Police Files, Kaithal – 18 October, 2023

सोशल मीडिया पर अन्जान लोगों से दोस्ती ना करें

  • कस्टम ड्यूटी की डिमांड करने वाले साइबर क्रिमिनल से हो जाए सावधानः एसपी कैथल

लाजपत सिंगला, डेमोक्रेटिक फ्रंट, कैथल – 18अक्टूबर :

एसपी उपासना

पुलिस प्रवक्ता ने जानकारी देते हुए बताया कि जिला पुलिस द्वारा जिला कैथल में साइबर अपराधों से बचने हेतु अलग-अलग कार्यक्रम आयोजित करके लोगों को साइबर अपराधों से बचने हेतु जागरूक किया जा रहा है। वहीं पर कैथल पुलिस द्वारा सोशल मीडिया पर अनजान लोगो से सतर्क रहने के लिए एडवाइजरी जारी की गई है। इस बारे एसपी उपासना ने कहा कि आज की इस डिजिटल दुनिया में इंटरनेट और सोशल मीडिया का प्रयोग काफी बढ़ गया है। हर व्यक्ति मोबाइल, इंटरनेट तथा सोशल मीडिया से जुडा है और वह अपना हर काम ऑनलाइन के माध्यम से कर रहे है परन्तु कुछ साइबर क्रिमनल जो इंटरनेट पर लोगों को बेवकूफ बनाकर उनके साथ धोखाधड़ी को अंजाम देते है । ऐसे व्यक्तियों से सावधान रहने की आवश्यकता है क्योंकि कुछ साइबर क्रिमिनल खुद को विदेशी बताकर सोशल मीडिया पर खुद को अच्छी जॉब या खुद को अच्छा बिजनेसमैन बताकर दोस्ती करते है। जिससे कुछ लोग इनकी बातों में आकर उनके साथ दोस्ती कर लेते है और फिर फेसबुक तथा व्हाट्सएप के माध्यम से बातचीत करते है। काफी दिनों तक आपस में बातचीत करने पर वो आपको गिफ्ट या आई फोन इत्यादि भेजने के लिए कहते है, और कहते है आपको बस कस्टम डयूटी देनी है। ऐसे में आपको गिफ्ट, आई फोन इत्यादि के लालच में आकर कोई किसी भी प्रकार की कस्टम ड्यूटी भरने की जरूरत नहीं है, क्योंकि साइबर क्रिमिनल आपसे धीरे-धीरे करके लाखो रुपये की राशि ठग लेते है, ऐसे में किसी अजनबी पर विश्वास ना करें और अगर कोई व्यक्ति आपको कस्टम डयूटी की डिमांड करता है तो सावधान हो जाए वह साइबर क्रिमनल है। आपके साथ धोखाधड़ी कर रहा है। ऐसे में किसी अनजान व्यक्ति के साथ सोशल मीडिया पर दोस्ती ना करें ना ही किसी प्रकार की निजी जानकारी सांझा करें। ऐसे व्यक्ति से सावधान रहें और सुरक्षित रहें। साइबर ठगो को अपने पैसे की सुरक्षा सतर्क रहकर ही की जा सकती है। किसी भी तरह की साइबर धोखाधड़ी होने पर तुरंत 1930 पर काल करके शिकायत दर्ज करवाएं।

                                                          ———————-

पीओ पकडो स्टाफ द्वारा वर्ष 2019 दौरान क्रेटा गाड़ी चोरी मामले में उद्धघोषित अपराधी काबु

लाजपत सिंगला, डेमोक्रेटिक फ्रंट, कैथल – 18अक्टूबर :

  पी.ओ./बेलजंपरो की धरपकड के लिए एसपी उपासना के निर्देशानुसार चलाई जा रही मुहिम अंतर्गत पीओ पकडो स्टाफ इंचार्ज एसआई ओमप्रकाश की अगुवाई में एएसआई सतीश कुमार की टीम द्वारा वर्ष 2019 दौरान क्रेटा गाड़ी चोरी मामले में उद्धघोषित अपराधी शीतल नगर रोहतक निवासी नीरज को नियमानुसार गिरफ्तार कर लिया गया। पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि आरोपी पर 4 नवंबर 2019 को हुड्डा सेक्टर 19 कैथल से एक क्रेटा गाड़ी चोरी करने के आरोप है।  आरोपी नीरज को पुलिस द्वारा उक्त मामले में गिरफ्तार करके न्यायालय में पेश किया गया था लेकिन आरोपी न्यायालय से जमानत लेने उपरांत न्यायालय में दोबारा हाजिर नहीं हुआ था और भूमिगत हो गया था। आरोपी को न्यायालय ने आदेशों की अवहेलना करने के आरोप में 20 सितंबर 2023 को पीओ घोषित कर दिया था। आरोपी किसी अन्य चोरी के मामले में जेल में बंद था। जिसकी उपरोक्त मामले में गिरफ्तारी के लिए माननीय अदालत की मार्फत प्रोडक्शन वारंट जारी करवाए गये थे। आरोपी नीरज को न्यायालय के आदेशानुसार न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया।

                                                          ————————–

नशा तस्करों पर पुलिस का शिकंजा

चौंकी महमुदपुर पुलिस द्वारा 20  ग्राम हैरोइन सहित नशा तस्कर काबू

लाजपत सिंगला, डेमोक्रेटिक फ्रंट, कैथल – 18 अक्टूबर :

  युवा वर्ग को नशे की चपेट से बचाने के लिए इस प्रकार के धंधे में लिप्त अपराधियों पर पुलिस द्वारा एसपी उपासना के निर्देशानुसार निरंतर रूप से शिकंजा कसा जा रहा है। जिसके दौरान चौकी महमुदपुर पुलिस द्वारा नाकाबंदी दौरान एक नशा तस्कर को काबू कर लिया गया। जिसके कब्जे से 20 ग्राम हेरोइन बरामद हुई।

  पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि चौकी महमुदपुर पुलिस प्रभारी एएसआई राजबीर सिंह की टीम सायं के समय गश्त दौरान महमुदपुर क्षेत्र में मौजुद थी। जहां सहयोगी सुत्रों से पुलिस को गुप्त जानकारी मिली कि अजीमगढ निवासी देवेंद्र सिंह नशीला पदार्थ हेरोइन चिट्टा बेचने के काम करता है। जो अभी हैरोईन लेकर अजीमगढ से महमुदपुर की तरफ आएगा, जिसको नाकाबंदी करके हैरौइन सहित काबु किया जा सकता है। पुलिस द्वारा सतर्कता व मुस्तैदी का परिचय देकर रैडिंग पार्टी का गठन करके हांसी बुटाना नहर पुल अजीमगढ पर नाकाबंदी की गई। जहां कुछ समय बाद अजीमगढ साईड से पैदल आए देवेंद्र उपरोक्त को पुलिस द्वारा काबू कर लिया गया। पुलिस सुचना उपरांत मौके पर पहुंचे नायब तहसीलदार गुहला सुनील कुमार के समक्ष नियमानुसार कार्रवाई तहत ली गई तलाशी दौरान आरोपी के कब्जे में पॉलीथिन से 20 ग्राम हेरोइन चिट्टा बरामद हुआ। थाना गुहला में मामला दर्ज करके आरोपी को मौके पर पहुंचे एसआई सुभाष चंद द्वारा गिरफ्तार कर लिया गया। आरोपी बुधवार को न्यायालय में पेश किया जाएगा, जिससे पुलिस द्वारा पूछताछ की जा रही है।

                                                ———————————

जागरूकता माह के तहत थाना साइबर पुलिस टीम ने आईटीआई पूंडरी में छात्र-छात्राओं को साइबर सुरक्षा बारे किया जागरूक

लाजपत सिंगला, डेमोक्रेटिक फ्रंट, कैथल – 18 अक्टूबर :

  पुलिस प्रवक्ता ने बताया कि माननीय पुलिस महानिदेशक हरियाणा शत्रुजीत कपूर के कुशल मार्गदर्शन में एवं एजीडीपी साइबर हरियाणा ओपी सिंह के दिशा निर्देश के तहत पूरे हरियाणा में अक्टूबर माह को साइबर जागरूकता माह के रूप में मनाया जा रहा है। इसी कड़ी के तहत पुलिस अधीक्षक उपासना के कुशल मार्गदर्शन में थाना साइबर पुलिस टीम द्वारा आईटीआई पूंडरी में छात्र-छात्राओं व स्टाफ को साइबर अपराधों बारे जरूरी जानकारी देकर साइबर अपराधों से बचने के उपाय बताए गए। 

  साइबर जागरूकता कार्यक्रम के दौरान साइबर थाना से पीएसआई शुभ्रांशु की टीम द्वारा पूंडरी स्थित सरकारी आईटीआई व महिला आईटीआई में छात्र-छात्राओं व स्टाफ को बताया कि किसी भी अनजान व्यक्ति द्वारा सोशल मीडिया या साईट पर दी गई जानकारी को पूर्ण न समझे। साइबर अपराधी आपको पैसे कमाने का, पैसे डबल करने का या अन्य तरीके का प्रलोभन देकर आपकी निजी जानकारी हासिल करते है। जिसके बाद फोन पर ओटीपी भेजकर या अन्य तरीके से आपके खाते को खाली कर देते है। साइबर ठग आपको फोन पर कुछ मिनटों में लाखों रुपए का लोन सस्ती दरो पर देने का दावा करते है और आपकी जानकारी हासिल कर आपके खाते से रकम को अपने खाते मे ट्रांसफर कर लेते है। साइबर अपराधी स्मार्ट फोन से मोबाइल ऐप, इंटरनेट बैंकिंग व अन्य तरीकों से लोगों के साथ धोखाधड़ी कर पैसे हड़प रहे है जिससे पीड़ित व्यक्ति को आर्थिक हानि के साथ 2 कई प्रकार की समस्याओं का सामना करना पडता है। कोई भी व्यक्ति आपको किसी भी तरह का लॉटरी, इनाम या अन्य चीजें जीतने का प्रलोभन देता है तो आपको समझना चाहिए की जालसाज आपके खाते से पैसे हड़पना चाहता है। साइबर अपराधियों के इन सब तरीके के बारे मे अपने परिवार को अवगत कराये व उनको साइबर अपराध बारे जागरुक करे। सोशल मीडिया पर अनजान से दोस्ती ना करें। किसी के साथ भी अपनी किसी प्रकार की निजी जानकारी सांझा ना करें। अगर आपके साथ किसी भी प्रकार की ऑनलाइन ठगी हो जाती है तो जितनी जल्दी हो सके तुरंत नेशनल साइबर कंप्लेंट पोर्टल नंबर 1930 पर कॉल करें और शिकायत दर्ज करवाये।