हिसार की बेटी ने सुझाया अंतर राष्ट्रीय विवादों को निपटाने का तरीका

  • शहर की सुप्रसिद्ध चिकित्सक डॉ रविकांता की भतीजी अंजली चावला की नई पुस्तक का विमोचन

पवन सैनी, डेमोक्रेटिक फ्रंट , हिसार – 11 नवंबर :

            हिसार की बेटी एवं सुप्रसिद्ध महिला चिकित्सक डॉ रविकांता की भतीजी एवं प्रवीन चावला की पुत्री अंजली चावला ने अंतर राष्ट्रीय विवादों को एडीआर के माध्यम से सुलझाने के नए तरीके सुझाए है। जिंदल ग्लोबल लॉ यूनिवर्सिटी में आयोजित एक समारोह में देश विदेश के नामी कानून विशेषज्ञों एवं कानूनविदें ने अंजली चावला की नई पुस्तक मल्टी टायर अर्बीटर्शेन क्लॉज का विमोचन किया।

            इस पुस्तक का उद्देश्य बहु-स्तरीय विवाद समाधान क्लॉज की प्रवर्तनीयता के दायरे का आलोचनात्मक विश्लेषण करना है और भारतीय मध्यस्थता व्यवस्था के तहत अनिवार्य या केवल वैकल्पिक के रूप में उनकी वास्तविक प्रकृति का निर्धारण करना है। यह पुस्तक एडीआर के माध्यम से प्रत्येक क्षेत्राधिकार में सबसे प्रभावशाली विकल्प प्रदान करके अपने सबसे समग्र रूप में विवाद समाधान का प्रतिनिधित्व करती है। पुस्तक में यूके, यूएसए, फ्रांस जैसे विभिन्न न्यायालयों में एमडीआरसी को शामिल किया गया है।

            समारोह में बतौर मुख्यातिथि सुप्रीम कोर्ट की पूर्व न्यायाधीश जस्टिस इंदिरा बेनर्जी ने शिरकत की, वहीं हवाई, यूएसए सुप्रीम कोर्ट के जज जस्टिस माइकल विल्सन, न्युयॉर्क सुप्रीम कोर्ट के पूर्व जज जस्टिस मैथ्यु एफ कोपर, स्टॉकहोम यूनिवर्सिटी स्वीडन के एसोसिएट प्रोफेसर डॉ पी शॉघनैंसी, लॉ एक्सपर्ट अमृता टॉंक, राफेला इसेप्पॉनी सहित अन्य कानूनविद् विशेष तौर पर उपस्थित रहे। उन्होंने पुस्तक में शामिल विषय को न केवल सराहा, साथ ही विश्वास जताया कि नई पुस्तक शिक्षाविदों और छात्रों की जरूरतों को पूरा करने में सहायक सिद्ध होगी।