नकुल्नाथ के पैसों से नहीं, जनभागीदारी से बनेगी छत्रपति शिवाजी कि प्रतिमा: शिवराज

मध्य प्रदेश में जब से कांग्रेस सत्ता में आई है तभी से राष्ट्रीय गौरव, अस्मिता एवं राष्ट्रीय प्रतीकों का अपमान जारी है. सनद रहे पहले कमलनाथ ने वन्देमातरम पर रोक लगवाई थी, फिर चंद्रशेखा आज़ाद कि मूर्ती हटाने का फैसला लिया गया और अब शिवाजी कि मूर्ती गिरा दी गयी. कमलनाथ के बेटे नकुलनाथ ने अपने पैसों से शिवाजी कि आदमकद मूर्ती स्थापित करने कि बात कही मानो चोरी पकड़ी गयी और अब मामला बढ़ने पर सफाई देते नहीं बन रहा था.

नयी दिल्ली(ब्यूरो):

छिंदवाड़ा में छत्रपति शिवाजी महाराज की मूर्ति को लेकर जमकर सियासत गरमा गई है। राजनैतिक दलों के बीच बयानबाजी का दौर तेजी से चल रहा है। अब पूर्व मुख्यमंत्री शिवराज सिंह चौहान का बयान सामने आया है। शिवराज का कहना है कि आज “मैं छिंदवाड़ा जिले के सौसर जा रहा हूं। कांग्रेस का शगल बन गया है महापुरुषों का अपमान करना। वही सांसद नकुलनाथ द्वारा शिवाजी की मूर्ति का खर्चा उठाने को लेकर कहा कि तुम्हारे पैसे से क्यों लगेगी प्रतिमा । सामर्थ्य है सौसर की जनता में, राष्ट्रभक्त वहां अभी जिंदा है। छत्रपति शिवाजी महाराज के भक्त भी जिंदा है। जनभागीदारी से प्रतिमा लगेगी। मैं लगा दूंगा इस दंभ को भी चूर-चूर करेंगे।”

आज भोपाल में मीडिया से चर्चा के दौरान शिवराज ने कहा कि छत्रपति शिवाजी महाराज जो राष्ट्र के गौरव हैं हमारी प्रेरणा हैं जिन्होंने हिंदी स्वराज की स्थापना की ।देश के करोड़ों करोड़ लोग उनको अपना आराध्य मानते हैं। ऐसे राष्ट्रपुरूष शिवाजी महाराज का अपमान यह कांग्रेस सरकार कर रही है। उनकी प्रतिमा को जेसीबी से अपमानजनक तरीके से हटाया गया गिराने की कोशिश की गई। मैं सौसर की जनता को प्रणाम करता हूं कि आधी रात के बाद लगभग 3:00 बजे जनता इकट्ठी हो गई और कहा कि यदि छत्रपति शिवाजी महाराज गिरेंगे तो हमारी छाती के ऊपर गिरेंगे। कांग्रेस का शगल बन गया है महापुरुषों का अपमान करना, यहां भोपाल में चंद्रशेखर आजाद जी की प्रतिमा को हटाने का फैसला किया गया। ये आजाद जी का अपमान है ।

शिवराज यहीं नही रुके। आगे कहा कि वीर सावरकर का अपमान रोज कांग्रेस के द्वारा किया जा रहा है। डॉक्टर अंबेडकर का अपमान कांग्रेस ने कई बार किया है। ऐसे महापुरुष जिनके कारण यह राष्ट्र खड़ा हुआ है, उनको अपमानित करने का क्रम इस सरकार में जारी है। यह हम कदापि नहीं होने देंगे।

“राष्ट्रपुरुषों का यह अपमान हिंदुस्तान सहन नहीं करेगा। बात की जा रही है कि हम अपने पैसों से लगा देंगे। पैसों का अहंकार दिखाना, दंभ भरना, पहले प्रतिमा गिराना, यह दंभ और अहंकार हम सहन नहीं करेंगे। महापुरुषों के अपमान को हम खड़े रहकर नहीं देख सकते। जिन्होंने छत्रपति शिवाजी महाराज की प्रतिमा का अपमान किया है उनके खिलाफ कार्यवाही की जाए। तुम्हारे पैसे से क्यों लगेगी प्रतिमा। सामर्थ्य है सौसर की जनता में, राष्ट्रभक्त वहां अभी जिंदा है। छत्रपति शिवाजी महाराज के भक्त भी जिंदा है। जनभागीदारी से प्रतिमा लगेगी।”

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *