Rishabh Sharma and Roshni Kashyap’s love story film Ek Naradham

Most of the romantic family dramas have been the biggest hits in every era, which is probably why Producer Preeti Sharma is making her first love story film ‘Ek Naradham’ with a lot of hard work and dedication. Its shooting has just been completed at Khanvel Resort, Silvassa and post production is on. The film is being produced under the banner of R R Media and directed by Ajay B Saha. The director of this film, Ajay has previously directed the film ‘Apna Haq’ and the short film, ‘Pyaar Ke Liye’ and is directing his upcoming film, ‘Mera Saathi Mera Pyaar’ and now the film, ‘Ek Naradham’.

                    The main actor of the film is Rishabh Sharma, who has worked as a child artist in many hit films like ‘Veer’, ‘Aao Wish Kare’ and serials like ‘Mrs Tendulkar’, ‘Jai Jai Jai Bajrangbali’ etc and he has made a name in the world and now this is his first film as a hero. Rishabh Sharma says about the film, “I am playing the character of Rahul, who is the son of a very big businessman and he falls in love with Dolly (Roshni Kashyap), a girl working in his office. This is how the story progresses. This is my first film as a hero, I hope people will love it like before.”

           The film is being produced under the banner of ‘RR Media’. The film is being produced by Preeti Sharma. The director is Ajay B Saha. The co-producer of the film is Farida Shadriwala. Cinematography by Kamal, story screenplay and dialogues by Ramesh Harishankar Tiwari and music by Baba Jagirdar. The main actors in this film are Rishabh Sharma, Roshni Kashyap, Sanjeev Bawra and others.

निर्देशक  शिवजी  आर  नारायण  की  भोजपुरी  फ़िल्म शोला  शबनम 2 का आखिरी  गीत  रिकॉर्ड  हुआ

शिवपुत्रा फिल्म्स के बैनर तले बनने वाली भोजपुरी फिल्म,’शोला शबनम -2′ का अंतिम गीत ‘फुलवा सी महके जिनगिया तोहार….’ गायक डी सी मदाना (तेरीअखियां का काजल फेम)और खुशबू जैन की मधुर आवाज में मुंबई के अंधेरी(वेस्ट)में स्थित दिलीप सेन के स्टूडियो में रिकॉर्ड किया गया। फ़िल्म के संगीतकार दिलीप सेन है। फ़िल्म के निर्देशन शिवजी आर नारायण है।इस अवसर पर गीतकार एसआर भारती,यश कुमार,रिकॉर्डिस्ट राकेश शर्मा,गायक डी सी मदाना,गायिका खुशबू जैन,संगीतकार दिलीप सेन अभिनेत्री मुस्कान,निर्देशक शिवजी आर नारायण, असिस्टेंट कमिश्नर ऑफ लेबर, मुंबई,महाराष्ट्र श्री संतोष कोकाट,एडिटर रोहित गुप्ता इत्यादि उपस्थित थे।

                    इस अवसर पर निर्देशक शिवजी आर नारायण ने कहा,”यह एक सामाजिक फ़िल्म है, जो कि एक गायक की जिंदगी पर है।फिल्म की शूटिंग उत्तर प्रदेश के बस्ती जनपद में 6 अगस्त से शुरू होगी।जिसमें अभिनेता मनोज आर पांडे,अभिनेत्री सृष्टि शर्मा, खलनायक गिरीश शर्मा,जसवंत कुमार,अंजना सिंह आदि अनेक स्थानीय कलाकार हिस्सा लेंगे। फिल्म की शूटिंग एक महीने में पूर्ण कर ली जाएगी।”

 Babbar Brar and Hollywood actress Anisha Madhok’s video track Barrola’s teaser launched

Anisha Madhok: Sushant Rajput’s friend, playback singer, theater artist and linguist Anisha Madhok and Babbar Brar’s track teaser launched at Chandigarh Press Club. The entire team of Barrola participated in the launch ceremony, Barrola is composed by Vir Kalsi, lyrics  by Jassi Raikoti, video direction by Pinder Sahota, Music Director Ya Gangsta and Producers are The State Music Company Gautam Entertainment. Significantly, Gautam Entertainment Music Company is also making its debut in Punjabi cinema with this song and will also make web series and movies in the future.

Babbar Brar said that he is thankful to Gautam Entertainment and Manveer Kalsi for giving him a chance to sing and act with stars like Anisha Madhok.The track has been shot at splendid locations of Chandigarh, Rajpura and Mohali, with Hargun Dhanjal also playing the lead role in this video. Gopal Gautam, Shankar Gautam, Amarinder Ballomajra, Manvir Kalsi played an important role in establishing Gautam Entertainment Company. This company is registered in India as well as America

Jatin Sethi of Naad Sstudios is delighted as his first Punjabi film, Saunkan Saunkne, is declared as one ofthe most awaited films of 2022

 
Several significant bollywood and hollywood films are releasing in the upcoming weeks and everyone is
looking forward to it.In the midst of these films, a Punjabi movie, Saunkan Saunkne, has managed to
stand out. The trade and industry experts have already declared this film a winner at the box office,
though its release is still a few weeks away.
 
Jatin Sethi whose production house Naad Sstudios has produced this film is obviously happy. He says,
“My phone has been ringing constantly since we released the trailer of Saunkan Saunkne. Everyone is
looking forward to it eagerly.’
 
Jatin Sethi continues, “The trailer has done the trick. Moreover, we have popular stars like Ammy Virk,
Sargun Mehta, and Nimrat Khaira. The film is written by Amberdeep Singh and Moreover, Amarjit Singh
Saron, the director of Diljit Dosanjh’s latest hit, Honsla Rakh (2021), has directed Saunkan Saunkne. Due
to all the factors, our film has become one of the most awaited films in recent times.”
 
Jatin Sethi is also confident that Saunkan Saunkne will have a wide release, “Since the buzz is
tremendous, we are confident of having a huge screen count in the North and also in other parts of India
where Punjabi films have a market. Moreover, even Overseas, our film would be released widely.”
 
Looking at the huge buzz of Saunkan Saunkne, the trade sees potential in the film to emerge as one of
the biggest Punjabi hits of all time.
 

थ्रिलर, हॉरर ,फिक्शन  जॉनर की दीवानी है युवा पीढ़ी – केरन पंथ जोशी

  • प्रेम विज, अशोक भंडारी ,ओजस्वी शर्मा ने की लांच  इट फॉलोज यु  व चेक इन चेक आउट कहानी संग्रह 
  • ओजस्वी शर्मा व बॉलीवुड में बनेगी केरन की कहानियों पर फ़िल्म 
  • केरन पंथ जोशी की  इट फॉलोज यु  व चेक इन चेक आउट  कहानी संग्रह लांच

कोरल ‘पुरनूर’ डेमोक्रेटिक फ्रंट, चंडीगढ़  27 अप्रैल 

चंडीगढ़ प्रेस क्लब में विशिष्ट मेहमानों,  जाने-माने साहित्यकार प्रेम विज  ,अशोक भंडारी नादर व प्रोड्यूसर डायरेक्टर ओजस्वी शर्मा द्वारा केरन पंथ जोशी के कहानी संग्रह ईट फॉलोज यू व चेक इन चेक आउट लांच हुई।

करोना कॉल में लॉकडाउन के दौरान ऑस्ट्रेलिया में केरन जोशी ने अपने सपने को साकार किया।  दरअसल केरन 2012से ऑस्ट्रेलिया में शादी के बाद बस गई थी व 2012 में उनकी पहली किताब लांच हुई  थी ,उस दौरान पी आर का इंतजार कर रही थीं ;लेकिन व्यस्तता की वजह से वह अपनी अगली कहानी संग्रह के लिए समय नहीं नहीं दे पाई , लेकिन करोना काल ने  उन्हें मौका दिया व उन्होंने हॉरर व थ्रिलर जोनर के कहानी संग्रह लिख डाले । केरन ने बताया कि यह दोनों कहानी संग्रह  कुछ  सच्ची कहानियां  का  संकलन है व उनके द्वारा अपने ऑस्ट्रेलिया के  होटल में और कुछ नानी , दादी  से सुनी कहानियों पर आधारित हैं केरन ने कहा कि आज के युवा वर्ग को रोमांस लव अफेयर्स के बजाय  हॉरर , थ्रिलर व फिक्शन  कंटेंट पसंद है चाहे वह फिल्म हो चाहे वह किताब हो या फिर ओ टी टी  पर वेब सीरीज।

प्रेम विज न कहा कि आज की युवा पीढ़ी के बुक्स व थ्रिलर ,हॉरर की ओर ज्यादा आकर्षित होती है ,करोना महामारी से हम सब के जीने का ढंग बदल गया है।

अशोक भंडारी ने केरन की किताबों के बारे में विस्तारपूर्वक चर्चा की व बताया कि केरन की लेखनी में ठहराव है व पाठक कहानी के अंत तक खुद को किरदार का हिस्सा ही समझ बैठता है।

भारत में सिखलेन्स फेस्टिवल के डायरेक्टर ,प्रोड्यूसर डायरेक्टर ओजस्वी ने बताया कि केरन ने युवाओं की नब्ज़ पढ़ ली है और उनकी कहानियां हमारे लिए परफेक्ट कंटेंट है ,जल्द ही इस पर  शार्ट फ़िल्म बनाने का इरादा है ।

SurjitPatar releases Jatin’s Punjabi Poetry Book ‘Phoori’

Chandigarh, 12 February, 2022 : 

Noted Panjabi poet and Chairman of Punjab Kala Parishad, SurjitPatar released the book of Panjabi poetry by Advocate JatinSalwan, here today. 

At a function organized by Punjabi LekhakSabha in association with Punjab Kala Parishad in Punjab Kala Bhawan, SurjitPatar commended Jatin’s poetry for its simplicity yet rich vocabulary which somehow has been lost into oblivion in Punjab.  

Another uniqueness of Jatin’s poetry, he said, is its effortless expression of his deep thoughts that carries on from the beginning till the end, and each poem punctuated with beautiful metaphors from nature and Punjab’s culture and its rich social fabric. 

As the title suggests, the word ‘Phoori’ itself has gone out of use and so has the culture of sharing the pain and grief by the community if someone lost a near and dear one in the family.  Jatin recalled that people used to congregate to console the family and show their solidarity with the family in their hour of grief. 

The anthology of ‘ghazals’ touches the soul as it reflects upon the pain of separation and isolation and yet reflecting the perennial hope that life presents. 

Jatin, a lawyer by profession, is known in the city for his philanthropy, plantation of thousands of trees, love for nature and animals, and now, for his love for poetry, which he has been writing since his young days, in Panjabi and  Hindi with extensive use of  Urdu words. “Life is a great teacher that has left indelible mark on my life and I continued to scribble them on paper for a long time, and the collection is vast, and it was only on the persuasion of my friends and family that this first collection in Gurmukhi has come about,” he remarks. 

The event started with ‘Udeek’, a short Punjabi play based on the theme from the poems written by Jatin  Salwan in his Punjabi poetry book presented by 𝐓𝐡𝐞𝐍𝐚𝐫𝐫𝐚𝐭𝐨𝐫𝐬𝐏𝐞𝐫𝐟𝐨𝐫𝐦𝐢𝐧𝐠𝐀𝐫𝐭𝐬𝐒𝐨𝐜𝐢𝐞𝐭𝐲 of 𝐈𝐧𝐝𝐢𝐚 .NishaLuthra has written & directed this short play performance to mark the launch of the poetry book. This play beautifully captures and portrays the narrative of mature love, romance, celebration of loss and how remembrance can be such a joy for the one who is left behind. BalkarSidhu, a senior Punjabi actor, folk dancer and President, Punjabi LekhakSabha and artist Amy Singh enacted the play.

Prominent among those  present  included, Gen V P Malik, former Chief of Army Staff and his wife Ranjana Malik , MrVivekAtray, former IAS and  a noted writer, motivational speaker, MrSantokh Winder Singh (Nabha), President, Pb&Hy High Court Bar Association, MrHardeepChandpuri, Publisher, Ms Renee Singh, writer , poet and life coach, Ms Lily Swarn,  a poet and writer, members of Panjab Kala Parishad and Panjabi  LekhakSabha,  friends and family.

The official trailor of Phoori by JatinSalwan was also released on the occasion which is directed by Film Director, Ojaswwee Sharma, Pinakamediaworks

The event was compered by Deepak Sharma, Secretary, PunjabiLekhakSabha.

स्वर कोकिला लता मंगेशकर का निधन

स्वर कोकिला लता मंगेशकर के निधन से पूरा देश शोक में डूब गया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से लेकर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने उन्हें  भावभीनी श्रद्धांजलि दी है। राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा है कि लता जी का निधन उनके और दुनियाभर के लाखों लोगों के लिए हृदयविदारक है।  आज सुह मुंबई के ब्रीच कैंडी अस्पताल में उन्होंने आखिरी सांस ली। वो पिछले 28 दिनों से अस्पताल में भर्ती थी।

मुंबई/चंडीगढ़, डेमोक्रेटिक फ्रंट :

स्वर कोकिला लता मंगेशकर निधन: सुर साम्राज्ञी लता मंगेशकर का निधन आज ब्रीच कैंडी अस्तपाल में कोरोना संक्रमण से जंग लड़ते हुए 92 साल की उम्र में हो गया। पिछले 29 दिनों से वह ब्रीच कैंडी अस्तपाल में भर्ती थीं और उनकी स्थिति नाज़ुक बानी हुई थी. लता मंगेशकर के निधन पर दो दिन का राष्ट्रीय शोक घोषित किया गया है। इस दौरान राष्ट्रीय ध्वज आधा झुका रहेगा। लता मंगेशकर का पार्थिव शरीर रविवार दोपहर को 12:30 बजे घर लाया जाएगा। उनका अंतिम संस्‍कार रविवार को ही मुंबई के शिवाजी पार्क में शाम 6:30 बजे राजकीय सम्‍मान के साथ किया जाएगा।

‘भारत रत्‍न’ से सम्‍मानित दिग्गज गायिका लता मंगेशकर को 8 जनवरी 2022 को कोरोना संक्रमित पाए जाने पर हॉस्पिटल में भर्ती कराया गया था। बाद में उन्हें न्यूमोनिया हो गया था, जिससे उनकी हालत बिगड़ने लगी। इसके बाद उन्हें वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया था। उनकी हालत में सुधार के बाद वेंटिलेटर सपोर्ट भी हट गया था, लेकिन 5 फरवरी को उनकी स्थिति बिगड़ने लगी और उन्हें फिर से वेंटिलेटर सपोर्ट पर रखा गया। आखिरकार, 6 फरवरी को ‘स्वर कोकिला’ ने अंतिम साँस ली।

बता दें कि लता मंगेशकर ने बॉलीवुड में करीब सात दशक तक अपनी मधुर आवाज से लोगों के दिलों पर राज किया है। वह दुनियाभर में ‘भारत की नाइटिंगेल’ के नाम से मशहूर हैं।

लता मंगेशकर और उनका परिवार उन लोगों में से हैं, जिन्होंने कभी भी कॉन्ग्रेस और उसके वफादारों के बनाए गए सिस्टम के प्रोपेगेंडा पर भरोसा नहीं किया। उन्होंने पाया कि वीर सावरकर भारत की स्वतंत्रता के लिए समर्पित देशभक्त और प्रतिभाशाली व्यक्ति थे, जो कविता और लेखन का कार्य भी करते थे।

स्वर कोकिला लता मंगेशकर और उनका परिवार वीर सावरकर के साथ अपने घनिष्ठ संबंधों को लेकर हमेशा गौरवान्वित रहा है। हर साल सावरकर की जयंती और पुण्यतिथि पर (28 मई और 26 फरवरी) लता मंंगेशकर हिंदुत्व के इस विचारक को सार्वजनिक तौर पर श्रद्धांजलि देने और अंग्रेजों के खिलाफ भारत के स्वतंत्रता संग्राम में उनके अमूल्य योगदान को दोहराने से कभी नहीं कतराती थीं।

फिल्म `83` को कपिल देव के अपने शहर चंडीगढ़ में भी दिल्ली सरकार की तर्ज पर टैक्स फ्री करें – भाटिया

1983 क्रिकेट वर्ल्ड कप जीत पर बनी है Movie

1983 क्रिकेट वर्ल्ड कप जीत पर बनी फिल्म `83` 24 दिसंबर को रिलीज होने वाली है. फिल्म की रिलीज से पहले दिल्ली  सरकार ने इसे टैक्स फ्री कर दिया है, इस पर  टिप्पणी करते हुए शहर के उद्योगपति के एस  भाटिया ने कहा चंडीगढ़ ने क्रिकेट जगत को हीरा दिया तो अब चंडीगढ़ प्रशासन  व पंजाब सरकार क्यों फ़िल्म 83 को टैक्स फ्री करने में देरी लगा रहा है । गौरतलब है कि कपिल देव  भाटिया के स्टार्टअप पंपकार्ट के ब्रांड अम्बेसडर रह चुके हैं। भाटिया का कहना है कि टैक्स फ्री होने पर चंडीगढ़ व पंजाब  की जनता बड़ी संख्या में अपने शहर के हीरो की फ़िल्म बड़ी स्क्रीन पर देख पाएगी ।

प्रिंस भुल्लर व वड्डा ग्रेवाल की पहली पंजाबी फिल्म ‘काका प्रधान’ 10 दिसम्बर को रिलीज के लिए तैयार

चंडीगढ़, 4 दिसंबर

जाने-माने पंजाबी सिंगर वड्डा ग्रेवाल की पहली फिल्म ‘काका प्रधान’  10 दिसंबर को सिनेमाघरों में रिलीज होगी , रूबल छीना की डायरेक्शन , राइटर नवीन जेठी केवी ढिल्लों द्वारा प्रोड्यूस की गई ‘काका प्रधान’ का दिलकश म्यूजिक गीत एमपी 3 द्वारा दिया गया है। 

फ़िल्म ‘काका प्रधान’ का ट्रेलर काफी पसंद किया जा रहा है व फ़िल्म एक्शन ,कॉमेडी व रोमांस से भरपूर है , प्रिंस भुल्लर ने चंडीगढ़ में पत्रकारों से रूबरू हो बताया कि  फ़िल्म की स्टोरी बहुत दमदार है व फ़िल्म की शूटिंग चंडीगढ़, मोहाली व आसपास की खूबसूरत लोकेशन पर हुई है। फ़िल्म में चंडीगढ़ को लेकर हरियाणा व पंजाब के परिवारों की दावेदारी का मजेदार एंगल है । जाने माने सिंगर वड्डा  ग्रेवाल ने बताया यह मेरी पहली फिल्म है और इसमें हमने स्टोरी लाइन पर बहुत  काम किया है और फ़िल्म के जरिये  एक ऐसा मैसेज देना चाहते हैं कि बदमाशी का अंत बुरा ही होता है ।

काका प्रधान को   काफी एंटरटेनिंग फिल्म बनाने की कोशिश की गई है आप सभी से गुजारिश है कि 10 दिसंबर को अपने नजदीकी सिनेमाघरों में आप फ़िल्म  देखें दरअसल  पंजाबी सिनेमा को उबरने के लिये  अभी कोविड  के बाद सिनेमाघरों में दर्शकों  की बहुत ज्यादा आवश्यकता है इसलिए सभी फ़िल्म प्रेमियों से 10 दिसंबर को अपने नजदीकी सिनेमाघरों को रुख करने की गुजारिश है ।

मनीष तिवारी का मनमोहन सरकार पर हमला, पाक पर कार्रवाई ना करना कमजोरी की निशानी

सलमान खुर्शीद की किताब के बाद अब मनीष तिवारी की किताब ने कांग्रेस की मुश्‍किलों को बढ़ाने का काम किया है। मनीष तिवारी ने अपनी किताब में यूपीए सरकार पर जमकर निशाना साधा है। उन्‍होंने लिखा है कि मुंबई हमले के बाद कांग्रेस की सरकार को कार्रवाई करनी चाहिए थी। किताब में तिवारी ने लिखा है कि मुंबई हमले के बाद तात्कालीन सरकार को पाकिस्तान के खिलाफ सख्त कार्रवाई करनी चाहिए थी। ये ऐसा समय था, जब एक्शन बिल्कुल जरूरी था। तिवारी ने किताब में लिखा है कि एक देश (पाकिस्तान) निर्दोष लोगों का कत्लेआम करता है और उसे इसका कोई पछतावा नहीं होता। इसके बाद भी हम संयम बरतते हैं तो यह ताकत नहीं बल्कि कमजोरी की निशानी है। तिवारी ने 26/11 हमले की तुलना अमेरिका के 9/11 हमले से की है।

सारिका तिवार नई दिल्‍ली :

पहले से ही बुरी स्थिति में पहुंच चुकी कांग्रेस अब अपने ही नेताओं के दिए जख्‍म को सहने को मजबूर हो रही है। कांग्रेस की अंदरूणी लड़ाई भी किसी से छिपी नहीं है। पहले से ही अध्‍यक्ष के मुद्दे को लेकर पार्टी दो खेमों में बंटी हुई दिखाई दे रही है। पार्टी की इस खराब स्थिति को और बदतर करने में अब मनीष तिवारी ने भी अपनी बड़ी भूमिका अदा की है। दरअसल, उन्‍होंने एक किताब लिखी है। इस किताब में उन्‍होंने कांग्रेस की मनमोहन सरकार की जबरदस्‍त आलोचना की है। ये आलोचना पाकिस्‍तान द्वारा मुंबई में हमला कराए जाने और कांग्रेस की सरकार द्वारा उसको जवाब न दिए जाने के मुद्दे पर की गई है।

अपनी किताब में उन्‍होंने इसको तत्‍कालीन कांग्रेस सरकार की नाकाम बताया है। उन्‍होंने ये भी लिखा है कि भारत को पाकिस्‍तान के खिलाफ कार्रवाई करनी चाहिए थी। भारत सरकार द्वारा कार्रवाई न करना उसकी कमजोरी की निशानी थी। उन्‍होंने अपनी ही सरकार की आलोचना करते हुए यहां तक लिखा है कि जब पाकिस्‍तान को निर्दोषों का खून बहाने पर कोई दुख नहीं हुआ तो वहां पर चुप रहकर संयम दिखाना कोई ताकत नहीं थी, बल्कि ये कमजोरी की निशानी थी। 26/11 के बाद भारत को पाकिस्‍तान के खिलाफ कड़ी कार्रवाई करनी चाहिए थी।

उन्‍होंने मुंबई में हुए 26/11 हमले की तुलना अमेरिका में हुए 9/11 हमले से की है। बता दें कि 9/11 के हमले के बाद ही अमेरिका ने अफगानिस्‍तान में कदम रखा था और वहां की धरती बमों की गूंज से थरथरा उठी थी। मनीष तिवारी की इस किताब के बाद भाजपा ने भी भी कांग्रेस को घेरने की शुरुआत कर दी है। बता दें कि कांग्रेस के अंदर पहले से ही सलमान खुर्शीद की किताब को लेकर दोफाड़ हो रखी है। इस पर मनीष तिवारी की किताब ने पार्टी की मुश्किलों को बढ़ाने का काम किया है। अपनी किताब में उन्‍होंने ये भी लिखा है कि मुंबई हमले के बाद भारतीय वायु सेना पाकिस्‍तान में कार्रवाई करना चाहती थी, लेकिन तत्‍कालीन यूपीए सरकार ने उसको ऐसा करने की इजाजत नहीं दी थी।

मनीष तिवारी ने अपनी इस किताब का नाम ’10 Flash Points; 20 Years – National Security Situations that Impacted India’ रखा है। उनकी ये किताब जल्‍द ही मार्केट में आ जाएगी। अपने एक ट्वीट में उन्‍होंने लिखा है कि ये किताब यूपीए सरकार की दो दशकों के दौरान थामी चुप्‍पी पर है। गौरतलब है कि मुंबई हमले के दौरान भी कांग्रेस की बड़ी वजीहत हुई थी, जिसकी वजह तत्‍कालीन गृह मंत्री शिवराज पाटिल बने थे। उस वक्‍त आरोप लगा था कि मुंबई आतंकी हमले से दहलती रही हो शिवराज पाटिल विभिन्‍न कार्यक्रमों में जाने के लिए केवल अपने कपड़े ही बदलते रहे थे।