ममता ने जसोदाबेन को एयरपोर्ट पर ही साढ़ी भेंट की

ममता कोलकाता एयरपोर्ट से नई दिल्ली के लिए विमान में सवार होने जा रही थीं, तभी उन्होंने जशोदाबेन को देखा तो उनसे मिलने के लिए दौड़ पड़ीं। मुलाकात के दौरान ममता बनर्जी ने उन्हें एक साड़ी भी गिफ्ट की। सूत्रों की मानें तो ममता बंगाल में भाजपा के बढ़ते कद और राजीव कुमार के लापता होने के बाद के आसार को देखते हुए मोदी से सुलह के मूड में है।

  • पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने कोलकाता एयरपोर्ट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी जशोदाबेन से मुलाकात की
  • दरअसल, ममता कोलकाता एयरपोर्ट से नई दिल्ली के लिए विमान में सवार होने जा रही थीं, तभी उन्होंने जशोदाबेन को देखा
  • पीएम की पत्नी को देखते ही ममता उनसे मिलने के लिए दौड़ पड़ीं, मुलाकात के दौरान ममता बनर्जी ने उन्हें साड़ी भी गिफ्ट की

नई दिल्ली: 

पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कोलकाता एयरपोर्ट पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी जशोदाबेन से मिलीं. इस दौरान ममता बनरजी ने जशोदाबेन को कोलकाता की खास साड़ी तोहफे में दी. एयरपोर्ट पर जशोदाबेन और ममता बनर्जी की इस मुलाकात की तस्वीर काफी वायरल हो रही है. इस तस्वीर में ममता बनर्जी और जशोदाबेन दोनों ही आपस में हाथ जोड़कर एक-दूसरे से मिलती नज़र आईं.

दरअसल, पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कोलकाता से नई दिल्ली प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से कोष मुद्दे पर मिलने जा रही थीं. वहीं, जशोदाबेन झारखंड के धनबाद की दो दिन की यात्रा के बाद वहां से लौट रही थीं.  जशोदाबेन ने 16 सितंबर को पश्चिम बंगाल के पश्चिम बर्धमान जिले के आसनसोल में कल्याणेश्वरी मंदिर में पूजा की. आसनसोल धनबाद से करीब 68 किलोमीटर दूर है.

सूत्र ने बताया, ‘यह अचानक हुई मुलाकात थी और उनके बीच अभिवादन का आदान-प्रदान हुआ. मुख्यमंत्री ने उन्हें एक साड़ी उपहार में दी.’

कौन हैं जशोदाबेन?

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की पत्नी होने के अलावा जशोदाबेन एक रिटायर्ड स्कूल टीचर हैं. वह गुजरात में मेहसाणा जिले के ऊंझा स्थित ब्राह्मणवाड़ा गांव में रहती हैं. जब जशोदाबेन 15 साल की थीं और मोदी 17 साल के थे, इसी गांव में उनका विवाह हुआ था. इन दिनों जशोदाबेन उंझा में अपने छोटे भाई अशोक के साथ रहती हैं. जशोदाबेन ने धोलका से अपनी पढाई पूरी की और सरकारी स्कूल में टीचर की नौकरी से 2009-10 में सेवानिवृत हुई. अब वे अपना सारा वक़्त भगवान की भक्ति में बिताती हैं.

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *