चीन से उधार ले कर सऊदी का कर्ज़ चुका रहा पाकिस्तान सऊदी को ही गरिया रहा

  • चीन से कर्ज लेकर सऊदी का लोन चुका रहा पाकिस्तान, कश्मीर को लेकर दोनों देशों में खराब हैं संबंध।
  • पाकिस्तान ने हाल में ही सऊदी अरब को सुनाई थी खरी खोटी, जबाव में सऊदी ने पाक से वापस लिया वित्तीय समर्थन।
  • केवल 12 अरब डॉलर हैै पाकिस्तान का विदेशी मुद्रा भंडार, जीडीपी का 90 फीसदी हो सकता है कर्ज।

कंगाली के दहलीज पर खड़ा पाकिस्तान अब कर्ज को चुकाने के लिए भी कर्ज ले रहा है। पाकिस्तान ने सऊदी अरब को 3 बिलियन डॉलर कर्ज के बदले 1 बिलियन डॉलर की राशि वापस की है। इस कर्ज की अदायगी के लिए पाकिस्तान को 1 बिलियन डॉलर की राशि उसके सदाबहार दोस्त चीन ने दी थी। वहीं, कश्मीर पर साथ न देने से चिढ़े पाकिस्तान ने सऊदी को धमकी भी दी है।

इस्लामाबाद: 

पाकिस्तान की ऊल जलूल हरकतों से तंग आकर आखिरकार सऊदी अरब ने बड़ा कदम उठा लिया है. इसके तहत सऊदी अरब ने हाल ही में पाकिस्तान से एक बिलियन अमेरिकी डॉलर की वसूली की है, जो उसने डेढ़ साल पहले पाकिस्तान को बतौर कर्ज दिया था. पाकिस्तान के ऊपर सऊदी अरब का करीब तीन बिलियन डॉलर का कर्ज था, जिसे अब वो पाकिस्तान से वसूल रहा है.

सऊदी अरब की ओर से उठाया कदम इस बात की तरफ इशारा करता है कि पाकिस्तान बेहद तेजी से मुस्लिम देशों का विश्वास खोता जा रहा है. इसी वजह से सऊदी अरब ने अपने लोन की रकम की वसूली शुरू कर दी है, जो उसने पाकिस्तान को दिए थे. सऊदी अरब ने पाकिस्तान को ये रकम उस समय दी थी, जब पाकिस्तान को विदेशी कर्ज भरने के लिए धन की बेहद सख्त जरूरत थी. 

पाकिस्तान के अखबार द एक्सप्रेस ट्रिब्यून ने इस बारे में खबर छापी और लिखा है कि अब सऊदी अरब पाकिस्तान की मदद से अपने हाथ पीछे खींच रहा है. सऊदी अरब की तरफ से ये कदम ऐसे समय पर उठाया गया है, जब पाकिस्तान इस्लामिक देशों के समूह ऑर्गनाइजेशन ऑफ इस्लामिक कॉपरेशन (Organization Of Islamic Cooperation) में भारत के खिलाफ लामबंदी में जुटा है. पाकिस्तान पिछले एक साल से ओआईसी में भारत के खिलाफ जम्मू कश्मीर राज्य से आर्टिकल 370 हटाने के खिलाफ समर्थन मांग रहा है, लेकिन उसे यहां जोरदार झटका लगा और कोई भी देश पाकिस्तान की मदद के लिए खड़ा नहीं हुआ.

पाकिस्तानी अखबार डॉन में पाकिस्तान के राजनयिक सूत्र के हवाले से छपे लेख में लिखा है कि सऊदी अरब ने पाकिस्तान के उस अनुरोध को नकार दिया, जिसमें कश्मीर मुद्दे को आईओसी में उठाने का आग्रह किया गया था. पाकिस्तान को आईओसी में सपोर्ट न मिलने के बाद 22 मई को पाकिस्तानी प्रधानमंत्री इमरान खान (Imran Khan) ने कहा था कि इस्लामिक देशों में एकजुटता नहीं है. यहां तक कि हम आईओसी में कश्मीर मुद्दे तक को नहीं उठा सके.

एक तरफ पाकिस्तान जहां मुस्लिम देशों का भरोसा खोता जा रहा है, तो वहीं चीन उसकी मदद के नाम पर पूरा फायदा उठा रहा है और पाकिस्तान को आर्थिक मदद देने के नाम पर अपना आर्थिक उपनिवेश बना रहा है. सऊदी अरब के हाथ खींच लेने के बाद चीन ने पाकिस्तान को एक बिलियन डॉलर की न सिर्फ लोन के तौर पर मदद दी, बल्कि सीपीईसी (China-Pak Economic Corridor) के तहत 6.5 बिलियन डॉलर का अतिरिक्त निवेश भी किया है. 

कोझिकोड एयरपोर्ट पर एयर इंडिया का विमान रनवे पर फिसल गया, पायलट समेत 3 लोगों की मौत

दुबई से कालीकट आ रहा एयर इंडिया का विमान दुर्घटनाग्रस्त हो गया है. बताया जा रहा है कि इस विमान में 170 यात्री सवार थे. इस हादसे में फिलहाल पायलट समेत 3 लोगों की मौत की पुष्टि हुई है. जानकारी के मुताबिक, लैंडिंग के वक्त प्लेन रनवे से बाहर चला गया.

  • केरल में हुआ विमान हादसा
  • विमान हादसे में कई लोग घायल

नयी दिल्ली(ब्यूरो):

केरल में कोझिकोड एयरपोर्ट पर एयर इंडिया का विमान रनवे पर फिसल गया. जिसके कारण एक बड़ी दुर्घटना देखने को मिली है. रनवे पर विमान के फिसलने के बाद विमान क्रैश हो गया और दो हिस्सों में टूट गया. विमान दुबई से आ रहा था, जिसमें 190 से ज्यादा लोग सवार थे. इस हादसे में कई लोग घायल हो गए हैं. वहीं एक पाटलट और दो यात्रियों की मौत हो गई है.

डीजीसीए के मुताबिक एअर इंडिया एक्सप्रेस AXB1344, बोइंग 737 दुबई से कालीकट आ रहा था. विमान में 190 से ज्यादा लोग सवार थे. भारी बारिश के कारण रनवे पर उतरने के बाद विमान फिसल गया और घाटी में गिर गया. वहीं विमान दो टुकड़ों में टूट गया. विमान में 189 यात्री और 6 क्रू मेंबर सवार थे. इनमें 10 बच्चे भी शामिल थे.

शुरुआती जानकारी के मुताबिक इस हादसे में पायलट की मौत हो गई है. वहीं कई लोग घायल बताए जा रहे हैं. राहत एंव बचाव कार्य के लिए एनडीआरएफ की एक टीम कोझिकोड के लिए रवाना हो चुकी है. एनडीआरएफ के 50 जवानों को घटनास्थल पर भेजा गया है. मल्लापुरम से एनडीआरएफ की टीम भेजी गई है.

सीआईएसएफ के महानिदेशक राजेश रंजन ने बताया कि हमारे कर्मी बचाव कार्य में सहायता कर रहे हैं. हमारे पास अभी तक हताहतों की संख्या नहीं है लेकिन हमारे कर्मी विमान में सवार यात्रियों को निकालने में मदद कर रहे हैं. वहीं हादसे के बाद हेल्पलाइन नंबर (0565463903, 0543090572, 0543090572, 0543090575) भी जारी किए गए हैं.

अस्पताल में भर्ती

विमान हादस में कई लोग गंभीर रूप से घायल हो गए हैं. घायलों को इलाज के लिए अस्पताल में भर्ती करवाया गया है. फिलहाल घटनास्थल पर अफरातफरी का माहौल बना हुआ है और राहत-बचाव का काम किया जा रहा है. इस विमान में वंदे भारत मिशन के तहत दुबई से यात्रियों का वापस लाया जा रहा था.

बढते हुए प्रदूषण के कारण विश्व स्तर पर अनेक समस्याएं उत्पन्न हो रही है: वन मंत्री कवंर पाल

मोरनी/पंचकूला 5 अगस्त:

हरियाणा के शिक्षा के वन मंत्री कवंर पाल ने कहा कि बढते हुए प्रदूषण के कारण विश्व स्तर पर अनेक समस्याएं उत्पन्न हो रही है। इन समस्याओं के समाधान के लिए हरियाली बढाकर पर्यावरण को दूषित होने से बचाना है तथा मौसम को जीवन के अनुकूल बनाना है। वन मंत्री मोरनी खण्ड के गांव चुड़ी में वन विभाग की ओयाजित वृक्षारोपण कार्यक्रम को सम्बोधित कर रहे थे। उन्होंने पौधारोपण कर लोगों को प्रोत्साहित किया और उन्हें रक्षासूत्र बांधकर ज्यादा से ज्यादा से पौधों को लगाकर उनकी सुरक्षा करने का भी संकल्प करवाया। उन्हांेने क्षेत्र के सरपंचों, स्वंय सहायता समूहों, एवं अन्य लोगों कोे अपने हाथों से 3000 आम, निम्बु एवं औषधिय पौधे वितरित किए। उन्होंने स्वंय सहायता समूहों द्वारा लगाए गए स्टाल का भी अवलोकन किया और उन्हें हल्दी, मक्की के आटे का करोबार बढाने के लिए बेहतर मार्केटिंग पर बल दिया।  

उन्होंने कहा कि प्रदेश में वृक्ष क्षेत्र के भौगोलिक क्षेत्र का 20 प्रतिशत करने के लिए बड़े स्तर पर औषधिय एवं फलदार पौधे लगाए जा रहे हैं। वर्तमान में प्रदेश में कुल 7 प्रतिशत वन क्षेत्र है। इसके लिए प्रत्येक गांव की देह आबादी, शहरों की खाली जमीन, पंचायती भूमि, गुरूद्वारों,मंदिरों, शमशान घाट, शिक्षण संस्थाओं की भूमि पर अधिक से अधिक पौधारोपण करना है। उन्होंने कहा कि सरकार ने प्रदेश के 1126 गांवों की भूमि का चयन पौधारोपण के लिए किया है।
वन मंत्री ने कहा कि चुडी गांव के प्राकृतिक सौंदर्याकरण की प्रंशषा करते हुए कहा कि हमारा प्रयास इस क्षेत्र के लोगों की आमदनी को बढाना है ओर इसे अच्छे प्रर्यटन स्थल के रूप में विकसित करना है। उन्होंने ग्रामीणों से अनुरोध किया कि वे सरकार के सहयोग से पर्यटकों के लिए 20-30 कमरे बनवाएं ताकि पर्यटक को होटलों की तर्ज पर बेहतर सेवाएं मिल सके। उन्होंने लोगों से इस बारे अपने सुझाव भेजने का भी अनुरोध किया ताकि सरकार उनके लिए जनकल्याण की योजना बनाकर ग्रामीणांे की मदद कर सके।

कार्यक्रम को सम्बोधित करते हुए प्रधान मुख्य वन सरंक्षक अमरिन्द्र कौर ने कहा कि इस वर्ष कोविड के चलते औषधिय पौधों पर विशेष बल दिया जा रहा है। इसलिए लोगों को आंवला, नीम, बेल पत्थर, जामून, अमरूद, कदम, पीपल, बहेडा, आदि के पौधे रोपित करें। विभाग की ओर से भी औषधिय पौधों बांटने का कार्य किया जा रहा है। वरिष्ठ सलाहाकार मुद्रा एवं जन सरंक्षण डा. एस. एस. ग्रेवाल ने इलाके की समस्याओं बारे मंत्री को अवगत करवाया।  

समारोह में प्रधान मुख्य वन सरंक्षक अधिकारी पंचकूला आलोक वर्मा, मुख्य वन सरंक्षक जी रमन, वन विकास निगम के प्रबंधक निदेशक जगदीश चंद्र, वन मण्डल अधिकारी रामकुमार, एडीएफओ अनिता, मुख्य प्रचार अधिकारी धर्मबीर, वन रजिक अधिकारी राजीव कम्बोज,  सहित कई अधिकारी मौजूद रहे।  

राम जन्मभूमि शिलान्यास का काम पूरा, ओवैसी का राग बाबरी जारी

अयोध्या जी में राम मंदिर भूमि पूजन का कार्यक्रम प्रधानमंत्री मोदी के हाथों संपन्न हो गया है. अयोध्या जी में राम मंदिर शिलान्यास कार्यक्रम के बाद ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी के इस कार्यक्रम में शामिल होने पर सवाल खड़ा किया है.

नयी दिल्ली(ब्यूरो) – 5 अगस्त :

अयोध्या जी में राम मंदिर भूमि पूजन का कार्यक्रम प्रधानमंत्री मोदी के हाथों संपन्न हो गया है. अयोध्या जी में राम मंदिर शिलान्यास कार्यक्रम के बाद ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन के अध्यक्ष असदुद्दीन ओवैसी ने एक बार फिर प्रधानमंत्री मोदी के इस कार्यक्रम में शामिल होने पर सवाल खड़ा किया है. ओवैसी ने कहा, ‘मैं शुरू से ही यह कहता रहा हूं कि पीएम को भूमि पूजन में शामिल नहीं होना चाहिए था. क्योंकि वह किसी समुदाय के पीएम नहीं है, भारत का एक ही धर्म है. उन्होंने कहा कि ये लोकतंत्र की हार है.

ओवैसी ने आगे कहा, ‘पीएम का इस कार्यक्रम में शामिल होना देश की धर्मनिरपेक्ष नीतियों का उल्लंघन है. आज हिंदुत्व और धर्मनिरपेक्षता के लिए एक सफल दिन है क्योंकि मोदी (एक पीएम के रूप में) इस कार्यक्रम में शामिल हुए. पीएम ने कहा कि आज का कार्यक्रम भारत का प्रतीक है. लेकिन, वह एक देश के पीएम हैं और उन्हें समझने की जरूरत है कि देश का प्रतीक मंदिर या मस्जिद नहीं हो सकता.’

क्या है नया भारत?

ओवैसी ने आगे बोलते हुए कहा, ‘मैं कह रहा हूं कि राष्ट्रीय स्वयंसेवक संघ की प्रमुख उपस्थिति के कारण हिंदुत्व की सफलता का दिन है. वह वहां क्यों है? भागवत ने कहा कि यह नया भारत बनाता है. क्या है नया भारत? नया भारत जहां मुस्लिमों के साथ भेदभाव किया जाएगा.’

संघ परिवार ने किया बाबरी मस्जिद को ध्वस्तः ओवैसी

उन्होंने कहा, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने बुधवार को कहा कि वह आज भावुक थे. मैं भी उतना ही भावुक था क्योंकि मैं नागरिकों की सहभागिता और समानता में यकीन रखता हूं. मिस्टर प्राइम मिनिस्टर, मैं इस वजह से भावुक हूं क्योंकि वहां 450 वर्षों तक मस्जिद खड़ी थी.’ उन्होंने कहा, ‘मैं भी भावुक हूं क्योंकि आपकी पार्टी ने सुप्रीम कोर्ट में झूठ बोला है. बीजेपी और संघ परिवार ने मिलकर बाबरी मस्जिद को ध्वस्त कर दिया था.’

भूमि पूजन से पहले ट्वीट

ओवैसी ने राम मंदिर भूमि पूजन कार्यक्रम के शुरू होने से पहले ट्वीट कर कहा था कि बाबरी जिंदा है. इस ट्वीट में ओवैसी ने इसमें बाबरी जिंदा है हैशटैग का इस्तेमाल किया था. असदुद्दीन ओवैसी ने ट्वीट में लिखा, ‘बाबरी मस्जिद थी, है और रहेगी इंशाअल्लाह.’ ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (एआईएमआईएम) नेता ने हैशटैग बाबरी जिंदा है के साथ इस ट्वीट को शेयर किया. बताते चलें कि ओवैसी ने पीएम मोदी के भूमि पूजन कार्यक्रम में शामिल होने पर सवाल उठाते हुए कहा था कि यह संविधान सम्मत नहीं होगा.

इसके पहले हैदराबाद से सांसद असदुद्दीन ओवैसी ने प्रियंका गांधी के बयान पर तंज कसा था. प्रियंका के बयान पर ओवैसी ने कहा था, ‘खुशी है कि वो अब नाटक नहीं कर रहे हैं. कट्टर हिंदुत्व की विचारधारा को गले लगाना चाहते हैं तो ठीक है, लेकिन भाईचारे के मुद्दे पर पर वो खोखली बातें क्यों करती हैं.’

दरअसल, प्रियंका गांधी ने भूमि पूजन कार्यक्रम का समर्थन करते हुए कहा था कि राम सबमें हैं, राम सबके साथ हैं. सरलता, साहस, संयम, त्याग, वचनवद्धता, दीनबंधु. राम नाम का सार है. प्रियंका गांधी ने आगे कहा है कि रामलला के मंदिर के भूमिपूजन का कार्यक्रम राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का अवसर है.

PU Girls Hostels No. 3-6 carried Plantation Drive

Chandigarh August 5, 2020:

A Tree Plantation drive was organised in Panjab University Women Hostels No.3(Sarojini), 4 (Kasturba Hall), 5(Savitri Bai Phulle) and 6 (Mother Teresa Hall) in their premises with all support of Sh. Anil Thakur, Deputy Executive Engineer (Horticulture).

Dr. S.K. Tomar, Dean Student Welfare and Dr. Sukhbir Kaur, Dean Student Welfare (W) planted the trees in the hostels alongwith the wardens and staff members with the aim to plant 40,000 saplings in the entire campus during the rainy season.

Police Files, Chandigarh

Korel ‘Purnoor’, CHANDIGARH – 05.08.2020

Action against Excise Act

          Chandigarh Police arrested Sonu R/o # 678, village Burail, Chandigarh, near Village Burail, Chandigarh on 04.08.2020 and recovered 12 bottles country wine from his possession. A case FIR No. 158, U/S 61-1-14 Excise Act has been registered in PS-34, Chandigarh. Investigation of the case is in progress.

Chandigarh Police arrested Sajid R/o # 520 Tin Colony, Sector-52, Chandigarh, near Ganda Nala, Sector-52, Chandigarh on 04.08.2020 and recovered 20 half of country wine from his possession. A case FIR No. 152, U/S 61-1-14 Excise Act has been registered in PS-36, Chandigarh. Investigation of the case is in progress.

Chandigarh Police arrested Rahul R/o # 1288, Sector-52, Chandigarh, near School, Sector-52, Chandigarh on 04.08.2020 and recovered 22 half of country wine from his possession. A case FIR No. 153, U/S 61-1-14 Excise Act has been registered in PS-36, Chandigarh. Investigation of the case is in progress.

Chandigarh Police arrested Rajesh R/o # 6429/C, Sector-56, Chandigarh, near Market, Sector-37, Chandigarh on 04.08.2020 and recovered 26 quarters of kings gold whiskey from his possession. A case FIR No. 240, U/S 61-1-14 Excise Act has been registered in PS-39, Chandigarh. Investigation of the case is in progress.

Chandigarh Police arrested Rakesh R/o # 686, DMC, Chandigarh, near slip road, Sector-40, Chandigarh on 04.08.2020 and recovered 12 bottles of country wine from his possession. A case FIR No. 241, U/S 61-1-14 Excise Act has been registered in PS-39, Chandigarh. Investigation of the case is in progress.

Chandigarh Police arrested a lady resident of Chandigarh, near mandi ground, Sector-56, Chandigarh on 04.08.2020 and recovered 10 half of country wine from his possession. A case FIR No. 242, U/S 61-1-14 Excise Act has been registered in PS-39, Chandigarh. Investigation of the case is in progress.

One arrested under NDPS Act

Chandigarh Police arrested Vishav R/o # 1576, Village Burail, Chandigarh (age 25 years) and recovered 8.72 gram heroin from his possession near Village Burail, Chandigarh on 04.08.2020. A case FIR No. 157, U/S 21 NDPS Act has been registered in PS-34, Chandigarh. Investigation of the case is in progress.

Damage to govt vehicle

A case FIR No. 152, U/S 332, 353, 427, 34 IPC has been registered in PS-Maulijagran, Chandigarh on the complaint of Lady Constable of PCR wing who reported that Gurpreet S/o Tej pal R/o # 25/1, Rajiv Colony, Sector -17, Panchkula and one other person who broken the left side back door glass by hitting a brick to vehicle No. CH01GA-6674, near Charan Singh Colony School, Maulijagran, Chandigarh on 04.08.2020 and run away. Investigation of case is in progress.

One arrested under Theft

A lady resident of Village Dariya, Chandigarh reported that Inderjit @ Kaka resident of Village Dariya, Chandigarh (complainant’s neighbor) stole away 4 ear rings from complainant’s residence by breaking the Almirah locks on 03.08.2020. A case FIR No. 152, U/S 380, 454 IPC has been registered in PS-Ind. Area, Chandigarh. Accused namely Inderjit @ Kaka arrested in this case. Investigation of the case is in progress.

Theft

Angad Kumar Gupta R/o # 603, near Tobba, Village Dadumajra, reported that unknown person stole away cash Rs. 46000/-, 2 gold mangalsutra, 2 pairsear rings, 2 pair silver payal, 2 pair silver chutki, 2 gold rings, black lava phone, Adhaar card, one bank passbook by breaking the lock of door of his residence. A case FIR No. 116, U/S 380, 457 IPC has been registered in PS-Maloya, Chandigarh. Investigation of the case is in progress. 

 MV Theft

Sonu R/o # 2501, Sector 52, Chandigarh reported that unknown person stole away Complainant’s car No. CH01V3782, near his residence. A case FIR No. 151, U/S 379 IPC has been registered in PS-36, Chandigarh. Investigation of the case is in progress.

राम मंदिर की आधारशिला प्रधान मंत्री द्वारा समय पर और निर्विघ्न रखी गयी

ॐ जय श्री राम ॐ

आज 528 वर्षों के पश्चात अयोध्या जी में सनातन समाज का एक संकल्प पूरा हुआ। इसी संकल्प के साथ अयोध्या जी में राम जन्मभूमि स्थल का शिलान्यास विधिवत पूर्ण हुआ।

अयोध्या जी (ब्यूरो) – 5 अगस्त:

अयोध्या जी में राम मंदिर निर्माण बनने का बरसों का इंतजार आज खत्म गया. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने विधिवत भूमि पूजा के बाद राम मंदिर की आधारशिला रखी. राम मंदिर के शिलान्यास समारोह का शुभ मुहूर्त 32 सेंकेड का था. 12 बजकर 44 मिनट 8 सेकेंड से लेकर 12 बजकर 44 मिनट 40 सेकेंड तक रहा. ठीक समय पर पीएम मोदी ने मंदिर के लिए पहली ईंट रखीं।

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के द्वारा अयोध्या जी में भूमि पूजन के साथ ही राम मंदिर निर्माण का कार्य तेजी से शुरू हो जाएगा. इसके बावजूद सबके मन में सवाल यही है कि भव्य राम मंदिर कब तक बनकर तैयार हो जाएगा और श्रद्धालुओं को रामलला के दर्शन करने का मौका कब मिलेगा. ऐसे में श्री राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट ने राम मंदिर की सीमा तय कर रखी है और 2024 के पहले अयोध्या में भव्य राम मंदिर बनकर तैयार हो जाएगा।

श्री राम जन्मभूमि तीर्थ ट्रस्ट ने अयोध्या जी में मंदिर निर्माण का साढ़े तीन साल में हर हाल में बनाने का टारगेट रखा है. ट्रस्ट ने मंदिर निर्माण के लिए लार्सन एंड टूब्रो कंपनी को काम सौंपा है. हालांकि, ट्रस्ट ने मंदिर निर्माण के लिए 32 महीने के अंदर का वक्त दे रखा है ताकि अगर कुछ थोड़ा बहुत काम रह जाए तो उसे बाकी समय में पूर कर लिया जाए.

आज अयोध्या जी में पहुंचते ही श्री रामलला के दर्शन करने से पहले प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी हनुमान गढ़ी गए. ऐसे में हर एक के मन में ये उत्सुकता है कि आखिर श्री रामलला से पहले हनुमान गढ़ी के दर्शन प्रधानमंत्री ने क्यों किए? आखिर इसका इतिहास या धार्मिक महत्व क्या है? दरअसल वाराणसी में जिस तरह से काल भैरव को काशी का कोतवाल कहा जाता है और वहां जाना जरूरी होता है, ये उसी तरह की मान्यता है कि माना जाता है कि लंका विजय के बाद हनुमान जी सरयू नदी के दाहिनी तट पर एक ऊंचे टीले पर गुफा में रहने लगे थे और यहीं से वो अयोध्या जी की रक्षा करते थे. इसी जगह को बाद में हनुमान गढ़ी या रामकोट कहा जाने लगा. कालांतर में यहां एक विशाल मंदिर बना दिया गया और जिस तरह से गुफा होती है, उसी तरह से इस मंदिर में नीचे जाने के लिए 76 सीढ़ियां हैं. वीर आंजनेय हनमान अयोध्या जी के नगर कोतवाल हैं। नगर में कुछ भी शुभ करना हो तो नगर कोतवाल की अनुमति लेना आवश्यक होता है पर आज तो प्रधान मंत्री मोदी ने नगर कोतवाल पवनपुत्र हनुमान को प्रार्थना अरते हे आग्रह किया है की आज जो राम काज आरंभ हो रहा है अब वह उसकी भी निगरानी करें।

इस दौरान उन्होंने राम मंदिर के प्रांगण में पारिजात का पौधा लगाया. कहा जाता है कि पारिजात वृक्ष को देवराज इंद्र ने स्वर्ग में लगाया था. इसके फूल सफेद रंग के और छोटे होते हैं. ये फूल रात में खिलते हैं और सुबह पेड़ से स्वत: ही झड़ जाते हैं. यह फूल पश्चिम बंगाल का राजकीय पुष्प है. 

इस वृक्ष को लेकर कई हिन्दू मान्यताएं हैं. कहा जाता है कि धन की देवी लक्ष्मी को पारिजात के फूल अत्यंत प्रिय हैं. पूजा-पाठ के दौरान मां लक्ष्मी को ये फूल चढ़ाने से वो प्रसन्न होती हैं. खास बात ये है कि पूजा-पाठ में पारिजात के वे ही फूल इस्तेमाल किए जाते हैं जो वृक्ष से टूटकर गिर जाते हैं. इस वृक्ष को स्वयं भगवान श्रीकृष्ण स्वर्ग से धरति पर लाये थे।

सुशांत सिंह की मौत/ आत्म हत्या/ हत्या के मामले की जांच अब सीबीआई को

सुशांत सिंह राजपूत आत्महत्या मामले की जांच केंद्रीय अन्वेषण ब्यूरो (CBI)को सौंप दी गई है.केंद्र सरकार की तरफ से सॉलिसिटर जनरल तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट को बताया कि बिहार सरकार ने CBI जांच की सिफारिश की थी. केंद्र ने स्वीकार किया और जांच को CBI के हवाले कर दिया.

नई दिल्ली (ब्यूरो) – 05 अगस्त:

सुशांत सिंह राजपूत केस में बिहार सरकार ने मंगलवार को सीबीआई जांच की सिफारिश केंद्र को भेजी थी. अब केंद्र ने बिहार सरकार की ये सिफारिश मंजूर कर ली है. सुप्रीम कोर्ट में केंद्र सरकार के वकील ने बताया कि उन्होंने सुशांत केस की जांच सीबीआई को ट्रांसफर कर दी है. अब इस केस की सीबीआई जांच करेगी. बता दें, लंबे समय से सोशल मीडिया पर इस केस की सीबीआई से जांच कराने की मांग हो रही थी.

सुशांत केस की होगी सीबीआई जांच

केंद्र सरकार के वकील SG तुषार मेहता ने सुप्रीम कोर्ट में कहा कि मामले की जांच सीबीआई से कराने की बिहार सरकार की सिफारिश मान ली गई है. रिया की तरफ से वकील श्याम दीवान ने कहा है कि एसजी की तरफ से जो कहा गया, यहां वह मामला नहीं है, ऐसे में अदालत रिया की याचिका पर गौर करे. श्याम दीवान (रिया के वकील) ने सभी मामले पर रोक लगाने की मांग की. श्याम दीवान ने कहा कि एफआईआर ज्यूरिसडिक्शन के मुताबिक नहीं है. ऐसे में अदालत पूरे मामले पर रोक लगाए.

बिहार पुलिस मुंबई पहुंची और खुद जाकर पूछताछ करने लगी. जबकि उनके क्षेत्राधिकार में यह नहीं आता, जबकि मुंबई पुलिस पहले से पूरी कार्रवाई कर रही है. रिया के वकील श्याम दीवान ने कहा बिहार में दर्ज FIR को मुम्बई ट्रांसफर किया जाना चाहिए. श्याम दीवान ने दलील देते हुए कहा कि सुशांत की मौत के मामले में मुंबई पुलिस अब तक 59 लोगों की गवाही दर्ज कर चुकी है.

जस्टिस ऋषिकेश राय ने कहा कि सुशांत काफी टैलेंटेड और उभरते हुए कलाकार थे और उनकी रहस्यमयी तरीके से मौत हो जाना चौंकाने वाला है. जस्टिस ऋषिकेश राय ने कहा कि यह जांच का विषय है.

बता दें कि सुशांत सिंह राजपूत की 14 जून को मौत हो गई. उन्होंने फांसी लगाकर अपनी जान दे दी थी. सुशांत की मौत के बाद से हर कोई सीबीआई जांच की मांग कर रहा था.

कंगना ने पूछे ठाकरे से कुछ सवाल

शिवसेना सुप्रीमो और महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री उद्धव ठाकरे के बेटे और राज्य के पर्यावरण मंत्री ने मराठी भाषा में एक बयान जारी किया. इस दौरान मराठी भाषा में आई सफाई में उन्होंने ये भी कहा कि सोशल मीडिया पर चौबीसों घंटे जो कुछ उड़ाया जा रहा है वो सब बेबुनियाद हैं. उन्होंने ये भी कहा कि इस केस को लेकर दौरान वायरल हो रहीं तमाम थ्योरी पूरी तरह गलत और बकवास है, जिस पर विपक्ष उनके परिवार पर कीचड़ उछालने के साथ घटिया राजनीति कर रहा है. उन्होंने कहा कि एक भी आरोप या साजिश की थ्योरी का कोई आधार नहीं है और ये उनका करियर प्रभावित करने की साजिश हो सकती है। सनद रहे आदित्य ठाकरे वही हैं जिनहे baby penguin कहने पर व्यक्ति को हरसत में ले लिया जाता है और उस पर बाकायदा उस पर मानहानि का मुक़द्दमा दर्ज़ आर दिया जाता है। बाल ठाकरे राजनैतिक कार्टूनिस्ट का परिवार राजनैतिक व्यंग्य की समझ नहीं रखता। लेकिन उसी परिवार को अपने विरुद्ध राजनैतिक षड्यंत्र की बू आ जाती है।

यह भी बताते चलें कि बिहार सरकार ने सीबीआई जांच कि अनुशंसा की है।

चंडीगढ़(ब्यूरो) – 5 अगस्त:

सुशांत सिंह राजपूत सुसाइड केस में लगातार आरोप-प्रत्यारोपों का दौर जारी है. हाल ही में महाराष्ट्र सरकार के कैबिनेट मंत्री आदित्य ठाकरे ने प्रतिक्रिया देते हुए कहा था कि इस केस में सड़क छाप पॉलिटिक्स हो रही है लेकिन वो धैर्य के साथ काम ले रहे हैं. उन्होंने ये भी कहा था कि इस केस के जरिए उनके और उनके परिवार पर कीचड़ उछाला जा रहा है. अब इस मामले में कंगना रनौत ने आदित्य ठाकरे पर निशाना साधा है.

कंगना की डिजिटल टीम ने अपने पहले ट्वीट में लिखा- हाहा, देखिए डर्टी पॉलिटिक्स की बात कौन कर रहा है. आपके पिता को मुख्यमंत्री की सीट कैसे मिली, ये भी डर्टी पॉलिटिक्स पर केस स्टडी है सर. ये सब छोड़िए, अपने पिता से सुशांत सिंह राजपूत की मौत के सिलसिले में बस ये कुछ सवाल पूछ लीजिए. पहला सवाल- आखिर रिया चक्रवर्ती कहां है?

उन्होंने अपने दूसरे ट्वीट में लिखा- आखिर मुंबई पुलिस ने सुशांत की मौत को लेकर एफआईआर रजिस्टर क्यों नहीं की थी? तीसरा सवाल, जब सुशांत की जिंदगी के खतरे में होने को लेकर फरवरी के महीने में एक शिकायत दर्ज कराई गई थी तो मुंबई पुलिस इसे एक ही दिन में सुसाइड घोषित करने पर क्यों तुली हुई थी?

कंगना डिजिटल टीम ने अपने तीसरे ट्वीट में लिखा- चौथा सवाल- आखिर हमारे पास फोरेंसिक एक्सपर्ट्स या फिर सुशांत का फोन डाटा क्यों नहीं है जिससे पता लग सके कि उनकी मौत के एक हफ्ते पहले तक उन्होंने किन-किन से फोन पर बात की थी? पांचवा सवाल – बिहार के आईपीएस विनय तिवारी को क्वरानटीन के नाम पर लॉक कर के क्यों रखा हुआ है? छठा सवाल – आखिर आप सीबीआई जांच से इतना डर क्यों रहे हैं ? सातवां सवाल- रिया और उसके परिवार वालों ने सुशांत के पैसे क्यों लूटे?

बीजेपी नेता ने भी लगाए थे सुशांत केस में पुलिस और सरकार पर गंभीर आरोप

कंगना की डिजिटल टीम ने अपने आखिरी ट्वीट में लिखा- इन सवालों का पॉलिटिक्स के साथ कुछ लेना-देना नहीं है. प्लीज इन सवालों का जवाब दें. बता दें कि इससे पहले बीजेपी नेता नारायण राणे ने भी अपने बयान में कहा था कि सुशांत सिंह राजपूत ने सुसाइड नहीं किया है बल्कि उनका मर्डर हुआ है. उन्होंने ये भी कहा था कि दिशा सालियान का सुसाइड नहीं हुआ है बल्कि उनका रेप करने के बाद मर्डर किया गया है. राणे ने कहा था कि मुंबई पुलिस इस मामले में रसूखदार लोगों को बचाने की कोशिश कर रही है.

प्रियंका समेत कॉंग्रेस का जागा राम मोह

आज अचानक ही प्रियंका वाड्रा का ट्विट्टर सोशल मीडिया पर दिखा जहां उन्होने रामभक्ति से ओत प्रोत एक संदेश प्रसारित किया। हैरानी की बात यह है की राम मंदिर के प्रतिपक्ष में अपने वकीलों का दल भेजने वाली कॉंग्रेस आज अचानक ही राम लला से इतना मोह कैसे? खैर श्रीमति वाड्रा के ट्वीट करने भर की देरी थी कि उनका दशकों पुराना वोट बैंक दरक गया। मुसलिम समुदाय ने अपनी पीड़ा ट्विट्टर पर ही उंढेली, अमेठी से दौड़ कर वायनाद पहुंचे राहुल गांधी की गठ जोड़ की पार्टी ने भी आनन फानन आपात बैठक बुला ली।कॉन्ग्रेस ने केरल में मुस्लिम लीग के साथ गठबंधन किया है। कॉन्ग्रेस अध्यक्ष के रोड शो में वायनाड में बड़ी संख्या में मुस्लिम लीग (IUML) के झंडे देखे गए। सोशल मीडिया पर कई वीडियो सामने आए थे, जहाँ आईयूएमएल के झंडे लहराते हुए देखे गए थे। सच्चाई तो सामने आ ही जाएगी लेकिन कॉंग्रेस के साथ कहीं “न ख़ुदा ही मिला न विसाल – ए – सनम, न इधर के रहे न उधर के रहे”।

नयी दिल्ली (ब्यूरो) – 4 अगस्त :

इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (IUML) ने राम मंदिर के पक्ष में कई कॉन्ग्रेस नेताओं के बयानों के बारे में जानने के बाद बुधवार (अगस्त 5, 2020) को अपने शीर्ष अधिकारियों की एक आपातकालीन बैठक बुलाई है। बता दें कि इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग केरल में कॉन्ग्रेस के नेतृत्व वाले UDF का दूसरा सबसे बड़ा घटक है।

पार्टी महासचिव प्रियंका गाँधी सहित कॉन्ग्रेस के शीर्ष नेताओं ने समारोह के पक्ष में बयान जारी किए हैं। मध्य प्रदेश के पूर्व मुख्यमंत्री ने अपने घर पर हनुमान चालीसा का आयोजन किया। प्रियंका गाँधी ने अपने बयान में कहा कि कार्यक्रम भगवान राम के आशीर्वाद से हो रहा है। उन्होंने आगे कहा, “भगवान राम की कृपा से यह कार्यक्रम उनके संदेश को प्रसारित करने वाला राष्ट्रीय एकता, बंधुत्व और सांस्कृतिक समागम का कार्यक्रम बने।”

कॉन्ग्रेस नेताओं के इस तरह के बयान से इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के नेताओं के बीच असंतोष पैदा हो गया है। वरिष्ठ सांसद पीके कुन्हालीकुट्टी और पार्टी सुप्रीमो पणक्कड़ हैदराली शिहाब थंगल उन नेताओं में शामिल हैं जो आपात बैठक में भाग लेने जा रहे हैं। बुधवार को अयोध्या में भूमि पूजन के समापन तक बैठक का परिणाम सामने आ जाएगा।

केरल में कॉन्ग्रेस और IUML का गठबंधन

कॉन्ग्रेस ने केरल में मुस्लिम लीग के साथ गठबंधन किया है। कॉन्ग्रेस अध्यक्ष के रोड शो में वायनाड में बड़ी संख्या में मुस्लिम लीग (IUML) के झंडे देखे गए। सोशल मीडिया पर कई वीडियो सामने आए थे, जहाँ आईयूएमएल के झंडे लहराते हुए देखे गए थे। कॉन्ग्रेस पार्टी इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग के साथ गठबंधन में है, जो जमात-ए-इस्लामी और सोशल डेमोक्रेटिक पार्टी ऑफ़ इंडिया (SDPI) के साथ गठबंधन में है। बता दें कि इन दोनों ही पार्टी पर राष्ट्रीय जाँच एजेंसी (NIA) ने केरल में कट्टरपंथ फैलाने का आरोप लगाया है।

राहुल गाँधी जब अपना नामांकन दाखिल करने के लिए वायनाड गए थे तो इस दौरान IUML के सदस्यों ने नरेंद्र मोदी को गाली देते हुए रैलियाँ निकालीं थी। वायनाड यात्रा के दौरान IUML के सदस्यों को “S*ala K*tta नरेंद्र मोदी” चिल्लाते हुए सुना गया।

IUML की पृष्ठभूमि

बता दें कि इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (IUML), जो 1948 में भारतीय स्वतंत्रता के बाद अस्तित्व में आने का दावा करती है, वह वास्तव में पाकिस्तान के संस्थापक और इस्लामवादी मोहम्मद अली जिन्ना की ऑल इंडिया मुस्लिम लीग (AIML) की एक उपशाखा है।

ऑल इंडिया मुस्लिम लीग को पाकिस्तान में मुस्लिम लीग और भारत में इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग द्वारा सफल बनाया गया था। अपनी वेबसाइट में, इंडियन यूनियन मुस्लिम लीग (IUML) का दावा है कि इसका आदर्श वाक्य धर्मनिरपेक्षता और सांप्रदायिक सद्भाव है, मगर अक्सर इन्हें अपने आदर्श वाक्य के विपरीत काम करते हुए देखा गया है। मुस्लिम लीग ने मुस्लिम बहुल राष्ट्र-राज्य की स्थापना की पुरजोर वकालत की थी।