कल तक शेर की तरह एडवाइजर के खिलाफ दहाड़ कर  धरना वाला मेयर आज गीदड़ की तरह धरना देने से मुकर गया -AAP पार्षद

विनोद कुमार/परमजीत, डेमोक्रेटिक फ्रंट, चंडीगढ़  –  18अक्टूबर :

  • किस के दबाव में मेयर ने धरना देने से इन्कार किया,
  • भाजपा व डरपोक मेयर का असली चेहरा सामने आया !
  • धरने में पूर्व मेयर प्रदीप छाबड़ा भी शामिल थे

मेयर को चाहिए कि तत्काल हाउस मीटिंग बुला कर अपनी स्थिति स्पष्ट कर सभी से माफी मांगे।

आम आदमी पार्टी की पार्षद प्रेमलता व अन्य पार्षदो दमनप्रीत,प्रेमलता, रामचन्द्र यादव,अंजू कटयाल,कुलदीप ढिलोड़,नेहा,सुमन,जसविंदर,पूनम, ने मेयर अनूप गुप्ता को जम कर लताड़ा उस ने कहा कि मेयर व भाजपा चंडीगढ़ की जनता को गुमराह कर रहे है, कल हाउस मीटिंग में एडवाइजर के खिलाफ धरना देने की प्लानिंग करने वाले मेयर ने सभी पार्टी के पार्षदो से सहयोग मांगा, प्रेमलता ने बताया कि सभी ने मेयर की बात का समर्थन कर धरने में शामिल होने के लिए पार्टी लाइन से ऊपर उठ कर चंडीगढ़ के लोगो के हितों की रक्षा के लिये हामी भरी, प्रेमलता ने कहा कि ऐसा रातो रातो क्या हुआ कि सुबह मेयर धरना देने से भाग गया ?  क्या भाजपा का दबाव है ?