Chandigarh Police

Police Files, Chandigarh – 20 October, 2023

साइबर सेल पुलिस

संदीप सैंडी, डेमोक्रेटिक फ्रंट, चंडीगढ़–20 अक्टूबर :

आपने कई ऐसे मामले देखे होंगे कि की भोले भाले लोगों को लड़की का रुप धारण कर या फिर उसकी आवाज में मोबाइल फोन पर वीडियो कॉल कर बाद में उन्हें डरा धमकाकर धोखाधड़ी की जाती है। चंडीगढ़ पुलिस ने इस तरह के कई मामलों में आरोपियों की धर पड़कर उन्हें सुलझाया है। लेकिन एक और मामला ऐसे प्रकाश में आया है। यहां चंडीगढ़ के रहने वाले एक युवक को इस तरह के मामले में आरोपियों ने अपना शिकार बना कर लाखों रुपए की धोखाधड़ी कर ली है। यूटी पुलिस के साइबर सैल ने मामले में दो शातिर आरोपियों को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपियों की पहचान जयपुर राजस्थान के रहने वाले 23 वर्षीय दिनेश मीणा और 20 वर्षीय गिरधारी सिंह के रूप में हुई है। पकड़े गए आरोपी गिरधारी सिंह के खिलाफ जयपुर राजस्थान में एक अन्य मामला भी दर्ज है। जानकारी के मुताबिक पता चला है कि साइबर सेल पुलिस को गई। गुप्त सूचना टेक्निकल तकनीक के जरिए सूचना मिली थी कि भोले भाले लोगों को वीडियो कॉल कर धोखाधड़ी करने वाले आरोपी एरिया में सक्रिय है। मामले को गंभीरता से लेते हुए और चंडीगढ़ पुलिस के एसपी साइबर केतन बंसल के दिशा निर्देशों के चलते साइबर सेल के इंचार्ज इंस्पेक्टर रणजीत सिंह की सुपरविजन में एक टीम गठित की टीम ने आरोपियों को हिरासत में लेकर पूछताछ की तो उन्होंने मामले का खुलासा किया। पुलिस ने तुरंत उन्हें गिरफ्तार कर लिया।क्या था मामला जानकारी के मुताबिक चंडीगढ़ निवासी शिकायतकर्ता ने पुलिस को बताया कि इंस्टाग्राम पर एक लड़की ने दोस्ती का अनुरोध किया। अनुरोध स्वीकार करने के बाद वह उसे चैट करना शुरू कर देती है, और उसका व्हाट्सएप नंबर मांगती है। इसके बाद उसने अपने व्हाट्सएप नंबर से वीडियो कॉल की, शिकायतकर्ता ने जैसे ही उसने उसे कॉल का उत्तर दिया, और वहां अश्लील वीडियो शुरू हो गया। शिकायतकर्ता ने तुरंत अपना चेहरा ढक लिया। लेकिन शातिर आरोपी की पकड़ में चेहरा आ गया। डिलीट करने के नाम पर इस फोटो और वीडियो के जरिए उन्होंने पैसों की मांग की। आरोपियों द्वारा दिए गए पेटीएम नंबर पर 15 हजार रुपए की रकम ट्रांसफर कर दी। आरोपियों ने फिर शिकायतकर्ता को डरा धमका कर फोटो डिलीट करने के लिए 25000 और वीडियो डिलीट करने के लिए 51 हजार रुपए देने होंगे। शिकायतकर्ता घबरा गया था। उसने आरोपियों को कुल रकम 3,41,000 रूपये ट्रांसफर कर दी और बाद में उसकी शिकायत थाना साइबर सेल पुलिस को दी गई थी।•आरोपियों का काम करने का ढंग जानकारी के मुताबिक पता चला है कि पकड़े गए आरोपी पहले इंस्टाग्राम/ फेसबुक पर फ्रेंड रिक्वेस्ट भेजते हैं। और वीडियो कॉल करते हैं। वीडियो कॉल करने के बाद जैसे ही उसका उत्तर देता है तो स्कैमर्स वीडियो रिकॉर्ड करते हैं। या फिर स्क्रीनशॉट ले लेते हैं। और पीड़ित को ऐसा अश्लील वीडियो/फोटो सोशल मीडिया पर लीक करने और ब्लैकमेल करके बड़ी रकम देने के लिए कहा जाता है। जिसके चलते पीड़ित उनके जाल में फंस जाते हैं और उनके साथ धोखाधड़ी हो जाती है। 

डिस्ट्रिक क्राइम सैल ने नशीले पदार्थों को लेकर शहर में लगातार अभियान चला रखा है

संदीप सैंडी, डेमोक्रेटिक फ्रंट, चंडीगढ़–20 अक्टूबर :

डिस्ट्रिक क्राइम सैल पुलिस ने नशीले पदार्थों को लेकर शहर में लगातार अभियान चला रखा है। पुलिस आए दिन लगातार आरोपियों की धर पकड़ कर रही है। वहीं पुलिस में एक बार फिर बड़ी सफलता हासिल करते हुए हेरोइन की सप्लाई करने वाले एक आरोपी तस्कर को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी की पहचान पंजाब के जिला तरन तारन के रहने वाले 25 वर्षीय अर्शदीप सिंह के रूप में हुई है। जानकारी के मुताबिक पता चला है कि। डिस्ट्रिक क्राइम सैल पुलिस चंडीगढ़ पुलिस के ऑला अधिकारियों के दिशा निर्देशों के चलते सेल के इंचार्ज इंस्पेक्टर जसमिंदर सिंह की टीम बुधवार को एरिया में पेट्रोलिंग कर रही थी । पेट्रोलिंग के दौरान जब पुलिस सैक्टर 39 स्थित जीरी मंडी चौक के पास पहुंची तो सामने से आ रहा एक युवक पुलिस पार्टी को देखकर एकदम से पीछे की तरफ मुड़ गया। और तेज रफ्तार से चलने लगा। जब पुलिस को मामले में शक हुआ तो पुलिस ने युवक के हाथ में पकड़ा बैग चेक किया तो पुलिस को आरोपी युवक के कब्जे से 19.64 ग्राम हेरोइन नशीला पदार्थ बरामद हुआ। पुलिस ने तुरंत मामले में एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर आरोपी युवक को गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक पकड़ा गया आरोपी दो-तीन साल से नशीला पदार्थ बेचने का काम कर रहा है। पंजाब के अलग-अलग जिलों से नशीला पदार्थ खरीद कर ट्राई सिटी एरिया में बेचता था । और अच्छा मुनाफा कमाता था। 

क्राइम ब्रांच पुलिस ने वाहन चोरी के मामले में दो शातिर आरोपियों और एक स्क्रैप डीलर को भी गिरफ्तार किया

संदीप सैंडी, डेमोक्रेटिक फ्रंट, चंडीगढ़–20 अक्टूबर :

क्राइम ब्रांच पुलिस ने एक बार फिर बड़ी सफ़लता हासिल करते हुए वाहन चोरी के मामले में दो शातिर आरोपियों और एक स्क्रैप डीलर को भी मामले में गिरफ्तार किया है। पकड़े गए दो आरोपियों की पहचान पंजाब के जिला फिरोजपुर के रहने वाले 22 वर्षीय राजवीर सिंह उर्फ राजा, 19 वर्षीय सुरेश सिंह, और स्क्रैप डीलर 31 वर्षीय जगसीर सिंह के रूप में हुई है। जानकारी के मुताबिक क्राइम ब्रांच पुलिस को गुप्त सूचना टेक्निकल तकनीक के जरिए सूचना मिली थी कि शहर से वाहन रहे हैं। चोरी करने वाले दो आरोपी युवक जो कि आपस में दोस्त हैं। और नशे के आदी हैं। पंजाब के जिला फिरोजपुर के रहने वाले हैं। वाहन चोरी में शामिल है। और वाहन चोरी फिराक में मलोया इलाके मेंघूम रहे हैं पुलिस ने मामले को गंभीरता से लेते हुए और चंडीगढ़ पुलिस के एसपी क्राइम केतन बंसल के दिशा निर्देशों के चलते क्राइम ब्रांच के डीएसपी उदयपाल सिंह की सुपरविजन में पुलिस ने मलोया स्थित सत्संग भवन के पास नाका लगा लिया। जैसे ही आरोपी हरियाणा नंबर के चोरी के वाहन पर सवार होकर आए। पुलिस ने उन्हें रोक कर कागजात चेक करवाने के लिए बोला तो वह आनाकानी करने लगे। जब पुलिस ने सख्ती से पूछताछ की तो पता चला कि आरोपियों के पास चोरी की बाइक है। पुलिस ने तुरंत मामले में कार्रवाई करते हुए आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया। पकड़े गए दोनों आरोपियों को पुलिस ने जिला अदालत में पेश किया। अदालत ने आरोपियों को पुलिस रिवॉर्ड पर भेज दिया। रिमांड के दौरान उन्होंने खुलासा किया कि वह नशे के आदी हैं। नशे की जरूरत को पूरा करने के लिए वह वाहन चोरी की वारदात को अंजाम देते हैं। और उन्हें सस्ते दाम पर पंजाब के जिला फिरोजपुर में कबाड़ियों को बेच देते है। पकड़े गए आरोपियों ने पुलिस को खुलासा किया कि उन्होंने चंडीगढ़ और आसपास के इलाकों से करीब 10 से 12 वाहन चोरी किए।पुलिस ने मामले में के पूछताछ दौरान आरोपियों के कब्जे से चार बुलेट मोटरसाइकिल, एक मारुति कार, एक स्विफ्ट कार, एक ऑल्टो कार (पार्ट्स) एक होंडा सिटी कार, और एक होंडा सिटी की आरसी थी। पुलिस ने पूछताछ के दौरान करवाई थी। आरोपियों की निशानदेही पर स्क्रैप डीलर आरोपी जगसीर सिंह को भी मामले में गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी स्क्रैप डीलर ने पुलिस को बताया कि उसने होंडा सिटी और ऑल्टो कार को पहले ही तोड़ दिया था। पुलिस ने मामले में आरोपी के कब्जे से होंडा सिटी के पार्ट्स और आरसी और ऑल्टो कार बरामंद की। मामले में पुलिस ने थाना 39 का एक, थाना मनीमाजरा के 8 और हरियाणा के थाना पिंजौर का एक मामला सुलझाया है। क्या था मामला जानकारी के मुताबिक सेक्टर 40 के रहने वाले पीड़ित शिकायतकर्ता ध्रुव भारद्वाज ने पुलिस को बताया था कि उसने 9 / 10 जुलाई हरियाणा नंबर का मोटरसाइकिल घर के पास खड़ा किया था। जब उसने अगले दिन देखा तो मोटरसाइकिल गायब था। शिकायतकर्ता ने इस संबंध में थाना 39 में ईएफआईआर दर्ज करवाई थी | 

हेरोइन की सप्लाई करने वाले एक आरोपी तस्कर गिरफ्तार

संदीप सैंडी, डेमोक्रेटिक फ्रंट, चंडीगढ़–20 अक्टूबर :

पुलिस स्टेशन सेक्टर-31 पुलिस ने हेरोइन की सप्लाई करने वाले एक आरोपी तस्कर को गिरफ्तार किया है। पकड़े गए आरोपी की पहचान जिला तरनतारन के रहने वाले 25 वर्षीय साजन सिंह के रूप में हुई है। जानकारी के मुताबिक पता चला है कि चंडीगढ़ पुलिस के आला अधिकारियों के दिशा निर्देशों के चलते एसडीपीओ साउथ दलबीर सिंह भिंडर की सुपरविजन में थाना 31 के प्रभारी इंस्पेक्टर राम रत्न शर्मा की टीम में शामिल एएसआई अनिल कुमार की टीम सैक्टर 31 डिवाइडिंग रोड़ नज़दीक पंप के पास पहुंची तो पुलिस शक के आधार पर आरोपी को रोक कर पूछताछ के दौरान उसकी तलाशी ली तो पुलिस को आरोपी के कब्जे से 10.40 ग्राम हेरोइन बरामद हुई। पुलिस ने तुरंत मामले में एनडीपीएस एक्ट के तहत मामला दर्ज कर उसे गिरफ्तार कर लिया। पुलिस के मुताबिक पकड़ा गया आरोपी हेरोइन 2200 रूपए प्रति ग्राम बेचता था। पकड़े गए आरोपी को पुलिस ने जिला अदालत में पेश किया। अदालत ने आरोपी को 2 दिन के पुलिस रिमांड पर भेज दिया। रिमांड के दौरान पुलिस मामले को लेकर और भी कई अहम जानकारिया हासिल करेगी।