राजस्थान के सीकर में नव विवाहिता का अपहरण

सीकर राजस्थान में दुल्हन के अपहरण के मामले में अभी तक गहलोत सरकार नाकाम रही है। गहलोत सरकार की सीकर पुलिस आज एक निजी चैनल को ब्यान देते हुए अगुआ हुई लड़की का नाम बता रही थी और आरोपियों के नाम नहीं बताए गए। सूत्रों द्वारा ज्ञात हुआ कि अपहृत युवती क विवाह पहले ही से अंकित के साथ हो चुका था, जिसे परिवार ने मान्य नहीं किया और इसका दूसरा विवाह कार्वा दिया। अंकित अपने दोस्तों की मदद से युवती को डोली ही से ले भागा। पुलिस ने आरोपियों के तौर पर अंकित और महेंद्र सिंह जाट को नामित किया है।

जयपुर। राजस्थान के सीकर में एक नवविवाहिता के अपहरण के बाद बढ़े तनाव के चलते जिला प्रशासन ने शनिवार को इंटरनेट सेवा निलंबित कर दी।

सीकर में पुलिस अधीक्षक अमनदीप सिंह ने कहा कि कानून-व्यवस्था को बनाए रखने के लिए इंटरनेट सेवा सुबह छह बजे से शाम के छह बजे तक के लिए बंद कर दी गई है।

उन्होंने आगे बताया, “अगवा हुई दुल्हन को ढूढ़ने के प्रयास जारी हैं। हमने गाजियाबाद के 17 थानों में दुल्हन की तस्वीर भेजी है। इसके साथ ही उत्तर प्रदेश के कई जगहों पर छापेमारी की जा रही है।”

राजपूत समुदाय के लोग गुस्से में हैं, क्योंकि अपहरण (बुधवार) के तीन दिनों बाद भी लापता दुल्हन का कुछ पता नहीं चल पाया है।

गुरुवार से ही लोग जिला कलेक्टर के आवास के बाहर प्रदर्शन कर रहे हैं।

राजपूत समुदाय के नेता गिरिराज सिंह लोटवाडा ने शनिवार को अपने समुदाय के लोगों से शांति-व्यवस्था बनाए रखने और साथ ही किसी भी अप्रिय कार्य से बचने की अपील की।

उन्होंने कहा, “डीजीपी ने मुझे भरोसा दिलाया है कि दुल्हन को जल्द ही खोज लिया जाएगा। उनके हाथ कुछ महत्वपूर्ण सबूत लगे हैं। उन्होंने अपील की कि राज्य में कानून-व्यवस्था बनाए रखा जाए, साथ ही पुलिस को अपना काम करने दिया जाए।”

बुधवार को शादी के बाद अपने ससुराल जा रही दुल्हन को कुछ हथियारबंद लोगों ने सीकर जिले के मोरदुंगा गांव के नजदीक अगवा कर लिया था।

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *