बिहार पुलिस दिल्ली में गिरफ्तार

अभी बंगाल के सीबीआई V/s बंगाल पोलिस के प्रकरण का पटाक्षेप हुआ भी नहीं की दिल्ली में बिहार पुलिस के साथ यही घटना घट गयी।
ये घटना बिहार के सुपौल जिले के थाना इलाके के चकला निर्मली मोहल्ला का है जहां दिल्ली के रोहिणी स्थित के एन काटजू थाने के दो पुलिस एक लड़की के अपहरण के मामले की जांच करने सुपौल आए थे. 

सुपौल: अपहरण के एक मामले में दिल्ली पुलिस बिहार आई तो थी आरोपी को गिरफ्तार करने लेकिन खुद गिरफ्तार हो गई. जी हां, ये घटना बिहार के सुपौल जिले के थाना इलाके के चकला निर्मली मोहल्ला का है जहां दिल्ली के रोहिणी स्थित के एन काटजू थाने के दो पुलिस एक लड़की के अपहरण के मामले की जांच करने सुपौल आए थे. 

सोमवार सुबह अपहृत लड़की और आरोपी लड़के का सुराग नहीं मिला और चकला निर्मली स्थित एक मकान से उसे धर दबोचा गया. इसी बीच मोहल्ले के काफी लोग वहां पहुंच गए और देखा की कार्रवाई के दौरान दिल्ली पुलिस नशे में थी. इस बात की जानकारी मोहल्लों वालोम ने तत्काल उत्पाद विभाग को दे दी गई. 

वहीं, मौके पर पहुंची उत्पाद अधीक्षक और उत्पाद इंस्पेक्टर ने जब दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल मुकेश कुमार का ब्रेथ ऐनालाईजर किया तो नशे में होने की पुष्टि हुई. फिलहाल उत्पाद विभाग ने दिल्ली पुलिस के हेड कॉन्स्टेबल मुकेश कुमार को गिरफ्तार कर न्यायिक हिरासत मे जेल भेज दिया है.

हांलांकि, इस दौरान दिल्ली पुलिस कॉन्स्टेबल के पद पर तैनात मुकेश कुमार की जांच के दौरान उत्पाद विभाग को काफी परेशानियों का सामना करना पड़ा. कांस्टेबल ब्रेथ एनालाइजर मुंह मे डालना नहीं चाह रहा था जिसे लेकर उत्पाद विभाग के जवानों के साथ कई बार हाथापाई भी हो गई. करीब दो घंटे की मशक्कत के बाद उत्पाद विभाग को सफलता मिली और कॉन्स्टेबल का जांच किया गया.

आपको बता दें कि दिल्ली के रोहिणी की रहने वाली एक नाबालिग लड़की के अपहरण की शिकायत उसके पिता ने इसी साल जनवरी महीने में रोहिणी थाने मे मामला दर्ज करवाया था. जिसे लेकर दिल्ली पुलिस सुपौल पहुंची इधर. वहीं, अपहृत लड़की का कहना है की उसका किसी ने अपहरण नहीं किया है. वो मधेपुरा जिले बिहारीगंज के रहने वाले एक लड़के से प्यार करती थी और उससे कोर्ट मैरेज करके खुशी-खुशी सुपौल में किराए के मकान में उसके साथ रह रही थी. 

वहीं, आरोपी अपरहरणकर्ता राजा का कहना है कि वो लड़की से प्यार करता था और लड़की के कहने पर उसे लेकर भागा. वहीं, जिस घर में किराए के घर में दोनों रह रहे थे उस घर के मकान मालिक का कहना है कि घर लेने से पहले उन्होंने दिखाया कि उनकी कोर्ट मैरिज हो चुकी है और प्राइवेट कंपनी में काम करते हैं. आज जानकारी मिली कि दिल्ली पुलिस उन्हें पकड़ने आई है.

वहीं, उत्पाद विभाग के इंस्पेकटर प्रकाश राम ने बताया कि हंगामा होने पर वो मौके पर पहुंचे और उत्पाद विभाग द्वारा ब्रेथ एनालाइजर लगा कर जांच किया गया तो दिल्ली पुलिस के एक कांस्टेबल की नशे में होने की पुष्टि हुई जिसे हिरासत में लिया गया है.

इधर दिल्ली पुलिस के अधिकारी का कहना है कि वो एक लड़की के अपहरण के केस की वजह से यंहा पहुंचे थे. दोनों यहां मिले हैं मगर अधिकारी कांस्टेबल के शराब के नशे में नहीं होने की बात की.

0 replies

Leave a Reply

Want to join the discussion?
Feel free to contribute!

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *