ऋषिकुलम आश्रम से जुड़े बच्चे बने पौधों के संरक्षक

जयपुर – 5 सितम्बर :

क्षेत्र में प्रदूषण को कम करने व परिवेश में हरियाली एवं सुन्दरता को बढ़ाने के उदेश्य से आज गरीब बच्चों की निःशुल्क शिक्षा के लिए कार्य करने वाली प्रमुख संस्था ह्यूमन लाइफ फाउंडेशन जयपुर द्वारा सघन पौधारोपण कार्यक्रम का आयोजन किया गया. इसके कार्यक्रम के अंतर्गत आज फाउंडेशन द्वारा संचालित ऋषिकुलम आश्रम, लक्ष्मीपुरा बीलवा के आसपास की बस्ती, घर, मंदिर एवं सार्वजानिक स्थानों पर करीब १०० वृक्ष लगाये गये.

कार्यक्रम के आयोजक ह्यूमन लाइफ फाउंडेशन के फाउंडर हेमराज चतुर्वेदी ने बताया कि वृक्षों के बिना मानव समाज की कल्पना नहीं की जा सकती इसलिए फाउंडेशन द्वारा हरवर्ष वृक्षारोपण किया जाता है, आज के कार्यक्रम को सफल बनाने के लिए ऋषिकुलम के कार्यकर्ताओं द्वारा कई दिनों पूर्व आसपास के बच्चों को हरियाली एवं पौधों का महत्त्व घर घर जाकर समझाया और हरएक बच्चे को एक पौधा लगाकर उसकी सार-संभार करने की जिम्मेदारी निभाने के लिए प्रेरित किया. फिर बच्चों को पौधे उपलब्ध करने की जिम्मेदारी अनीश जैन व यतीश पाल सिंह को दी. वे हर वर्ष सैकड़ों वृक्ष लगते हैं .फाउंडेशन की इस योजना को सुनकर बच्चे बहुत प्रसन्न हुए और इसीलिए आज 75 बच्चों द्वारा अपने स्वयं के संरक्षण में एक एक पौधा अपने घर, मंदिर अथवा सार्वजानिक स्थानों पर लगाया गया.

कार्यक्रम से पूर्व आज सर्वप्रथम एतियात बरतते हुए कार्यक्रम के मुख्यअतिथि अनीश जैन द्वारा सभी आगंतुकों को मास्क वितरित किये गये और सभी को कोरोना महामारी से बचाव के लिए साबुन से बार बार हाथ साफ करते रहने एवं सामाजिक दुरी बनाये रखने के लिए प्रेरित किया और इसके बाद अनीश जैन के साथ बच्चों व कार्यकर्ताओं द्वारा ऋषिकुलम आश्रम में 5 फल व छायादार पौधे लगाये तत्पश्चात सभी बच्चों को एक एक पौधे का वितरण किया. बच्चों ने वह पौधा उचित स्थान पर लगाया और देखभाल की जिम्मेदारी ली. श्री अनीश जैन ने बच्चों को वृक्ष की देखभाल की सामाजिक जिम्मेदारी अच्छे से निभाने के लिए प्रेरित करते हुए कहा कि व्यक्ति में जिम्मेदारी का भाव बचपन से ही शुरू होता है.

अंत में हेमराज चतुर्वेदी द्वारा सभी बच्चों को नेक कार्य करने के लिए धन्यवाद दिया. इस मौके पर, रेखा चतुर्वेदी, जयप्रकाश, रोहित, कृष्णा मीणा हरिनारायण मीणा सहित फाउंडेशन के कई कार्यकर्त्ता उपस्थित थे.

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *