महिला ने छेड़खानी का विरोध किया तो गुस्साए युवक ने ईंट मार कर महिला की हत्या कर दी

कोशिक खान, छछरौली :

जयधर गांव में दलित महिला ने छेड़खानी का विरोध किया तो गुस्साए युवक ने अपने परिवार के साथ मिलकर मकान की छत पर चढ़कर ईंट पत्थरों से  महिला के परिवार पर हमला कर दिया। इस हमले में पड़ोस में रहने वाली महिला के सिर में ईट लग गई। ईट लगने से गंभीर रूप से घायल महिला की उपचार के दौरान मौत हो गई। पुलिस ने मृतक महिला के पति की शिकायत पर हमलावर व परिवार के 12 लोगों के खिलाफ हत्या व अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज किया है। मृतक महिला के पति जसपाल जानकारी देते हुए बताया कि गांव का ही युवक रूबी झगड़ालू किस्म का व्यक्ति है। जिसने काफी समय से पूरे मोहल्ले के नाक में दम किया हुआ है। वह गांव में अक्सर लोगों से बिना बात के झगड़ा करता रहता है। वह गांव की युवतियों व महिलाओं के साथ भी छेड़खानी करता है। जब कोई महिला इसका विरोध करती है तो उसके परिवार वाले उसका साथ देते हैं और यह लोग डरा धमका कर चुप कर लेते हैं।

मंगलवार शाम को गांव कीएक युवती अपनी भाभी के साथ पास लगते बाड़े में किसी कार्य से गई थी उनके पीछे रूबी व उसके परिवार के तीन युवक उनके बारे में जाकर उनके साथ अश्लील हरकतें करने लगे वह दोनों बड़ी मुश्किल से जान बचाकर अपने घर पर आई और उन्होंने घर आकर सारी बात अपने घरवालों को बताई। इस बात को लेकर जब महिलाओं के परिजनों ने रूबी के परिवार वालों को कहा कि उनके लड़के ने हमारे घर की महिलाओं के साथ छेड़खानी की है तो इस बात से गुस्साए रूबी ने अपने परिवार के साथ मिलकर पीड़ित महिला के परिवार पर हमला कर दिया। देखते ही देखते हालात काबू से बाहर हो गए। दोनों परिवारों में लाठी-डंडों और ईट पत्थरों से लड़ाई शुरू हो गई। रूबी और उसके परिवार के करीब एक दर्जन लोग ईट पत्थर लेकर छतों पर चढ़ गए और उन्होंने लोगों के घरों पर ईंट पत्थर बरसाने शुरू कर दिए। इस दौरान मेरी पत्नी सुनीता देवी उम्र 40 वर्ष घर के आंगन में बैठी हुई थी। रूबी व उसके परिवार के लोगों ने उनके घर के सामने वाले मकान पर चढ़कर वहां से फेंकनी शुरू कर दी। इस दौरान एक ईंट मेरी पत्नी के सिर में लग गई। जिससे वह गंभीर रूप से घायल हो गई उसको घायल अवस्था में जगाधरी अस्पताल ले जाया गया जहां पर उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई। जसपाल ने बताया कि हमारी तो किसी के साथ लड़ाई भी नहीं थी। फिर भी उसकी पत्नी को निशाना बनाया गया और उसके सिर में ईंट मारकर उसको मौत के घाट उतार दिया। पीड़ित जसपाल का कहना है कि आरोपियों के खिलाफ सख्त से सख्त कार्रवाई की जाए। घटना के तुरंत बाद हमलावर परिवार घर में ताले लगाकर मौके से फरार हो गया है। हालांकि पुलिस ने रूबी समेत परिवार के 12 लोगों के खिलाफ हत्या व अन्य धाराओं के तहत मामला दर्ज कर लिया है।

थाना छछरौली प्रभारी पृथ्वी सिंह का कहना है कि जयधर गांव में हुए लड़ाई झगड़े में महिला की सर में चोट लगने से मौत हो गई थी। मृतक महिला के पति जसपाल के बयान पर 12 लोगों को हत्या व अन्य धाराओं में नामजद करते हुए मामला दर्ज किया है। जिसमें रूबी, रामशरण, मेवाराम, विशाल, विजय कुमार, रवि, बुधराम, नरेश कुमार, माया देवी, अभी, सौरभ व गौरव शामिल है। आरोपियों की धरपकड़ के लिए टीम बना दी गई है। जल्दी ही आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया जाएगा।

दादुपुर नहर की घटिया मरम्मत से नाराज़ स्थानीय निवासी

दादुपुर के पास टूटी नहर की मरम्मत पुरानी बिल्डिंग के मलबे से की जा रही है जो की आने वाले बरसात के मौसम में बहुत ही घातक सिद्ध होने वाली है। यदि आने वाले समय में इस नहर को लेकर कोई आपदा आती है तो वह मानव निर्मित होगी, जिसका खामियाजा कई गांवों को जान माल के नुकसान से उठाना पड़ेगा। गाँव वाले इस बात से नाराज़ हैं की मरम्मत इत्यादि में पूरी प्रक्रिया नहीं निभाई जा रही और न ही सरकार की तरफ से कोई ठोस आश्वासन मिल रहा है।

कोशिक खान, छछरौली:

 दादूपुर गांव के पास टूटी नहर की पटरी को पुरानी बिल्डिंग का मलबा डालकर दुरुस्त किया जा रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि विभाग द्वारा नहर के किनारे मरम्मत करने के नाम पर खानापूर्ति की जा रही है। जिस जगह पर पुरानी बिल्डिंग का मलवा डालकर नहर के किनारे दुरुस्त किए जा रहे है। वहां से दोबारा बरसात में नहर की पटरी टूट पूरा गांव इसकी जद में आ सकता है। ग्रामीणों का कहना है कि मिट्टी व पुराने बिल्डिंग मटेरियल से बनाए गए नहर के किनारे कितने मजबूत हो सकते हैं। इसका अंदाजा तो सभी लगा सकते हैं।

दादूपुर से बुढ़िया जाने वाली नहर की पटरी दादूपुर गांव के पास से क्षतिग्रस्त हो गई थी। सिंचाई विभाग द्वारा टूटी हुई नहर की पटरी में दादूपुर सिंचाई विभाग कैंप से तोड़ी जा रही पुरानी बिल्डिंग के मटेरियल को वहां पर डालकर नहर के किनारों को दुरुस्त कर दिया गया है। लोगों का कहना है कि क्षतिग्रस्त नहर की पटरी को अच्छी तरह मजबूती व कंक्रीट डालकर रिपेयर किया जाना चाहिए था। ताकि भविष्य में इस जगह से कभी पटरी न टूटती। सिंचाई विभाग मजबूत और टिकाऊ काम करने की बजाय टूटी हुई नहर की पटरी में मिट्टी व पुरानी बिल्डिंग के मटेरियल डालकर खानापूर्ति कर रहा है। ग्रामीणों का कहना है कि यह खानापूर्ति आखिरकर कितनी कामयाब होगी इसका अंदाजा तो आने वाली बरसात मे लग ही जाएगा। ग्रामीणों का कहना है कि जिस जगह से पटरी क्षतिग्रस्त हुई है। अगर वहां से नहर की पटरी टूट गई तो इसका खामियाजा कई गांव को भुगतना पड़ेगा। सिंचाई विभाग रिपेयर के नाम पर सिर्फ खानापूर्ति करने में लगा हुआ है।

उनका कहना है कि यह पहली बार देखा गया है कि पटरी रिपेयर का कार्य मिट्टी व पुराने बिल्डिंग मटेरियल डालकर किया जा रहा है। उनका कहना है कि विभाग द्वारा की जा रही इस लापरवाही का खामियाजा जनता को भुगतना पड़ेगा।  ग्रामीणों का कहना है कि सिंचाई विभाग में बाढ़ बचाव राहत कार्य व नहरों के किनारों की रिपेयर आदि के कार्य बाकायदा टेंडर प्रणाली से कराए जाते हैं। जिसमें पत्थर व कंक्रीट द्वारा सभी कार्य किए जाते हैं। जिनकी मजबूती भी होती है। आबादी के बीचो बीच बहने वाली नहर के किनारों पर तो विशेष ध्यान दिया जाता है। उनको पक्की कंक्रीट द्वारा रिपेयर किया जाता है।

ग्रामीणों का कहना है कि मिट्टी व पुराने बिल्डिंग के मटेरियल डालकर किनारों की मरम्मत करना यह किस पॉलिसी के तहत कार्य किया जा रहा है। लोगों की मांग है कि नहर की पटरी को कंकरीट से रिपेयर कराया जाए। ताकि उसकी मजबूती बनी रहे और दर्जनों गांव इसकी चपेट में आने से बच जाएं। सिंचाई विभाग एसडीओ दादूपुर राजेश यादव का कहना है कि लाॅक डाउन की वजह से रिपेयर का टेंडर नहीं हुआ है। नहर की पटरी पर पुरानी टूटी हुई बिल्डिंग का मलवा बिना किसी रिकॉर्ड के ही डलवाया गया है। जब टेंडर होगा तो एस्टीमेट के हिसाब से किनारों की रिपेयर का कार्य मजबूती से कराया जाएगा।

rashifal 1

आज का राशिफल

Aries

27 मई 2020: आपका तल्ख़ बर्ताव जीवनसाथी के साथ आपके संबंधों में तनाव डाल सकता है. कोई भी ऐसा काम करने से पहले इसके परिणामों के बारे में सोच लें. प्रॉपर्टी से जुड़े लेन-देन पूरे होंगे और लाभ पहुंचाएंगे. आज आपको प्यार का जवाब प्यार और रोमांस से मिलेगा. दिन भर आप थोड़े सुस्त और अनमने रह सकते हैं, जिससे आपके काम की गुणवत्ता पर भी असर पड़ेगा. चीज़ों और लोगों को तेज़ी-से परखने की क्षमता आपको दूसरों से आगे बनाए रखेगी. आज के दिन आपके और आपके जीवनसाथी के लिए गहरी आत्मीयतापूर्ण बातें का सही समय है.

Taurus

27 मई 2020: किसी भी तरह के द्वन्द्व या विरोध से बचें, क्योंकि आपकी सेहत पर इसका बुरा असर होगा. आर्थिक तंगी से बचने के लिए अपने तयशुदा बजट से दूर न जाएं. आज काम तनावभरा और थकाऊ होगा. किसी की प्यार में क़ामयाबी मिलने की कल्पना को सच कराने में मदद करें. अपना बायोडाटा भेजने या किसी इंटरव्यू में जाने के लिए अच्छा समय है. परोपकार और सामाजिक कार्य आज आपको आकर्षित करेंगे. अगर आप ऐसे अच्छे कामों में थोड़ा समय लगाएं, तो काफ़ी सकारात्मक बदलाव ला सकते हैं. आपको महसूस होगा कि आपका जीवनसाथी इससे बेहतर पहले कभी नहीं हुआ. दोस्तों से गपशप करना एक अच्छा टाइमपास हो सकता है, परन्तु लगातार फ़ोन पर बात करने से सिरदर्द भी संभव है.

Gemini

27 मई 2020: क़ुदरत ने आपको आत्मविश्वास और तेज़ दिमाग़ से नवाज़ा है- इसलिए इनका भरपूर इस्तेमाल कीजिए. आज निवेश के जो नए अवसर आपकी ओर आएं, उनपर विचार करें. लेकिन धन तभी लगाएं जब आप उन योजनाओं का भली-भांति अध्ययन कर लें. दूसरों को प्रभावित करने की आपकी क्षमता आपको कई सकारात्मक चीज़ें दिलाएगी. आप रोमांटिक ख़यालों और सपनों की दुनिया में खोए रहेंगे. आप महसूस करेंगे कि आपकी रचनात्मकता कहीं खो गयी है और फ़ैसले करने में आपको ख़ासी दिक़्क़त का सामना करना पड़ेगा. छुपे हुए दुश्मन आपके बारे में अफ़वाहें फैलाने के लिए अधीर होंगे. आज आपका जीवनसाथी आपको प्यार और सुख के लोक की सैर करा सकता है. परिवार जीवन का अभिन्न अंग होता है.

Cancer

27 मई 2020: तली-भुनी चीज़ों से दूर रहें और रोज़ाना कसरत करते रहें. दिन चढ़ने पर वित्तीय तौर पर सुधार आएगा. घरेलू काम थका देने वाला होगा और इसलिए मानसिक तनाव की वजह भी बन सकता है. अनपेक्षित रोमांटिक आकर्षण की संभावना है. आज के दिन आप कार्यक्षेत्र में कुछ बढ़िया कर सकते हैं. टैक्स और बीमे से जुड़े विषयों पर ग़ौर करने की ज़रूरत है. समय मुफ़्त ज़रूर है पर बेशक़ीमती भी है, इसलिए अपने अधूरे कार्यों को निपटाकर आप आने वाले कल के लिए निश्चिंत हो सकते हैं.

Leo

27 मई 2020: लम्बी बीमारी को नज़रअंदाज़ न करें, नहीं तो आगे चलकर बड़ी समस्या खड़ी हो सकती है. रियल एस्टेट सम्बन्धी निवेश आपको अच्छा-ख़ासा मुनाफ़ा देंगे. पारिवारिक सदस्य या जीवन-साथी तनाव की वजह बन सकते हैं. कोई अच्छी ख़बर या जीवनसाथी/प्रिय से मिला कोई संदेश आपके उत्साह को दोगुना कर देगा. लंबित व्यावसायिक योजनाएं शुरू होंगी. सुबह जीवनसाथी से आपको कुछ ऐसा मिल सकता है, जिससे आपका सारा दिन ख़ुशगवार गुज़रेगा. आपको महसूस हो सकता है कि आप अपना दिन बर्बाद कर रहे हैं. इसलिए अपने दिन की योजना बेहतर तरीक़े से बनाएं. परेशान? आप पंडित जी से प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं .

Virgo

27 मई 2020: आपमें से जो दफ़्तर में ओवरटाइम कर रहे थे और ऊर्जा की कमी से जूझ रहे थे, आज उन्हें फिर वैसी ही समस्याओं से दो-चार होना पड़ सकता है. लम्बे समय से अटके मुआवज़े और कर्ज़ आदि आख़िरकार आपको मिल जाएंगे. सामाजिक गतिविधियां मज़ेदार रहेंगी, लेकिन अपने रहस्य किसी के सामने उजागर न करें. काम के दबाव के चलते मानसिक उथल-पुथल और परेशानियों का सामना करना पड़ सकता है. दिन के उत्तरार्ध में ज़्यादा तनाव न लें और आराम करें. जो भी आपसे मिले, उसके साथ विनम्र और सुखद व्यवहार करें. बहुत कम लोग ही आपके इस आकर्षण का राज़ जान पाएंगे. आप महसूस करेंगे कि आपके जीवनसाथी में शहद से भी ज़्यादा मिठास है.

Libra

27 मई 2020: आपका विनम्र स्वभाव सराहा जाएगा. कई लोग आपकी ख़ासी तारीफ़ कर सकते हैं. आप उन योजनाओं में निवेश करने से पहले दो बार सोचें जो आज आपके सामने आयी हैं. परिवार में आप एक संधि कराने वाले दूत का दायित्व निभाएंगे. सबकी परेशानियों पर ग़ौर करें, जिससे समस्याओं पर समय रहते क़ाबू पाया जा सके. कोई आपको दिल से सराहेगा. ऐसा लगता है कि कुछ समय के लिए आप नितांत एकाकी है. सहकर्मी/सहयोगी मदद के लिए हाथ बढ़ा सकते हैं, लेकिन वे ज़्यादा सहायता नहीं कर पाएंगे. आप और आपका जीवनसाथी मिलकर वैवाहिक जीवन की बेहतरीन यादें रचेंगे. दिवास्वप्न देखना इतना भी बुरा नहीं है – बशर्ते इसके माध्यम से आप कुछ रचनात्मक विचार हासिल कर सकें तो. ऐसा आज आप कर सकते हैं, क्योंकि आपके पास समय का अभाव नहीं होगा.

Scorpio

27 मई 2020: सेहत से जुड़ी दिक़्क़त नज़दीक है- इसलिए नियमित व्यायाम को दिनचर्या में शामिल करें और विश्वास रखें कि पहले से सावधानी बरतना इलाज से बेहतर है. ऐसा लगता है आप जानते हैं कि लोग आपसे क्या चाहते हैं- लेकिन आज अपने ख़र्चों को बहुत ज़्यादा बढ़ाने से बचें. दोस्त आपके निजी जीवन में ज़रूरत से ज़्यादा दख़लअंदाज़ी करेंगे. अपने प्रिय से कुछ भी तल्ख़ कहने से बचें- नहीं तो बाद में आपको पछताना पड़ सकता है. आपको अपनी प्रतिभा दिखाने का अच्छा मौक़ा मिलेगा. लम्बे वक़्त से लटकी हुई दिक़्क़तों को जल्द ही हल करने की ज़रूरत है और आप जानते हैं कि आपको कहीं-न-कहीं से शुरुआत करनी होगी- इसलिए सकारात्मक सोचें और आज से ही प्रयास शुरू करें. अगर आप अपने जीवनसाथी पर क्रोध ज़ाहिर करेंगे, तो आपको तुरन्त प्रतिक्रिया मिल सकती है. इसलिए ख़ुद पर क़ाबू रखेंगे. अपने अच्छे लेखन के साथ आज आप किसी अकल्पनीय उड़ान पर जा सकते हैं.

Sagittarius

27 मई 2020: ख़ुश हो जाएं क्योंकि अच्छा समय आने वाला है और आप स्वयं में अतिरिक्त ऊर्जा का अनुभव करेंगे. भागीदारी वाले व्यवसायों और चालाकी भरी आर्थिक योजनाओं में निवेश न करें. बहन का स्नेह आपको प्रोत्साहन देगा. लेकिन छोटी-मोटी बातों पर आपा खोने से बचें, क्योंकि इससे आपके हितों को नुक़सान पहुंचेगा. अपने प्रिय को आज निराश न करें- क्योंकि ऐसा करने की वजह से बाद में आपको पछताना पड़ सकता है. कामकाज के मोर्चे पर आपको सबसे स्नेह और सहयोग प्राप्त होगा. अपने जीवनसाथी के साथ आप प्यार और रुमानियत से भरे पुराने दिन एक बार फिर जी पाएंगे. सोशल मीडिया पर ज़रूरत से ज़्यादा वक़्त गुज़ारना न केवल समय की बर्बादी है, बल्कि सेहत के लिहाज़ से भी अच्छा नहीं है.

Capricorn

27 मई 2020: बहुत-कुछ आपके कंधों पर टिका हुआ है और फ़ैसले लेने के लिए स्पष्ट सोच ज़रूरी है. मनोरंजन और ऐशोआराम के साधनों पर ज़रूरत से ज़्यादा ख़र्च न करें. अपने प्रिय की बेजा मांग के आगे न झुकें. जिस पहचान और पुरस्कार की उम्मीद आप कर रहे थे, वह बाद के लिए टल सकती है और आपको हताशा का सामना करना पड़ सकता है. टैक्स और बीमे से जुड़े विषयों पर ग़ौर करने की ज़रूरत है. वैवाहिक जीवन में स्नेह को दिखलाने का अपना महत्व है और इस चीज़ का अनुभव आज आप करेंगे. छुट्टी के दिन भी दफ़्तर का काम करने से बुरा और क्या हो सकता है. परन्तु परेशान न हों, क्योंकि काम करके आप अपने अनुभव को और बढ़ा सकते हैं.

Aquarius

27 मई 2020: अपने विचारों को सकारात्मक रखें, क्योंकि आपको ‘डर’ नाम के दानव का सामना करना पड़ सकता है. नहीं तो आप निष्क्रिय होकर इसका शिकार हो सकते हैं. अपने अतिरिक्त धन को सुरक्षित जगह पर रखिए, जो आने वाले वक़्त में आप फिर पा सकें. आपको चिंतामुक्त होकर अपने परिवार के बीच ख़ुशी के लम्हे तलाशने की ज़रूरत है. अपने प्रिय को समझने की कोशिश करें, नहीं तो मुश्किल में फंस सकते हैं. कामकाज के सिलसिले में आपके ऊपर ज़िम्मेदारियों का बोझ बढ़ सकता है. आपको अपने जीवन साथी के साथ सुखस समय व्यतीत करने का मौका मिलेगा. आप कुछ समय अपने व्यक्तित्व को निखारने में लगा सकते हैं, क्योंकि आकर्षक व्यक्तित्व का आत्म-निर्माण में अहम योगदान होता है.

Pisces

27 मई 2020: आपकी व्यक्तिगत समस्याएं मानसिक शांति को भंग कर सकती हैं. मानसिक दबाव से बचने के लिए कुछ रोचक और अच्छा पढ़ें. अपने साथी के साथ ठीक तरह से व्यवहार करें. आज कार्यालय में आपको कुछ अच्छा समाचार सुनने को मिल सकता है. दूसरों की राय को ग़ौर से सुनें- अगर आप आज वाक़ई फ़ायदा चाहते हैं तो. आज आपका जीवनसाथी आपकी सेहत के प्रति असंवेदनशील हो सकता है. अपने भविष्य की योजना बनाने के लिए बिलकुल उपयुक्त दिन है, क्योंकि आपके पास आराम के कुछ लम्हे होंगे. लेकिन अपनी योजनाओं को व्यावहारिक रखें और हवाई क़िले न बांधें.

panchang-2-5

आज का पंचांग

विक्रमी संवत्ः 2077, 

शक संवत्ः 1942, 

मासः ज्येष्ठ़, 

पक्षः शुक्ल पक्ष, 

तिथिः पंचमी रात्रि 12.32 तक है, 

वारः बुधवार, 

नक्षत्रः पुनर्वसु प्रातः 07.28 तक, 

योगः वृद्धि रात्रि 02.19 तक,

करणः बव, 

सूर्य राशिः वृष, 

चंद्र राशिः कर्क, 

राहु कालः दोपहर 12.00 बजे से 1.30 बजे तक, 

सूर्योदयः 05.29, 

सूर्यास्तः 07.08 बजे।

विशेषः आज उत्तर दिशा की यात्रा न करें। अति आवश्यक होने पर बुधवार को राई का दान, लाल सरसों का दान देकर यात्रा करें।

पंचकुला पुलिस को मिली बड़ी कामयाबी, भारी मात्रा में चूरा पोस्त बरामद

  • दो अलग-अलग मामलों में तींन आरोपी गिरफ्तार,
  • गुजरात से ट्रक मे छिपाकर ला रहे थे चुरापोस्त,
  • पंचकुला पुलिस की अपराध शाखा सैक्टर-26 द्वारा किए गए गिरफ्तार,
  • 230 किलो से अधिक चुरापोस्त बरामद,
  • राजस्थान से लेकर आए थे चुरापोस्त

पंचकुला 26 मई :- 

मोहित हाण्डा, भा0पु0से0, पुलिस उपायुक्त पंचकुला के दिशा निर्देशानुसार जिला पंचकुला मे नशा तस्करों की धरपकड़ कर अपराध शाखा, सैक्टर-26 पंचकुला की टीम द्वारा बडी कामयाबी हासिल करते हुए गुप्त सूचना के आधार पर दो अलग-अलग जगहों से 230 किलो 340 ग्राम चूरापोस्त के साथ तींन आरोपियों को काबू किया गया है ।

            प्राप्त जानकारी के अनुसार अपराध शाखा सैक्टर-26 पंचकुला की टीम ने गुप्त सूचना के आधार पर अलग-अलग जगहों से दो ट्रकों से भारी मात्रा मे चूरापोस्त बरामद किया । पुलिस को सूचना मिली थी कि आज एक ट्रक चालक अपने ट्रक मे सामान के बीच नशीला पदार्थ छिपाकर ला रहा है । सूचना मिलते ही अपराध शाखा की टीम द्वारा टोल प्लाजा चण्डीमंदिर के नजदीक नाकाबंदी शुरू की गई । शाम के समय लगभग साढे 7 बजे एक ट्रक आता हुआ दिखाई दिया । शक के आधार पर ट्रक को रूकवाकर जब उसको चैक किया गया तो ट्रक के पीछे प्लास्टिक के ड्रामों के बीच छिपाकर रखें हुए 5 प्लास्टिक के कट्टे मिलें । जब उन प्लास्टिक के कट्टों को खोलकर चैक किया गया तो उनमें चूरापोस्त पाया गया । जब उन कट्टों का वजन किया गया तो वह 200 किलो हुआ । आरोपी ट्रक चालक को मौका पर ही काबू कर लिया गया । आरोपी को काबू कर नामपता पूछने पर आरोपी की पहचान राजकुमार पुत्र बालक राम वासी गांव रामपुर सियुडी, पिंजौर के रूप मे हुई । । आरोपी के खिलाफ पुलिस थाना चण्डीमंदिर मे मादक पदार्थ अधिनियम के तहत अभियोग अंकित कार्रवाई अमल मे लाई गई ।

वहीं दूसरे मामले में जिरकपुर-कालका नैशनल हाईवे पर नाकाबंदी कर अपराध शाखा सैक्टर-26 पंचकुला की टीम ने एक ट्रक से 30 किलो 340 ग्राम चुरापोस्त के साथ दो आरोपियो को काबू किया । दोनो आरोपियो की पहचान भोला राम पुत्र बलवन्त सिंह वासी गांव निचली ढांग जिला सोलन हिमाचल-प्रदेश तथा संदीप पुत्र देवराज वासी गांव शाहपुर थाना पिंजौर के रूप मे हुई । दोनो आरोपियो के खिलाफ पुलिस थाना सैक्टर-20 पंचकुला में मादक पदार्थ अधिनियम के तहत कार्रवाई की गई । पूछताछ के दौरान आरोपियो ने बताया कि वे चुरापोस्त राजस्थान से लेकर आए थे । तीनों आरोपियों को माननीय न्यायालय के समक्ष किया गया । माननीय न्यायालय द्वारा आरोपी रामकुमार तथा भोला राम का सात दिन का पुलिस रिमाण्ड प्रदान किया गया व आरोपी संदीप को न्यायिक हिरासत मे भेजा गया । 

पत्नी के अवैध संबंधों से परेशान पति ने दी जान

  • पत्नी सरिता और उसके प्रेमी के राकेश के खिलाफ केस दर्ज 

मनोज त्यागी, करनाल – 26 मई :

      मधुबन थाना क्षेत्र के एक गांव में पति पत्नी के अवैध संबंधों से परेशान होकर एक युवक द्वारा जहरीला पदार्थ निगल कर आत्महत्या कर ली । पुलिस ने शव कब्जे में लेकर पोस्टमार्टम करा परिजनों को सौंप दिया है परिजनों की शिकायत पर पुलिस ने आरोपी पत्नी सरिता व उसके प्रेमी राकेश के खिलाफ मामला दर्ज कर लिया है।

      पुलिस को दी शिकायत में मृतक के भाई ने बताया कि उसका भाई वेल्डिंग करने का काम करता था उसके एक लड़का लड़की है उसकी पत्नी सरिता का उसके ससुराल के ही युवक राकेश के साथ अवैध संबंध थे जिसको लेकर अक्सर उनके बीच झगड़े होते रहते थे उसका भाई अपनी पत्नी को अक्सर राकेश से  दूर  रहने के लिए कहता था लेकिन उसकी पत्नी नहीं मानी उसको लेकर कई बार पंचायत भी हुई 23 मई को उसकी पत्नी सरिता व उसके प्रेमी राकेश ने मिलकर उसके भाई के साथ मारपीट की जिससे तंग आकर उसके भाई ने जहरीला पदार्थ निगल लिया और उपचार के दौरान उसकी मौत हो गई।

अब 2 दिन भी साथ रहना सहमति संबंध माना जाता है : हाईकोर्ट

  •  लड़के पर लगाया  एक लाख जुर्माना भी डिवीजन बेच ने  किया माफ 

मनोज त्यागी, चंडीगढ़ – 26 :

लंबे समय तक संबंध बनाते हुए साथ रहना भी सहमति संबंध नहीं है यदि 2 दिन भी इस प्रकार साथ रहते हैं तो उसे भी सहमति  संबंध माना जाता है यह टिप्पणी पंजाब हरियाणा हाईकोर्ट ने एक याचिका पर सुनवाई के दौरान दी सिंगल फेज के समक्ष याचिका दाखिल करते हुए हिसार के रहने वाले याची ने कहा था कि उसकी प्रेमिका उसके साथ सहमति संबंध में रह रही थी इस दौरान उसके परिजन उसे बलपूर्वक ले गए थे। ऐसे में लड़की के परिजनों ने उसकी कस्टडी लेकर लड़के को सौंपने के आदेश जारी करने की अपील की गई थी इस पर सिंगल बेंच ने कहा था कि ऐसा कोई सुबूत मौजूद नहीं है जिससे यह साबित किया जा सके कि लड़की लड़के के साथ सहमति संबंध में थी यह सब लड़की को बदनाम करने की साजिश है। इस टिप्पणी के साथ ही हाईकोर्ट ने लड़के पर ₹100000 का जुर्माना लगाते हुए लड़की को यह राशि अदा करने के आदेश दिए थे, सिंगल बेच के इस फैसले के खिलाफ डिवीजन बेंच में अपील की गई सुनवाई में बताया गया है कि लड़की के साथ थोड़े समय ही रही थी इसलिए उसे सहमति  संबंध नहीं माना जा सकता। हाई कोर्ट इस तर्क से सहमत नहीं हुआ उसने कहा कि यदि 2 दिन भी संबंध बनाते हुए साथ रह जाए तो वह सहमति से संबंध माना जाएगा।

लड़के की कस्टडी को लेकर की गई अपील पर हाईकोर्ट ने कहा क्योंकि लड़का 21 साल का नहीं है इसलिए वह विवाह नहीं कर सकता है और ना ही लड़की को उसकी कस्टडी दी जा सकती है, वहीं केस की परिस्थितियों को देखते हुए हाईकोर्ट ने लड़के पर लगा ₹100000 का जुर्माना माफ कर दिया

बेहद घटिया हरकत है कैबिनेट में फेरबदल भय दिखा कर मंत्रियों को चुप करवाना -कुलतार सिंह संधवां

  • आआपा’ विधायक बोले देखना होगा मंत्री व विधायक ‘डील’ करते हैं या पंजाब के साथ खड़े होते हैं
  • मुद्दा मुख्य सचिव का नहीं, पंजाब के लुटेरों को लटकाने का है –आआपा

राकेश शाह, चण्डीगढ़ – 26 मई:

      आम आदमी पार्टी (आपा) पंजाब ने मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह को निशाने पर लेते कहा कि आबकारी घाटे को लेकर पंजाब कैबिनेट में पैदा हुई अंदरूनी लड़ाई को लालच और डंडे के जोर से दबाने की कोशिशें पंजाब और पंजाबियों के लिए बेहद घातक साबित होंगी। मुख्यमंत्री दफ्तर की यह कोशिशें न केवल अनैतिक बल्कि गैर-संवैधानिक भी हैं। कैबिनेट में फेरबदल का भय दिखा कर मंत्रियों की आवाज दबाना निंदनीय है। 

पार्टी हैडक्वाटर से जारी बयान के द्वारा पार्टी के प्रवक्ता और विधायक कुलतार सिंह संधवां, जै कृष्ण सिंह रोड़ी, कुलवंत सिंह पंडोरी और मनजीत सिंह बिलासपुर ने कैबिनेट में फेरबदल का भय दिखा कर मंत्रियों को चुप करवाने की कोशिश को एक भ्रष्ट, कमजोर और तिकड़मबाज शासन की घटिया साजिश करार दिया है। 

      ‘आपा’ नेताओं ने कहा कि पंजाब और पंजाब के लोगों का हित मुख्य सचिव करण अवतार सिंह के पद पर बने रहने या न रहने से नहीं, बल्कि राज्य के खजाने की हो रही लूट के साथ है। अगर आबकारी राजस्व घाटे के लिए मुख्य सचिव जिम्मेदार हैं तो करण अवतार सिंह पर मामला दर्ज होना चाहिए। इसी तरह यदि इस घाटे के लिए कोई दूसरा मंत्री, विधायक या खुद मुख्यमंत्री दफ्तर जिम्मेदार है तो गाज सम्बन्धित जुंडली पर गिरनी चाहिए, परंतु मसला बिल्ली के गले में घंटी बांधने का है कि इस पूरे मामले की निष्पक्ष जांच कौन करे? मुख्यमंत्री से अफसरों ने कह दिया है कि कोई घाटा ही नहीं हुआ। हैरानी की बात यह है कि मुख्य मंत्री ने अपने वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल समेत बाकी विधायकों और मंत्रियों की बजाए अफसरशाही पर यकीन करते मुख्य सचिव करण अवतार सिंह को अन-ऐलानी कालीन चिट्ट दे दी है। आम आदमी पार्टी बिना किसी निष्पक्ष और बारीक जांच पड़ताल के दी ऐसी अन-ऐलानी कालीन-चिट्ट को रद्द करती है। 

      कुलतार सिंह संधवां के अनुसार अब देखना यह होगा कि मुख्य सचिव के द्वारा पूरे मुख्यमंत्री दफ्तर को कटघरे में खड़ा करने वाले कांग्रेसी विधायक, संसद और मंत्री अरबों रुपए की लूट करने वाले पंजाब विरोधी रसूखदारों से पाई-पाई वसूलेंगे या उन की नाजायज जायदादें कुर्क करने के लिए स्टैंड लेते हैं या फिर अपनी लड़ाई सेवामुक्ती की कगार पर खड़े मुख्य सचिव करण अवतार सिंह की कैबिनेट बैठकों में हाजिरी या गैर हाजिरी तक ही सीमित कर लेते हैं। 

      ‘आपा’ नेताओं ने कहा कि यदि कांग्रेसी विधायक और मंत्री अपने पदों को बचाने के लिए ‘डील’ करके चुप हो जाएंगे तो पंजाब के लोगों को क्या मुंह दिखाऐंगे?

      ‘आपा’ नेताओं ने ऐलान किया कि यदि पंजाब के लोगों ने 2022 में आम आदमी पार्टी को मौका दिया तो न केवल शराब माफिया बल्कि सभी माफीए हाईकोर्ट की निगरानी वाली निष्पक्ष और समयबद्ध जांच के हवाले किए जाएंगे। जांच रिपोर्ट के अनुसार इना सभी लुटेरों से पंजाब और पंजाब के लोगों की लूटी हुई अरबों रुपए की दौलत ब्याज समेत वसूली जाएगी और इनकी नाजायज कमाई के साथ बनाए महल सरकार के कब्जे में किए जाएंगे।

विश्व हिन्दू परिषद कोरोना महामारी से लडा़ई में निभा रही है महत्वपूर्ण भूमिका:- शिक्षा मंत्री कंवरपाल

सुशील पंडित, यमुनानगर – 26 मई:

            विश्व हिंदू परिषद द्वारा पी जी आई चण्डीगढ़ की टीम व जिला यमुनानगर के उपस्थित डॉक्टर्स को पुष्प माला पहना कर व पुष्प वर्षा करके सम्मानित किया

            प्रसिद्ध सिद्ध पीठ पंचमुखी हनुमान मंदिर ढांकेवाला में विश्व हिन्दू परिषद जिला जगाघरी द्वारा विशाल रक्तदान शिविर का आयोजन किया गया ,रक्तदान शिविर में मुख्य अतिथि के तौर पर कैबिनेट शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर ने शिरकत की साथ में गणमान्य अतिथि के रूप में एडवोकेट मुकेश गर्ग प्रतापनगर,अति विशिष्ट अतिथि  जिला परिषद चेयरमैन सोहन लाल गोयल, जिला पंचायत व विकास अधिकारी यमुनानगर शंकरलाल गोयल साथ रहे,रक्तदान शिविर कार्यक्रम की  अध्यक्षता विश्व हिंदू परिषद हरियाणा प्रान्त उपाध्यक्ष सुशील जैन ने की

      पी जी आई चंडीगढ़ की टीम के प्रमुख डॉ सुचेत सचदेव अपनी पूरी टीम के साथ मौजूद रहे।

      कैबिनेट शिक्षा मंत्री कंवरपाल व एडवोकेट मुकेश गर्ग ने रक्तदाताओं व शिविर में सेवा कर रहें कार्यकर्ताओं का उन्हें सम्मानित करके हौंसला बढा़या व कहा कि इस कोरोना वायरस से लडा़ई में विश्व हिंदू परिषद बहुत अहम भूमिका निभा रहा है और उनके यह प्रयास प्रशंसनीय है,उन्होंने कहा कि विश्व हिन्दू परिषद द्वारा लाकडाऊन के दौरान जरूरतमंद परिवारों में सूखा राशन भी वितरित किया जा रहा है, विश्व हिंदू परिषद जिला उपाध्यक्ष गौरव गुप्ता ने बताया यह कैम्प चंडीगढ़ पी जी आई के लिए लगाया गया है जिसमे 158 यूनिट रक्त एकत्रित हुआ ,यह रक्त पी जी आई के मरीजों के लिए काम आएगा, जानकारी देते हुए पी जी आई.डॉ सुचेत सचदेव ने बताया कि हमारी टीम  आज प्राप्त 158 यूनिट रक्त से तीन गुना रक्त बनाएंगे ,जिसमे 158  प्लेटलेट,158 प्लाज्मा,158 रक्त बन जायेगा, कोरोना वायरस महामारी के चलते यह हमारा अब तक का सबसे बड़ा कैम्प है। कैम्प में पूरी तरह सोशल डिस्टेंस का पालन किया गया है, शिक्षा मंत्री कंवरपाल ने कहा कि पंचमुखी हनुमान मंदिर समिति ढांकेवाला ने पहले भी कोरोना राहत कोष में चैक भेंट किया था व आज के इस रक्तदान शिविर में भी पंचमुखी हनुमान मंदिर समिति के प्रधान व सभी सदस्यों का सराहनीय योगदान रहा है व मंदिर समिति ने बहुत अच्छी व्यवस्था की उसके लिए वो समस्त समिति को नमन करते है।

            इस दौरान एडवोकेट सुखबीर, जयकरण, आनंद,राजेंद्र, अशवनी सिंगला,महिपाल, डा जैनिश छछरौली,डा जितेंद्र प्रतापनगर, डा शमा प्रवीण बिलासपुर आदि उपस्थित रहे।

नवां शहर के राणेवाल कत्ल कांड की ‘आआपा’ ने की जोरदार निंदा

  • पाले हुए गुंडों से राजनैतिक विरोधियों के कत्ल करवा रहे हैं सत्ताधारी कांग्रेसी-हरपाल सिंह चीमा
  • पहले भी झूठे केस में फंसाया गया था मृतक ‘आआपा’ नेता को – जै कृष्ण सिंह रोड़ी

राकेश शाह, चण्डीगढ़ –  26 मई:

      आम आदमी पार्टी (आपा) के सीनियर व नेता प्रतिपक्ष हरपाल सिंह चीमा और गढ़शंकर से विधायक जै कृष्ण सिंह रोड़ी ने नवां शहर हलके के गांव राणेवाल में आम आदमी पार्टी के नेता और बूथ इंचार्ज परमजीत पम्मा की हुई हत्या की सख्त निंदा करते हुए इस को केवल राजनैतिक कत्ल करार दिया। 

      पार्टी हैडक्वाटर से जारी बयान के द्वारा हरपाल सिंह चीमा और जै कृष्ण सिंह रोड़ी ने परमजीत पम्मा के परिवार के साथ दुख व्यक्त करते हुए परिवार को इंसाफ और जालिम हत्यारों को सख्त सजा दिलवाने की बात कही। 

      हरपाल सिंह चीमा ने कहा कि परमजीत पम्मा कत्ल केस में सत्ताधारी कांग्रेस के स्थानीय नेता और उनके कुछ संरक्षण वाले पुलिस कर्मी सीधे तौर पर शामिल हैं। इस लिए इस मामले की समयबद्ध न्यायिक जांच करवाई जाए। चीमा ने कहा कि एक हफ्ते के अंदर-अंदर नवां शहर जिले में एक ही तरह का यह दूसरा कत्ल है। राहों के पत्रकार मनप्रीत मांगट की हत्या भी इसी तरह राजनीतिज्ञों और माफिया की जुगलबन्दी का नतीजा था, क्योंकि बतौर पत्रकार मांगट रेत माफिया के विरुद्ध आवाज बुलंद रखता था। इसी तरह परमजीत पम्मा भी आम आदमी पार्टी का निडर नेता और अच्छा प्रवक्ता होने के साथ-साथ पार्टी को संगठनात्मक स्तर पर मजबूत करने में जुटा हुआ था। परमजीत पम्मा की बुलंद आवाज और राजनैतिक गतिविधियां नवां शहर के सत्ताधारी नेताओं को लगातार चुभती आ रही थी। 

      जै कृष्ण सिंह रोड़ी ने कहा कि परमजीत पम्मा को स्थानीय कांग्रेसी नेता ने पहले भी एक झूठे केस में फंसाया था।

      आपा नेताओं ने कहा कि जितनी दरिन्दगी के साथ जीप के नीचे परमजीत पम्मा को बार-बार कुचला गया, यह पेशावर कातिलों का काम है जो स्थानीय कांग्रेसी नेता ने पाले हुए हैं।

      चीमा और रोड़ी ने कहा कि ऐसे घिनौने अपराध राज्य में कानून व्यवस्था की बजाए जंगलराज के कारण लगातार घट रही हैं, परंतु मुख्यमंत्री कैप्टन अमरिन्दर सिंह (जिनके पास गृह विभाग भी है) को कोई परवाह नहीं है। वह अपने सिसवा फार्महाउस पर बैठ कर अपनी डगमगा रही कुर्सी को लंच-डिनर डिप्लोमेसी के साथ बचाने में व्यस्त हैं, परंतु जर्जर कानून व्यवस्था ने पंजाब के आम लोगों का जीना कठिन कर दिया है।