेस के अध्यक्ष पद से इस्तीफा दे रहा हूं.”

राहुल ने चार पेज का एक पत्र भी लिखा जिसमें उन्होंने कहा, “पार्टी के पुनर्निर्माण के लिए कठोर निर्णयों की आवश्यकता होती है और 2019 की विफलता के लिए कई लोगों को जवाबदेह बनाना होगा.” अपने पत्र में राहुल ने कहा, “आरएसएस भाजपा के वैचारिक माता-पिता, देश के संस्थागत ढांचे पर कब्जा करने में सफल रहे. उन्होंने 2019 के लोकसभा चुनाव में चुनाव आयोग की भूमिका पर सवाल उठाने की मांग की.”

राहुल ने कहा, “हमने चुनाव किसी राजनीतिक पार्टी के खिलाफ नहीं लड़ा बल्कि हमने भारतीय राज्य की पूरी मशीनरी से लड़ाई लड़ी, जिसका हर संस्थान विपक्ष के खिलाफ था. इससे अब साबित हो गया है कि हमारी संस्थागत तटस्थता अब भारत में मौजूद नहीं है.” राहुल ने आरोप लगाया कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की जीत उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की सांस नहीं रोकती है. उन्होंने कहा कि कोई भी राशि या प्रचार कभी भी सच्चाई की रोशनी को नहीं छिपा सकता है.  

राहुल ने अपनी चिट्ठी में जो लिखा, उसका टेक्स्ट कुछ इस प्रकार है:

“मेरा संघर्ष कभी भी राजनीतिक सत्ता के लिए साधारण लड़ाई नहीं रहा. मुझे भाजपा के प्रति कोई घृणा या क्रोध नहीं है, लेकिन मेरे शरीर में मौजूद रक्त की हर बून्द सहज रूप से भारत के उनके विचार का प्रतिरोध करती है. यह प्रतिरोध इसलिए पैदा होता है, क्योंकि मेरे होने की अनुमति एक भारतीय विचार से मिलती है और जो हमेशा उनके साथ सीधे टकराव में रहा है. यह कोई नई लड़ाई नहीं है; यह हजारों वर्षों से हमारी धरती पर छाई हुई है. जहां वे मतभेद देखते हैं, मैं समानता देखता हूं. जहां वे घृणा से देखते हैं, मैं प्रेम से देखता हूं. जहाँ वे डरते हैं, मैं गले लगाता हूं.

किसी भी तरह से मैं इस लड़ाई से पीछे नहीं हट रहा हूं. मैं कांग्रेस पार्टी का एक निष्ठावान सिपाही और भारत का एक समर्पित बेटा हूं और अपनी अंतिम सांस तक उनकी सेवा और सुरक्षा करता रहूंगा.

हमने एक मजबूत और गरिमापूर्ण चुनाव लड़ा. हमारा अभियान भारत के सभी लोगों, धर्मों और समुदायों के लिए भाईचारे, सहिष्णुता और सम्मान में से एक था. मैंने व्यक्तिगत रूप से प्रधान मंत्री, आरएसएस और उन सभी संस्थानों से लड़ाई लड़ी है, जिन पर उन्होंने कब्जा कर रखा है. मैंने संघर्ष किया क्योंकि मैं भारत से प्यार करता हूं और भारत ने जिन आदर्शों का निर्माण किया था, उनकी रक्षा के लिए मैंने संघर्ष किया. कई बार, मैं पूरी तरह से अकेला खड़ा था और मुझे इस पर बहुत गर्व है. मैंने अपने कार्यकर्ताओं और पार्टी के सदस्यों, पुरुषों और महिलाओं की भावना और समर्पण से बहुत कुछ सीखा है, जिन्होंने मुझे प्यार और शालीनता के बारे में सिखाया है.

एक स्वतंत्र और निष्पक्ष चुनाव के लिए किसी देश के संस्थानों की निष्पक्षता की आवश्यकता होती है; एक चुनाव बिना मध्यस्थों के निष्पक्ष नहीं हो सकता – एक स्वतंत्र प्रेस, एक स्वतंत्र न्यायपालिका और एक पारदर्शी चुनाव आयोग जो उद्देश्यपूर्ण और तटस्थ हो. न ही एक चुनाव स्वतंत्र हो सकता है, अगर एक पार्टी का वित्तीय संसाधनों पर पूर्ण एकाधिकार हो.

हमने 2019 के चुनाव में हमारी लड़ाई एक राजनीतिक पार्टी से नहीं थी. बल्कि, हमने पूरी सरकारी मशीनरी से लड़ाई लड़ी, जिसका हर संस्थान विपक्ष के खिलाफ था. अब यह स्पष्ट हो गया है कि हमारी संस्थागत तटस्थता अब अस्तित्व में नहीं है. हमारे देश की संस्थागत संरचना पर कब्जा करने वाले राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ के घोषित उद्देश्य अब पूरे हो गए हैं. हमारा लोकतंत्र बुनियादी रूप से कमजोर हुआ है. एक वास्तविक खतरा यह है कि अब से, चुनाव भारत के भविष्य को तय करने के बजाय औपचारिकता मात्र रह जाएंगे.

सत्ता पर कब्जा करने से भारत के लिए अकल्पनीय स्तर की हिंसा और दर्द होगा. किसानों, बेरोजगार युवाओं, महिलाओं, आदिवासियों, दलितों और अल्पसंख्यकों को सबसे ज्यादा नुकसान उठाना पड़ रहा है. हमारी अर्थव्यवस्था और राष्ट्र की प्रतिष्ठा पर प्रभाव विनाशकारी होगा. प्रधानमंत्री की जीत उनके खिलाफ भ्रष्टाचार के आरोपों की गंभीरता को कम नहीं करती है; कोई भी धन राशि और प्रचार कभी भी सच्चाई की रोशनी को छिपा नहीं सकता है. भारतीय राष्ट्र को अपनी संस्थाओं को पुनः प्राप्त करने और पुनर्जीवित करने के लिए एकजुट होना चाहिए. इस पुनर्जीवन का माध्यम कांग्रेस पार्टी होगी.

इस महत्वपूर्ण लक्ष्य को प्राप्त करने के लिए, कांग्रेस पार्टी को खुद को मौलिक रूप से बदलना होगा. आज भाजपा भारतीय लोगों की आवाज को व्यवस्थित रूप से कुचल रही है. इन आवाजों का बचाव करना कांग्रेस पार्टी का कर्तव्य है. भारत कभी भी एक आवाज नहीं रहा है. यह हमेशा आवाज़ों का एक समूह रहा है. यही भारत माता का सच्चा सार है.

देश और विदेश में, उन हजारों भारतीयों को धन्यवाद, जिन्होंने मुझे पत्र और समर्थन के संदेश भेजे हैं. मैं अपनी पूरी ताकत से कांग्रेस पार्टी के आदर्शों के लिए लड़ता रहूंगा. जब भी उन्हें मेरी सेवाओं या सुझाव की आवश्यकता होगी, मैं पार्टी के लिए उपलब्ध हूं. जो लोग कांग्रेस की विचारधारा का समर्थन करते हैं, विशेष रूप से हमारे समर्पित और प्यारे कार्यकर्ताओं के लिए, मुझे अपने भविष्य और आपके प्रति अत्यंत प्रेम पर पूर्ण विश्वास है. यह भारत में एक आदत है कि कोई भी शक्तिशाली सत्ता से चिपका रहता है, सत्ता का बलिदान नहीं करता. लेकिन हम एक गहरी वैचारिक लड़ाई और सत्ता की इच्छा का त्याग किए बिना अपने विरोधियों को परास्त नहीं कर पाएंगे. मैं एक कांग्रेसी पैदा हुआ था, यह पार्टी हमेशा मेरे साथ रही है और लहू के हर एक कतरे की तरह मेरे जीवन का अमिट हिस्सा है और हमेशा रहेगी.”