निरंकारी भवन में प्रवासी श्रमिकों की जा रही है समुचित व्यवसथा

निरंकारी मिशन प्रशासन के साथ मिलकर हर सेवा के लिए है तैयार- संयोजक बलदेव सिंह

सुशील पंडित, यमुनानगर – 25 मई

            प्रशासन द्वारा बार्डर से लाए गए लगभग 400 प्रवासी श्रमिकों को निरंकारी भवन में ठहराया गया। यमुनानगर ब्रांच के संयोजक बलदेव सिंह ने बताया कि यमुनानगर स्थित निरंकारी भवन में श्रमिकों के रहने व खाने-पीनेे व उनके छोटे बच्चों के लिए दूध की उचित व्यवस्था की गई है। हमारा कर्मठ सेवादल उनकी हर प्रकार की सुविधा का पूरा ध्यान रखने के लिए दिन-रात लगा हुआ है। उन्होंने बताया कि अतिरिक्त उपायुक्त प्रतिमा चैधरी के मार्गदर्शन मंे यह कार्य हो रहा है। प्रवासी श्रमिकों को समय-समय पर उनके गृह प्रदेश भेजा जा रहा है यह प्रक्रिया निरंतर जारी है।

      संयोजक बलदेव सिंह ने कहा कि सतगुरू माता सुदीक्षा जी महाराज के आदेशानुसार संत निरंकारी मण्डल अपने सारे निरंकारी भवनों को प्रशासन का आवश्यकता पडने पर देने के लिए तैयार है तथा  सरकार के निर्देशों के तहत जब तक लॉक डाउन है तब तक निरंकारी सेवादल के सदस्य अपने अधिकारियों के आदेश पर इस समाज सेवा में जुटे रहेंगे। उन्होंने बताया कि कोराना महामारी को ध्यान में रखते हुए सभी सेवादारों को सेवा के लिए मास्क, ग्लवस व सैनिटाइजर्स उपलब्ध करवाए गए है और उचित दूरी बना कर सेवा करने के निर्देश दिए गए है। उन्होंने निरंकारी सतगुरू माता सुदीक्षा जी का संदेश देते हुए कहा कि ये जो संसार के हालात बने हुए है निरंकारी मिशन हर तरह से मानवता की सेवा के लिए तत्पर है। निरंकारी मिशन सदैव मानवता की सेवा के लिए आगे रहा है।

      उल्लेखनीय है कि पहले भी लाॅकडाउन के दौरान लगभग 100 प्रवासी श्रमिकों को लगभग 25 दिन के लिए निरंकारी भवन में ठहराया गया था। तब भी निरंकारी सेवादल द्वारा उनकी भरपूर सेवा की गई। उसी दौरान ही मिशन द्वारा रैडक्रास के मिलकर लगभग 4000 हजार भोजन के पैकेट प्रतिदिन वितरित किए गए थे। पिछले दिनो ही मिशन द्वारा स्वास्थ्य विभाग को लगभग 10 लाख रूपये मूल्य की पीपीई किटस भी कोरोना योद्धाओं के लिए प्रदान की गई थी। इसी दौरान निरंकारी मिशन के केन्द्रीय कार्यालय दिल्ली द्वारा हरियाणा सरकार को 50 लाख रूपये का चैक मुख्यमंत्री राहत कोष में दिया गया था।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *