जब चेन्नई में शाह सड़कों पर उतरे

गृह मंत्री अमित शाह ने शनिवार को तमिलनाडु के चेन्नई में रोड शो किया. अमित शाह ने सड़क पर पैदल चलकर बीजेपी कार्यकर्ताओं से मुलाकात की. गृहमंत्री का ये दौरा इसलिए भी खास है, क्योंकि राज्य में अगले साल 2021 में विधानसभा चुनाव भी होने वाले हैं. इस राज्य में अपना प्रदर्शन सुधारने के लिए बीजेपी पूरी जी जान से लगी है. ऐसे में गृहमंत्री अमित शाह का ये दौरा काफी अहम माना जा रहा है. लोकसभा चुनाव 2019 में बीजेपी को यहां पर कोई कामयाबी नहीं मिली थी. चुनाव में स्टालिन पार्टी डीएमके ने सबसे ज्यादा सीटें बटोरीं थीं.

चेन्नई/नयी दिल्ली:

केंद्रीय गृह मंत्री अमित शाह शनिवार को चेन्नई पहुंचे, जहां वे चेन्नई मेट्रो रेल के दूसरे चरण की आधारशिला रखने के साथ 67 हजार करोड़ रुपये के विकास कार्यक्रमों का शिलान्यास करेंगे. अमित शाह शनिवार को तीन कार्यक्रमों में हिस्सा लेंगे.

पूर्व मुख्यमंत्री एमजी रामचंद्रन
पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता

अमित शाह के ऑफिस की ओर से जारी किए गए शेड्यूल के मुताबिक गृहमंत्री राज्य के पूर्व मुख्यमंत्री एमजी रामचंद्रन और पूर्व मुख्यमंत्री जयललिता को शाम 4.30 बजे श्रद्धांजलि अर्पित करेंगे. इसके 10 मिनट बाद कई अहम विकास कार्यों का शिलान्यास करेंगे.

शाम के 6 बजे गृह मंत्री अमित शाह पार्टी कार्यकर्ताओं और जिला अध्यक्षों से मिलेंगे. माना जा रहा है कि इस बैठक में अमित शाह अगले साल होने वाले तमिलनाडु चुनाव पर चर्चा कर सकते हैं. गृह मंत्री दो दिवसीय दौरे पर चेन्नई पहुंचे हैं. एयरपोर्ट पर, गृह मंत्री अमित शाह का राज्य के मुख्यमंत्री और उनके डिप्टी ओ. पन्नीरसेल्वम ने स्वागत किया. राज्य के मुख्यमंत्री के साथ कैबिनेट सदस्य और बीजेपी के राज्य अध्यक्ष एल. मुरुगन भी शामिल थे.

जैसे ही अमित शाह का काफिला एयरपोर्ट से निकला, बीजेपी नेता ने सबको चौंकाते हुए प्रोटोकॉल तोड़ा और गाड़ी से बाहर निकलकर व्यस्त जीएसटी रोड पर अपने कार्यकर्ताओं का अभिवादन किया. बता दें कि अमित शाह के आने की खबर के साथ ही शनिवार सुबह से हजारों पार्टी कार्यकर्ता चेन्नई एयरपोर्ट के बाहर मजमा लगाए थे. अमित शाह के ऑफिस ने कार्यकर्ताओं का अभिवादन करते हुए बीजेपी नेता का वीडियो सोशल मीडिया पर जारी किया.

शाह का दौरा उस समय हो रहा है, जब बीजेपी और अन्नाद्रमुक के रिश्तों में वेत्री वेल यात्रा को लेकर दरार दिख रही है. हालांकि लोकसभा चुनावों के बाद से अन्नाद्रमुक और बीजेपी के रिश्ते ठीक नहीं चल रहे हैं. राज्य सरकार ने कोरोना वायरस संक्रमण के चलते बीजेपी को वेत्री वेल यात्रा निकालने की अनुमति नहीं दी थी. अन्नाद्रमुक के मुखपत्र ने इस यात्रा को बांटने वाला करार दिया था. हालांकि बीजेपी नेता 6 नवंबर तक राज्य में यात्रा निकालने में जुटे थे, लेकिन बाद में राज्य पुलिस ने नेताओं को गिरफ्तार कर लिया.

एक दैनिक की रिपोर्ट के मुताबिक बीजेपी ने शुक्रवार को एक बार फिर अन्नाद्रमुक नेता ई. पलानीस्वामी को विधानसभा चुनावों के लिए मुख्यमंत्री के चेहरे के तौर पर स्वीकार करने से मना कर दिया.

पिछले महीने अन्नाद्रमुक नेताओं ने पार्टी में आतंरिक तौर पर विचार विमर्श के बाद उपमुख्यमंत्री पन्नीरसेल्वम ने 2021 विधानसभा चुनाव के लिए पलानीस्वामी को अन्नाद्रमुक का मुख्यमंत्री उम्मीदवार घोषित किया.

गृह मंत्री अमित शाह की यात्रा को देखते हुए चेन्नई में चाक चौबंद सुरक्षा के लिए बड़ी संख्या में सुरक्षा बल लगाए गए हैं. अमित शाह रविवार को दिल्ली के लिए रवाना होंगे.

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *