राज्य में सरस्वती पूजा तक के लिए मस्जिद से अनुमति लेनी पड़ती है: लॉकेट चटर्जी

नयी दिल्ली(ब्यूरो):

पश्चिम बंगाल से लोकसभा में भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) की सांसद लॉकेट चटर्जी ने मुख्यमंत्री ममता बनर्जी पर तुष्टीकरण की राजनीति का आरोप लगाया है। संसद के बजट सत्र में चर्चा के दौरान चटर्जी ने कहा कि पश्चिम बंगाल में पाकिस्तान जैसी स्थिति है। यहां भी हिंदुओं को पूजा-पाठ की अनुमति नहीं है। हालात तो ये हैं कि राज्य में सरस्वती पूजा तक के लिए मस्जिद से अनुमति लेनी पड़ती है। इस स्थिति की असल जिम्मेदार राज्य की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी हैं। वे तुष्टीकरण की राजनीति कर रही हैं।

बीजेपी की राज्य ईकाई में होंगे बदलाव

पश्चिम बंगाल में 2021 में विधानसभा चुनाव होने वाले हैं जिसे देखते हुए बीजेपी की राज्य इकाई पार्टी में कई अहम बदलाव किए जाएंगे। पार्टी की ओर से यह फैसला लिया गया है कि संगठन को पुन: सशक्त बनाने के लिए कई महत्वपूर्ण पदों से निष्क्रिय नेताओं को हटाया जाएगा और युवा एवं सक्षम नेताओं को दल में शामिल किए जाने की तैयारियां हैं।

सीएए प्रदर्शन के दौरान भागीदारी के आधार पर नेताओं का होगा आंकलन

बीजेपी के एक वरिष्ठ नेता ने बताया कि प्रदेश इकाई एक रिपोर्ट तैयार कर रही है जिसमें सभी पदाधिकारियों के प्रदर्शन का विश्लेष्‍ण प्रस्तुत किया जाएगा। इसी रिपोर्ट के आधार पर किसी सदस्य को अगली समिति में जगह दिए जाने पर फैसला किया जाएगा। उन्होंने बताया कि राज्य के नेताओं को पिछले दो महीने में नागरिकता संशोधन कानून (सीएए) के समर्थन में प्रदर्शन के दौरान उनकी भागीदारी के आधार पर परखे जाने के बाद समिति में उनकी जगह तय की जाएगी।

केंद्रीय नेतृत्व से चर्चा के बाद तैयार होगी अंतिम सूची

बीजेपी नेता ने बताया कि बेहतर समन्वयन और कार्य के लिए बीजेपी द्वारा अपने जिला स्तरीय संगठन को भी फिर से मजबूत करने की तैयारी है। उल्लेखनीय है कि दिलीप घोष को लगातार दूसरी बार पार्टी की राज्य इकाई का अध्यक्ष चुना गया है जिसके कुछ दिनों बाद ही पार्टी में बदलाव को लेकर यह कदम उठाया जा रहा है। घोष ने राज्य समिति में बदलाव किये जाने की पुष्टि की है। उन्होंने कहा कि इस पर केंद्रीय नेतृत्व से चर्चा के बाद अंतिम सूची तैयार की जाएगी।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *