प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टरो से निपटने के लिए नगर निगम हुआ सख्त

पंचकूला में करोड़ो रूपये प्रॉपर्टी टैक्स बकाया
नगर निगम ने की प्रॉपर्टी सील की तैयारी

पंचकूला।

नगर निगम पंचकूला करोड़ो रूपये प्रॉपर्टी टैक्स जमा नही करवाने वालों से परेशान है। वही अब यह परेशानी आने वाले दिनों में डिफाल्टरों के लिए भी बड़ी मुसीबत बनने वाली है। टैक्स नहीं भरने पर इन संपत्तियों को नीलाम भी किया जा सकता है।

नगर निगम ने प्रॉपर्टी टैक्स रिक्वर करने के लिए सख्ती शुरू कर दी है। निगम का प्रॉपर्टी टैक्स जमा नही करवाने वालों में प्राईवेट बिल्डिग के अलावा कई सरकारी विभाग भी पिछे नही है। जिन पर करोडो रूपये प्रॉपर्टी टैक्स बकाया है। जल्दी ही नगर निगम इन सभी बकायादारों को दूबारा फिर एक नोटिस देने वाला है। नोटिस देने के बाद भी यदि इन डिफाल्टर बिल्डिग मालिकों व विभागों ने प्रॉपर्टी टैक्स जमा नही करवाया तो सील कर दिया जाएगा। जिसमें सैक्टर 6 हरियाणा पुलिस मुख्यालय, हरियाणा पब्लिक सर्विस कमिशन, लघु सचिवालय सेक्टर 1 पंचकूला, कोर्ट कंप्लेक्स सहित कई अन्य बड़ी बिल्डिंगों को जल्द ही नगर निगम सील कर सकता है। इन बिल्डिंगों का प्रॉपर्टी टैक्स जमा नहीं करवाया गया है। नोटिस देने के बाद डिफाल्टर बिल्डिंगों को सील कर दिया जाएगा। नगर निगम पंचकूला का सबसे ज्यादा प्रॉपर्टी टैक्स शॉलीमार मॉल ने चुकाना है, जोकि पिछले लंबे समय से बंद पड़ा है। कई होटल और जिमखाना क्लब भी नगर निगम के रडॉर पर है। निगम प्रशासक ने स्पष्ट कर दिया है कि प्रॉपर्टी टैक्स चुकाना प्रॉपर्टी मालिक की जिम्मेदारी है, निगम नोटिस देगा और उसके बाद ही टैक्स देंगे, यह कतई बर्दाश्त नहीं होगा। सील करने की कार्रवाई अगले सप्ताह शुरु कर दी जाएगी।

दरअसल प्रॉपर्टी टैक्स जमा ना करवाने वालों के खिलाफ अब पंचकूला नगर निगम ने कमर कस ली है। नगर निगम शहर की कई सरकारी एवं प्राइवेट प्रॉपर्टी टैक्स डिफॉल्टर्स की प्रॉपर्टी अटैच करने जा रहा है। यह कार्रवाई अगले सप्ताह से शुरू हो सकती है। नगर निगम ने प्रॉपर्टी टैक्स डिफॉल्टर्स की सूची भी तैयार कर ली है। इस सूची में शहर में बनी कई बड़ी सरकारी बिल्डिंग, होटल, स्कूल एवं अन्य इंडस्ट्रीयल संस्थान शामिल है। जिनको नोटिस जारी करने के बाद सील कर दिया जाएगा। पहली बार नगर निगम प्रॉपर्टी टैक्स डिफॉल्टर्स के खिलाफ इतना बड़ा कदम उठाने जा रहा है। अभी तक तो लोगों को सिर्फ नोटिस ही भेजे जा रहे थे। इन नोटिस को यह प्रॉपर्टी मालिक सीरियस नहीं ले रहे थे और नगर निगम करोड़ों रुपया इन प्रॉपर्टी टैक्स से आना बकाया है।

नगर निगम कमीश्नर राजेश जोगपाल ने बताया कि नगर निगम सीमा में स्थित सभी प्रकार के भवनों और प्लॉटों पर प्रॉपर्टी टैक्स लागू होता है। प्रॉपर्टी टैक्स की अदायगी नहीं करने की सूरत में नियमानुसार कार्रवाई की जाती है। प्रॉपर्टी टैक्स जमा नही करवाने वालों को पहले भी कई नोटिस जारी कर चुके है। इन नोटिसों को यह प्रॉपर्टी मालिक सीरियस नहीं ले रहे है। और नगर निगम करोड़ों रुपया इन प्रॉपर्टी टैक्स से आना बकाया है।

  • नगर निगम के बड़े प्रॉपर्टी टैक्स डिफाल्टर
  • फेम शालीमार शॉपिंग मॉल- 68 करोड़ 32 लाख 7 हजार 109
  • पिंजौर गार्डन – 2 करोड़ 39 लाख 26 हजार 511
  • कोर्ट कंप्लेक्स-22 लाख 57 हजार 402
  • गर्वनमेंट प्रेस हरियाणा-27 लाख 35 हजार 414
  • डीजीपी हरियाणा -3 लाख 26 हजार रुपये
  • डीसी इंकम टेक्स-12 लाख 29 हजार रुपये
  • बीएसएनएल-5 लाख 89 हजार रुपये
  • हरियाणा पब्लिक सर्विस कमिश्नर – 2 लाख 44 हजार रुपये
  • जिमखाना क्लब सेक्टर 3 -50 लाख 61 हजार 786
  • सूरज थियेटर -88 लाख 51 हजार 895
  • स्टेट बैंक आॅफ पटियाला सेक्टर 5 -17 लाख 80 हजार 688
  • यूनियन बैंक आॅफ इंडिया सेक्टर 5 -17 लाख 4 हजार 507
  • होटल हॉलीडे इन सेक्टर 3 पंचकूला -15 लाख 41 हजार 279
  • अब्दुलपुर मेन मार्केट -2 करोड़ 22 लाख 63 हजार 293
  • मिनी सचिवालय – 14 लाख 38 हजार 620
  • रैड बिश्प –59 लाख 84 हजार 249
  • अधिशासी अभियंता मदनपुर – 93 लाख 36 हजार 315
  • हरियाणा वक्फ बोर्ड — 9 लाख 82 हजार 693
  • यूनिसन किड्स पब्लिक स्कूल – 52 लाख 8 हजार 813
  • संत राम शर्मा -15 लाख 72 हजार 962
  • होटल वैस्टर्न कोट सेक्टर 10 पंचकूला – 63 लाख 59 हजार 511
  • कान्फैड -14 लाख 62 हजार 905
  • पोस्ट आफिस कालका -19 लाख 12 हजार 766
  • जैनेंद्रा सीनियर सेकेंड़री स्कूल -22 लाख 48 हजार 409
  • जिमखाना सेक्टर 6 – 31 लाख 83 हजार 747
  • वाह दिली – 39 लाख 50 हजार 864
  • अमरटैक्स –29 लाख 75 हजार 693
0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *