सुशील मोदी ने ट्वीट कर तेजश्वि को उनके जमानत पर बाहर होने की बात याद दिलाई

सुशील मोदी ने गुरुवार को ट्वीट किया कि तेजस्वी यादव को भी इस्तीफा दे देना चाहिये। माइक्रो ब्लॉगिंग साइट पर उन्होंने लिखा कि तेजस्वी यादव भ्रष्टाचार से जुड़े इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कारपोरेशन (IRCTC) घोटाले में आरोपित हैं। सुशील मोदी ने कहा कि तेजस्वी यादव मामले में न केवल चार्जशीटेड हैं बल्कि अभी जमानत पर हैं। कोरोना के कारण भष्ट्राचार के मामले का ट्रायल रुका हुआ है। किसी भी दिन घोटाले की जांच फिर शुरू हो सकती है। आने वाले दिनों में नेता प्रतिपक्ष के पद पर आसीन होने से पहले उन्हे इन आरोपों पर सफाई देनी चाहिए।

पटना:  

बिहार में नई सरकार मुख्यमंत्री नीतीश कुमार के नेतृत्व में बन गई है, लेकिन विवादों से दामन अब भी नहीं छूट रहा है. नीतीश सरकार में शिक्षा मंत्री बने डॉ. मेवालाल चौधरी ने विरोधी दलों के भ्रष्टाचार के आरोपों के बाद अपने पद से इस्‍तीफा दे दिया है. जबकि उन्‍होंने तीन पहले ही मंत्री पद की शपथ ली थी. जबकि डॉ. मेवालाल चौधरी के इस्‍तीफे के बाद बिहार के पूर्व उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने आरजेडी और तेजस्‍वी यादव पर पलटवार किया है.

सुशील मोदी ने ट्वीट कर साधा निशाना

बिहार के पूर्व उपमुख्‍यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने ट्वीट करते हुए लिखा, ‘तेजस्वी यादव को भी इस्तीफा देना चाहिए क्योंकि वो भ्रष्टाचार से जुड़े आईआरसीटीसी (IRCTC) घोटाले में न केवल चार्जशीटेड बल्कि जमानत पर हैं. कोविड के कारण ट्रायल (trial) रुका हुआ था और यह किसी भी दिन शुरू हो सकता है.

विवादों में घिरे शिक्षा मंत्री ने किया पदभार ग्रहण, फिर दिया इस्‍तीफा

विवादों में घिरे शिक्षा मंत्री डॉ. मेवालाल चौधरी ने आज ही पदभार ग्रहण किया. इस दौरान उन्‍होंने कहा कि जो हमारे खिलाफ बोल रहे हैं और यह कह रहे है कि मेरी पत्नी की मौत के लिए मैं जिम्मेवार हूं, उनके खिलाफ आज ही 50 करोड़ की मानहानि का केस करूंगा और आज ही उनके पास लीगल नोटिस जाएगा, लेकिन शाम होते होते उन्‍होंने इस्‍तीफा देकर सभी को चौंका दिया है. आपको बता दें कि बिहार कृषि विश्वविद्यालय (बीएयू) के कुलपति रहते समय मेवालाल चौधरी पर भ्रष्टाचार के आरोप लगे थे और उन पर एफआईआर भी दर्ज हुई थी. इसके बाद जनता दल यूनाइटेड (जेडीयू) से उन्हें निलंबित कर दिया गया था. यही वजह है कि विपक्ष लगातार नीतीश सरकार को टारगेट पर ले रही है.जबकि आज भी तेजस्‍वी यादव ने ट्वीट कर नीतीश कुमार पर हमला बोला है.  उन्‍होंने कहा, ‘मैंने कहा था ना आप थक चुके है इसलिए आपकी सोचने-समझने की शक्ति क्षीण हो चुकी है.जानबूझकर भ्रष्टाचारी को मंत्री बनाया, थू-थू के बावजूद पदभार ग्रहण कराया और कुछ घंटे बाद इस्तीफ़े का नाटक रचाया. असली गुनाहगार आप हैं. आपने मंत्री क्यों बनाया??आपका दोहरापन और नौटंकी अब चलने नहीं दी जाएगी?

मेवालाल पर हैं ये आरोप

गौरतलब है कि तारापुर के नवनिर्वाचित जेडीयू विधायक डॉ. मेवालाल चौधरी को पहली बार कैबिनेट में शामिल किया गया है. राजनीति में आने से पहले वर्ष 2015 तक वह भागलपुर कृषि विश्वविद्यालय के कुलपति थे. वर्ष 2015 में सेवानिवृत्ति के बाद राजनीति में आए. इसके बाद जदयू से टिकट लेकर तारापुर से चुनाव लड़े और जीत गए. लेकिन, चुनाव जीतने के बाद डॉ. चौधरी नियुक्ति घोटाले में आरोपित किए गए. कृषि विश्वविद्यालय में नियुक्ति घोटाले का मामला सबौर थाने में वर्ष 2017 में दर्ज किया गया था. इस मामले में विधायक ने कोर्ट से अंतरिम जमानत ले ली थी.

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *