23 और 24 अगस्त को दो दिन मनाई जाएगी ‘जन्माष्टमी’

भगवान श्रीकृष्ण का जन्मोत्सव यानी जन्माष्टमी में इस बार 23 और 24 अगस्त को दो दिन मनाई जाएगी। जन्माष्टमी का पर्व हिन्दु पंचाग के अनुसार, भाद्रपद मास कृष्ण पक्ष की अष्टमी को मनाया जाता है। इस बार यह अष्टमी 23 और 24 तारीख दो दिन है। विशेष उपासक 23 को जन्माष्टमी मनाएंगे जबिक आम लोग 24 अगस्त को जन्माष्टमी मना सकते हैं। क्योंकि उदया तिथि अष्टमी की बात करें तो यह 24 अगस्त को है। हालांकि भगवान कृष्ण के जन्म के वक्त आधी रात को अष्टमी तिथि को देखें तो 23 अगस्त को जन्माष्टमी मनाई जाएगी।

भगवान श्री कृष्ण का जन्म रोहिणी नक्षत्र में मध्यरात्रि को हुआ था। भाद्रपद मास में आने वाली कृष्ण पक्ष की अष्टमी तिथि को रोहिणी नक्षत्र का संयोग होना शुभ माना गया है। रोहिणी नक्षत्र, अष्टमी तिथि के साथ सूर्य और चन्द्रमा ग्रह भी उच्च राशि में है। रोहिणी नक्षत्र, अष्टमी के साथ सूर्य और चंद्रमा उच्च भाव में होगा। द्वापर काल के अद्भुत संयोग में इस बार कान्हा जन्म लेंगे। घर-घर उत्सव होगा। लड्डू गोपाल की छठी तक धूम रहेगी। इस योग पर भगवान श्रीकृष्ण की पूजा करने भक्तों के सभी कष्ट दूर हो जाएंगे। पर्व को लेकर तैयारियां शुरू हो गई हैं। 


अष्टमी तिथि : 
अष्टमी 23 अगस्त 2019 शुक्रवार को सुबह 8:09 बजे लगेगी।

अगस्त 24, 2019 को 08:32 बजे अष्टमी समाप्त होगी। जन्मोत्सव तीसरे दिन तक मनाया जाएगा।

रोहिणी नक्षत्र 23 अगस्त 2019 को दोपहर  12:55 बजे लगेगा। 
रोहिणी नक्षत्र 25 अगस्त 2019 को रात 12:17 बजे तक रहेगा।


श्रीकृष्ण जन्माष्टमी का महत्व –
मान्यता है कि भगवान विष्णु और मां लक्ष्मी की कृपा पाने के लिए श्रीकृष्ण जन्माष्टमी मनाई जाती है। क्योंकि भगवान कृष्ण को भगवान विष्णु के ही अवतार हैं। इसके अलावा भगवान कृष्ण का ध्यान, व्रत और पूजा  करने से भक्तों को उनकी विशेष कृपा प्राप्ति होती है। भगवान कृष्ण के बड़े भाई बलराम या बलदाऊ जी का पालन पोषण भी नंदबाबा के घर में हुआ। वासुदेव जी की एक पत्नी थीं रोहिणी जिनके पुत्र बलदाऊ जी महाराज थे। कंस ने देवकी को वासुदेव के साथ जेल में डाला तो रोहिणी को नंद बाबा के यहां भेज दिया गया। वैष्णव पंथ को मानने वाले हिन्दु धर्म के उपासक भगवान कृष्ण को अपना आराध्य मानते हैं ऐसे में आराध्य को याद करने लिए भी प्रित वर्ष लोग उनका जन्मोत्सव मनाते हैं।

भोग में चढ़ाएं दूध-धी और मेवा-
त्व देवां वस्तु गोविंद तुभ्यमेव समर्पयेति!! मंत्र के साथ भगवान कृष्ण का भोग लगाना चाहिए। भोग के लिए माखन मिश्री, दूध, घी, दही और मेवा काफी महत्व पूर्ण माना गया है। पूजा में पांच फलों का भी भोग लगा सकते हैं। चूंकि भगवान कृष्ण को दूध-दही बहुत पसंद था ऐसे में उनके भोग में दूध, दही और माखन जरूर सम्मिलित करना चाहिए।

पूजन विधान-
जन्माष्टमी के दिन व्रती सुबह में स्नानादि कर ब्रह्मा आदि पंच देवों को नमस्कार करके पूर्व या उत्तर मुख होकर आसन ग्रहण करें। हाथ में जल, गंध, पुष्प लेकर व्रत का संकल्प इस मंत्र का उच्चारण करते हुए लें- ‘मम अखिल पापप्रशमनपूर्वक सर्वाभीष्ट सिद्धये श्रीकृष्ण जन्माष्टमी व्रत करिष्ये।’ इसके बाद बाल रूप श्रीकृष्ण की पूजा करें। गृहस्थों को श्रीकृष्ण का शृंगार कर विधिवत पूजा करनी चाहिए। बाल गोपाल को झूले में झुलाएं। प्रात: पूजन के बाद दोपहर को राहु, केतु, क्रूर ग्रहों की शांति के लिए काले तिल मिश्रित जल से स्नान करें। इससे उनका कुप्रभाव कम होता है।

इस मंत्र का करें जाप-
सायंकाल भगवान को पुष्पांजलि अर्पित करते हुए इस मंत्र का उच्चारण करें-
‘धर्माय धर्मपतये धर्मेश्वराय धर्मसम्भवाय श्री गोविन्दाय नमो नम:।’
इसके बाद चंद्रमा के उदय होने पर दूध मिश्रित जल से चंद्रमा को अर्घ्य देते समय इस मंत्र का उच्चारण करें- ‘ज्योत्सनापते नमस्तुभ्यं नमस्ते ज्योतिषामपते:! नमस्ते रोहिणिकांतं अघ्र्यं मे प्रतिग्रह्यताम!’ रात्रि में कृष्ण जन्म से पूर्व कृष्ण स्तोत्र, भजन, मंत्र- ‘ऊं क्रीं कृष्णाय नम:’ का जप आदि कर प्रसन्नतापूर्वक आरती करें। 

नेताओं के चिदम्बरम की गिरफ्तारी पर ब्यान

कांग्रेस पार्टी इस पूरे मामले पर केन्द्र की मोदी सरकार और जांच एजेंसियों पर निशाना साध रही है वहीं दूसरी ओर बीजेपी ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेस और भ्रष्टाचार एक ही सिक्के के दो पहलू हैं.

नई दिल्‍ली: आईएनएक्स मीडिया केस से जुड़े भ्रष्टाचार और धनशोधन के मामलों में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए गए वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरमको सीबीआई के अलावा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी गिरफ्तार करेगी.  ईडी के अधिकारियों के मुताबिक सीबीआई की चिदम्बरम से पूछताछ पूरी होने के बाद ED भी उन्हें गिरफ्तार करेगी और मामले में पूछताछ करेगी. दरअसल दोनों ही एजेंसी INX मीडिया केस की जांच कर रही हैं. बुधवार को सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद चिदंबरम को रात भर सीबीआई मुख्यालय में रखा गया. आज दोपहर 2 बजे चिदंबरम को राउज एवेन्यू में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में पेश किया जाएगा. इस पूरी कार्यवाही पर विभिन्न दलों के राजनेताओं के मिले-जुले रिएक्शन आ रहे हैं. यहां हम आपके लिए कुछ प्रमुख राजनेताओं द्वारा दिए गए बयानों को पेश कर रहे हैं.

कांग्रेस पार्टी इस पूरे मामले पर केन्द्र की मोदी सरकार और जांच एजेंसियों पर निशाना साध रही है वहीं दूसरी ओर बीजेपी ने कांग्रेस पर पलटवार करते हुए कहा है कि कांग्रेस और भ्रष्टाचार एक ही सिक्के के दो पहलू हैं. इस बीच यह खबर भी सामने आई थी कि इस बारे में राहुल गांधी और प्रियंका गांधी जल्द ही एक प्रेस कांफ्रेंस कर सकते हैं.

कार्ति चिदंबरम

पी. चिदंबरम के बेटे कार्ति चिदंबरम ने इस मामले पर कहा, “मेरे पिता मुखर हैं. उनको चुप कराने की कोशिश की गई है. 2008 का केस 2017 में एफआईआर. 4 बार रेड की गई.” इसके आगे उन्होंने कहा, “इसके द्वारा केवल मेरे पिता का टार्गेट नहीं किया जा रहा है, बल्कि कांग्रेस पार्टी का टार्गेट किया जा रहा है. मैं विरोध करने के लिए जंतर-मंतर जाऊंगा.”

मुख्तार अब्बास नकवी

बीजेपी के प्रमुख नेता मुख्तार अब्बास नकवी ने इस पूरे मामले पर अपनी राय रखते हुए कहा, “कांग्रेस और करप्शन एक-दूजे के लिए बने हुए हैं. सबको पता है. कानून और कोर्ट पर पॉलिटिकल पलीता लगाने की कोशिश नहीं करनी चाहिए.”

शाहनवाज हुसैन

वहीं दूसरी ओर बीजेपी के अन्य वरिष्ठ नेता शाहनवाज हुसैन ने कहा, “चिदंबरम वकील हैं. उन्हें मालूम था कि कानून के हवाले करना चाहिए था. छिपना… सीधा दरवाजा खोल देते तो क्या सीबीआई को कूद कर जाने की जरुरत पड़ती. सीधे दरवाजा खोल कर बताते. अपने आप को हवाले कर देते. पूरा देश देख रहा है. कांग्रेस की इस हरकत ने देश को शर्मसार किया है. कार्ति को मालूम होना चाहिए कि अभी बहुत ऐसे केस सामने आने वाले हैं. जांच होगी. इश्यू भटकेगा नहीं.”

अनिल विज

हरियाणा के मंत्री अनिल विज ने इस मामले पर अपनी राय प्रकट करते हुए एक ट्वीट किया है. अपने ट्वीट में उन्होंने लिखा है, “चिदंबरम की गिरफ्तारी के बाद कांग्रेस डरी-डरी सी व मरी-मरी सी नजर आ रही है.” इसी मामले में एक अन्य ट्वीट में उन्होंने लिखा है, “आईएनएक्स भ्रष्टाचार मामले में महाबुद्धिमान पूर्व वित्तमंत्री पी चिदम्बरम फरार कांग्रेस में हाहाकार.” केन्द्रीय मंत्री धर्मेन्द्र प्रधान ने कहा, “सभी के लिए कानून समान है. जो गलत करते हैं वे कानून से डरते हैं.” बीजेपी नेता सिद्धार्थनाथ सिंह ने कहा, “चिदंबरम संवैधानिक पदों पर रहे हैं. सोनिया राहुल पर भी सवाल खड़ा होता है. कल तक ये लोग चौकसी, माल्या और नीरव मोदी पर भी सवाल खड़े करते थे.”

सलमान खुर्शीद

वहीं दूसरी ओर इस मामले में कांग्रेस के वरिष्ठ नेता सलमान खुर्शीद ने कहा, “यह जो कुछ भी हुआ बहुत ही दुखद है, कानून के प्रति जवाबदेह नहीं होने का कोई सवाल ही नहीं था. यह मामला शुक्रवार को सूचीबद्ध किया गया है, वे तब तक इंतजार कर सकते थे कि सुप्रीम कोर्ट क्या करना चाहता है.”

राजू वाघमारे

वहीं महाराष्ट्र कांग्रेस के प्रवक्ता राजू वाघमारे ने कहा, “सुप्रीम कोर्ट ने अगर उन्हें शुक्रवार तक का समय दिया है तो सीबीआई को इतनी जल्दी क्यों थी. शर्म आनी चाहिए ऐसी जांच एजेंसी को. जिस इस तरह के अंदाज में काम कर रहे हैं. ये सब करने की क्या जरुरत है. लोकतंत्र का खून बीजेपी ने सीबीआई के हाथों किया है. संविधान को जानने वाले को…. सीनियर वकील हैं… कुछ तो इज्जत बख्श दो. सीबीआई का नाम चार्जशीट में तो है नहीं. उन्हें हिरासत में लिया गया है. गिरफ्तार नहीं किया गया है.”

सत्यपाल सिंह

बागपत से बीजेपी सांसद सत्यपाल सिंह ने मीडिया के सामने अपने विचार व्यक्त करते हुए कहा, “चिदंबरम जी पूर्व केन्द्रीय वित्त और गृह मंत्री हैं, वह एक बुद्धिजीवी हैं और कानून को जानते हैं. उन्हें अदालत के आदेश के बाद इस तरह का व्यवहार नहीं करना चाहिए था. जो हुआ वह अच्छा नहीं था, क्या उन्होंने पहले आत्मसमर्पण किया था, उनकी गरिमा बरकरार रहेगी.”

कपिल सिब्बल

वरिष्ठ वकील और कांग्रेसी नेता कपिल सिब्बल ने इस मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “कानूनी बिरादरी के सदस्यों के रूप में यह हमारे लिए बहुत चिंता का विषय है, यह नागरिकों के लिए भी चिंता का विषय होना चाहिए. हम सब चाहते थे कि एक सुनवाई हो, पीठासीन न्यायाधीश ने इसके बजाय यह कहा कि मैं सीजेआई को फाइल भेज रहा हूं. क्या कोई नागरिक सुनवाई का हकदार नहीं है?” वहीं वरिष्ठ वकील अभिषेक मनु सिंघवी ने मीडिया पर निशाना साधते हुए कहा, “आप लोग सेंसेशनलाइज़ कर रहे हैं.” 

डीएमके नेता ए राजा ने इस पूरे मामले पर प्रतिक्रिया देते हुए कहा, “यह राजनीति से प्रेरित है.” यूपी कांग्रेस के वरिष्ठ नेता अखिलेश प्रताप सिंह ने कहा, “आप विचारों से भिन्न हैं और बीजेपी स्नान नहीं किया तो आप लोगों के पीछे छोड़ दिए जाएंगे. आप लोग 6 साल से कीर्तिन कर रहे हैं. बीजेपी की सरकार कभी पाक का नाम लेती है. वहीं कर्नाटक कांग्रेस के नेता रिजवान अरशद ने भी बीजेपी पर निशाना साधते हुए कहा, “यह पॉलिटिकल वेंडेटा है.”

चिदम्बरम से सीबीआई द्वारा पूछे जाने वाले चंद सवाल

सीबीआई ने चिदंबरम द्वारा पहले दिए गए जवाबों को काउंटर करने के लिए कई सारे डॉक्यूमेंट्री एविडेंस जुटाए हुए है। बुधवार रात के गिरफ्तार किए गए चिदंबरम सीबीआई की कस्टडी में रातभर परेशान रहे. चिदंबरम को रात भर सीबीआई मुख्‍यालय में रखा गया. यहां उनकी मेडिकल जांच भी कराई गई. आईएनएक्स मीडिया से जुड़े भ्रष्टाचार और धनशोधन के मामलों में आरोपी चिदंबरम को दोपहर 2 बजे स्पेशल सीबीआई जज अजय कुमार कुहार की कोर्ट (राउज एवेन्यू) में पेश किया जाएगा.

नई दिल्‍ली : आईएनएक्स मीडिया केस में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए गए वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त मंत्री पी चिदंबरम को आज (गुरुवार) को सीबीआई स्पेशल कोर्ट में पेश किया जाएगा. सीबीआई ने चिदंबरम से पूछने के लिए 100 से ज्यादा सवाल तैयार किए है.  सीबीआई की दलील रही है कि चिदंबरम पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहे हैं और सवालों के गोलमोल जवाब देते रहे है. इसके साथ ही सीबीआई ने चिदंबरम द्वारा पहले दिए गए जवाबों को काउंटर करने के लिए कई सारे डॉक्यूमेंट्री एविडेंस जुटाए हुए है. 

सूत्रों के अनुसार सीबीआई द्वारा पूछे जाने वाले सवाल कुछ इस तरह के होंगे

  • नोटिस सर्व करने के बाद भी आप जांच में शामिल होने क्यों नहीं आए ? 
  • हाईकोर्ट ने अग्रिम जमानत याचिका खारिज की उसके बाद से लेकर AICC में पीसी के बीच तक आप कहा थे ?  
  • इस दौरान आप कहा कहा गए, किस किसके साथ मुलाकात हुई ? 
  • आपका मोबाईल फोन बंद था, इस दौरान आपने कौन से नंबर इस्तेमाल किए ?
  • हमे जानकारी मिली है Inx मीडिया केस में रिश्वत के पैसो से आपने देश और विदेश में प्रॉपर्टी में इन्वेस्ट किया जिनमे से कुछ की जानकारी हमे है, इसपर आपका क्या जवाब है, सोर्स ऑफ इनकम क्या था ?  
  • विदेशो में कितनी शेल्स कम्पनियो में ये घूस का पैसा लगाया गया, 200 शेल कंपनियो के बारे में जानकारी मिली है आपका क्या कहना है ? 
  • Inx मीडिया में फॉरन इन्वेस्टमेंट में नियम कानून को ताक पर रखा गया, कार्ति ने आपके प्रभाव में ये किया, आपने मंजूरी कैसे दी ? 
  • इन्द्राणी से आपकी मुलाक़ात नार्थ ब्लॉक में हुई थी, और आपने उन्हें कार्ति के संपर्क में रहने के लिए कहा था ? 
  • ये मुलाक़ात इन्द्राणी मुखर्जी से कैसे लाइनअप हुई थी ? 
  • कार्ति ने मलेशिया, स्पेन, यूके में जो प्रॉपर्टी खरीदी उसमे आपको क्या जानकारी है, सोर्स ऑफ इनकम क्या था ? 
  • आरोप है स्पेन, मलेशिया और यूके में जो परिवार ने विला, फ्लैट्स और टेनिस कोर्ट खरीदा क्या वो आपके वित्त मंत्री रहते हुए खरीदे गए और पैसा कहा से लाया कार्ति। 
  • इन्द्राणी मुखर्जी सरकारी गवाह बन चुकी है और उन्होंने कबूला है इस पूरी डील में कार्ति को मोटी रिश्वत दी गई और वो आपसे भी मिली, इसपर आपका क्या कहना है, फॉरन इन्वेस्टमेंट प्रमोशन बोर्ड के तमाम नियमो को तोड़ते हुए क्यों और कैसे फायदा पहुचाया ? 
  • आपके अलावा वित्त मंत्रालय के वो कौन कौन से अधिकारी थे जिन्होंने आपको क्लीयरेंस देने से नहीं रोका 

बुधवार रात के गिरफ्तार किए गए चिदंबरम सीबीआई की कस्टडी में रातभर परेशान रहे. चिदंबरम को रात भर सीबीआई मुख्‍यालय में रखा गया. यहां उनकी मेडिकल जांच भी कराई गई. आईएनएक्स मीडिया से जुड़े भ्रष्टाचार और धनशोधन के मामलों में आरोपी चिदंबरम को दोपहर 2 बजे स्पेशल सीबीआई जज अजय कुमार कुहार की कोर्ट (राउज एवेन्यू) में पेश किया जाएगा. इस दौरान सीबीआई पूर्व वित्त मंत्री की ज्यादा से ज्यादा दिन की रिमांड मांगेगी. इससे पहले भी सीबीआई इस केस की सुनवाई के दौरान हिरासत में पूछताछ की मांग करती रही है.

इससे पहले ‘गायब’ चल रहे पी चिदंबरम बुधवार को अचानक कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे और प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में खुद को निर्दोष बताया. उन्होंने कहा कि वह ‘कानून से बच नहीं रहे हैं, बल्कि कानूनी संरक्षण की तैयारी कर रहे हैं’ और उम्मीद जताई कि जांच एजेंसियां ‘कानून का सम्मान करेंगी.’ चिदंबरम ने कहा, “मैं इस बात से भौंचक्क हूं कि मुझ पर कानून से भागने का आरोप लगाया जा रहा है, जबकि इसके विपरीत मैं कानूनी संरक्षण पाने की तैयारी कर रहा हूं. मुझ पर आरोप है कि मैं न्याय से भाग रहा हूं, जबकि इसके विपरीत मैं न्याय की खोज में लगा हुआ हूं.” उन्होंने कहा कि वह शुक्रवार तक इंतजार करेंगे, जब सुप्रीम कोर्ट ने उनकी अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई का फैसला किया है.

इसके बाद वह यहां से वह अपने जोर बाग स्थित आवास पहुंचे. इस बीच लुकआउट नोटिस जारी करने वाली सीबीआई और ईडी की टीम उनके घर जा पहुंची. दरवाजा बंद देख सीबीआई की टीम दीवार फांदकर अंदर गई और उन्हें गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद उन्हें सीबीआई मुख्यालय ले जाया गया. 

इससे पहले आईएनएक्स मामले में अग्रिम जमानत याचिका रद्द करने के दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती देने वाली पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम की याचिका सुप्रीम कोर्ट की पीठ में सुनवाई के लिए सूचीबद्ध नहीं की गई थी. वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल की अगुआई में कई वकील बुधवार सुबह से उचित पीठ में मामले की सुनवाई के लिए प्रयासरत रहे. सिब्बल ने न्यायमूर्ति एनवी रमन्‍ना की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष कहा, “हमारे पास कोई विकल्प नहीं है, इसलिए हम दोबारा यहां आए हैं.” न्यायमूर्ति रमन्‍ना ने कहा कि याचिका में कुछ खामियां पाई गई हैं.

सिब्बल ने कहा था कि खामियां दूर कर दी गई हैं और उन्होंने मामले को अदालत के समक्ष मौखिक रूप से पेश करने का आग्रह किया और मामले को यथासंभव जल्द से जल्द सूचीबद्ध करने का अनुरोध किया था. सिब्बल ने कहा, “मेरा मुवक्किल कहीं नहीं भाग रहा है और उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया गया है. वह यह लिखकर देने को तैयार हैं कि वह कहीं नहीं जा रहे हैं.”

न्यायमूर्ति रमन्‍ना ने रजिस्ट्रार को बुलाया, और रजिस्ट्रार ने अदालत को बताया कि याचिका की खामियां दूर हो गई हैं और सत्यापन के बाद याचिका सूचीबद्ध कर दी जाएगी. याचिका पर सुनवाई के लिए सिब्बल के जोर देने पर न्यायमूर्ति रमना ने इससे इंकार कर दिया था. उन्होंने कहा कि सूचीबद्ध किए बिना मामले की सुनवाई नहीं की जा सकती. इससे पहले न्यायमूर्ति रमन्‍ना की अगुआई वाली सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया मामले में अग्रिम जमानत देने से इंकार करते हुए याचिका पर तत्काल सुनवाई के लिए मामले को प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई के पास भेज दिया था.

राज ठाकरे की प्रवर्तन निदेशालय में पेशी आज

साल 2003 में मनोहर जोशी के बेटे उन्मेश जोशी ने राज ठाकरे और राजन शिरोडकर के साथ मिलकर अपनी कम्पनी कोहिनूर सिटीएनएल के जरिए कोहिनूर मिल खरीदी. पूरी डील 421 करोड़ में तय हुई थी जिसमें सभी पार्टनर बराबर के हिस्सेदार थे.

मुंबई: कोहिनूर इमारत मामले में महाराष्ट्र नवनिर्माण सेना (एमएनएस) प्रमुख राज ठाकरेकी पूछताछ से पहले महाराष्ट्र पुलिस ने कार्रवाई शुरू कर दी है. ताजा जानकारी के मुताबिक राज ठाकरे प्रवर्तन निदेशालय के दफ्तर में पेश होने के लिए अपने दादर स्थित घर से निकल चुके हैं. गौरतलब है कि राज ठाकरे को गुरुवार को 11 बजे प्रवर्तन निदेशालय के दफ्तर में हाजिर होना है. इसी के मद्देनजर मुंबई पुलिस ने गुरुवार को एमएनएस के कई कार्यकर्ताओं को हिरासत में लेना शुरू कर दिया है. इसके साथ ही उनके घर की तरफ आने वाले दोनों तरफ के रास्ते पर पुलिस ने बैरिकेडिंग की है ताकि इस दौरान समर्थकों का जमावड़ा न हो सके.

एक तरफ जहां मुम्बई पुलिस ने मनसे के कार्यकर्ताओं को साफ तौर पर चेतावनी दी है कि कानूनी प्रक्रिया के दौरान उद्दंडता करने वालों पर कार्यवाही की जाएगी तो वहीं दूसरी तरफ खुद राज ठाकरे ने अपने कार्यकर्ताओं को निदेश दिए हैं कि वो उनके घर पर या प्रवर्तन निदेशालय में इकट्ठा न हो. ताजा जानकारी के मुताबिक राज ठाकरे के ईडी दफ्तर में पेशी को लेकर मुंबई के 4 पुलिस थानों की हद में धारा 144 लगाई गई है, जिसमें मरीन ड्राइव, एमआरए मार्ग, आज़ाद मैदान और दादर पुलिस स्टेशन का एरिया शामिल है.

प्रवर्तन निदेशालय कोहिनूर मिल खरीदने के मामले में हुए फण्ड रेगुलरटीज के तहत पीएमएलए के तहत मामले की जांच कर रही है. साल 2003 में मनोहर जोशी के बेटे उन्मेश जोशी ने राज ठाकरे और राजन शिरोडकर के साथ मिलकर अपनी कम्पनी कोहिनूर सिटीएनएल के जरिए कोहिनूर मिल खरीदी. पूरी डील 421 करोड़ में तय हुई थी जिसमें सभी पार्टनर बराबर के हिस्सेदार थे.

आपको बता दें कि इस डील में ILFS 225 करोड़ रुपये इक्विटी के तौर पर निवेश किए और कोहिनूर सिटीएनएल को फंड भी किया. लेकिन, साल 2008 में ILFS ने अपने 225 करोड़ के इक्विटी शेयर्स महज 90 करोड़ में बेच दिए जिसके चलते 135 करोड़ का लोन डिफाल्ट हुआ. कुछ समय बाद राज ठाकरे ने भी इस शेयर होल्डिंग पैटर्न में अपने शेयर बेच दिए और डील से निकल गए और लोन डिफॉल्ट की रकम कर्ज के तौर पर चुकाई नहीं गई. इसी वजह से ILFS अब सन्देह के घेरे में है.

इस मामले में प्रवर्तन निर्देशालय ILFS के ईक्विटी पैटर्न, कोहिनूर सिटीएनएल के शेयर होल्डिंग पैटर्न में उन्मेश जोशी, राजन शिरोडकर के साथ मुख्य रूप से राज ठाकरे के एक्चुअल इन्वेस्टमेंट, फण्ड ट्रांजेक्शन और नुकसान में बेचे गए इक्विटी शेयर्स के कारणों और सहित शेयर होल्डिंग पैटर्न की जांच के लिए राज ठाकरे से पूछताछ करना चाहती है. इसके साथ ही ILFS के निवेश, नुकसान और लोन डिफॉल्ट सहित कोहिनूर सिटीएनएल के करोड़ों की हेराफेरी के इस मामले में पहले ही उन्मेश जोशी से पूछताछ चल रही है.


चिदम्बरम के लिए सीबीआई ने तैयार किये 100 सवाल

सीबीआई ने चिदंबरम द्वारा पहले दिए गए जवाबों को काउंटर करने के लिए कई सारे डॉक्यूमेंट्री एविडेंस जुटाए हुए है. सूत्रों के मुताबिक पी चिदंबरम से पहले चरण की पूछताछ लगभग पूरी हो चुकी है, सुबह एकबार फिर से चिदंबरम से पूछताछ होगी। कोर्ट में पेश करने से पहले लगातार पूछताछ की जाएगी और ज्यादा से ज्यादा दिनों की कस्टडी की लेने की कोशिश होगी। सीबीआई चिदंबरम को गुरुवार को राउज एवेन्यू कोर्ट में पेश करेगी। 

नई दिल्‍ली : 

आईएनएक्स मीडिया केस में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए गए वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त एवं गृह मंत्री पी चिदंबरम को आज (गुरुवार) को सीबीआई स्पेशल कोर्ट में पेश किया जाएगा. बुधवार रात के गिरफ्तार किए गए चिदंबरम सीबीआई की कस्टडी में रातभर परेशान रहे. चिदंबरम को रात भर सीबीआई मुख्‍यालय में रखा गया. यहां उनकी मेडिकल जांच भी कराई गई. आईएनएक्स मीडिया से जुड़े भ्रष्टाचार और धनशोधन के मामलों में आरोपी चिदंबरम को दोपहर 2 बजे स्पेशल सीबीआई जज अजय कुमार कुहार की कोर्ट (राउज एवेन्यू) में पेश किया जाएगा. इस दौरान सीबीआई पूर्व वित्त मंत्री की ज्यादा से ज्यादा दिन की रिमांड मांगेगी. इससे पहले भी सीबीआई इस केस की सुनवाई के दौरान हिरासत में पूछताछ की मांग करती रही है.

सीबीआई की दलील रही है कि चिदंबरम पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहे हैं और सवालों के गोलमोल जवाब देते रहे है. अब सीबीआई ने चिदंबरम से पूछने के लिए 100 से ज्यादा सवाल तैयार किए है. इसके साथ ही सीबीआई ने चिदंबरम द्वारा पहले दिए गए जवाबों को काउंटर करने के लिए कई सारे डॉक्यूमेंट्री एविडेंस जुटाए हुए है. ऐसा भी माना जा रहा है कि चिदंबरम अदालत में जमानत के लिए याचिका दायर कर सकते हैं.

वहीं, उनके बेटे कार्ति चिदंबरम ने अपने पिता की गिरफ्तारी को लेकर कहा कि अनुच्‍छेद 370 के मुद्दे से ध्‍यान भटकाने के इरादे से की गई है. इससे पहले उन्‍होंने कहा था कि उनके पिता को जिस नाटकीय ढंग से गिरफ्तार किया गया, वह सिर्फ राजनीतिक बदले की भावना से प्रेरित है. कार्ति चिदंबरम  ने कहा कि कथित कृत्य 2008 में हुआ और उसमें अब तक कोई आरोप नहीं है. सनद रहे कार्ति चिदम्बरम पर भी गिरफ्तारी की तलवार लटक रही है, कार्ति चिदम्बरम भी कई बड़े मामलों में आरोपी है और फ़िलवक्त जमानत पर हैं।

काँग्रेस के मंच से इस प्रेस वार्ता में मौजूद लोगों से पता लगता है कि काँग्रेस आकंठ भ्रष्टाचार में डूबे चिदम्बरम को बचाने के लिए कितनी लालायित है

इससे पहले ‘गायब’ चल रहे पी चिदंबरम बुधवार को अचानक कांग्रेस मुख्यालय पहुंचे और प्रेस कॉन्‍फ्रेंस में खुद को निर्दोष बताया. उन्होंने कहा कि वह ‘कानून से बच नहीं रहे हैं, बल्कि कानूनी संरक्षण की तैयारी कर रहे हैं’ और उम्मीद जताई कि जांच एजेंसियां ‘कानून का सम्मान करेंगी.’ चिदंबरम ने कहा, “मैं इस बात से भौंचक्क हूं कि मुझ पर कानून से भागने का आरोप लगाया जा रहा है, जबकि इसके विपरीत मैं कानूनी संरक्षण पाने की तैयारी कर रहा हूं. मुझ पर आरोप है कि मैं न्याय से भाग रहा हूं, जबकि इसके विपरीत मैं न्याय की खोज में लगा हुआ हूं.” उन्होंने कहा कि वह शुक्रवार तक इंतजार करेंगे, जब सुप्रीम कोर्ट ने उनकी अग्रिम जमानत याचिका पर सुनवाई का फैसला किया है.

इसके बाद वह यहां से वह अपने जोर बाग स्थित आवास पहुंचे. इस बीच लुकआउट नोटिस जारी करने वाली सीबीआई और ईडी की टीम उनके घर जा पहुंची. दरवाजा बंद देख सीबीआई की टीम दीवार फांदकर अंदर गई और उन्हें गिरफ्तार कर लिया. इसके बाद उन्हें सीबीआई मुख्यालय ले जाया गया.

इससे पहले आईएनएक्स मामले में अग्रिम जमानत याचिका रद्द करने के दिल्ली हाईकोर्ट के आदेश को चुनौती देने वाली पूर्व केंद्रीय मंत्री पी चिदंबरम की याचिका सुप्रीम कोर्ट की पीठ में सुनवाई के लिए सूचीबद्ध नहीं की गई थी. वरिष्ठ अधिवक्ता कपिल सिब्बल की अगुआई में कई वकील बुधवार सुबह से उचित पीठ में मामले की सुनवाई के लिए प्रयासरत रहे. सिब्बल ने न्यायमूर्ति एनवी रमन्‍ना की अध्यक्षता वाली पीठ के समक्ष कहा, “हमारे पास कोई विकल्प नहीं है, इसलिए हम दोबारा यहां आए हैं.” न्यायमूर्ति रमन्‍ना ने कहा कि याचिका में कुछ खामियां पाई गई हैं.

सिब्बल ने कहा था कि खामियां दूर कर दी गई हैं और उन्होंने मामले को अदालत के समक्ष मौखिक रूप से पेश करने का आग्रह किया और मामले को यथासंभव जल्द से जल्द सूचीबद्ध करने का अनुरोध किया था. सिब्बल ने कहा, “मेरा मुवक्किल कहीं नहीं भाग रहा है और उनके खिलाफ लुकआउट नोटिस जारी कर दिया गया है. वह यह लिखकर देने को तैयार हैं कि वह कहीं नहीं जा रहे हैं.”

न्यायमूर्ति रमन्‍ना ने रजिस्ट्रार को बुलाया, और रजिस्ट्रार ने अदालत को बताया कि याचिका की खामियां दूर हो गई हैं और सत्यापन के बाद याचिका सूचीबद्ध कर दी जाएगी. याचिका पर सुनवाई के लिए सिब्बल के जोर देने पर न्यायमूर्ति रमना ने इससे इंकार कर दिया था. उन्होंने कहा कि सूचीबद्ध किए बिना मामले की सुनवाई नहीं की जा सकती. इससे पहले न्यायमूर्ति रमन्‍ना की अगुआई वाली सुप्रीम कोर्ट की पीठ ने चिदंबरम को आईएनएक्स मीडिया मामले में अग्रिम जमानत देने से इंकार करते हुए याचिका पर तत्काल सुनवाई के लिए मामले को प्रधान न्यायाधीश रंजन गोगोई के पास भेज दिया था

सीबीआई के बाद ईडी भी चिदम्बरम को गिरफ्तार करेगी

चिदंबरम को दोपहर 2 बजे स्पेशल सीबीआई जज अजय कुमार कुहार की कोर्ट (राउज एवेन्यू) में पेश किया जाएगा. इस दौरान सीबीआई पूर्व वित्त मंत्री की ज्यादा से ज्यादा दिन की रिमांड मांगेगी.

नई दिल्‍ली : आईएनएक्स मीडिया केस से जुड़े भ्रष्टाचार और धनशोधन के मामलों में सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए गए वरिष्‍ठ कांग्रेस नेता और पूर्व वित्त एवं गृह मंत्री चिदंबरम को सीबीआई के अलावा प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) भी गिरफ्तार करेगी.  ईडी के अधिकारियों के मुताबिक सीबीआई की चिदम्बरम से पूछताछ पूरी होने के बाद ED भी उन्हें गिरफ्तार करेगी और मामले में पूछताछ करेगी. दरअसल दोनों ही एजेंसी INX मीडिया केस की जांच कर रही हैं. बुधवार को सीबीआई द्वारा गिरफ्तार किए जाने के बाद चिदंबरम को रात भर सीबीआई मुख्यालय में रखा गया. आज दोपहर 2 बजे चिदंबरम को राउज एवेन्यू में सीबीआई की स्पेशल कोर्ट में पेश किया जाएगा.

चिदंबरम को दोपहर 2 बजे स्पेशल सीबीआई जज अजय कुमार कुहार की कोर्ट (राउज एवेन्यू) में पेश किया जाएगा. इस दौरान सीबीआई पूर्व वित्त मंत्री की ज्यादा से ज्यादा दिन की रिमांड मांगेगी. इससे पहले भी सीबीआई इस केस की सुनवाई के दौरान हिरासत में पूछताछ की मांग करती रही है. 

जांच एजेंसी ने अपने मुख्‍यालय में देर रात तक पूछताछ की. इसके बाद पी चिदंबरम को ग्राउंड फ्लोर के 3 नंबर लॉकअप में रखा गया. ये वही लॉकअप है, जब इस बिल्डिंग का उद्धघाटन हुआ था तो पी चिदंबरम को ये लॉकअप दिखाया भी गया था कि यहां इंटरनेशनल स्टैंडर्ड का लॉकअप बनाया हुआ है, जिसमें वेंटिलेशन की पूरी व्यवस्था है. दरअसल, बुधवार रात के गिरफ्तार किए गए चिदंबरम सीबीआई की कस्टडी में रातभर परेशान रहे. चिदंबरम को रातभर सीबीआई मुख्‍यालय में रखा गया. यहां उनकी मेडिकल जांच भी कराई गई. 

सीबीआई की दलील रही है कि चिदंबरम पूछताछ में सहयोग नहीं कर रहे हैं और सवालों के गोलमोल जवाब देते रहे है. अब सीबीआई ने चिदंबरम से पूछने के लिए 100 से ज्यादा सवाल तैयार किए है. इसके साथ ही सीबीआई ने चिदंबरम द्वारा पहले दिए गए जवाबों को काउंटर करने के लिए कई सारे डॉक्यूमेंट्री एविडेंस जुटाए हुए है. ऐसा भी माना जा रहा है कि चिदंबरम अदालत में जमानत के लिए याचिका दायर कर सकते हैं. 

पूर्व वित्त मंत्री पी चिदम्बरम के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी

फरार पूर्व गृह मंत्री पी चिदम्बरम के खिलाफ लुक आउट नोटिस जारी कर दिया गया है, ईडी की कोशिश है की उन्हे जल्द से जल्द सुरक्षित गिरफ्तार कर लिया जाए अत: दिल्ली से फरार होने के सभी मार्गों को अवरुद्ध करने का प्रयास किया गया है।

नई दिल्‍ली: INX मीडिया हेराफेरी मामले में सुप्रीम कोर्ट ने कांग्रेस के वरिष्‍ठ नेता पी चिदंबरम की अग्रिम याचिका खारिज कर दी है. इस तरह सुप्रीम कोर्ट से चिदंबरम को फिलहाल कोई राहत नहीं मिली है. चिदंबरम की ओर से आज सुबह 10:30 बजे जस्टिस एनवी रमन्ना की बेंच से जल्द सुनवाई की मांग की गई. उसके बाद सुप्रीम कोर्ट के जस्टिस रमन्ना की बेंच ने याचिका पर सुनवाई से इनकार किया. जस्टिस रमन्ना की बेंच ने चिदंबरम की याचिका को चीफ जस्टिस रंजन गोगोई के पास भेजा. इससे पहले चिदंबरम की याचिका का विरोध करते हुए तुषार मेहता ने कहा कि चिदंबरम पर मनी लॉन्ड्रिंग का गंभीर आरोप है. चीफ जस्टिस की बेंच अभी अयोध्या मामले में कर रही है सुनवाई. फिलहाल चिदंबरम को राहत मिलने की उम्मीद कम है. पी चिदंबरम की तरफ से कपिल सिब्बल, सलमान खुर्शीद, विवेक तनखा कोर्ट रूम में पहुंचे.

दरअसल, मंगलवार को गिरफ्तारी से बचने के लिए पी चिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट का रुख किया था. चिदंबरम ने सुप्रीम कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका दायर की थी. चिदंबरम ने अपनी याचिका में दिल्ली हाई कोर्ट के फैसले को दी चुनौती थी. सुप्रीम कोर्ट रजिस्ट्री ने चिदंबरम के वकील कपिल सिब्बल से जस्टिस रमन्ना के सामने मामले को बुधवार को रखने को कहा था.

आपको बता दें कि दिल्ली हाईकोर्ट ने चिदंबरम की अग्रिम जमानत याचिका खारिज कर दी थी. जस्टिस सुनिल गौर की सिंगल बेंच ने ये फैसला सुनाया था. यह अग्रिम जमानत याचिका चिदंबरम ने सीबीआई और ईडी के केस में दायर की थी. याचिका खारिज होते ही चिदंबरम पर गिरफ्तारी की तलवार लटकी हुई है. पिछले साल से ही चिदंबरम की अग्रिम जमानत पर दिल्ली हाईकोर्ट की अंतरिम रोक थी. इससे पहले CBI और ED ने चिदंबरम की जमानत याचिका का विरोध किया था. हालांकि हाईकोर्ट ने चिदंबरम को निर्देश दिया था कि वह ED और CBI की जांच में सहयोग करें और बिना कोर्ट की इजाजत के देश से बाहर ना जाएं. 

ज़ाकिर नाइक 10 घंटे की पूछताछ से घबरा कर गिड़गड़ाने लगा, भाषणों पर लगा प्रतिबंध

  • बयान के लिए जाकिर नाइक ने मांगी माफी
  • ‘किसी व्यक्ति या समूह को चोट पहुंचाने की मंशा नहीं’
  • सोमवार ने 10 घंटे तक पुलिस ने की थी पूछताछ

मलेशियाई एजेंसियों की सख्ती के आगे विवादास्पद इस्लामिक उपदेशक जाकिर नाईक अब वहां की सरकार से माफी मांग रहा है. सोमवार को मलेशियाई पुलिस ने जाकिर नाईक से 10 घंटे तक पूछताछ की थी. जाकिर नाईक पर 8 अगस्त को हिन्दुओं और चीनी मूल के लोगों के खिलाफ विवादित टिप्पणी करने का आरोप है. 53 साल के जाकिर नाईक ने अपने माफीनामे में कहा है कि किसी व्यक्ति या समूह को अपने बातों से चोट पहुंचाने की उसकी कोई मंशा नहीं थी.

जाकिर नाईक ने कहा, “हालांकि मैंने खुद स्पष्ट कर दिया है, फिर भी जो समझते हैं कि मेरे बयान से उन्हें चोट पहुंची है उन्हें मैं कहना चाहता हूं कि किसी को भी ठेस पहुंचाना इस्लाम के मूल सिद्धांतों के खिलाफ है, मैं इसके लिए माफी मांगता हूं.” जाकिर ने दावा किया कि उससे ईर्ष्या करने वाले लोग उनके बयान को बिना संदर्भ के पेश कर रहे हैं और इसे मीडिया के सामने तोड़मरोड़ कर पेश कर रहे हैं.

बता दें कि जाकिर नाईक ने कहा कि मलेशिया में हिंदुओं को भारत के अल्पसंख्यक मुस्लिमों की तुलना में “सौ गुना” ज्यादा अधिकार हासिल है. चीनी समुदाय के लोगों को जाकिर नाईक ने ‘ओल्ड गेस्ट’ करार दिया था और कहा था कि उसे मलेशिया से निष्कासित करने से पहले चीनी मूल के मलयेशियाई लोगों को निकाला जाना चाहिए. मलेशिया की तीन करोड़ 20 लाख की आबादी में करीब 60 फीसदी निवासी मुस्लिम हैं और यहां काफी संख्या में भारतीय और चीनी समुदाय के लोग भी रहते हैं.

बता दें कि जाकिर नाईक भारत में वॉन्टेड है. जाकिर नाईक पर मनी लॉन्ड्रिंग के मामले चल रहे हैं. उस पर आतंकी गतिविधियों और भाषण के जरिए नफरत फैलाने का आरोप है. 2016 में जाकिर नाईक भारत छोड़कर मलेशिया आ गया था. यहां की सरकार ने उसे स्थायी तौर पर रहने की अनुमति दे दी है.

मलेशिया की समाचार एजेंसी बेरनामा के मुताबिक प्रधानमंत्री महातिर मोहम्मद ने कहा है कि नाईक ने सारी हदें लांघ दीं और कैबिनेट के कई मंत्रियों ने उसे बाहर निकालने की अपील की है. इस बीच मलेशिया पुलिस ने उसके देश में भाषण देने पर रोक लगा दी है.

गूगल में ‘भीकारी’ ढूँढने पर ‘इमरान खान’ दिखाई पड़ते हैं

चीनी की कीमत पिछले साल 65 रुपये किलो थी, जो अब 75-78 रुपये प्रति किलो हो गई है। खाद्य तेल की कीमत 180-200 रुपये से बढ़कर 200-220 रुपये प्रति किलो हो गई। दालों की कीमतें बढ़ गई हैं। मूंग, मसूर और अरहर की कीमतें जो पहले 90 रुपये से 100 रुपये के बीच थीं, अब बढ़कर 140 रुपये से 160 रुपये पहुंच गईं हैं। खुला दूध 100-120 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है, जो कि पहले 94 रुपये में मिलता था। इसी तरह सीमेंट और स्टील की छड़ों के दाम में वृद्धि दर्ज की गई है।

नई दिल्ली: गूगल सर्च इंजन पर भिखारी सर्च करने पर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान की फोटो आ रही है। गूगल इमेज में दिख रही इस फोटो में पाक पीएम इमरान खान हाथ में कटोरा लिए बैठे हैं। इस फोटो को आपको गूगल पर देखने के लिए आपको गूगल सर्च में जाकर इंगलिश या हिंदी में भिखारी टाइप करना होगा। भिखारी टाइप करते ही गूगल में इमरान खान की कई तस्वीर सामने आ जाएंगी।

जम्मू-कश्मीर से संविधान का अनुच्छेद 370 हटाकर उसका विशेष दर्जा खत्म कर दिया था जिसे लेकर पाकिस्तान, चीन के समर्थन के साथ संयुक्त राष्ट्र गया था जहां से उसे खाली हाथ लौटना पड़ा था। इसके अलावा प्रधानमंत्री इमरान खान के नेतृत्व वाली पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ (पीटीआई) सरकार ने हाल ही में एक साल पूरे किए हैं, लेकिन इस दौरान पाकिस्तान में महंगाई चरम पर पहुंच गई है और सरकार महंगाई को थामने में नाकाम रही है, जिससे लोगों को काफी परेशानी का सामना करना पड़ रहा है। 

पिछले साल अगस्त में जब सरकार सत्ता में आई तब पेट्रोल और डीजल क्रमश: जहां 95.24 रुपये और 112.94 रुपये प्रति लीटर था, वहीं अब यह 117.83 रुपये और 132.47 रुपये प्रति लीटर हो गया है। अगस्त 2018 में डॉलर के मुकाबले रुपया जहां 123 रुपये था, वहीं अब यह बढ़कर 158 रुपये हो गया है। सीएनजी का दाम 81.70 रुपये था, जो अब 123 रुपये प्रति किलो हो गया है। चपाती और नान की कीमत बढ़कर आठ और 12 रुपये हो गई है। 

चीनी की कीमत पिछले साल 65 रुपये किलो थी, जो अब 75-78 रुपये प्रति किलो हो गई है। खाद्य तेल की कीमत 180-200 रुपये से बढ़कर 200-220 रुपये प्रति किलो हो गई। दालों की कीमतें बढ़ गई हैं। मूंग, मसूर और अरहर की कीमतें जो पहले 90 रुपये से 100 रुपये के बीच थीं, अब बढ़कर 140 रुपये से 160 रुपये पहुंच गईं हैं। खुला दूध 100-120 रुपये प्रति लीटर बिक रहा है, जो कि पहले 94 रुपये में मिलता था। इसी तरह सीमेंट और स्टील की छड़ों के दाम में वृद्धि दर्ज की गई है।


अरुण जेटली की हालत नाजुक, दिल और फेफड़े ठीक से काम नहीं कर रहे -सूत्र

बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व वित्‍त मंत्री अरुण जेटली को सांस लेने में तकलीफ के चलते 9 अगस्‍त को एम्‍स में भर्ती कराया गया था. 

नई दिल्‍ली :बीजेपी के वरिष्‍ठ नेता और पूर्व वित्‍त मंत्री अरुण जेटली की हालत हाजुक है. सूत्रों के अनुसार 9 अगस्‍त से दिल्‍ली स्थित अखिल भारतीय आयुर्विज्ञान संस्‍थान (एम्‍स) में भर्ती अरुण जेटली को एक्‍स्‍ट्राकारपोरल मेंब्रेन ऑक्‍सीजनेशन (ECMO) और इंट्रा ऐरोटिक बैलून (IABP) सपोर्ट पर रखा गया है. सूत्र यह भी कह रहे हैं कि उनके दिल और फेफड़े ठीक से काम नहीं कर रहे हैं. जेटली का हाल जानने सभी बड़े नेता एम्‍स पहुंच रहे हैं.