40 करोड़ रुपए की लागत से राजपुरा के जल सप्लाई और सिवरेज सिस्टम का सुधार करेंगे : डॉ. इन्दरबीर सिंह निज्जर

  • कस्बे के 25 हज़ार लोगों को मिलेगा जल सप्लाई और सिवरेज सिस्टम का लाभ

 राकेश शाह, डेमोक्रेटिक फ्रंट, चंडीगढ़ :

            पंजाब सरकार ने राजपुरा कस्बे के लिए जल सप्लाई और सिवरेज की सुविधा मुहैया करवाने 40 करोड़ की लागत वाला प्रोजैक्ट शुरू किया है।


            स्थानीय निकाय मंत्री डॉ. इन्दरबीर सिंह निज्जर ने इस प्रोजैक्ट के काम का जायज़ा लेने के बाद विभाग के अधिकारियों को इस काम को तेज़ी से मुकम्मल करने के निर्देश दिए हैं।


            इस सम्बन्धी और जानकारी देते हुये स्थानीय निकाय मंत्री ने बताया कि नगर कौंसिल, राजपुरा की सीमा में जल सप्लाई की सुविधा मुहैया करवाने के लिए वाटर वर्कस की नयी मोटरें, नलास रोड और एकता कालोनी में 02 बुस्टिंग ट्युवबैलज़ स्थापित किये जाने हैं। इसी तरह पानी की सप्लाई का सामर्थ्य बढ़ाने के लिए गंडा खेड़ी से वाटर वर्कस तक डी आई पाईप लाईनें बिछाने का काम भी इस प्रोजैक्ट के अधीन शामिल है।


            कैबिनेट मंत्री ने आगे बताया कि राजपुरा कस्बे में 49 किलोमीटर एरिये में सिवरेज लाईनों और 35 किलोमीटर एरिया में जल सप्लाई लाईनें बिछायी जाएंगी। उन्होंने बताया कि राजपुरा के करीब 25000 लोगों को जल सप्लाई और सिवरेज सिस्टम का लाभ मिलेगा।


            मंत्री ने बताया कि मुख्यमंत्री पंजाब, स. भगवंत मान के नेतृत्व वाली पंजाब सरकार राज्य के लोगों को भ्रष्टाचार मुक्त प्रशासन मुहैया करवाने के लिए वचनबद्ध है। इसलिए उनकी तरफ से अधिकारियों को निर्देश दिए गये हैं कि काम में पारदर्शिता लानी यकीन बनाई जाये।


            श्री वी. के. शर्मा, सी. ई. ओ., पंजाब जल सप्लाई और सिवरेज बोर्ड ने बताया कि जल सप्लाई का 55 प्रतिशत और सिवरेज का 80 प्रतिशत काम मुकम्मल कर लिया गया है। उन्होंने विभाग के अधिकारियों को निर्देश दिए हैं कि यह काम निर्धारित समय के अंदर हर हाल में मुकम्मल किया जाये।

चंडीगढ़ की 12 वर्षीय लेखिका जोयना सहगल की किताब ‘द शैडो इन द चैज़म’ का हुआ विमोचन

राकेश शाह, डेमोक्रेटिक फ्रंट, चंडीगढ़: 

            सिटी ब्यूटीफुल की बारह साल की नवोदित लेखिका जोयना सहगल की पहली पुस्तक ‘द शैडो इन द चैज़म’ का अनावरण पूर्व-आईएएस, मोटिवेशनल स्पीकर व लेखक श्री विवेक अत्रे ने किया। नाटक के रूप में लिखी गई यह पुस्तक एक जादुई दुनिया की है जो आपकी कल्पना को प्रज्वलित करती है। यह आपको एक घर के पिछवाड़े में एक मंत्रमुग्ध कर देने वाले तालाब से चुड़ैलों और जादूगरों की एक रहस्यमय दुनियां में ले जाती है। कहानी का रोमांच और जादू आपको दो साधारण 15 वर्षीय लड़कियों के साथ यात्रा पर ले जाता है।

            जोयना न केवल ऐकडेमिक फ्रंट पर एक होनहार छात्रा रही है, बल्कि उसके पास कई अन्य उपलब्धियां भी हैं जैसे उन्हें 2021-2022 में सिल्वर जोन ओलंपियाड, नई दिल्ली द्वारा आयोजित अंग्रेजी, एप्टिट्यूड एंड साइंस में तीन स्वर्ण पदक से सम्मानित किया जा चुका है। उन्हें ट्रिनिटी कॉलेज, लंदन द्वारा कम्युनिकेशन स्किल्स, इनिशियल कम्युनिकेशन स्किल्स में ग्रेडेड परीक्षा में प्रवेश स्तर के पुरस्कार से सम्मानित किया जा चुका है।

            जोयना, जो कि बहुत ही सकारात्मक ऊर्जा से भरी हुई है, ने कार्मेल कॉन्वेंट स्कूल चंडीगढ़ द्वारा आयोजित एक इंटर-स्कूल हिंदी कविता पाठ प्रतियोगिता ‘मिलें साहित्यकारो से’ में पहला स्थान हासिल किया। इसके अलावा, उन्हें अंग्रेजी और हिंदी कविता, स्टोरी टेलिंग, घोषणापत्र और भाषणों में कई पुरस्कार मिले हैं। उन्होंने स्कूल स्तर पर आयोजित ब्रेन बी चैलेंज, पोस्टर मेकिंग और बेस्ट आउट ऑफ वेस्ट प्रतियोगिता में भी भाग लिया है। उन्हें टेनिस, बास्केटबॉल और फुटबॉल जैसे कई खेलों में भी काफी दिलचस्पी है।

            पहली बार लेखिका के रूप में अपनी यात्रा के बारे में बात करते हुए, जोयना ने बताया कि वह जे.के राउलिंग की बहुत बड़ी प्रशंसक हैं और उन्हें बहुत कम उम्र में पढ़ने की आदत डाल दी गई थी। उन्होंने सांझा किया कि इस पुस्तक को लिखने और फिर संजोकर रखना एक चुनौतीपूर्ण प्रक्रिया थी लेकिन यह मेरे लिए फायदेमंद साबित हुई। सेंट जेवियर्स सीनियर सेकेंडरी स्कूल, चंडीगढ़ की छात्रा, जोयना ने कहा कि उनके माता-पिता और शिक्षकों ने उन्हें बहुत सहयोग दिया जिसके कारण वे अपना सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कर पाई। वह भविष्य में लिखना जारी रखेगीं और अपने साथी छात्रों को भी इस कार्य के लिए प्रोत्साहित करेगी।

            यह पुस्तक द ब्राउजर द्वारा प्रकाशित की गई है और अमेज़न इंडिया एंड इंटरनेशनल पर खरीदने के लिए उपलब्ध है।

खंडग्रास सूर्यग्रहण लगेगा 25 को

रघुनंदन पराशर, डेमोक्रेटिक फ्रंट, जैतो  – 6 अक्तूबर  :

            आगामी 25 अक्तूबर को खंडग्रास सूर्यग्रहण लगेगा। ग्रहण भारतीय समयानुसार दोपहर 2 बजकर 16 मिनट पर लगेगा और सायं 6 बजकर 32 मिनट तक रहेगा। यह ग्रहण स्वाती नक्षत्र व तुला राशि में होगा।यह जानकारी प्रख्यात ज्योतिषाचार्य स्व.पंडित कल्याण स्वरूप शास्त्री विद्यालंकार के पुत्र पंडित शिव कुमार शर्मा आज जैतो में दी। सूर्य ग्रहण भारत के अतिरिक्त अधिकतर यूरोप व मध्य पूर्वी , उत्तरी अफ्रीका, पश्चिमी एशिया व उत्तरी हिंद महासागर आदि सहित अन्य देशों में दिखाई देगा।

            पंडित शिव कुमार ने कहा कि ग्रहण का सूतक काल ग्रहण शुरू होने से 12 घंटे पहले लग जाएगा और ग्रहण समाप्त होने के साथ ही समाप्त होगा।

पंचकूला को बनायेंगे एक आदर्श शहर-विधानसभा अध्यक्ष

  • युवाओं का देश व समाज के नवनिर्माण में होता है अहम योगदान
  • गुप्ता ने सेवा पखवाड़ा के तहत स्वच्छता, नशा मुक्ति एवं यातायात नियंत्रण पर आयोजित जागरूकता कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में की शिरकत
  • जिला के 425 स्कूलों में लगभग 28 हजार विद्याार्थियों ने देखा यूट्यूब के माध्यम से कार्यक्रम का सीधा प्रसारण

कोरल ‘पुरनूर’, डेमोक्रेटिक फ्रंट, पंचकूला  –  6 अक्तूबर  :

            हरियाणा विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता ने कहा कि उन्होंने पंचकूला को एक आदर्श शहर बनाने की कल्पना की है और इसके लिये उन्होंने सात सरोकार दिये है। उन्होंने युवाओं से आह्वान करते हुये कहा कि वे पंचकूला को स्वच्छ और सुंदर बनाने में अपना योगदान दें, नशे से दूर रहे और ट्रैफिक नियमों का पालन करें।

            गुप्ता आज सेक्टर-5 स्थित इंद्रधनुष आॅडिटोरियम में जिला प्रशासन की ओर से आजादी के अमृत महोत्सव और सेवा पखवाड़ा के तहत स्वच्छता, नशा मुक्ति एवं यातायात नियंत्रण पर आयोजित जागरूकता कार्यक्रम में मुख्यातिथि के रूप में संबोधित कर रहे थे। उन्होंने कहा कि युवाओं का देश व समाज के नवनिर्माण में अहम योगदान होता है।

            इस अवसर पर भारतीय थल सेवा के पूर्व अध्यक्ष जनरल वीपी मलिक, पुलिस आयुक्त डाॅ हनीफ कुरैशी, उपायुक्त महावीर कौशिक और पुलिस उपायुक्त सुरेंद्र पाल सिंह और नगर निगम महापौर कुलभूषण गोयल भी उपस्थित थे।

            इससे पूर्व ज्ञानचंद गुप्ता और श्री वीपी मलिक ने इंद्रधनुष आॅडिटोरियम में स्कूली छात्रों द्वारा स्वच्छता, नशा मुक्ति एवं यातायात नियंत्रण पर आधारित फोटो प्रर्दशनी तथा रंगोली और  स्वास्थ्य विभाग द्वारा बच्चों की काउंसलिंग के लिये लगाये स्पेशल डेस्क का अवलोकन किया। इसके अलावा उन्होंने नशा मुक्ति प्रतिज्ञा पट्टिका पर हस्ताक्षर भी किये। कार्यक्रम का सीधा प्रसारण यूट्यूब के माध्यम से जिला के 425 स्कूलों में लगभग 28 हजार विद्याार्थियों द्वारा देखा गया।

            गुप्ता ने कहा कि इस कार्यक्रम का मुख्य उद्देश्य युवाओं व बच्चों को स्वच्छता, नशा मुक्ति एवं यातायात नियंत्रण जैसे अह्म सामाजिक विषयों के बारे में जागरूक करना हैं। उन्होंने कहा कि आज युवा तेजी से नशे की चपेट में आ रहा हैं। एक सर्वें के अनुसार 14 से 18 वर्ष की आयु के 35 प्रतिशत बच्चें नशे की चपेट में आ चुके हैं। उन्होंने कहा कि पड़ोसी देशों द्वारा एक सोची समझी साजिश के तहत देश की युवा पीढ़ी के भविष्य के साथ खिलवाड़ किया जा रहा है। उन्होंने विद्यार्थियों और शिक्षकों से अपील की कि वे ध्यान दें कि उनके आस पास कहीं नशा तो पनप नहीं रहा। उन्होंने अभिभावकों से भी आग्रह किया कि वे अपने बच्चों को नशे से दूर रखने के लिये उन्हें पर्याप्त समय दें और उन पर ध्यान दें।

            विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि प्रधानमंत्री श्री नरेंद्र मोदी ने देश की बागडोर संभालते ही देश के लोगों से स्वच्छता का आह्वान किया था। उन्होंने कहा कि देश और प्रदेश का स्वच्छ और सुंदर बनाने के लिये सरकार के प्रयासों के साथ साथ जन भागीदारी भी आवश्यक है। उन्होंने कहा कि इस कार्य में हमारे बच्चे और युवा एक अहम रोल अदा कर सकते है। वे ना केवल अपने स्कूल और घर को स्वच्छ रखेंगे बल्कि अपने गांव, शहर में अन्य लोगों को भी स्वच्छता के प्रति प्रेरित करेंगे।

            यातायात नियमों की अहमियता पर बल देते हुये श्री गुप्ता ने कहा कि पंचकूला में यातायात नियमों की पालना के लिये पुलिस द्वारा एक जागरूकता अभियान चलाया गया, जिसके माध्यम से लोगों को यातायात नियमों के बारे में जानकारी दी गई। उन्होंने कहा कि उन्होंने पंचकूला के लिये सात सरोकार दिये है, जिसमें ये तीन सरोकार भी शामिल है। उन्होंने कहा कि पंचकूला को स्लम फ्री बनाने के लिये नगर निगम द्वारा एक प्रस्ताव पारित किया गया हैं और इस पर निगम द्वारा कार्य भी शुरू कर दिया गया हैं। इसके अलावा पंचकूला को स्वच्छ और सुंदर बनाने के उद्देश्य अवैध अतिक्रमण को भी हटाया जा रहा हैं। उन्होंने कहा कि रेहड़ी-फड़ी वालों के लिये एक व्यवस्थित तरीके से कार्य करने के लिये वेंडिंग जोन स्थापित किये गये हैं।

            कार्यक्रम की अध्यक्षता करते हुये थल सेना के पूर्व अध्यक्ष श्री वीपी मलिक ने स्वच्छता, नशा मुक्ति एवं यातायात नियंत्रण जैसे अहम विषय पर कार्यक्रम आयोजित करवाने के लिये विधानसभा अध्यक्ष श्री ज्ञानचंद गुप्ता की प्रशंसा की। उन्होंने कहा कि नशा युवाओं पर बुरा असर डाल रहा है, जिससे देश को भी नुकसान पंहुच रहा है। उन्होंने कहा कि उन्होंने सेना में रहते हुये देशभक्ति, कत्र्तव्य पालन और अनुशासन की भावना से देश की सेवा की है। उन्होंने युवाओं से भी अपील की कि वे भी इन तीन नैतिक कर्तव्यों का पालन करें। ऐसा करके वे जीवन में किसी भी मुकाम को हासिल कर सकते है। उन्होंने कहा कि यातयात नियमों का पालन करके हम सड़क दुर्घटनाओं को रोक सकते है। उन्होंने कहा कि पंचकूला को और स्वच्छ व सुंदर बनाने के लिये पंचकूलावासी मिलजुलकर कार्य करें और पंचकूला की स्वच्छता रैकिंग को और उपर लेकर आये।

            इससे पूर्व स्वच्छता, नशा उन्मूलन व यातायात नियंत्रण पर नाटकों का मंचन किया गया, जिसे दर्शकों ने खूब सराहा। इन नाटकों में कलाकारों ने अपने अभिनय के माध्यम से तीन विषयों पर जागरूक किया।

            इस अवसर पर विधानसभा अध्यक्ष ने 9 सितंबर से 20 सितंबर तक एसीपी और विश्व प्रसिद्ध पर्वतारोही ममता सौदा के नेतृत्व वाले 10 सदस्यीय दल द्वारा साईकिल से हिमालय की दराओं को पार करते हुये 17 हजार 982 फुट की उचाई पर स्थित लद्दाख के खरदुंगला पंहुच सात सरोकार का संदेश देने के लिये दल के सभी सदस्यों को प्रशिस्त पत्र देकर सम्मानित किया। उन्होंने स्कूलों में आयोजित पेंटिंग, स्लोगन राईटिंग व रंगोली प्रतियोगिता के विजेताओं को भी प्रशस्ति पत्र देकर सम्मानित किया। इस अवसर पर नगर निगम आयुक्त विरेन्द्र लाठर ने स्वच्छता, अतिरिक्त उपायुक्त मनीता मलिक ने नशामुक्ति और एसीपी ममता सौदा ने यातायात नियमों का पालन करने के लिए उपस्थित लोगों को शपथ भी दिलवाई।

            इस अवसर पर अतिरिक्त उपायुक्त मनीता मलिक, नगराधीश गौरव चैहान, नगर निगम आयुक्त वीरेंद्र लाठर, उप निगम आयुक्त दीपक सूरा, सीईओ जिला परिषद गगनदीप सिंह, एसीपी राजकुमार, डिप्टी डीईईओ अंजू ग्रोवर, डीईईओ सतपाल कौशिक, कुलभूषण शर्मा, डीपी संध्या मलिक, डाॅ स्नेह, ट्रैफिक मैनेजर ब्योम शर्मा, जिला महामंत्री परमजीत कौर, पार्षद सुरेश वर्मा, जय कौशिक, नरेंद्र लुबाना, मंडलाध्यक्ष गौतम राणा सहित जिला प्रशासन के अधिकारी व स्कूली बच्चे उपस्थित थे।   

नशा तस्करों की कॉलोनियों में लगे पुलिस अधिकारियों के पैसे की जांच पूरी करने की मांग

  • विदेश भेजी गई हवाला राशि को वापस पंजाब लाने के आरोप में 1200 करोड़ रुपए के निवेश का खुलासा हुआ है।

डेमोक्रेटिक फ्रंट संवाददाता, चंडीगढ, 6 अक्तूबर  :

            ईडी ने पंजाब पुलिस के वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों द्वारा कथित रूप से अर्जित काले धन के मनी  लैंडरिंग के माध्यम से अनधिकृत कॉलोनियों में लगभग 1200 करोड़ रुपये निवेश करने के आरोप में की जांच पूरी करने की मांग की है। कपूरथला के चरण सिंह, वासु पाठक, तीर्थ सिंह और शंकर सिंह ने यहां चंडीगढ़ प्रेस क्लब में पत्रकारों से बात करते हुए आरोप लगाया कि नशे के मामले में शामिल कपूरथला के आलमगीर (काला संघिया) गांव निवासी रंजीत सिंह उर्फ ​​जीता और उसकी पत्नी ने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों के पैसे का निवेश करावाया हुआ है और ईडी को इसकी सूचना दिए जाने के बावजूद जांच पूरी नहीं हो रही है, जबकि रंजीत सिंह जीता भी ड्रग्स मामले में जमानत पर है। लेकिन उससे पूछताछ नहीं की गयी है। आरोप लगाया गया है कि रंजीत सिंह और उनकी पत्नी खुलेआम कहते हैं कि उन्होंने वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों का पैसा लगाया है और संरक्षण है कोई कुछ नहीं बिगाड़ सकता। इन आरोपों के साथ मुख्यमंत्री भगवंत मान से सीबीआई से जांच कराने की मांग की गई है। उनका आरोप है कि जीता ने कपूरथला में एक कॉलोनी काटी, जिसमें पूर्व विधायक नवतेज चीमा को खाली जगह दी गई थी और उस पर एक मकान भी बना कर दिया था। बटाला में क्लोनी काटि सरकारी फीस का  भुगतान नहीं करने पर सरकारी खजाने का 60 करोड़ रुपये का चुना लगाया गया। उपरोक्त का आरोप है कि पुलिस, गैंगस्टर और राजनीतिक साजिश के तहत जीत के खिलाफ कार्रवाई नहीं की जा रही है.

यह है आरोप

            पुलिस अधिकारियों ने संयुक्त रूप से सेल कंपनियों में निवेश किया है और पंजाब में 25 अवैध कॉलोनियां स्थापित कर 1200 करोड़ रुपये का काला धन लगाया है। मुख्य अपराधी धरता रणजीत सिंह उर्फ ​​जीता मौड हैं, जिनके पास कनाडा का स्थायी निवास (पीआर), कनाडा स्थित नासा के तस्कर दविंदर सिंह जवाहर, परमिंदर सिंह उर्फ ​​पिंडा और पुनीत लखनपाल (नांगल अंबिआं हत्याकांड में नामित और वांछित) हैं) से संबंधित है। उच्च न्यायालय के संज्ञान में जीता मौर की पेन ड्राइव में दर्ज पुलिस अधिकारियों व नशा तस्करों के वित्तीय लेन-देन का विवरण लाया गया है। एएसआई मनीस कुमार और एएसआई जगदीश कुमार ने अपने रियल एस्टेट कारोबार में मौर के पूर्व साथी चरण सिंह को हिसाब किताब की फोटोकॉपी सौंप दी थी। जिन्हें “दोस्ताना” पुलिस अधिकारियों के आदेश पर मौर से उनकी सुरक्षा के लिए जुड़े हऊ हैं।

गैंगस्टर चला रहे हैं रियल एस्टेट

            वासु पाठक ने जीता मौर द्वारा संचालित 25 रियल एस्टेट कंपनियों में अपनी फिरौती का पैसा लगाने वाले 14 गैंगस्टरों को नामजद किया है, जिनमें भोलू हवालिया, राणा भिलारो, कालू सरकी, सोनू कंगलारो और हरप्रीत सिंह सहपुरिया के अलावा 9 अन्य शामिल हैं। आरोप के मुताबिक जिता मौर जालंधर के हवाला संचालक अनिल कुमार बिल्ला उर्फ ​​बिल्ला पाल के जरिए मादक पदार्थों की तस्करी और पुलिस अधिकारियों व गैंगस्टरों से वसूले गए पैसे को कनाडा भेजता था और उसके बाद विभिन्न बैंकों में उसके एनआरआई बैंक खातों में पैसे ट्रांसफर होते थे। कपूरथला और जालंधर जिलों के लोगों को भारत वापस भेज दिया गया ईडी की जांच में खुलासा हुआ है कि जीता मौर को उनके 53 एनआरआई खातों में 7 महीने के भीतर 27 करोड़ रुपये मिले। मौर को जांच में शामिल होने और पैसे के स्रोत का खुलासा करने के लिए कई बार तलब किया गया, लेकिन वह पेश नहीं हुआ।

एसटीएफ ने की गिरफ्तारी

            वासु पाठक द्वारा दी गई सूचना पर कार्रवाई करते हुए वाइस टास्क फोर्स ने एनडीपीएस मामले में 9 फरवरी 2022 को जीता मौर को गिरफ्तार कर उसके आवास से हेरोइन बरामद की है. मामले में एएसआई मानिस कुमार और एएसआई जगदीश कुमार को सह आरोपी बनाया गया है। हालांकि, पुलिस ने 60 दिनों की निर्धारित अवधि के भीतर चालान दआखल नहीं करने के कारण मौर जमानत पर छूटने में कामयाब रहा। वासु का कहना है कि जीता मौर को पनाह देने वाले पुलिस अधिकारियों में एक एडीजीपी भी है, जिसने 1.50करोड़ रुपये से ज्यादा का निवेश किया है, उनकी रियल एस्टेट कंपनियों मे।

bhupinder-singh-hooda

आदमपुर उपचुनाव को लेकर कांग्रेस तैयार, जीत पक्की – हुड्डा

  • सड़कों पर बीरान हो रहा है किसान का सोना, मंडियों से नहीं हो रहा धान का उठान- हुड्डा
  • जाम, खरीद और पेमेंट में देरी की समस्या से जूझ रहे हैं किसान- हुड्डा
  • पंचायत चुनाव में देरी की वजह से ठप पड़े हैं गांव के विकास कार्य- हुड्डा

डेमोक्रेटिक फ्रंट संवाददाता, चंडीगढ़  –  6 अक्टूबर  : 

                   पूर्व मुख्यमंत्री व नेता प्रतिपक्ष भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने मंडियों में व्याप्त अव्यवस्था व किसान की बेकद्री का मुद्दा उठाया है। उनका कहना है कि लाखों मेट्रिक टन धान मंडियों में पहुंच रही है। मंडिया धान से अटी पड़ी है। आलम यह है कि नई फसल उतारने के लिए जगह नहीं है। किसानों को मंडी में पहुंचने के लिए भी कई-कई घंटे के लंबे जाम से होकर गुजरना पड़ता है। फिर भी उन्हें अपने ट्रैक्टर-ट्रॉली व अन्य वाहनों में फसल रखकर वहीं इंतजार करना पड़ता है। ज्यादातर किसान अपना सोना(धान) सड़कों पर रखने के लिए मजबूर हैं।

                   हुड्डा ने कहा कि धान का उठान नहीं होने की वजह से खरीद प्रक्रिया भी बुरी तरह बाधित हो रही है। देर से सरकारी खरीद शुरू होने के बावजूद सरकार ने अब तक उठान और फसल के भुगतान की कोई तैयारी नहीं की। जबकि सरकार ने 24 से 48 घंटे में किसानों को भुगतान का वादा किया था। ऐसा लगता है मानो सरकार जानबूझकर अन्नदाता को परेशान कर रही है। उसे अपनी जिम्मेदारी को निभाते हुए जल्द से जल्द उठान और भुगतान करना चाहिए।

                   पत्रकारों से बातचीत करते हुए भूपेंद्र सिंह हुड्डा ने कहा कि आदमपुर उपचुनाव को लेकर कांग्रेस पूरी तरह तैयार है। शुक्रवार को चंडीगढ़ में होने वाली बैठक में पार्टी नेता व कार्यकर्ताओं की जिम्मेदारियां निर्धारित कर दी जाएंगी। आदमपुर उपचुनाव की आहट के बाद से ही कांग्रेस को हलके की जनता का भरपूर समर्थन मिल रहा है। इससे स्पष्ट है कि चुनाव में कांग्रेस की जीत तय है। क्योंकि मौजूदा सरकार की नीति व कार्यप्रणाली से किसान, मजदूर, कर्मचारी, व्यापारी, नौजवान, विद्यार्थी और बुजुर्ग हर वर्ग परेशान है।

                   बीजेपी-जेजेपी सरकार हर मोर्चे पर विफल साबित हुई है। इवेंट मैनेजमेंट के अलावा इस सरकार की किसी कार्य में दिलचस्पी नहीं है। जनता इसकी सच्चाई को भांप चुकी है। इसलिए बीजेपी-जेजेपी चुनाव से घबराती हैं। यही वजह है कि 2 साल से पंचायत चुनाव को टाला जा रहा है। इसके चलते गांव में विकास कार्य बुरी तरह ठप पड़े हुए हैं। लेकिन अब कोर्ट के आदेश पर मजबूरी में ही सही सरकार को चुनाव करवाने पड़ेंगे।

chandramohan

आज चन्द्र मोहन ने यहां चौधरी भजनलाल को उनके 93 जन्म दिवस के अवसर पर उन्हें अपने भावभीने श्रद्धा सुमन अर्पित किये


डेमोक्रेटिक फ्रंट संवाददाता, पंचकूला – 6 अक्टूबर :

              हरियाणा के पूर्व उप मुख्यमंत्री चन्द्र मोहन ने कहा कि चौधरी भजनलाल एक महान् व्यक्तित्व के धनी , सदाशयता और विनम्रता की प्रतिमूर्ति  एक महान युगदृष्टा थे।  जिनकी सोच गुरु जम्भेश्वर भगवान की के आदर्शो के प्रति समर्पित थी और इसी से अभिप्रेरित होकर उन्होंने जीवन पर्यन्त लोगों की भलाई के लिए अनेक कार्य किए जिनका उल्लेख करना दुष्कर कार्य है।

               यह उदगार आज चन्द्र मोहन ने यहां चौधरी भजनलाल को उनके 93 जन्म दिवस के अवसर पर उन्हें अपने भावभीने श्रद्धा सुमन अर्पित करने के उपरांत उपस्थित लोगों को संबोधित करते हुए व्यक्त किए।

             चन्द्र मोहन ने कहा कि वह केवल मेरे पिता ही नहीं अपितु वह उस गरीब, पिछड़े और दलित की आवाज भी थे जो किसी न किसी अभाव से ग्रस्त थे। उन्होंने कहा कि चौधरी भजनलाल  ने जीवन में एक ही मंत्र हमें दिया था और वह मंत्र था  , निस्वार्थ भाव से मानवता और गरीब की सेवा करना। गरीब की सेवा भगवान की सेवा है ।राजनीति में सत्ता आती जाती रहती है, लेकिन मानवता सदैव ही जीवित रहेगी। करुणा और दया की प्रतिमूर्ति, गरीबों की आवाज चौधरी भजनलाल आभामंडल के एक ऐसे चमकिले सितारे की तरह थे, जिन्होंने अपनी योग्यता और क्षमता तथा दक्षता के आधार पर से जनसेवा करके गरीब की दुआएं अर्जित की वही हरियाणा के इतिहास में एक नया कीर्तिमान स्थापित किया।

                 उन्होंने कहा कि भगवान के आशीर्वाद से ही महान विभूति थोड़े समय में ऐसे काम कर जाते हैं  जिनकी चर्चा सदैव ही प्रेरित करती रहती है। गुरु जम्भेश्वर  के आदर्शो पर चलकर ही चौधरी भजनलाल ने हरियाणा का  मुख्यमंत्री और केंद्रीय मंत्री रहते हुए  जनता की भलाई और गरीबों  के उत्थान और महिलाओं के सशक्तिकरण के लिए अनेक ऐसे कार्य किए जो आज इतिहास की एक अमिट धरोहर बन गए हैं। उन्होंने कहा कि कहां  तो पाकिस्तान के बहावलपुर में  जहां चौधरी भजनलाल  6 अक्टूबर 1930 को पैदा हुए लेकिन भाग्य उन्हें भारत खींच लाया और उन्होंने आदमपुर को अपनी कर्मभूमि बनाया।कठिन परिश्रम और पुरुषार्थ के बल पर और  परमात्मा की अनुकम्पा से उन्होंने राजनीति की शुरुआत  एक सरपंच के रूप में शुरू की और उसके पश्चात ब्लाक के चेयरमैन, विधायक, मन्त्री और मुख्यमंत्री सहित केन्द्रीय मंत्री के पद को भी सुशोभित किया।

           चन्द्र मोहन ने कहा कि चौधरी भजनलाल सामाजिक मूल्यों के प्रति उनकी संवेदनशीलता और समाज के गरीब लोगों के प्रति उनकी प्रतिबद्धता ने उन्हें एक ऐसे असीम व्यक्तित्व का धनी बना दिया जो इतिहास के पन्नों में स्वर्ण अक्षरों में अंकित हो गया है। गरीबों के प्रति उनकी सोच ने उन्हें एक ऐसा अनूठा आयाम प्रदान किया जिनके आशीर्वाद से वह प्रदेश के सबसे लम्बे समय तक मुख्यमंत्री रहने के साथ साथ प्रदेश में सबसे लम्बे समय तक यानी  9 बार विधायक भी रह रहे। अनुसूचित जाति, पिछड़े वर्गों  के कल्याण के लिए जहां उनके लिए अनुसूचित जाति कल्याण निगम और पिछड़े वर्ग कल्याण निगमों की स्थापना की गई वहीं लड़कियों और विशेषकर गरीब लड़कियों की शिक्षा को बढ़ावा देने के लिए बी.ए तक और तकनीकी संस्थानो में भी  मुफ्त शिक्षा का प्रावधान किया गया ताकि लड़कियां अपने माता-पिता पर किसी भी प्रकार का बोझ ना बन सके और जन्म लेने वाली कन्याओं के लिए अपनी बेटी अपना धन नामक अनूठी योजना की शुरुआत की जिसका अनुशरण आज न केवल राष्ट्रीय स्तर पर अपितु अनेक राज्यों द्वारा भी किया जा रहा है।
             उन्होंने कहा कि सतलुज-यमुना सम्पर्क नहर चौधरी भजनलाल सपनों की नहर थी और वह उनके  दिल के बहुत ही करीब थी। उन्होंने इसे पूरा करवाने के लिए हर संभव प्रयास किए। इसके निर्माण पर अपने शासनकाल मे 595 करोड़ रुपए खर्च करके इस नहर का 95 प्रतिशत कार्य पूरा करवा दिया था जो बाद में उग्रवाद की भेट चढ़ गई। उन्होंने कहा कि चौधरी भजनलाल ने किसानों की वेदना और पीड़ा को महसूस करते हुए ही पांच राज्यों के बीच एक सूत्रधार के रूप में भूमिका निभाते हुए यमुना समझोता किया । इस ऐतिहासिक समझौते के कारण ही आज हरियाणा प्रदेश को 20 प्रतिशत पानी अधिक मिल रहा है ।  मैं हरियाणा सरकार से मांग करता हूं कि चौधरी भजनलाल  के नाम पर पंचकूला में बनने  वाले विश्वविद्यालय का नाम उनके नाम पर रखा जाए क्योंकि पंचकूला को पैरिस बनाने की शुरुआत चौधरी भजनलाल की कलम से ही हुई थी।महान व्यक्तित्व के धनी, गरीबों के मसीहा के आदर्शों और सिद्धांतों को आत्मसात करते हुए हम सभी मिलकर इस प्रदेश के विकास में अपना अमूल्य योगदान दे सकते हैं ।

बुराई कितनी भी प्रबल क्यों न हो, जीत हमेशा सच्चाई की ही होती है – आदर्श पाल

छछरौली में हर्षोउल्लास के साथ मनाया गया दशहरा का पर्व

कोशिक खान, डेमोक्रेटिक फ्रंट, छछरौली/यमुनानगर – 6 अक्तूबर :

            पूरे भारत में दशहरा के पर्व को बड़े ही उत्साह और धूमधाम के साथ मनाया जाता है। भारत में विभिन्न स्कृतियां होने के बावजूद, यह किसी भी तरह से इस त्योहार के उत्साह को प्रभावित नहीं करती है। 

            दशहरा के त्योहार में सभी का उत्साह और जोश एक समान रहता है। इसी कड़ी में नवजीवन जन कल्याण वैल्फेयर सोसाइटी छछरौली के द्वारा हर साल की भांति एसएस स्कूल छछरौली के प्रांगण में दशहरा का पर्व बड़े ही हर्षोउल्लास के साथ मनाया गया जिसमे आम आदमी पार्टी के अम्बाला लोकसभा क्षेत्र  संगठन मंत्री चौधरी आदर्श पाल ने मुख्यातिथि के रूप में शिरकत की।

            इस मौके पर नवजीवन जन कल्याण वैल्फेयर सोसाइटी छछरौली के अध्यक्ष जगमोहन (जग्गी), अमरनाथ चोटानी, रविरंजन बैनीवाल, याद राम नम्बरदार, विशाल सिंगला,  रोमी जगाधरी, बसपा के जिला सचिव राजेश कटारिया, अजय शर्मा समेत गणमान्य लोगों ने कार्यक्रम में शिरकत की।


            इस मौके पर बोलते हुए आप नेता आदर्श पाल ने कहा कि  दशहरा को भारत के कुछ क्षेत्रों में विजयदशमी के रूप में भी जाना जाता है। यदि हम क्षेत्रीय और जातीय मतभेदों को अलग रखकर विचार करें, तो इस त्योहार के आयोजनों का एक ही मकसद है और वह है बुराई पर अच्छाई की जीत का संदेश देना। दूसरे शब्दों में, यह त्योहार बुराई की शक्ति पर अच्छाई की जीत का प्रतीक है।

            हिंदू पौराणिक कथाओं पर नजर डालें, तो कहा जाता है कि इसी दिन देवी दुर्गा ने महिषासुर नामक राक्षस का वध कर दिया था। अन्य परंपराओं का यह भी मानना है कि भगवान राम ने दशहरा के दिन ही असुरों के  महान राजा रावण से युद्ध किया था और उसे पराजित कर ये सिद्ध किया था कि बुराई कितनी भी प्रबल क्यों न हो, जीत हमेशा सच्चाई की ही होती है।


इससे हमें यह पता चलता है कि दोनों घटनाओं का परिणाम समान है।

बॉक्स:
सभी धर्म के लोग होते हैं होते है शामिल : जग्गी
            दशहरा पर्व के आयोजक नवजीवन जन कल्याण वैल्फेयर सोसाइटी छछरौली के अध्यक्ष जगमोहन (जग्गी) ने बताया कि दशहरा का हिंदू धर्म में बहुत महत्व है। रावण दहन का यह कार्यक्रम लोगों को एकजुट करता है, क्योंकि इसके दर्शक न कि केवल हिंदू धर्म से बल्कि सभी धर्म के लोग होते हैं। सबसे महत्वपूर्ण बात यह है कि दशहरा हमें सिखाता है कि अच्छाई हमेशा बुराई को मात देती है और प्रकाश हमेशा अंधेरे पर विजय प्राप्त करता है। हर उम्र के लोग इस मेले का लुत्फ उठाने के लिए यहां उपस्थित होते हैं। बच्चे इस आयोजन का सबसे ज्यादा इंतजार करते हैं और अपने माता-पिता से आतिशबाजी को देखने के लिए ले जाने की जिद करते हैं। वे आतिशबाजी देखते हैं और आश्चर्यजनक दृश्यों का आनंद उठाते हैं।

वन्य जीव और भारतीय संस्कृति में अटूट रिश्ता, वन्य जीव प्राणियों की प्राकृतिक संतुलन बनाने में महत्वपूर्ण भूमिका-  कवंर पाल

कोशिक खान, डेमोक्रेटिक फ्रंट, छछरौली/यमुनानगर – 6 अक्तूबर :

            छछरौली के महा विद्यालय में आयोजित किया गया राज्य स्तरीय वन्य जीव सप्ताह, मंत्री कंवर पाल ने किया शुभारम्भ, प्रदर्शनी का किया अवलोकन। 

            हरियाणा के शिक्षा, वन एवं पर्यटन मंत्री कवंर पाल ने कहा कि वन्य जीव और भारतीय संस्कृति में एक अटूट रिश्ता है वन्य जीव प्राकृतिक संतुलन बनाए रखने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाते हैं। इनसे यहां प्रकृति के सौंदर्य में वृद्धि होती है वहीं यह कई वैज्ञानिक अध्ययनों के आधार भी है।

            मंत्री वीरवार को छछरौली के राजकीय महा विद्यालय में आयोजित राज्य स्तरीय वन्य जीव सप्ताह के शुभारम्भ अवसर पर बतौर मुख्यातिथि बोल रहे थे। उन्होंने इससे पहले वन्य प्राणियों पर लगी प्रदर्शनी का अवलोकन किया। उन्होंने अपने सम्बोधन में कहा कि भारतीय संस्कृति एक अनूठी संस्कृति है ऐसी संस्कृति जिसकी मिसाल दुनिया में कहीं भी नहीं मिलती है अहिंसा परमो धर्मा और जियो और जीने दो के सिद्धांतों को हमें मां की गोद में ही सिखाना शुरू कर दिया जाता है दुनिया आज जीव जंतु संरक्षण की बात कर रही है लेकिन सच पूछो तो हमारे लिए यह कोई नई बात नहीं है हमारे ऋषि-मुनियों ने हमें जीव संरक्षण का उपदेश दिया यही उपदेश पीढ़ी दर पीढ़ी चल रहा है और उसे हम बखूबी आज भी निभाते आ रहे है। 

                प्रधान वन सरंक्षक हरियाणा जगदीश चंद्र ने कहा कि हरियाणा में 2 अक्टूबर से 8 अक्टूबर तक वन्य जीव सुरक्षा सप्ताह मनाया जा रहा है और प्रदेश के साथ-साथ देश भर में वन्य जीव सप्ताह मनाया जा रहा है। वन्यजीवों को सुरक्षित करने के लिए आम लोगों में ज्यादा से ज्यादा जागरूकता लाने के लिए यह वन्य जीव सप्ताह मनाया जा रहा है। उन्होंने कहा कि इस दौरान लोगों को ज्यादा से ज्यादा पौधरोपण करने और वन्यजीवों को संरक्षित करने के लिए जागरूक किया जा रहा है। 

            मुख्य जीव प्रति पालक हरियाणा विनीत कुमार गर्ग ने कहा कि पर्यावरण को साफ सुथरा रखने में गिद्धों का बड़ा भारी योगदान है व मरे हुए मवेशियों को खाकर पर्यावरण में दुर्गंध और बीमारी फैलने से बचाते हैं गिद्धों की कम होती संख्या को बढ़ाने हेतु हरियाणा के पंचकुला में बीड़ शिकारगाह  में वर्ष 2001 से जटायु संरक्षण प्रजनन केंद्र कार्य कर रहा है आज जटायु संरक्षण पर प्रजनन केंद्र में 378 गिद्ध है । इस केंद्र में  प्रजनित गिद्धों को माननीय मुख्यमंत्री मनोहर लाल जी के कर कमलों द्वारा नवंबर 2015 को सॉफ्ट रिलीज संपन्न हुई। 

            वन एवं वन्य जीव विभाग की मुख्य पब्लिसिटी व ट्रेनिंग अधिकारी सरोज पँवार ने माननीय मुख्य अतिथि को प्रदर्शनी के बारे में विस्तार से जानकारी दी। जिला वन मण्डल अधिकारी सूरज भान ने आए हुए अतिथियों का धन्यवाद किया। मुख्य अतिथि का स्वागत बुके देकर व शॉल ओढ़ाकर किया गया। माननीय मुख्य अतिथि कंवरपाल ने महाविद्यालय के प्रांगण में पौधारोपण भी किया। मंच का संचालन रंग कर्मी राजीव रंजन ने किया। 

ये रहे उपस्थित :

             इस कार्यक्रम में प्रधान वन सरंक्षक हरियाणा जगदीश चंद्र्र, मुख्य जीव प्रति पालक हरियाणा विनीत कुमार गर्ग, आईएफएस एपीसीसीएफ वाइल्ड लाइफ एमएल राजवंशी, आईएफएसएस सीसीएफ एस.नारायणन, टीपी सिंह , डिप्टी चीफ वाइल्ड लाइफ पंचकूला श्यामसुंदर कौशिक, एडिशनल पीसीसीएफ विवेक सक्सेना , जी रमन,एमएस मलिक सीसीएफ वाइल्ड लाइफ, जिला वन अधिकारी सूरज भान, राजकीय महाविद्यालय छछरौली के प्राचार्य  संजीव कुमार, जिला वन्य प्राणी अधिकारी श्याम सुंदर, भाजपा जिला मीडिया प्रभारी कपिल मनीष गर्ग,भाजपा मंडल अध्यक्ष छछरौली कल्याण सिंह, मंडल अध्यक्ष जगाधरी विपुल गर्ग, बलविंदर चेयरमैन मुजाफ़त, कॉपरेटिव बैंक के चेयरमैन रामजतन दमोली, कैलाश चंद शर्मा, मीडिया प्रभारी कपिल मित्तल,पूर्व सरपंच ओमकार देवधर, बिरम सिंह लाकड़, रविंदर कलेसर  सहित विद्यालय के छात्र,छात्राएं व सैंकडो की संख्या में गणमान्य व्यक्ति मौजूद रहे।

पैंटिंग व क्वींज  प्रतियोगिता  में अव्वल आने वाले प्रतिभागियों को किया सम्मानित

मंत्री ने कार्यक्रम में पानीपत से आई हुई टीम ने वन प्राणी के साथ रहना सीखना होगा पर नाटक प्रस्तुत करने पर, पैंटिंग प्रतियोगिता में अंजलि को प्रथम, सार्थक को द्वितिय, सिमरन को तृीतय स्थान तथा क्वीज प्रतियोगिता में प्रथम आने पर दानिशली को प्रथम, नितिन को दूसरा व सुमित को तीसरा स्थान प्राप्त करने पर स्मृति चिन्ह देकर सम्मानित किया। 

युवा रंग कर्मी विकल्प की बेहतर प्रस्तुति पर मंत्री ने खुश होकर दिए 1100 रुपये, अन्य प्रतिभागियों को भी 11 हजार रुपये से किया सम्मानित

            इस मौके पर युवा रंग कर्मी विकल्प ने प्रकृति पर आधारित एक सुंदर गीत प्रस्तुत किया जिस पर खुश होकर मंत्री ने 1100 रुपये, वहीं राजकीय महा विद्यालय के विद्यार्थियों ने भंगड़ा व स्वागत गीत प्रस्तुत किया इस पर खुश होकर मंत्री ने 11 हजार रुपये सम्मान पूर्वक दिए। 

कालेज के प्रिंसीपल संजीव कुमार को मंत्री ने किया सम्मानित, वन सरंक्षण नियम 2022 पर आधारित एक पुस्तिका का किया विमोचन

इस कार्यक्रम में मंत्री ने वन सरंक्षण नियम 2022 पर आधारित एक पुस्तिका का विमोचन किया। इस पुस्तिका में कालेज के प्राचार्य संजीव कुमार का अहम योगदान होने पर उन्हें भी सम्मानित किया

डी ए वी कॉलेज में हुआ भाषण प्रतियोगिता का आयोजन

सुशील पंडित, डेमोक्रेटिक फ्रंट,  यमुनानगर – 06 अक्तूबर :

            डीएवी  गर्ल्स कॉलेज में गांधी स्टडी सेंटर की ओर से मनाये जा रहे अहिंसा सप्ताह के अंतर्गत इतिहास विभाग के संयुक्त तत्वाधान में भाषण प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। कार्यक्रम की अध्यक्षता कॉलेज की प्राचार्य डॉ मीनू जैन ने की ! प्रतियोगिता का विषय गांधी जी का व्यक्तित्व एवं मातृत्व था !

            बच्चों ने इस भाषण प्रतियोगिता में बढ़चढ़ कर भाग लिया। प्रतियोगिता में उपस्थित प्राचार्य डाॅ मीनू जैन ने बच्चों का उत्साह बढ़ाया। उन्होने कहा कि गांधी जी की तरह सत्यमार्ग पर चलते हुए आगे बढ़ना है और मजबूत बनना है।

            उन्होंने कहा कि गांधी जी के जीवन से हमें स्वरोजगार, अहिंसा, सत्य, स्वच्छता एवं राष्ट्र के प्रति समर्पण का भाव आदि गुणों को अपने जीवन में अपनाना चाहिए। इस भाषण प्रतियोगिता में प्रथम स्थान  बीए द्वितीय वर्ष की अंजलि, द्वितीय स्थान  बीए द्वितीय वर्ष की रूकसार, तृतीय स्थान बीए प्रथम वर्ष की  तनु ने प्राप्त किया। इस अवसर पर कनवीनर नीलम काम्बोज, डाॅ इंदू नारंग, डॉ दीपिका घई, डाॅ प्रदीप कुमार एवं कोमल उपस्थित रहे।