French singing and cooking competition

Chandigarh February 18, 2019

            The Department of French & Francophone Studies, Panjab
University, Chandigarh is organizing the following competitions as per
programme given below:

French Paper Reading Contest Course wise – 20.2.2019
French Singing Competition-21.2.2019
French Cooking Competition-22.2.2019

Time:   4.00 pm onwards

Venue: Arts Block –V, Top Floor, PU

तेहरान ने पाकिस्तान को जवाबी कार्यवाई के लिए धमकाया

तेहरान: ईरान के रिवाल्यूशनरी गार्ड्स ने पाकिस्तान पर अपने सैनिकों पर हुए आत्मघाती बम हमले के षड्यंत्रकर्ताओं को समर्थन देने का आरोप लगाया है. ईरान के सरकारी टीवी पर जारी बयानों में यह बात कही गई है. बुधवार को हुए उस हमले में ईरान रिवोल्यूशनरी गार्ड्स के 27 सैनिकों की मौत हो गई गई थी. 

रिवोल्यूशनरी गार्ड्स कमांडर मेजर जनरल मोहम्मद अली जाफरी ने जिहादी समूह जैश-अल-अद्ल की ओर इशारा करते हुए कहा, पाकिस्तान सरकार जानती है कि ये जिहादी और इस्लाम के लिये खतरा बने लोग कहां है और इन्हें पाकिस्तान के सुरक्षा बलों का समर्थन हासिल है.”

उन्होंने चेतावनी दी, “अगर पाकिस्तान सरकार ने उन्हें दंडित नहीं किया तो हम इन जिहादी समूहों को मुंहतोड़ जवाब देंगे और पाकिस्तान को उनका समर्थन करने का अंजाम भुगतना होगा.” जनरल ने यह बात शुक्रवार को इ्स्फहान शहर में मारे गए सैनिकों के लिये आयोजित श्रद्धांजलि सभा के दौरान कही. शनिवार को सैनिकों का अंतिम संस्कार किया जा सकता है. 

Navjot believes Pak is not terrorist supporter, he demands talks to continue no matter what

Navjot Singh Sidhu’s comment on Pulwama terror attack–Terrorism has no religion, no nation–has created a huge outrage in Twitterverse. He is not only receiving a backlash from his opponents, but also from Twitterati who are asking fans to boycott The Kapil Sharma Show and Sony TV to kick Sidhu out of the show.

“For a handful of people, can you blame the entire nation and can you blame an individual? It (the attack) is a cowardly act and I condemn it firmly. Violence is always condemnable and those who did it must be punished,” Sidhu was quoted as saying.

The comment did not go down well with the netizens who have made #BoycottKapilSharmaShow trend on Twitter. Some are asking Sidhu to apologise for his comment, while others want the channel to expel him from the comedy show.

Shaurya Sharma@Shaurya_Leo

#NavjotSinghSidhu boycott from #KapilSharmashow @sherryontopp at least don’t humiliate India, if u can’t support. Please read what China does to Muslims in their country. We don’t want same thing but at least our pride cannot be compromised @RajatSharmaLive @ZeeNews@SonyTV205:15 PM – Feb 15, 2019Twitter Ads info and privacySee Shaurya Sharma’s other Tweets

Sachin Kumar@SachinKrIndia

With what face will that disgrace #navjotsinghsidhu now appear on Kapil Sharma show and crack jokes. No respect for the soldiers. #bycottkapilsharmashow #Pulwama #PulwamaAttack65:40 PM – Feb 15, 2019Twitter Ads info and privacySee Sachin Kumar’s other Tweets

Tanmoy Sinha@Tanmoy_always

It is not handful of people. Rather it is u who goes to Pak & do handshaking with Pak general. Day will come & u will be nowhere.
Disgusting #NavjotSinghSidhu12:58 PM – Feb 15, 2019Twitter Ads info and privacySee Tanmoy Sinha’s other Tweets

rupesh kumar@rupesh093

#boycottkapilsharmashow aaj ke bd se nhi dekhna h jab tak sardarji h27:01 PM – Feb 15, 2019Twitter Ads info and privacySee rupesh kumar’s other Tweets

RAHUL VERMA@rahul_90_14

hello @SonyTV , if you ever tried to show this person @sherryontopp navjot, we will totally boycott sony entertainment channel and @KapilSharmaK9 show too, either you off air the show or we will boycott sony tv, #boycottkapilsharmashow #boycottsidhu1686:57 PM – Feb 15, 2019Twitter Ads info and privacy150 people are talking about this

Gangesh G Pandey@gangeshpandey21

Dear @SonyTV,
If you still not remove @sherryontopp from the our beloved show #TKSS. We didn’t hesitate to boycott the show.
That’s All
We won’t want this type of people on our fav. show#NavjotSinghSidhu #boycottkapilsharmashow @KapilSharmaK9546:56 PM – Feb 15, 2019Twitter Ads info and privacy53 people are talking about this

mukul @MukulAgarwal66 · 8h

Dear @SonyTV , if siddhu still remains on your show, will ve boycotting your channel by unsubscribing. Am sure others will join in. Your choice

Ashish Sharma @ash_sh

#RemoveSiddhu@SonyTV @KapilSharmaK9
If Siddhu continue with you we will #boycottkapilsharmashow #BoycottSonytv56:56 PM – Feb 15, 2019Twitter Ads info and privacySee Ashish Sharma ‘s other Tweets

Ankit Modanwal Hitman@AnkitModanwal45

कपिल शर्मा जी आप तुरन्त ही एक्शन लेते हुए अपने शो से पाकिस्तान प्रेमी नवजोत सिंह सिद्धू को निकाल दीजिए
नहीं तो हम जैसे प्रशंसक लोग आपके शो को देखना बंद कर देंगे#boycottkapilsharmashow@KapilSharmaK9 @SonyTV26:44 PM – Feb 15, 2019 · Uttar Pradesh, IndiaTwitter Ads info and privacySee Ankit Modanwal Hitman’s other Tweets

Bhaiyyaji@bhaiyyajispeaks · 4h

Dear @SonyTV & @KapilSharmaK9 either remove @sherryontopp from your show or we shall pledge not to choose the Sony Package as per new TRAI rules. How dare can someone continuously speak in the favour of a nation which is responsible for many other attacks like Pulwama.

Manjit sharma Mj@manjitsharma12

#सिद्धु_माफ़ी_माँगो #boycottkapilsharmashow #PulwamaAttack27:00 PM – Feb 15, 2019Twitter Ads info and privacySee Manjit sharma Mj’s other Tweets

40 CRPF jawans were martyred when an explosive-laden SUV rammed into one of the buses out of a 70-vehicle CRPF convoy in Jammu and Kashmir’s Pulwama district on Thursday (February 14).

Eetired Major General GD Bakshi also attacked Sidhu for what he deemed an “inappropriate comment” and said Sidhu has not faced what the CRPF has, what men in uniform routinely do in conflict areas.

Sidhu had courted controversy earlier for visiting Pakistan for Imran Khan’s oath-taking ceremony and his controversial hug with Pakistan Army General Qamar Javed Bajwa.

Subject: Action against motor vehicles plying on cycle tracks.

                  Chandigarh Traffic Police is regularly conducting special drives against motor vehicles plying on cycle tracks in U.T. Chandigarh.

                In order to take strict action against the motor vehicles plying on cycle track all the traffic police officials have been sensitized and equipped to enforce section 202 of the Motor Vehicles Act, 1988 as per which persons who commit the offence punishable under section 184 MV Act, 1988 (driving dangerously) in their presence are arrested without warrant and their vehicles are impounded.  Further, all such cases are submitted to the concerned Court with the request for institution of prosecution case against violators as per provisions of M.V. Act, 1988.

                On 13.2.2019, 07 such cases have been booked under section 202 read with Section 184 M.V. Act, 1988 for the violation of plying motor vehicles on cycle track at dividing road, Sector 44/45, Chandigarh. 

                This drive was started in the month of October, 2018 and till date, 436 such cases under section 202 read with Section 184 M.V. Act, 1988 have been booked for the said violation.

                As per Section 184 of Motor Vehicle Act, 1988, offender of such offence shall be punishable for the first offence with imprisonment for a term which may extend to six months, or with fine which may extend to one thousand rupees.                  Chandigarh Traffic Police appeals to the general public not to ply their motor vehicles on cycle track. Strict action shall be continued to be taken against such violations in the future.       

” उन लोगो के साथ रहिए जो आप कि अभिलाषा को सतरंगे आसमान में उड़ने भेज दें “

फोटो और ख़बर : राकेश शाह

” उन लोगो के साथ रहिए जो आप कि अभिलाषा को सतरंगे आसमान में उड़ने भेज दें ” ,

रोत्रैक्ट क्लब हिमालयन , चंडीगढ़ आयोजित करते है एक प्रभावशाली सम्मेलन ।

इस सम्मेलन का विषय है

” Lesson on Possible Steps Towards Impossible Dreams ” जिससे नेतृव करहे है हमारे  अंतर्राष्ट्रीय  वक्ता और कॉरपोरेट कोआच , श्री साहिल सहारे  और हमारे उभरते सॉफ्ट स्किल्स ट्रेनर , श्री अर्चित गुप्ता।

इस आयोजित कार्यक्रम की कार्यपुस्तिका सभी जनो में वितरित की गई है ।

‘सा रे गा मा’ के विजेता रिंकू कालिया के गीतों ने बांधा समां

पंचकूला, 3 फरवरी ( ): जी टीवी के रियालिटी शो ‘सा रे गा मा’ के विजेता मशहूर गायक रिंकू कालिया ने हरियाणा सरकार द्वारा आयोजित लाइव कॉन्सर्ट में अपने परफॉर्मेंस से लोगों पर जादू सा कर दिया। इस लाइव कॉन्सर्ट का आयोजन हरियाणा सरकार के सांस्कृतिक विभाग के सहयोग से सरकारी कालेज पंचकूला में किया था।लाइव शो की शुरुआत में गायक रिंकू  कालिया ने ‘ये नहीं थी मेरी किस्मत’ जैसे गालिब के क्लासिक से सभी मौजूद श्रोताओं का दिल अपने पहले ही परफॉर्मेंस से जीत लिया।

इसके बाद उन्होंने, ‘आज जाने की जिद न करो’, ‘दिल-ए-नादान’, ‘ये कागज की कश्ती’, ‘प्यार का पहला खत’ जैसे गानों से श्रोताओं को कुर्सी से बांध सा दिया।लाइव कॉन्सर्ट के दौरान रिंकू कालिया ने अपनी सुरीली आवाज से ‘रंजिश ही सही’, ‘आज जाने की जि़द’ और ‘कल चौदहवीं की रात थी’ जैसी गजलों के बाद लोकगीत’ ‘टप्पे’, ‘सुन चरखे दी’ और ‘दमा दम मस्त कलंदर’ पर भी बेहतरीन समां बांधा। इस आयोजन के गेस्ट ऑफ ऑनर थे और हरियाणा पुलिस के ए.डी.जी.पी. आर.सी. मिश्रा। 

एक घंटे की क्लास नहीं बल्कि 23 घंटे का रियाज़ काम आता है: प्रोफ॰ अरविंद शर्मा

फोटो और कवरेज राकेश शाह

संगीत के महत्व और उसकी अलग अलग विधाओं के बारे में बताया. संगीतमय परिवार में जन्मे, उनके पिताजी ने लाहौर 1901 में गंधर्व महाविद्यालय की स्थापना की और बहुत से दिग्गज़ों को संगीत के गुर सिखाए . विभाजन तक उनके पिताजी वहीं रहे.

संगीत को नाद ब्रह्म मानने वाले अरविंद जी ने वर्तमान दौर के संगीत के बाज़ारीकरण और बिना रागों पर बनाये जा रहे संगीत पर चिन्ता जताई. संगीत तीसरी पीढ़ी तक पहुंच गया है और खुद के दोनों पुत्र भी संगीत भी है .

वर्तमान सेंगीत शिक्षा पर बोलते हुए कहा कि संगीत कालांतर के साथ dilute होता जा रहा है जिसका उद्देश्य केवल डिग्री पाना ही हो गया है. एक ही तरह का संगीत सुनाई दे रहा है.

संगीत की पढ़ाई को पढ़ाई नहीं माना जाता. ज्यादा मेहनत के कारण शास्त्रीय संगीत को कम दर्शकों का साथ मिलता है जिसका कारण हम सब भी है.

रागों पर बोलते हुए कहा कि संगीत लोक परंपरा से दूर होते जा रहे है . हमारे पुराने गाने राग पर आधारित होते थे. पुराने गाने इसलिए चलते थे क्योंकि वे परंपरा से जुड़े होते थे. हम उन्हें भूल कर बिना सोचे समझे ग्लोबलाइज़ेशन की ओर जा रहे है जिससे हम अपनी संस्कृति से दूर होती का रहे है.

भरत के नाट्यशास्त्र की अहमियत बताते हुए कहा कि हमारे पास ऐसे अनमोल ग्रंथ भारत में ही मौजूद है. हमारा देश का संगीत मैलोडी पर आधारित है पर पाश्चात्य संगीत हार्मोनी पर.  बिना सोचे समझे नकल करने के कारण पारंपरिक संगीत प्रभावित हो रहा है.

लोगों में संयम व धैर्य की कमी और चैनलों की भेड चाल ने मौजूदा संगीत को प्रभावित किया है. विद्या को दान के रूप में ग्रहण किया जाता था लेकिन अब बाज़ारीकरण हो गया है. साथ ही टोकने वाले ज़हीन लोग भी कम हो रहे है.

सुर की पीड़ को तीर की पीड़ से बड़ा बताते हुए कहा कि संगीत में भाव, स्वर और राग का समन्वय आवश्यक है तभी यादगार संगीत बनता है. युवाओं से आवाहन किया कि इस परंपरा को वही बचा सकती है.

फ्यूज़न को ऐतिहासिक परंपरा बताते हुए कहा कि सबका स्वागत करना हिंदुस्तान की परंपरा रही है.

हर गीत के पीछे भाव होता है और उस भाव के लिए खुद की समझ को बढ़ाना और भावनाओं से ओत प्रोत होना भी आवश्यक है.मौके पर उन्होंने अलग अलग रागों को गाकर उनपर आधारित गानों का भी विवरण दिया.

संगीत सीखा रहे गुरुओं से गुज़ारिश की अपने प्रोफेशन के प्रति ईमानदार रहे और पूरे अनुशासन और बिना पक्षपात किये अपने छात्रों को पढ़ाये फिर चाहें उसे डाँटना ही क्यों न पड़े. शिक्षा की असली शुरुआत कक्षा के बाहर होती है. ज़रूरी ये नहीं की एक घंटे क्लास में क्या किया पर आवश्यक यह है की बाद के 23 घंटे क्या किया.   

“Ek Tha Gadha” on 5 & 6 Feb

Chandigarh February 1, 2019
Press Conference
        The Department of Indian Theatre, Panjab University, Chandigarh is going to stage its third student production on 05-02-2019 and 06-02-2019 at 6:30 pm. in the Department. The duration of play “Ek Tha Gadha” is one hour and twenty five minutes. 
        In this regard, a press conference is being organized as per schedule below:-
Venue:        Department of Indian Theatre, PU
Date:           February 4, 2019
Time:          12.00 p.m.

52वां मन की बात

29 जनवरी को परीक्षा की चर्चा करेंगे मोदी

नई दिल्‍ली : प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने आज (27 जनवरी) देशवासियों से अपने रेडियो कार्यक्रम के जरिये 2019 की पहली ‘मन की बात’ की. कार्यक्रम के 52वेें संस्‍करण की शुरुआत में पीएम मोदी ने डॉ. श्री श्री श्री शिवकुमार स्‍वामी जी का जिक्र किया. उन्‍होंने कहा ‘बीती 21 तारीख को एक शोक का समाचार मिला. कर्नाटक में टुमकुर जिले के श्री सिद्धगंगा मठ के डॉक्टर श्री श्री श्री शिवकुमार स्वामी जी हमारे बीच नहीं रहे. स्वामी जी ने अपना सम्पूर्ण जीवन समाज-सेवा में समर्पित किया था.’  LIVE TV

परीक्षा पे चर्चा करेंगे PM मोदी
पीएम मोदी ने परीक्षार्थियों के संबंध में भी बात की. उन्‍होंने कहा कि परीक्षाओं के दिन आने वाले हैं. मैं सभी विद्यार्थियों, उनके माता-पिता और शिक्षकों को शुभकामनाएं देता हूं. आपको यह जानकर प्रसन्नता होगी कि मैं दो दिन बाद ही 29 जनवरी को सवेरे 11 बजे ‘परीक्षा पे चर्चा’ कार्यक्रम में देश भर के विद्यार्थियों के साथ बातचीत करने वाला हूं. इस बार छात्रों के साथ-साथ अभिभावक और शिक्षक भी इस कार्यक्रम का हिस्सा बनने वाले हैं.

नेताजी सुभाष चंद्र बोस को नमन किया
पीएम मोदी ने कहा कि भारत की इस महान धरती ने कई महापुरुषों को जन्म दिया है. ऐसे महापुरुषों में से एक थे-नेताजी सुभाष चन्द्र बोस. 23 जनवरी को पूरे देश ने एक अलग अंदाज में उनकी जन्म जयन्ती मनाई. लाल किले में नेताजी के परिवार के सदस्यों ने एक बहुत ही खास टोपी मुझे भेंट की. कभी नेताजी उसी टोपी को पहना करते थे. मैंने संग्रहालय में ही, उस टोपी को रखवा दिया, जिससे वहां आने वाले लोग भी उस टोपी को देखें और उससे देशभक्ति की प्रेरणा लें.

उन्‍होंने कहा कि 30 दिसंबर को मैं अंडमान और निकोबार द्वीप गया था. एक कार्यक्रम में ठीक उसी स्थान पर तिरंगा फहराया गया, जहां नेताजी सुभाष बोस ने 75 साल पहले तिरंगा फहराया था. कई वर्षों तक यह मांग रही कि नेता जी से जुड़ी फाइलों को सार्वजनिक किया जाए और मुझे इस बात की खुशी है, यह काम वर्तमान सरकार ही कर पाई है.

‘लाल किले के संग्रहालय जाएं’
पीएम मोदी ने कहा ‘लाल किले में एक दृश्यकला संग्रहालय भी बनाया गया है. संग्रहालय में 4 ऐतिहासिक प्रदर्शनियां हैं, वहां तीन सदियों पुरानी 450 से अधिक पेंटिंग और कलाकृतियां मौजूद हैं. आप वहां जाएं और गुरुदेव रबीन्द्रनाथ टैगोर जी के कार्यों को अवश्य देखें.’ गुरुदेव रबींद्रनाथ टैगोर को सभी लेखक और संगीतकार के रूप में जानते हैं. उन्होंने कई विषयों पर पेंटिंग्स भी बनाईं, खास बात ये है कि उन्होंने अपने अधिकांश कार्यों को कोई नाम ही नहीं दिया. उनका मानना था कि उनकी पेंटिंग देखने वाला खुद ही उस पेंटिंग को समझे.

अंतरिक्ष क्षेत्र में भारत की उपलब्धि की सराहना
पीएम मोदी ने इस दौरान भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) के द्वारा अंतरिक्ष क्षेत्र में भारत की उपलब्धियों की सराहना की. उन्‍होंने कहा कि देश आजाद होने से लेकर 2014 तक जितने अंतरिक्ष अभियान हुए हैं, लगभग उतने ही अंतरिक्ष अभियान की शुरुआत बीते चार वर्षों में हुई है. हमने एक ही अंतरिक्ष यान से एक साथ 104 उपग्रह लॉन्च करने का वर्ल्ड रिकॉर्ड भी बनाया है.

उन्‍होंने कहा कि हम जल्द ही चंद्रयान-2 अभियान के माध्यम से चांद पर भारत की मौजूदगी दर्ज कराने वाले हैं. हमारा देश, स्पेस टेक्नोलॉजी का उपयोग जानमाल की रक्षा में भी बखूबी कर रहा है. हमारे मछुआरे भाइयों के बीच NAVIC उपकरण बांटे गए हैं, जो उनकी सुरक्षा के साथ-साथ आर्थिक तरक्की में भी सहायक है.

‘जरूर वोट डालें’
पीएम मोदी ने आगामी लोकसभा चुनावों के संबंध में देशवासियों से वोट डालने की अपील की. उन्‍होंने देश के युवा मतदाओं से अपील की कि वे खुद को मतदाता के रूप में जरूर पंजीकृत कराएं और वोट डालें. पीएम मोदी ने कहा ‘इस साल देश में लोकसभा के चुनाव होंगे. यह पहला अवसर होगा जब 21वीं सदी में जन्मे युवा लोकसभा चुनावों में अपने मत का इस्‍तेमाल करेंगे.’ उन्‍होंने चुनाव आयोग की सराहना करते हुए कहा ‘मैं, आज भारत के चुनाव आयोग के बारे में बात करना चाहता हूं जो हमारे देश की बहुत ही महत्वपूर्ण संस्था है, जो हमारे गणतंत्र से भी पुरानी है. 25 जनवरी को चुनाव आयोग का स्थापना दिवस था, जिसे ‘राष्ट्रीय मतदाता दिवस’ के रूप में मनाया जाता है.

संत रविदास को याद किया
पीएम मोदी ने कहा ’19 फरवरी को रविदास जयंती है. संत रविदास जी के दोहे बहुत प्रसिद्ध हैं. गुरु रविदास जी का जन्म वाराणसी में हुआ था. संत रविदास जी ने अपने संदेशों के माध्यम से अपने पूरे जीवनकाल में श्रम और श्रमिक की अहमियत को समझाने का प्रयास किया.’ संत रविदास कहते थे कि ‘मन चंगा तो कठौती में गंगा’. मतलब अगर आपका मन और ह्रदय पवित्र है तो साक्षात ईश्वर आपके ह्रदय में निवास करते हैं.

उन्होंने कहा ’30 जनवरी पूज्य बापू की पुण्यतिथि है. हम भी जहां हों, वहां दो मिनट जरूर श्रद्धांजलि दें. पूज्य बापू का पुण्य स्मरण करें. नए भारत का निर्माण और नागरिक के नाते अपने कर्तव्यों का निर्वाह करने के संकल्प के साथ, आगे बढें.’

‘देश खुले में शौच से मुक्‍त हो रहा है’
पीएम मोदी ने इस दौरान कहा कि क्या आपने टॉयलेट चमकाने के कॉन्टेस्ट के बारे में सुना है? इस अनोखी प्रतियोगिता का नाम है ‘स्वच्छ सुन्दर शौचालय’. आपको कश्मीर से कन्याकुमारी और कच्छ से कामरूप तक की “स्वच्छ सुन्दर शौचालय” की ढेर सारी तस्‍वीरें सोशल मीडिया पर भी देखने को मिल जाएंगी. 2 अक्टूबर, 2014 को हमने अपने देश को स्वच्छ बनाने और खुले में शौच से मुक्त करने के लिए एक साथ मिलकर एक यात्रा शुरू की थी. भारत के जन-जन के सहयोग से आज भारत 2 अक्टूबर, 2019 से काफी पहले ही खुले में शौच मुक्त होने की ओर अग्रसर है.

… … नसीरूदीन शाह ने आवाज़ की बुलंद … …

Er S.K.Jain

बुलन्दशहर की हिंसा पर अपनी आवाज बुलन्द करते हुए टीoवीo पर कहा कि मुझे अपने बच्चों के बारे में सोच कर बड़ी फिक्र होती है। कल को किसी भीड़ ने उन्हें घेर कर पूछा कि तुम हिंदू हो या मुसलमान तो मेरे बच्चों के पास कोई जवाब नहीं होगा। क्यों कि मैंने उन्हें ना हिंदू बनाया ना मुसलमान। मुझे हालात जल्दी सुधरते तो नजर नहीं आ रहे। मुझे डर नहीं लग रहा बल्कि गुस्सा आ रहा है।मैं चाहता हूँ कि हर इन्सान को गुस्सा आना चाहिये।

नसीरुद्दीन मानते हैं कि इन्सान की हत्या कानूनन अपराध है। क्या वो यह नहीं मानते कि गौ हत्या भी कानूनन अपराध है?वो गौ हत्या करने वाले कसाई यों के खिलाफ नहीं बोलते लेकिन गौ हत्या का विरोध करने वालों के खिलाफ बोलते हैं। क्या कारण है कि 21 गायों को काटने के बारे में कोई नहीं बोलता लेकिन असहिष्णुता के नये एपीसोड को लेकर नसीरुद्दीन शाह सामने हैं ? जिस नसीरुद्दीन को लोग हीरो मानते थे, अभिनेता मानते थे, आज उसे गाली दे रहे हैं। क्योंकि उसकी सच्चाई सामने आ चुकी है। भगवान श्री कृष्ण ने कहा था कि एक गाय के लिए हम अगर कई जन्म भी कुर्बान कर दे तो भी काफी नहीं है।

curtsy HT

जिस सुमित की हत्या हुई उसकी बहन सुमित पर 15 सैकिण्ड बोली बाकी सारा समय वो गाय पर बोली। उसके माता-पिता भी अपने बेटे पर कम और गौ रक्षा के पर ज्यादा बोले। थैलियों का दूध पीने वाले नसीरुद्दीन शाह को क्या पता कि इस देश में गाय पर श्रद्धा रखने वाले 100 करोड़ से भी ज्यादा का एक सभ्य समाज है। अगर 21 गायों को काटा नहीं गया होता तो किसी प्रकार के दंगों की कोई संभावना नहीं होती। नसीरूद्दीन पैसे लेकर कुछ भी संवाद बोल सकते हैं यह हम विज्ञापनों में देख सकते हैं। लोगों का कहना है कि ऐसे लोगों को समुद्र में फेंक देना चाहिए अगर वह तैर सकते हैं तो तैर कर पाकिस्तान चले जाएं नहीं तो समुद्र के नीचे ओसामा बिन लादेन के पास चले जाएं।

curtsy tathya

1984 में हजारों लोगों को मारा गया। कश्मीर में हिंदू पंडितों को मारा गया और उन्हें बाहर कर विस्थापित कर दिया गया तब नसीरुद्दीन की आवाज नहीं निकली। नसीरूद्दीन शाह ने, जिस याकूब मेनन के लिए रात के 2:00 बजे अदालत के दरवाजे खुलवाए गये, इस पर कोई प्रतिक्रिया नहीं दी। जिस देश में रहते हैं, जिसका अन्न खाते हैं, जो उन्हें शोहरत और पैसा देता है उसी के साथ गद्दारी करते हैं। लोग कहते हैं कि शाहरुख खान हो, आमिर खान हो, नसीरुद्दीन शाह हो, सब के सब एक ही थैली के चट्टे बट्टे हैं।

1983 के मुम्बई बम ब्लास्ट,1984 के दंगों के वक्त नसीरुद्दीन शाह नहीं जागा। अब जाग गया है क्योंकि 2018 आ रहा है और 2019 में चुनाव आ रहे हैं। शायद आने वाले चुनाव में जाने के लिए यह ड्रामा किया जा रहा है। लोगों की प्रतिक्रिया आ रही है कि यह नसीरूदीन नहीं जहरुद्दीन है। देश की फिजां में जहर घोलने का काम कर रहा है। नसीरुद्दीन ने ट्वीट कर कहा की एक शख्स जो कश्मीर में नहीं रहता, उसने कश्मीरी पंडितों की लड़ाई शुरू कर दी और खुद को विस्थापित कर दिया। इनका यह ट्वीट कश्मीरी पंडितों की लड़ाई लड़ने वाले अनुपम खेर के लिए किया गया है। वह खुद भी तो मुम्बई में रह कर बुलन्दशहर वालों के लिए क्यों लड़ रहे हैं। फिल्मी पर्दे पर अपनी सोच बदलने वाले असल जिंदगी में भी अपनी सोच कैसे बदल लेते हैं, देखने की बात है।