जरूरी नहीं है कि 14 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म हो जाए: योगी आदित्य नाथ

लॉकडाउन में सब कुछ थी ठाक चल रहा था, कोरोना संक्रामण के फैलने की गति 7 दिनों में 4 बीमारों की थी, लेकिन केजरीवाल सरकार के संरक्षण में तबलिगी मरकज़ में शामिल हुए और फिर अचाना ही पूरे भारत में फैले तबलिगी जमातियों ने सारा ‘गुड गोबर कर दिया’। आज इनहि जमातीयों के कारण इस संरमान के फैलने की गति 2 दिन में 4 की हो चुकी है मानें तो तिगुनी से भी ज़्यादा। जमाती जहां भारत के कोने कोने में जा छुपे हैं वहीं उत्तर प्रदेश में यह सबसे अधिक हैं। यहाँ अब कोरोना संक्रामण के फैलने का खतरा सबसे अधिक है।

 5 से 6 अप्रैल के बीच में 27 नए केस सामने आए हैं, जिसमें से 21 केस तो तबलीगी जमात से संबंधित हैं। इन नए केसों की पहचान कर ली गई है। इनमें लखनऊ से 5, कानपुर से 1, शामली से 5, बिजनौर से 1, सीतापुर से 8 और प्रयागराज से 1 की पहचान गई है। अबतक प्रदेश में तबलीगी जमात से संबंधित कुल 159 लोगों की रिपोर्ट पॉजिटिव आई है। उन्हें क्वारंटीन करा दिया गया है। इनमें आगरा से 29, लखनऊ से 12, गाजियाबाद से 14, सहारनपुर से 13, मेरठ से 13, शामली से 13, सीतापुर से 8, कानपुर नगर से 7, महाराजगंज से 6, गाजीपुर से 5, फिरोजाबाद से 4, हाथरस से 4, वाराणसी से 4, हापुड़ से 3, प्रतापगढ़ से 3, लखीमपुर खीरी से 3, आजमगढ़ से 3, जौनपुर से 2, बागपत से 2, रायबरेली से 2, बांदा से 2, मिर्जापुर से 2, बाराबंकी से 1, हरदोई से 1, शाहजहांपुर से 1, प्रयागराज से 1 और औरैया से 1 केस शामिल है।

लखनऊ: 

Uttar Pradesh Coronavirus Update:

देश में कोरोनावायरस (COVID-19) का कहर लगातार जारी है. अबतक 100 से अधिक लोगों की मौत हो चुकी है. नए मामलों में हर रोज इजाफा देखने को मिल रहा है. ऐसे में सवाल उठता है कि क्या 14 के बाद भी लॉकडाउन जारी रहेगा. उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ (Yogi Adityanath) सरकार ने यह साफ कर दिया है कि जरूरी नहीं है कि 14 अप्रैल को लॉकडाउन खत्म हो जाए. लोगों को इसके लिए लंबा इंतजार भी करना पड़ सकता है. यूपी के मुख्य सचिव अवनीश अवस्थी ने यह जानकारी दी है. बता दें कि उत्तर प्रदेश में कोरोनावायरस से अब तक 227 लोग संक्रमित हो चुके हैं साथ ही दो लोगों की इससे जान भी जा चुकी है. 

अवनीश अवस्थी ने प्रेस कॉन्फ्रेंस में बताया कि कोरोना संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है खासकर तबलीगी जमात से संबंधित.  उन्होंने कहा कि मैं केवल यह कह सकता हूं कि हम शुरुआती स्टेज में हैं और यह कहना असंभव है कि लॉकडाउन 14 अप्रैल के बाद खुलेगा या नहीं. हम रोज मॉनिटरिंग कर रहे हैं. कुछ जिलों में 100 प्रतिशत लॉकडाउन किए गए हैं. उन्होंने बताया कि आने वाले दिनों में लोगों का समर्थन बहुत महत्वपूर्ण है. उन्होंने कहा कि, ‘हम यह सुनिश्चित करने के बाद ही लॉकडाउन खोलेंगे कि राज्य कोरोना मुक्त है. अगर एक भी व्यक्ति संक्रमित है तो यह बहुत मुश्किल होगा और इसलिए लॉकडाउन के खत्म होने की संभावना कम है.’

बता दें कि एक दिन पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा था कि कोरोना वायरस संक्रमण के मद्देनजर घोषित किया गया लॉकडाउन 15 अप्रैल को खुलेगा. मुख्यमंत्री ने प्रदेश के सभी सांसदों और मंत्रियों के साथ वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के दौरान कहा, “15 अप्रैल से बंद समाप्त होगा तो दो काम करने होंगे. जब 15 अप्रैल को हम बंद खोलेंगे तो जमावड़ा ना होने पाए, इसमें आपकी सहभागिता और सहयोग चाहिए होगा.” उन्होंने कहा “क्योंकि 15 अप्रैल को हम जैसे ही बंद खोलेंगे और एकाएक भीड़ जुट जाएगी तो सारी मेहनत पर पानी फिर जाएगा. मैं चाहूंगा कि इसके लिए हम लोग एक व्यवस्था बनाएं. मैं इसके लिए आप लोगों से सुझाव भी चाहूंगा. आप अपना सुझाव लिखकर भेजें कि क्या होना चाहिए.”

वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग में शामिल हुए केंद्रीय कौशल विकास एवं उद्यमिता मंत्री महेंद्र नाथ पांडे ने बताया, ‘‘हमने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से बात की और उन्होंने हमें राज्य सरकार द्वारा किए गए कार्यों और उठाए गए कदमों के बारे में बताया. यह वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग तकरीबन एक घंटा चली.” उन्होंने बताया कि सांसदों ने मुख्यमंत्री और उनकी सरकार द्वारा बंद के दौरान किए जा रहे कार्यों की सराहना की. 

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *